जानें मेल मेनोपॉज क्या है? महिलाओं की तरह पुरुषों में भी होता है मेनोपॉज

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट सितम्बर 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

महिलाओं में मेनोपॉज तो सुना होगा, लेकिन क्या कभी सोचा कि पुरुषों में मेनोपॉज होता है? पुरुषों में होने वाले मेनोपॉज को मेल मेनोपॉज कहते हैं, लेकिन आपके मन में एक सवाल जरूर आया होगा कि महिलाओं में पीरियड्स बंद होने की प्रक्रिया को मेनोपॉज कहा जाता है। पुरुषों में तो पीरियड्स तो आते नहीं हैं तो क्या है आखिर पुरुषों में मेनोपॉज? महिलाओं में उम्र ढलने के साथ मेनोपॉज होता है, उसी तरह से पुरुषों में मेनोपॉज भी उम्र ढलने के साथ होता है। आइए जानते हैं मेल मेनोपॉज सभी पहलुओं के बारे में। 

और पढ़ें : अर्ली मेनोपॉज से बचने के लिए डायट का रखें ख्याल

मेल मेनोपॉज क्या है?

मेल मेनोपॉज को एंड्रोपॉज भी कहते हैं। ये पुरुषों में उम्र ढलने के साथ मेल हॉर्मोन में कमी के कारण होता है। मेल मेनोपॉज जैसे लक्षण पुरुषों में टेस्टोस्टेरॉन डेफिसिएंसी, एंड्रोजन डेफिसिएंसी और लेट-ऑनसेट हाइपोगोनैडिज्म भी आते हैं। 50 साल से ऊपर के पुरुषों में टेस्टोस्टेरॉन हॉर्मोन का निर्माण कम हो जाता है। जिससे पुरुषों में मेनोपॉज होता है और यह हाइपोगोनैडिज्म का भी संकेत है। 

टेस्टोस्टेरॉन हॉर्मोन पुरुषों के टेस्टेस में बनता है। टेस्टोस्टेरॉन सेक्स ड्राइव को बढ़ाने के लिए मदद करता है। टेस्टोस्टेरॉन लड़कों में प्यूबर्टी के समय मानसिक और शारीरिक बदलाव के लिए भी जिम्मेदार होता है। साथ ही मसल्स मास और शारीरिक शक्ति बढ़ाने में मदद करता है। मेल मेनोपॉज फीमेल मेनोपॉज से अलग होता है। हालांकि, मेनोपॉज सभी महिलाओं को होता है, लेकिन सभी पुरुषों में मेनोपॉज नहीं होता है। ऐसे में पुरुषों में सेक्सुअल कॉम्लिकेशन भी हो सकता है। 

और पढ़ें : मेनोपॉज के बाद स्किन केयर और बालों की देखभाल कैसे करें?

मेल मेनोपॉज के लक्षण क्या हैं?

पुरुषों में मेनोपॉज के दौरान कई तरह के फिजिकल, सेक्शुअल और साइकोलॉजिकल समस्याएं होती हैं। ध्यान ना देने पर लक्षण बदतर होते जाते हैं :

उपरोक्त लक्षणों के अलावा आप सूजे हुए या मुलायम ब्रेस्ट महसूस कर सकते हैं। टेस्टिकल की साइज में कमी, शरीर के बाल झड़ना या हॉट फ्लैशेज होना भी हो सकता है। पुरुषों में मेनोपॉज के दौरान टेस्टोस्टेरॉन की कमी होने का सीध संबंध ऑस्टियोपोरोसिस से हो सकता है। हालांकि पुरुषों में मेनोपॉज के दौरान ऑस्टियोपोरोसिस होना बहुत रेयर है। 

और पढ़ें : क्या मेनोपॉज के बाद गर्भधारण महिलाएं कर सकती हैं?

