आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

null

Jealousy: ईर्ष्या क्या है? जानिए ईर्ष्या और मानसिक स्वास्थ्य का आपसी तालमेल!

    Jealousy: ईर्ष्या क्या है? जानिए ईर्ष्या और मानसिक स्वास्थ्य का आपसी तालमेल!

    ईर्ष्या (Jealousy)… एक सामान्य स्वभाव है, लेकिन जलन या ईर्ष्या आदत बनने लगे तो इस आदत को दूर करने में ही व्यक्ति की भलाई है। इसलिए आज इस आर्टिकल में ईर्ष्या को दूर करने के तरीके आपके साथ शेयर करेंगे।

    • ईर्ष्या क्या है?
    • ईर्ष्या के कारण क्या हैं?
    • ईर्ष्या के प्रकार क्या हैं?
    • ईर्ष्या और मानसिक स्वास्थ्य का आपसी तालमेल क्या है?
    • ईर्ष्या के कारण क्या-क्या परेशानी हो सकती है?
    • ईर्ष्या को दूर करने के तरीके क्या हैं?

    ईर्ष्या यानी जलन भावना से जुड़े इन सवालों का जवाब जानते हैं।

    और पढ़ें : मानसिक स्वास्थ्य समस्याएं कुछ ऐसे करती हैं हमें प्रभावित, जानिए कैसे करें इससे बचाव!

    ईर्ष्या (Jealousy) क्या है?

    ईर्ष्या (Jealousy)

    ईर्ष्या क्या है… इसका जवाब शायद आप आसान से आसान शब्दों में यह कह दें कि वह बहुत ईर्ष्या या जलन स्वभाव का व्यक्ति है, लेकिन इसका जवाब सिर्फ यहीं तक सीमित नहीं होता है क्योंकि ईर्ष्या को ठीक तरह से ना समझा जाए तो यह व्यक्ति को मानसिक रूप से परेशानी में डालने के लिए काफी है। दि डिपार्टमेंट ऑफ हेल्थ, स्टेट गवर्नमेंट ऑफ विक्टोरिया, ऑस्ट्रेलिया (The Department of Health, State Government of Victoria, Australia) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार ईर्ष्या एक तरह का कॉम्प्लिकेटेड इमोशन (Complicated emotion) है। ईर्ष्या स्वभाव के व्यक्तियों में असुरक्षित, अभिभूत, डरा हुआ या फिर नुकसान जैसे अलग-अलग सोच बनने लगती है। कभी-कभी ईर्ष्या होना नैचुरल है, लेकिन अगर ईर्ष्या की भावना अगर ज्यादा वक्त से चली आ रही है तो इसका व्यक्ति या किसी भी रिलेशन पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। वैसे ईर्ष्या के कारण को समझना जरूरी है, जिससे इस स्थिति से छुटकारा मिल सके।

    और पढ़ें : Alcohol and Anxiety: एल्कोहॉल के सेवन को कम करने के लिए 5 टिप्स और एंग्जाइटी को कम करने के लिए 9 टिप्स कर सकते हैं फॉलो!

    ईर्ष्या के कारण क्या हैं? (Causes of Jealousy)

    ईर्ष्या के कारण कई हो सकते हैं जैसे पुअर कम्युनिकेशन (Poor communication) या आत्मसम्मान में कमी (Low self-esteem) में कमी आना। ऐसा जीवन में खुद को उस स्थान में ना देखना जहां वो खुद को रखना चाहते हैं। ऐसी स्थिति में व्यक्ति अकेला भी महसूस कर सकते हैं।

    यह ध्यान रखें कि ईर्ष्या की भावना बड़ों या कम उम्र के बच्चों में भी देखी जा सकती है। इसलिए पेरेंट्स को इस ओर जरूर ध्यान रखना चाहिए जिससे बच्चों को ईर्ष्या स्वभाव यानी नेगेटिव इमोशन से दूर रखा जा सके।

    इसलिए ईर्ष्या के कारण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

    • ठीक तरह से बात ना करना या पुअर कम्युनिकेशन (Poor communication) होना।
    • आत्मसम्मान में कमी (Low self-esteem)।
    • डरा (Fear) हुआ रहना।
    • नाराज (Unhappy) रहना।
    • क्रोध (Anger) रहना।
    • सहानुभूति की कमी (Lack of empathy) होना।

    ये कारण ईर्ष्या के कारण हो सकते हैं।

    और पढ़ें : Stress and Anxiety: जानिए स्ट्रेस और एंग्जाइटी से बचाव के लिए 9 टिप्स!

    ईर्ष्या के प्रकार क्या हैं? (Types of Jealousy)

    ईर्ष्या (Jealousy)

    जलन या ईर्ष्या के प्रकार अलग-अलग हो सकते हैं। जैसे:

    1. रोमेंटिक जेलसी (Romantic jealousy)- रोमेंटिक रिलेशनशिप में बदलाव आना या किसी भी एक व्यक्ति में असुरक्षा की स्थिति ईर्ष्या का एक प्रकार है।
    2. तर्कसंगत और प्रतिक्रियाशील ईर्ष्या (Rational and reactive jealousy)- ईर्ष्या के प्रकार में तर्कसंगत और प्रतिक्रियाशील ईर्ष्या को भी शामिल किया गया है। इसे अगर सामान्य शब्दों में समझें तो यह संदेह की स्थिति के अंतर्गत है।
    3. पारिवारिक ईर्ष्या (Family jealousy)- परिवार के सदस्यों के बीच आपसी मतभेद या किसी अन्य कारण से भी ईर्ष्या की भावना पैदा हो सकती है।
    4. यौन और संदिग्ध ईर्ष्या (Sexual and suspicious jealousy)- जलन या ईर्ष्या के प्रकार में सेक्शुल एवं सस्पीशियस जेलसी भी है। आशंका के आधार पर एक साथी ने दूसरे साथी को धोखा दिया हो या अनुचित संचार में लिप्त हो होना।
    5. पावर जेलसी (Power jealousy)- काम पर या आपके करियर के संबंध में आने वाले व्यक्तिगत डर को पावर जेलसी माना जाता है या इसके अंतर्गत आने वाली जेलसी है।
    6. पैथोलॉजिकल ईर्ष्या (Pathological jealousy)- मेंटल हेल्थ डायग्नोसिस के कारण ईर्ष्या स्वभाव को पैथोलॉजिकल ईर्ष्या के अंतर्गत रखा जाता है।

    ये हैं जलन या ईर्ष्या के प्रकार। वैसे अगर आपके मन में यह सवाल उठा रहा है कि ईर्ष्या और मानसिक स्वास्थ्य का आपसी तालमेल क्या है, तो इसे भी आगे समझेंगे।

    और पढ़ें : Suicidal Ideation: सुसाइडल आइडिएशन क्या है? जानिए इसके लक्षण, कारण और इलाज!

    ईर्ष्या और मानसिक स्वास्थ्य का आपसी तालमेल क्या है? (Link between Jealousy and Mental Health)

    नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार सिजोफ्रेनिया और भावात्मक विकार (Schizophrenia and affective disorders) की समस्या से डायग्नोस पेशेंट्स में ज्यादातर ईर्ष्या की भावना देखी जाती है। रिसर्च रिपोर्ट्स के अनुसार महिलाओं में भ्रमपूर्ण ईर्ष्या (Delusional jealousy) एवं पुरुषों में भ्रमपूर्ण ईर्ष्या की तुलना में एल्कोहॉल सायकोसिस (Alcohol psychosis) की समस्या देखी जाती है। वहीं क्लीवलैंड क्लिनिक (Cleveland Clinic) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार जब ईर्ष्या की भावनायें लंबे समय तक चलने वाली, व्यापक या गंभीर होती हैं, तो यह संकेत है कि व्यक्ति मेंटल हेल्थ से जुड़ी समस्याओं (Mental Health issue) का शिकार हो सकता है या हो सकती है।

    और पढ़ें : जानिए कैसे पॉजिटिव साइकोलॉजी खुशहाल जीवन जीने में करती है मदद!

    ईर्ष्या के कारण क्या-क्या परेशानी हो सकती है? (Complications due to Jealousy)

    ईर्ष्या के कारण व्यक्ति में कई बदलाव, शारीरिक परेशानी या मानसिक परेशानी देखी जा सकती है। जैसे:

    रिलेशनशिप पर नेगेटिव प्रभाव (Negative impact on the relationship) पड़ना।

    • ब्रेकअप (Break up) या डिवोर्स (Divorce) होना।
    • इंसोम्निया (Insomnia) की समस्या होना।
    • पैनिक अटैक (Panic attacks) आना।
    • सिरदर्द की समस्या (Headaches) होना।
    • सीने में दर्द (Chest pain) महसूस होना।
    • हाय ब्लड प्रेशर (High blood pressure) की समस्या होना।
    • पेट दर्द की (Stomach aches) समस्या होना।
    • वजन में (Weight changes) बदलाव यानी कम या ज्यादा होना।

    ये हैं कुछ ऐसी परेशानियां जो जलन या ईर्ष्या की भावना ज्यादा समय से होने पर हो सकती है। वैसे जलन या ईर्ष्या की भावना कोई गंभीर समस्या नहीं है। इसलिए अगर इसे दूर करना चाहे तो आसानी से दूर भी किया जा सकता है।

    और पढ़ें : लोगों के सामने जाने से लगता है डर, तो हो सकता है सोशल एंग्जायटी डिसऑर्डर

    ईर्ष्या को दूर करने के तरीके क्या हैं? (Tips to stop Jealousy)

    ईर्ष्या को दूर करने के तरीके निम्नलिखित हो सकती हैं। जैसे:

    • अपनी भावनाओं को दूसरों के सामने व्यक्त करें और आपसी बातचीत को क्लियर (Be Open About Your Feelings) रखें।
    • डर को खुद से दूर (Control of Your Fears) करें।
    • आपस में बात करें और एक्सपेक्टेशन (Discuss & Set Expectations) निर्धारित करें।
    • अच्छे कामों में अपने आपको व्यस्त (Engage in Gratitude & Mindfulness) रखें।

    नोट: अगर जलन या ईर्ष्या की भावना ज्यादा होने पर मेडिकल हेल्थ एक्सपर्ट से कंसल्ट करें।

    उम्मीद करते हैं कि आपको इस आर्टिकल में दी गई जानकारी महत्वपूर्ण लगी होगी और आपको ईर्ष्या (Jealousy) से जुड़ी सभी जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अगर आपके ईर्ष्या (Jealousy) ​से जुड़े कोई अन्य सवाल हैं, तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे।

    शारीरिक बीमारी हो या मानसिक परेशानी दोनों से ही दूर रहें। इस बदलते वक्त में तनाव की वजह से कई शारीरिक समस्या अपने आप मनुष्य को शरीर को अपना आशियाना बना लेती है। जबकि इन स्थिति से अपने आपको बचाये रखें। जानिए मेंटल हेल्थ को हेल्दी रखने के लिए मैक्स सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल दिल्ली के मेंटल हेल्थ डिपार्टमेंट के डायरेक्टर एवं हेड डॉ. समीर मल्होत्रा की क्या है राय इस नीचे 👇 दिए लिंक में।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 13/07/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड