home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Pokeweed: पोकवीड क्या है?

परिचय|उपयोग|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|इंटरैक्शन|डोसेज
Pokeweed: पोकवीड क्या है?

परिचय

पोकवीड (Pokeweed) क्या है?

पोकवीड एक जंगली पौधा है। इसका साइंटिफिक नाम Phytolacca Decandra है। मूलतः यह पौधा अमेरिका का है लेकिन, कई यूरोपीय देशों में भी यह उगता है। इसकी फलियों, पत्तों और जड़ों का इस्तेमाल दवा बनाने के लिए होता है। यह एक बारहमासी जड़ी बूटी है। यह सप्‍लीमेंट अर्क, टिंचर, पाउडर और पुलटिस के तौर पर मार्केट में उपलब्‍ध भी है। हालांकि, इसकी मात्रा और प्रकार का सेवन स्वास्थ्य की स्थिति पर निर्भर किया जाता है। यह बारहमासी जड़ी बूटी एंटीबायोटिक, एंटी-इंफ्लेमेंटरी और एंटी-टयूमर गुणों से भरपूर है जो कई प्रकार की बीमारियों के उपचार में लाभकारी होती है।

उपयोग

पोकवीड (Pokeweed) का इस्तेमाल किस लिए होता है?

यह स्वाद में तीखी औऱ कड़वी होती है जो प्रतिरक्षा प्रणाली और लसीका प्रणालियों के कार्य को बेहतर बनाए रखने में मदद करती है। इसकी जड़ का इस्तेमाल मांसपेशियों के दर्द दूर करने, जोड़ों (गठिया) का इलाज करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है। साथ ही यह नाक, कान, गला और सीने में सूजन की समस्या का भी इलाज कर सकती है। आमतौर पर इसका इस्तेमाल गले की खराश, लसीका ग्रंथियों की सूजन, ब्रेस्‍ट में दर्द या सूजन के लिए भी किया जाता है।

पोकवीड का इस्तेमाल निम्नलिखित परिस्थितियों में होता है:

  • मांसपेशियों और जोड़ों के दर्द (रयूमेटिज्म)
  • नाक, गले और सीने की सूजन
  • टॉन्सिल्स
  • कंठ की सूजन (वोकल कॉड की सूजन)
  • लिफं ग्लैंड की सूजन (Adenitis)
  • ब्रेस्ट की सूजन और दर्द
  • चेहरी की साल्विया ग्लैंड में सूजन
  • खाज, टिनिया, साइकोसिस, दाद और मुंहासे
  • बॉडी में पानी इकट्ठा होना (एडेमा)
  • स्किन कैंसर
  • मासिक धर्म की ऐंठन (Dysmenorrhea)
  • सिफिलिस

अन्य समस्याओं के लिए पोकवीड का सेवन करने की सलाह दी जा सकती है। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

यह कैसे कार्य करता है?

रूमेटाइड अर्थराइटिस से जुड़े दर्द और सूजन के उपाचार के लिए इसके टिंचर का उपयोग किया जा सकता है। इसके लिए इसका एक या दो सूखा हुआ बेरी लें और पानी के साथ उसे पूरा निगल लें। इससे सिर दर्द को कम किया जा सकता है।

इसके अलावा, इसके लाल पत्‍तों को साफ पानी में उबलें फिर उसे निचोड़कर पानी से अगल कर लें। इसके बार दोबारा से उन पत्तों को दूसरे पानी में उबालें और ऐसा तीन से चार बार करें। इसके बार इन उबले हुए पत्‍तों का इस्‍तेमाल भोजन में सलाद के रूप में या चाय के रूप में किया जा सकता है।

हालांकि, यह औषधि कैसे कार्य करती है, इस संदर्भ में पर्याप्त शोध उपलब्ध नही हैं। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

और पढ़ें: पीरियड्स के दौरान योनि में जलन क्यों होती है? जानिए इसके कारण और इलाज

सावधानियां और चेतावनी

पोकवीड (Pokeweed) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

निम्नलिखित परिस्थितियों में इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें:

  • यदि आप प्रेग्नेंट या ब्रेस्टफीडिंग करा रही हैं। दोनों ही स्थितियों में सिर्फ डॉक्टर की सलाह पर ही दवा खानी चाहिए।
  • यदि आप अन्य दवाइयां ले रही हैं। इसमें डॉक्टर की लिखी हुई और गैर लिखी हुई दवाइयां शामिल हैं, जो मार्केट में बिना डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के खरीद के लिए उपलब्ध हैं।
  • यदि आपको पोकवीड के किसी पदार्थ से एलर्जी है या अन्य दवा या औषधि से एलर्जी है।
  • यदि आपको कोई बीमारी, डिसऑर्डर या कोई अन्य मेडिकल कंडिशन है।
  • यदि आपको फूड, डाई, प्रिजर्वेटिव्स या जानवरों से अन्य प्रकार की एलर्जी है।

अन्य दवाइयों के मुकाबले औषधियों के संबंध में रेग्युलेटरी नियम अधिक सख्त नही हैं। इनकी सुरक्षा का आंकलन करने के लिए अतिरिक्त अध्ययनों की आवश्यकता है। पोकवीड का इस्तेमाल करने से पहले इसके खतरों की तुलना इसके फायदों से जरूर की जानी चाहिए। इसकी अधिक जानकारी के लिए अपने हर्बलिस्ट या डॉक्टर से सलाह लें।

पोकवीड (Pokeweed) कितना सुरक्षित है?

  • बच्चों के लिए पोकवीड का सेवन असुरक्षित है। यहां तक कि इसकी एक बैरी बच्चों के लिए जहरीली हो सकती है।
  • प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग: गर्भवती महिलाओं का मौखिक रूप से सेवन या त्वचा पर इसे लगाना खतरनाक हो सकता है।
  • पोकवीड बैरी से यूट्रस कॉन्ट्रैक्ट हो सकता है, जो गर्भपात का कारण बनाता है।

और पढ़ेंः जानिए क्यों होती है योनि में खुजली? ऐसे करें उपचार

साइड इफेक्ट्स

पोकवीड (Pokeweed) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

पोकवीड का हर हिस्सा विशेषकर जड़ सबसे ज्यादा जहरीली होती है।

पोकवीड से निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं:

हालांकि, हर व्यक्ति को यह साइड इफेक्ट्स नहीं होता है। उपरोक्त दुष्प्रभाव के अलावा भी पोकवीड के कुछ साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं, जिन्हें ऊपर सूचीबद्ध नहीं किया गया है। यदि आप इसके साइड इफेक्ट्स को लेकर चिंतित हैं तो अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

इंटरैक्शन

यह भी पढ़ें: ओरल कैंसर (Oral Cancer) क्या है? जानें इसके लक्षण और रोकथाम के उपाय।

पोकवीड (Pokeweed) से मुझे क्या रिएक्शन हो सकते हैं?

  • पोकवीड आपकी मौजूदा दवाइयों के साथ रिएक्शन कर सकता है या दवा का कार्य करने का तरीका परिवर्तित हो सकता है। इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या हर्बलिस्ट से संपर्क करें।
  • पोकवीड की जड़ों में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण हो सकते हैं। यह समान गुण वाली अन्य दवाइयों के साथ रिएक्शन कर सकती है।
  • पोकवीड में एंटीवायरल गुण हो सकते हैं इसलिए, यह समान गुणों वाली दवाइयों के साथ रिएक्शन कर सकती है।
  • पोकवीड से मोबिट्ज (Mobitz) टाइप-1 हार्ट ब्लॉक हो सकता है। इसकी वजह से यह कार्डिएक ग्लायकोसाइड्स (Cardiac Glycosides) जैसे डिगोक्सिन (Digoxin) या डिगिटोक्सिन (Digitoxin) के साथ रिएक्शन कर सकती है।
  • पोकवीड में ड्यूरेटिक प्रभाव हो सकते हैं, इसलिए यह ड्यूरेटिक दवाइयों के साथ रिएक्शन कर सकती है।

डोसेज

उपरोक्त जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं हो सकती। इसका इस्तेमाल करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

पोकवीड (Pokeweed) का सामान्य डोज क्या है?

  • 1 ग्राम पोकवीड की सूखी जड़ (उल्टी में) एमेटिक (Emetic) और पुरगेटिव (लेक्सेटिव गुण) होती है।
  • पोकवीड का 60-100 ग्राम कम डोज प्रतिदिन रयूमेटिज्म और इम्यून सिस्टम को स्टिमुलेंट करने के लिए लिया जाता है।
  • हालांकि, इन परिस्थितियों के संबंध में किए गए क्लिनिकल ट्रायल इन दावों का समर्थन नहीं करते हैं।

हर मरीज के मामले में पोकवीड का डोज अलग हो सकता है। जो डोज आप ले रहे हैं वो आपकी उम्र, हेल्थ और दूसरे अन्य कारकों पर निर्भर करती है। औषधियां हमेशा ही सुरक्षित नहीं होती हैं। पोकवीड के उपयुक्त डोज के लिए अपने डॉक्टर या हर्बलिस्ट से सलाह लें।

पोकवीड (Pokeweed) किन रूपों में आता है?

पोकवीड निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध है:

  • सूखा पोकवीड
  • लिक्विड एक्स्ट्रैक्ट
  • पाउडर
  • कैप्सूल

हालांकि, यह अक्सर टॉपिकल एप्लिकेशन जैसे क्रीम, मलहम और ऑयल्स में भी उपलब्ध होता है।

हैलो हेल्थ किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या इलाज मुहैया नहीं कराता।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Pokeweed. http://www.webmd.com/vitamins-supplements/ingredientmono-220-Pokeweed.aspx?activeIngredientId=220&activeIngredientName=Pokeweed. Accessed on 7 January, 2020.

Pokeweed. https://www.drugs.com/npp/Pokeweed.html.. Accessed on 7 January, 2020.

Pokeweed poisoning. https://medlineplus.gov/ency/article/002874.htm. Accessed on 7 January, 2020.

The Health Benefits of Pokeweed. https://www.verywellhealth.com/can-pokeweed-provide-health-benefits-4587368. Accessed on 7 January, 2020.

Pokeweed. https://www.sciencedirect.com/topics/biochemistry-genetics-and-molecular-biology/pokeweed. Accessed on 7 January, 2020.

लेखक की तस्वीर
Sunil Kumar द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 26/05/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x