उम्र बढ़ने के साथ टेस्टोस्टेरॉन के स्तर में होती है कमी

लड़कों में प्यूबर्टी के समय टेस्टोस्टेरॉन का लेवल कम होता है। फिर जैसे-जैसे सेक्शुअल मैच्योरिटी होती है, वैसे-वैसे टेस्टोस्टेरॉन का लेवल बढ़ने लगता है। टेस्टोस्टेरॉन के कारण लड़कों में प्यूबर्टी के दौरान निम्न प्रभाव देखने को मिलता है :

  • मसल्स मास का विकास
  • शरीर पर बालों का विकास
  • आवाज में भारीपन
  • सेक्शुअल फंक्शन में बदलाव

एक रिसर्च के अनुसार जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है, वैसे-वैसे टेस्टोस्टेरॉन का लेवल कम होने लगता है। 30 साल के बाद पुरुषों में टेस्टोस्टेरॉन की कमी हर साल एक प्रतिशत होती है। 

और पढ़ें : मेनोपॉज (रजोनिवृत्ति) के बाद पड़ता है महिलाओं की मेंटल हेल्थ पर असर, ऐसे रखें ध्यान

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

महिलाओं में मेनोपॉज पुरुषों में मेनोपॉज से कैसे अलग है?

मेनोपॉज एक ऐसा दौर है जिसका सामना हर महिला को अपनी बढ़ती उम्र के साथ करना पड़ता है। ज्यादातर महिलाओं को यह 49 से 52 वर्ष की उम्र में होता है। लगातार 12-24 महीने तक पीरियड्स का न आना ही मेनोपॉज कहा जाता है। मेनोपॉज में महिला के शरीर में एस्ट्रोजेन और प्रोजेस्टेरॉन हॉर्मोन बनना बंद हो जाता है। इस दौरान अनेक महिलाएं शारीरिक और भावनात्मक लक्षणों को भी महसूस करती हैं –

महिलाओं में मेनोपॉज होना एक प्राकृतिक प्रक्रिया है। जबकि सभी पुरुषों में मेनोपॉज नहीं होता है। 

और पढ़ें :  Perimenopause: पेरिमेनोपॉज क्या है?

मेल मेनोपॉज का पता कैसे लगाएं?

मेल मेनोपॉज के इलाज के पहले इसको डायग्नोस करना ज्यादा जरूरी है। आपके डॉक्टर आपके टेस्टोस्टेरॉन के लेवल का परीक्षण करने के लिए ब्लड सैंपल ले सकते हैं। जब तक मेल मेनोपॉज आपके जीवन को किसी भी तरह से हानि नहीं पहुंचाता है तब तक बिना इलाज के लक्षणों को ठीक करने का प्रयास करते हैं। ऐसा देखा गया है कि कई पुरुष अपने डॉक्टरों के साथ यौन विषयों पर बात करने से झिझकते हैं।

मेल मेनोपॉज के लिए उपचार का सबसे सामान्य प्रकार स्वस्थ जीवनशैली को अपनाना है। उदाहरण के लिए, आपके डॉक्टर आपको सलाह दे सकते हैं:

लाइफस्टाइल में उपरोक्त बदलाव करने से फायदा हो सकता है। अगर आप डिप्रेशन का सामना कर रहे हैं, तो डॉक्टर आपको एंटीडिप्रेसेंट, थेरिपी कराने की सलाह दे सकते हैं।

हॉर्मोन रिप्लेसमेंट थेरिपी एक और विकल्प है। हालांकि, यह अभी भी बहुत विवादास्पद है। परफॉर्मेंस बढ़ाने वाले स्टेरॉयड की तरह, सिंथेटिक टेस्टोस्टेरॉन के साइडइफेक्ट्स भी हो सकते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आपको प्रोस्टेट कैंसर है, तो इससे आपकी कैंसर कोशिकाएं और ज्यादा विकसित हो सकती हैं। यदि आपको डॉक्टर हॉर्मोन रिप्लेसमेंट थेरिपी का सुझाव देते हैं, तो आप पहले इसके नकारात्मक और सकारात्मक दोनों पहलुओं के बारे में जान लें। 

मेल मेनोपॉज होने पर इन बातों का रखें विशेष ध्यान

मेल मोनपॉज के घरेलू इलाज लाइफस्टाइल में बदलाव करने के ही अंतर्गत आता है। इसलिए मेल मेनोपॉज होने पर निम्न बातों को जरूर फॉलो करें : 

  • आपको अपने आहार में कम से कम 3 से 5 भाग फल और 2 से 4 कप सब्जियों को शामिल करना चाहिए। फल और सब्जियों का सेवन रोज करें।
  • हर बीमारी की एक दवा पानी है। सर्वश्रेष्‍ठ परिणामों के लिए दिन भर में लगभग 5 लीटर पानी पीना जरूरी है। इसके अलावा आपको कोई अन्‍य स्वस्थ पेय पदार्थ पीते रहना चाहिए। आप जितना पानी पिएंगे उतने स्वस्थ्य रहेंगे।
  • मेल मेनोपॉज में ग्रीन टी पिएं। ग्रीन टी में कैटेचिन नामक पदार्थ होते हैं जिनमें शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं। मीठे ड्रिंक की जगह पर ग्रीन टी पीने से पुरुषों में मेनोपॉज के लक्षण को रोकने में मदद मिल सकती है और आप स्वस्थ महसूस कर सकते हैं।
  • पुरुषों में रजोनिवृत्ति को ठीक करने के लिए नियमित रूप से एक्सरसाइज बहुत जरूरी है। एक्सरसाइज करने से एंड्रॉफिन रिलीज होता है। एंड्रॉफिन एक न्यूरोट्रांसमिटर है, जो डिप्रेशन को ठीक करने में मदद कर सकता है। साथ ही मसल्स भी टोन होती हैं। 
  • आप अपने आहार में दूध से बने उत्पादों की भरपूर मात्रा शामिल करें। इसके अलावा कैल्शियम से भरपूर खाद्य पदार्थों जैसे- तिल, सोयाबीन, रागी और पोषण युक्त पदार्थ जैसे- जूस, साबूत अनाज आदि का सेवन करें। जिससे ऑस्टियोआर्थराइटिस में राहत मिल सकती है। 

हमें उम्मीद है कि मेल मेनोपॉज पर लिखा यह आर्टिकल आपके लिए उपयोगी साबित होगा। अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से बात करें। 

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

क्या पुरुषों के लिए हानिकारक है सोयाबीन?

पुरुषों के लिए हानिकारक सोयाबीन के तहत इसका सेवन करने से कई प्रकार की बीमारी हो सकती है, जानें अत्यधिक सेवन करना है कितना घातक, कौन सी हो सकती है बीमारी।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Satish singh

सेक्स लाइफ में तड़का लगा सकता है लूब्रिकेंट! जानिए उपयोग का तरीका

सेक्स लूब्रिकेंट क्या है, कैसे इस्तेमाल करें सेक्स लूब्रिकेंट, सेक्स में कॉन्डम, सेक्स टॉय, वॉटर बेस्ड लूब, सिलिकॉन बेस्ड लूब, Sex lubricant in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha

मेनोपॉज के बाद स्किन केयर और बालों की देखभाल कैसे करें?

मेनोपॉज के बाद स्किन केयर कैसे करें, रजोनिवृत्ति के बाद स्किन केयर, हेयर केयर टिप्स, skin care after menopause in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
महिलाओं का स्वास्थ्य, स्वस्थ जीवन अप्रैल 14, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

गर्भवती होने के लिए फर्टिलिटी ड्रग के फायदे और नुकसान

इस आर्टिकल में जानें कि कैसे महिलाओं में बांझपन को फर्टिलिटी ड्रग की मदद से खत्म किया जा सकता है। Fertility drug कितने प्रकार के होते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
प्रेग्नेंसी प्लानिंग, प्रेग्नेंसी अप्रैल 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

सस्टेन कैप्सूल

Susten Capsule : सस्टेन कैप्सूल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
प्रकाशित हुआ अगस्त 14, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें
Hifen 200 DT -हाईफेन 200 डीटी

Hifen 200 DT : हाईफेन 200 डीटी क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
प्रकाशित हुआ जुलाई 16, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
फाल्स यूनिकॉर्न रुट

False Unicorn Root: फाल्स यूनिकॉर्न रूट क्या है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
प्रकाशित हुआ जून 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
पुरुष कंडोम-purush condom

इन वजहों से कंडोम का इस्तेमाल नहीं करना चाहते पुरुष

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Hemakshi J
के द्वारा लिखा गया Hema Dhoulakhandi
प्रकाशित हुआ मई 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें