आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

हेल्दी वर्क लाइफ बैलेंस के लिए इन 8 बातों का रखें ध्यान

हेल्दी वर्क लाइफ बैलेंस के लिए इन 8 बातों का रखें ध्यान

आज ज्यादातर घरों में पति पत्नी दोनों ही नौकरीपेशा होते हैं खासकर मेट्रो सिटीज में तो यह बहुत आम बात है। भागदौड़ भरी लाइफ में अक्सर घर और काम दोनों में कुछ न कुछ दिक्क्तें लगी रहती हैं। जिसके चलते काम भी ठीक से नहीं चलता और घर भी ठीक से नहीं संभलता। ऐसे में वर्क लाइफ बैलेंस (Balance work life) करना बेहद जरूरी है।

कभी -कभी लोग घर और ऑफिस के बीच का तालमेल इस कदर बिगाड़ लेते हैं कि ऑफिस और घर को बुरी तरह उलझा लेते हैं। जब घर की टेंशन ऑफिस तक आ जाती है तो काम पर भी इसका असर दिखने लगता है और ऑफिस की दिक्कतों को घर में लाने से पर्सनल लाइफ और पर्सनल रिलेशन दोनों ही खराब होने लगते हैं। हेल्दी वर्क लाइफ बैलेंस इसलिए जरूरी है क्योंकि काम और घर दोनों की आपकी जगह है और दोनों ही अपनी जगह पर बहुत महत्वपूर्ण हैं। इसलिए दोनों के बीच तालमेल बैठना बहुत जरूरी है। आइए जानते हैं कुछ ऐसे टिप्स जो वर्क लाइफ को बैलेंस करने में आपकी मदद करेंगे…

और पढ़ें : Contraction Stress Test: कॉन्ट्रेक्शन स्ट्रेस टेस्ट क्या है?

जानिए वर्क लाइफ बैलेंस कैसे मेंटेन करें (How to maintain work life)

1. टाइम मैनेजमेंट करके करें वर्क लाइफ बैलेंस

आप चाहे घर में हों या ऑफिस में टाइम मैनेजमेंट बहुत जरूरी है। जिससे आप घर के काम घर में और ऑफिस के काम ऑफिस में निपटा सकें। जिसके लिए समय पर ऑफिस आना और समय पर घर जाना जरूरी है। ऑफिस में अपने काम को छोटे -छोटे टार्गेट्स में बाटें और काम को समय पर खत्म करने की कोशिश करें। घर में भी यह सुनिश्चित करें कि व्यक्तिगत मुद्दों को घर में ही निपटा लें। आपके घर के मुद्दे दफ्तर तक नहीं पहुंचने चाहिए। इससे आप दफ्तर में काम में मन नहीं लगा पाएंगी। इसके लिए घर को भी सामान रूप से महत्व दें और फैमिली के लिए टाइम निकालें।

2. अपनी प्राथमिकता समझें और रखें वर्क लाइफ बैलेंस

जब आपके काम करने का समय तय है तो क्यों न उस तय समय में अपनी प्राथमिकताओं को भी तय कर लिया जाए। जिससे आप अपने जरूरी काम को समय पर खत्म कर सकें। यह सिर्फ ऑफिस में ही नहीं घर में भी करें। इसके लिए चेक लिस्ट बहुत अच्छा तरीका है। दिन की शुरुआत में अपनी प्राथमिकता के मुताबिक एक लिस्ट बनाए और फिर उसे फॉलो करें। यह आपके काम और पर्सनल लाइफ में संतुलन बनाए रखने में बहुत मददगार है।

और पढ़ें : Creatinine Clearance: क्रिएटिनिन क्लीयरेंस क्या है?

3. करियर गोल निर्धारित करें और वर्क लाइफ बैलेंस करें

करियर में अपने लक्ष्य और अपनी ग्रोथ (Growth) के बारे में जरूर सोचें। यह आपको भविष्य में सकारात्मक रहने के लिए प्रेरित करता है जिससे आप अपने काम को और भी मन लगाकर करते हैं। इसके लिए जरूरी है कि अपने लिए शॉर्ट टर्म और लॉन्ग टर्म गोल निर्धारित करें। यह आपको काम करने की प्रेरणा देता रहेगा। इससे आपको यह पता रहेगा कि आप किस दिशा में जा रहे हैं। साथ ही आपकी वर्क लाइफ भी बैलेंस रहेगी।

4 वर्क लाइफ बैलेंस करने के लिए पर्सनल गोल निर्धारित करें

ऑफिस के काम से अलग अपने व्यक्तिगत जीवन में भी खुश (Happy) रहना बहुत जरूरी है। नॉर्मली लोग भविष्य के लिए छोटी -छोटी चीजें प्लान करते रहते हैं। जिनमें करियर से अलग उनकी पर्सनल प्रायोरटीज शामिल होती हैं जैसे कि कहीं घूमने जाना , जिम जाना, दोस्तों (Friends) और परिवार (Family) के साथ समय बिताना। यह जरूरी है। इससे आपको काम से थोड़ा ब्रेक मिल जाता है और माइंड फ्रेश रहता है।

5. वर्क लाइफ बैलेंस रखने के लिए जरूरी है अपना ख्याल रखें

व्यस्तता के चलते अक्सर लोग खुद के लिए समय नहीं निकाल पाते जो बिलकुल ठीक नहीं है। इसलिए अपने जरूरी काम को समय पर खत्म करने के साथ -साथ खुद को भी समय दें। जिसमें अपनी हॉबीज को एन्जॉय करें और फिर वापस फ्रेश माइंड के साथ अपने काम पर फोकस कर सकें।

और पढ़ें : 10 सामान्य मेंटल हेल्थ प्रॉब्लम्स (Mental Health Problems) जिनसे ज्यादातर लोग हैं अंजान

6. खानपान पर विशेष ध्यान दें, वर्क लाइफ बैलेंस में होगी मदद

काम के चलते अपने खानपान के साथ कोई समझौता न करें। ऐसा बहुत बार देखा गया है कि लोग काम में इतने बिजी हो जाते हैं की खाने पर ध्यान नहीं देते। ऐसा बिलकुल भी न करें क्योंकि ऐसा करने से, पहले तो आपकी सेहत बिगड़ेगी और फिर उससे आपका काम इफेक्ट होगा। अगर आप घर पर हैं तो कुछ भी हेल्दी बनाकर खा सकते हैं लेकिन अगर ऑफिस में हैं तो अपने पास हेल्दी स्नैक्स (Snacks) जरूर रखें और थोडी -थोड़ी देर में खाते रहें।

7. वर्क लाइफ बैलेंस के लिए जरूरी है अच्छी नींद लें

दिन की अच्छी शुरुआत के लिए एक हेल्दी और अच्छी नींद (Sound sleep) बहुत जरूरी है। इसके लिए आप अपने सोने और जागने का समय निर्धारित करें और कोशिश करें की आप 8 घंटे की अच्छी नींद लें। क्योंकि नींद पूरी न होने से किसी भी काम में मन नहीं लगता और इसका सेहत पर भी बुरा असर पड़ता है। अच्छी नींद से दिन की शुरुआत एक सकारात्मक तरीके से होती है और आप सारे काम ठीक से कर पाते हैं।

और पढ़ें : पुरुषों के मानसिक स्वास्थ्य को प्रभावित करने वाले कारणों के बारे में जान लें, ताकि देखभाल करना हो जाए आसान

8. गैजेट का लिमिटेड इस्तेमाल करने से वर्क लाइफ बैलेंस होगी

मोबाइल फोन और कंप्यूटर में ऑफ का बटन होने का भी एक कारण है इसलिए उसे भी इस्तेमाल करें। काम खत्म करके इनका इस्तेमाल बंद करें क्योंकि बेवजह मोबाइल और फोन पर लगे रहना आपकी सेहत के लिए बिलकुल अभी ठीक नहीं है। दिन के 7 से 8 घंटे कंप्यूटर पर बिताने से मेंटल और फिजिकल हेल्थ पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसलिए टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल लिमिटेड करें। रात को सोने के कम से कम 1 घंटे पहले फोन को किनारे रख दें। इससे नींद भी अच्छी आती है और माइंड भी रिलेक्स रहता है।

एक हेल्दी वर्क लाइफ बैलेंस के लिए आप इन बातों का ध्यान रखकर अपने काम और निजी जीवन की जिम्मेदारियों को बखूबी निभा सकते हैं। एक हेल्दी वर्क लाइफ बैलेंस इसलिए जरूरी है क्योंकि काम और घर दोनों की आपकी जगह है और दोनों ही अपनी जगह पर बहुत महत्वपूर्ण हैं। इसलिए दोनों के बीच तालमेल बैठना बहुत जरूरी है।

हम आशा करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस लेख में वर्क लाइफ बैलेंस करने से जुड़े टिप्स दिए गए हैं। यदि आप इससे जुड़ी अन्य कोई जानकारी चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट सेक्शन में अपना सवाल कर सकते हैं। आपको हमारा यह लेख कैसा लगा यह भी आप हमें कमेंट सेक्शन में बता सकते हैं।

हेल्दी रहने के लिए पौष्टिक भोजन करना जितना आवश्यक बताया गया है, उतना ही एक्सरसाइज या योगासन। इसलिए आपभी नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक कर योग से जुड़े महत्वपूर्ण जानकारियों को जानें और योग करने के सही तरीकों को भी समझें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Priyanka Srivastava द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 23/12/2021 को
डॉ. हेमाक्षी जत्तानी के द्वारा मेडिकली रिव्यूड