home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Japanese Mint: जापानी पुदीना क्या है?

Japanese Mint: जापानी पुदीना क्या है?
परिचय|उपयोग|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|रिएक्शन|डोसेज

परिचय

जापानी पुदीना (Japanese Mint) क्या है?

जापानी पुदीना एक पौधा है। इसका साइंटिफिक नाम Mentha Canadensis है। जमीन से ऊपर उगने वाले इसके हिस्से से तेल को निकाला जाता है, जिसे दवा बनाने के लिए प्रयोग में लाया जाता है। इसे मेंथा के नाम से भी जाना जाता है। यह जापान से भारत लाया गया है जिसकी वजह से इसे जापानी पुदीना कहा जाता है। इसके पौधे की ऊंचाई 1 मीटर तक होती है। हरे रंग की पत्तियों पर सफेद रोंये होते हैं। इसके फूल सफेद या हल्के बैंगनी रंग के होते हैं, जो गुच्छों में खिलते हैं।

मेन्था अत्यंत उपयोगी औषधीय पौधा होता है। इसके ताजा शाक से तेल निकाला जाता है। जिसका इस्तेमाल विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं के उपचार के लिए किया जाता है। इसके तेल में मेंथॉल, मेन्थोन और मिथाइल एसीटेट जैसे तत्व पाए जाते हैं। हालांकि, इसके तेल में मेन्थाल की मात्रा सबसे अधिक होती है। इसकी मात्रा लगभग 75 से 80 फिसदी तक होती है।

इसकी खेती विश्व के कई देशों में की जाती है। मौजूदा समय में भारत, चीन, जापान, ब्राजील और थाइलैण्ड जैसे देशों में इसकी खेती मुख्य रूप से की जा रही है। वहीं, भारत में इसकी खेती, मध्य प्रदेश, छतीसगढ़, जम्मू-कश्मीर, उत्तरांचल, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, और उत्तर प्रदेश में विशेष रूप से की जाती है। हालांकि, इसकी खेती के लिए लिए शुष्क मौसम भी जरूरी होता है।

यह भी पढ़ेंः भागदौड़ भरी जिंदगी ने उड़ा दी रातों की नींद? जानें इंसोम्निया का आसान इलाज

उपयोग

जापानी पुदीना (Japanese Mint) का इस्तेमाल किस लिए होता है?

  • जापानी पुदीना का इस्तेमाल खराब ऐपेटाइट, गैस, अपच, उबकाई, डायरिया, गालस्टोन्स, लिवर की समस्या और इरिटेबल बाउल सिंड्रोम (Irritable Bowel Syndrome) को मिलाकर पाचन तंत्र से जुड़ी कई समस्याओं में होता है।
  • इसका इस्तेमाल सामान्य सर्दी, खांसी, ब्रोंकाइटिस, गले और मुंह की खराश को मिलाकर रेस्पिरेटरी की समस्याओं में भी होता है।
  • साथ ही बुखार, दर्द, ऐंठन, सिर दर्द, दांत दर्द, क्रैम्प, कान दर्द, ट्यूमर, खराश, कैंसर, दिल की समस्याएं, सांस लेने में तकलीफ, संक्रमण की ओर झुकाव (खतरा) और मौसम बदलाव के प्रति संवेदनशीलता जैसी अन्य समस्याओं में भी जापानी पुदीना का इस्तेमाल होता है।
  • कुछ लोग इसका इस्तेमाल स्टिमुलेंट, रोगाणु को मारने या दर्द नाशक के तौर पर भी करते हैं। मांसपेशियों, नर्व, खुजली और हाइव्स (Hives) में जापानी पुदीना सीधे त्वचा पर लगाया जाता है।
  • अपर रेस्पिरेटरी ट्रैक की लाइनिंग में सूजन होने पर जापानी पुदीना सूंघा जाता है। मैन्युफैक्चरिंग में जापानी पुदीना टूथपेस्ट, माउथवॉश, गार्गल्स, साबुन, डिटर्जेंट, क्रीम, लोशन और पर्फ्यूम में गंधक (फ्रेग्रेंस) के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है। व्यावसायिक रूप से जापानी पुदीना मैंथोल के स्रोत के रूप में इस्तेमाल होता है।
  • इसे तेल का उपयोग कमर दर्द, सिर दर्द, सांसों से जुड़े विकार के साथ-साथ सौन्दर्य प्रसाधनों, टूथपेस्ट, शेविंग क्रीम, बॉडी लोशन, टॉफी, च्यूंगम, कैंडी आदि में भी किया जाता है।

ऊपर बताए गए किसी भी स्वास्थ्य स्थिति में इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर परामर्श करें।

जापानी पुदीना (Japanese Mint) कैसे कार्य करता है?

जापानी पुदीना कैसे कार्य करता है, इस संबंध में पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नहीं है। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें। हालांकि, कुछ शोध यह बताते हैं कि पुदीना ऑयल आंत की गैस को रोकता है। यह पित्त के प्रवाह को स्टिमुलेंट और इंफेक्शन से लड़ता है।

सावधानियां और चेतावनी

जापानी पुदीना (Japanese Mint) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

निम्नलिखित परिस्थितियों में इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें:

  • यदि आप प्रेग्नेंट या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। दोनों ही स्थितियों में सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही दवा खानी चाहिए।
  • यदि आप अन्य दवाइयां ले रही हैं। इसमें डॉक्टर की लिखी हुई और गैर लिखी हुई दवाइयां शामिल हैं, जो मार्केट में बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के खरीद के लिए उपलब्ध हैं।
  • यदि आपको जापानी पुदीना के किसी पदार्थ से एलर्जी या अन्य दवा या औषधि से एलर्जी है।
  • यदि आपको कोई बीमारी, डिसऑर्डर या कोई अन्य मेडिकल कंडिशन है।
  • यदि आपको फूड, डाई, प्रिजर्वेटिव्स या जानवरों से अन्य प्रकार की एलर्जी है।

अन्य दवाइयों के मुकाबले औषधियों के संबंध में रेग्युलेटरी नियम अधिक सख्त नही हैं। इनकी सुरक्षा का आंकलन करने के लिए अतिरिक्त अध्ययनों की आवश्यकता है। जापानी पुदीना का इस्तेमाल करने से पहले इसके खतरों की तुलना इसके फायदों से जरूर की जानी चाहिए। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बालिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

जापानी पुदीना (Japanese Mint) कितना सुरक्षित है?

जापानी पुदीना का उपयुक्त रूप से मौखिक सेवन या त्वचा पर लगाना ज्यादातर लोगों के लिए सुरक्षित है।

यह भी पढ़ें: 8 कारण जिनकी वजह से महिलाएं प्रेग्नेंट नहीं हो पातीं

साइड इफेक्ट्स

जापानी पुदीना (Japanese Mint) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

जापानी पुदीना से आपको निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं:

  • एलर्जिक रिएक्शन (त्वचा पर सीधे लगाने पर)
  • अस्थमा, वोकल कॉर्ड में ऐंठन, सांस लेने की गंभीर समस्याएं, फ्लशिंग (Flushing), सिर दर्द को यह बदतर कर सकता है और चेहरे या सीधे सूंघने पर यह एलर्जिक रिएक्शन दिखा सकता है।

जापानी पुदीना ऑयल को सूंघने पर यह कितना सुरक्षित है, इस संबंध में पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नही है। हालांकि, हर व्यक्ति को यह साइड इफेक्ट्स नहीं होते हैं। उपरोक्त दुष्प्रभाव के अलावा भी जापानी पुदीना के कुछ साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, जिन्हें ऊपर सूचीबद्ध नहीं किया गया है। यदि आप इसके साइड इफेक्ट्स को लेकर चिंतित हैं तो अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

रिएक्शन

जापानी पुदीना (Japanese Mint) से मुझे क्या रिएक्शन हो सकता है?

जापानी पुदीना आपकी मौजूदा दवाइयों के साथ रिएक्शन कर सकता है या दवा का कार्य करने का तरीका परिवर्तित हो सकता है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से संपर्क करें।

यह भी पढ़ेंः ये 6 सुपर फूड्स निकाल सकते हैं डिप्रेशन से बाहर

डोसेज

उपरोक्त जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं हो सकती। इसका इस्तेमाल करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

जापानी पुदीना (Japanese Mint) की सामान्य डोज क्या है?

हर मरीज के मामले में जापानी पुदीना की डोज अलग हो सकती है। जो डोज आप ले रहे हैं वो आपकी उम्र, हेल्थ और दूसरे अन्य कारकों पर निर्भर करता है। औषधियां हमेशा ही सुरक्षित नही होती हैं। जापानी पुदीना के उपयुक्त डोज के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

जापानी पुदीना (Japanese Mint) किन रूपों में आता है?

जापानी पुदीना निम्नलिखित रूपों में आता है:

  • फ्लूइड एक्स्ट्रैक्ट
  • पाउडर
  • घोल

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या इलाज मुहैया नहीं कराता।

और पढ़ें:-
Diarrohea : डायरिया क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय
स्टेमिना बढ़ाने के लिए अपनाएं ये घरेलू उपाय
Celery : अजवाइन क्या है?
Mouse Ear herb: माउस ईयर हर्ब क्या है?

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Japanese mint. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/7792258 . Accessed on 4 January, 2020.

Japanese mint. http://www.webmd.com/vitamins-supplements/ingredientmono-616-japanese%20mint.aspx?activeingredientid=616&activeingredientname=japanese%20mint. Accessed on 4 January, 2020.

Japanese Mint. http://www.nhb.gov.in/Horticulture%20Crops/Mint/Mint1.htm. Accessed on 4 January, 2020.

Components of essential oil of the Japanese mint ‘Hokuto’ and its deodorization effects against human malodors. https://www.researchgate.net/publication/327008155_Components_of_essential_oil_of_the_Japanese_mint_’Hokuto’_and_its_deodorization_effects_against_human_malodors. Accessed on 4 January, 2020.

Organic manures a convincing source for quality production of Japanese mint (Mentha arvensis L.). https://www.sciencedirect.com/science/article/abs/pii/S0926669015306531. Accessed on 4 January, 2020.

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Sunil Kumar द्वारा लिखित
अपडेटेड 05/11/2019
x