home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

क्या पुरुषों के लिए हानिकारक है सोयाबीन?

क्या पुरुषों के लिए हानिकारक है सोयाबीन?

पुरुषों के लिए हानिकारक सोयाबीन (Soybeans harmful to men) है या नहीं यह जानकारी लेने से पहले जरूरी है कि सोयाबीन व इससे जुड़ी तमाम जानकारी हासिल की जाए। सोय सोसाबीन से आता है। इसी को प्रोसेस्ड कर सोय प्रोटीन भी निकाला जा सकता है, जैसे पाउडर या सोया मिल्क। कई बार इसमें सोयाबीन में पाए जाने वाला कैल्शियम भी होता है और कई बार नहीं भी पाया जाता। इसके अलावा सोया फाइबर भी तैयार किया जाता है। सोयाबीन को उबालकर या रोस्ट करके भी सेवन किया जाता है। कई बार सोय का इस्तेमाल दूध के वैकल्पिक रूप के तौर पर भी किया जाता है। इसका इस्तेमाल खाद्य पदार्थ के साथ स्किन पर दवा के रूप में भी किया जाता है।

यह हाई कोलेस्ट्रॉल, हाई ब्लड प्रेशर, हार्ट डिजीज, डायबिटीज, मेनोपॉज के लक्षण दिखने पर, पीएमएस -प्रीमेंस्ट्रोअल सिंड्रोम (Premenstrual Syndrome) सहित कई कंडीशन में यह फायदेमंद है। हालांकि, इन बातों को साबित करने के लिए किसी प्रकार के साइंटिफिक सबूत मौजूद नहीं है।

और पढें : Vasectomy : पुरुष नसबंदी क्या है?

पुरुषों के लिए सोयाबीन (Soybean for men) का सेवन सही या नहीं?

पुरुषों के लिए हानिकारक सोयाबीन

दुनियाभर में कई लोग सोय का सेवन हाई क्वालिटी प्रोटीन पाने के लिए करते हैं। इसमें फायटोएस्ट्रोजन तत्व पाया जाता है, जो महिलाओं के एस्ट्रोजन हार्मोन पर असर डालता है। शोधकर्ता इस बात का पता लगा रहे हैं कि फायटोएस्ट्रोजन का असर पुरुषों पर किस प्रकार पड़ता है। डब्ल्यूएचओ के अनुसार सोयाबीन में कई ऐसे तत्व हैं जिसके कारण प्रोस्टेट कैंसर नहीं होता है। इसी का एक प्रकार सोयाबीन तेल भी है। हालांकि, इसका सेवन करने से हार्ट डिजीज होने की संभावनाएं बढ़ जाती है। क्योंकि इसमें ट्रांस फैट होता है।

सोयाबीन में (isoflavones) आइसोफ्लेवोंस पाया जाता है। शरीर के अंदर आइसोफ्लेवोंस के जाते ही यह फाइटोएस्ट्रोजेन (phytoestrogens) में तब्दील हो जाता है। यह एस्ट्रोजेन हार्मोन का ही एक प्रकार है। बाजार में मिलने वाले सोय के सप्लीमेंट पर किए शोध में यह बात सामने आई कि करीब 25 फीसदी प्रोडक्ट के लेबल पर जितनी बातें होती हैं उतनी उस प्रोडक्ट में नहीं होती।

इन प्रकार की बीमारियों का हो सकता है खतरा

पुरुषों के लिए हानिकारक सोयाबीन (Soybeans harmful to men) है या नहीं आप इस बात से समझ जाएंगे कि इसके सेवन करने से कई प्रकार की बीमारियां हो सकती हैं। इसलिए जरूरी है कि इनकी जानकारी रखी जाए।

इनफर्टिलिटी : पुरुषों के लिए हानिकारक सोयाबीन (Soybeans harmful to men) की जहां तक बात है तो इसका असर फर्टिलिटी पर भी पड़ सकता है। सोयाबीन में फाइटोएस्ट्रोजन शरीर से निकलने वाले सामान्य हार्मोन पर असर डाल सकता है। शोधकर्ता इस बात का पता लगाने में जुटे हैं कि सोय का सेवन करने से पुरुषों में कहीं इनफर्टिलिटी की समस्या तो नहीं होती। अप्रैल 2010 इंटरनेशनल जर्नल एंड्रोलॉजी में छपे शोध के अनुसार ज्यादा मात्रा में सोयबीन का सेवन करने से पुरुषों के स्पर्म प्रोडक्शन पर असर पड़ सकता है और इनफर्टिलिटी की समस्या हो सकती है। शोध के अनुसार बच्चों को भी सोय का सेवन नहीं करना चाहिए।

और पढें : पुरुषों में हेयर फॉल के कारण और इलाज के बारे में जानें सबकुछ

फेम्नाइजेशन : पुरुषों के लिए हानिकारक सोयाबीन (Soybeans harmful to men) है या नहीं इसकी बात करें तो कई शोधकर्ताओं ने इस बात पर चिंता जाहिर की है कि इसके कारण पुरुषों में महिलाओं जैसी प्रवृत्ति तो नहीं आती है। ऐसा इसलिए क्योंकि महिलाओं में इसके कारण एस्ट्रोजेन इफेक्ट होता है। बता दें कि महिलाओं की तुलना में पुरुष प्राकृतिक तौर पर ही खुद ब खुद एस्ट्रोजेन प्रोड्यूस करते हैं। 2010 में लोमा लिंडा यूनिवर्सिटी में छपे शोध फर्टिलिटी एंड स्टेरलिटी के अनुसार इसका टेस्टोस्टेरोन पर किसी प्रकार का असर नहीं पड़ता है। वहीं जो ज्यादा सोय का सेवन करते हैं उनमें किसी प्रकार का अंतर नहीं दिखा।

बढ़ सकता है प्रोस्टेट : इसका सेवन खतरनाक हो सकता है। सोयाबीन के रूप में ही आइसोफ्लेवोंस की मात्रा लेने से पेशाब संबंधी समस्या का हल नहीं होता बल्कि उल्टा व्यक्ति का प्रोस्टेट बढ़ सकता है।

और पढें : कोरोना वायरस: महिलाओं और बच्चों में कोरोना वायरस का खतरा कम, पुरुषों में ज्यादा

दर्द कम करने में नहीं है कारगर : पुरुषों के लिए हानिकारक सोयाबीन (Soybeans harmful to men) की बात करें तो ऐसे लोग जो एक्सरसाइज करते हैं और उसके दर्द के निवारण के लिए सोयाबीन व आइसोफ्लेवोंस का खाद्य सामग्री के रूप में सेवन करते हैं उनको कोई खास फायदा नहीं पहुंचता। एक्सरसाइज करने के पूर्व इसका सेवन करने से दर्द संबंधी परेशानी कम नहीं होती है।

हार्ट पर इफेक्ट : पुरुषों के लिए हानिकारक सोयाबीन (Soybeans harmful to men) की जहां तक बात है इसके हार्ट पर इफेक्ट को पता करते हैं। अमेरिका में हार्ट डिजीज के कारण मरने वालों की संख्या काफी ज्यादा है। डिजीज कंट्रोल प्रिवेंशन के अनुसार सोय सामान्य तौर पर दिल को स्वस्थ्य रखने वाला खाद्य पदार्थ है। इसमें सैचुरेटेड फैट की तुलना में अनसैचुरेटेड फैट होता है। सोयबीन का सेवन ज्यादातर लोग सोयाबीन तेल के रूप में करते हैं। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के डॉ जोसेफ हिब्लेन ने कहा था कि हाइड्रोजेनेटेड सोयाबीन के तेल में ट्रांस फैट की मात्रा होती है, यह फैट दिल के लिए काफी घातक होता है। अमेरिकल हार्ट एसोसिएशन के अनुसार कोशिश करनी चाहिए कि हमें ट्रांस फैट जितना संभव हो कम सेवन करें। सोय प्रोडक्ट का सेवन करने के पूर्व लेबल को ध्यानपूर्वक पढ़ें। सभी सोय प्रोडक्ट हेल्दी नहीं होते हैं। खासतौर पर हाइड्रोजेनेटेड सोयाबीन ऑयल का सेवन करने से बचना चाहिए।

और पढें : 20 से 39 वर्ष के पुरुषों को जरूर करवाना चाहिए ये 7 बॉडी चेकअप

थायराॅइड फंक्शन : पुरुषों के लिए हानिकारक सोयाबीन है ये आप समझ ही गए होंगे। अगर इसका ज्यादा सेवन करें तो हायपोथायराॅइड की बीमारी हो सकती है। यदि कोई व्यक्ति 30 दिनों तक 30 ग्राम रोजाना के हिसाब से सोयाबीन का सेवन करता है तो उस पुरुष को थायराॅइड संबंधी बीमारी हो सकती है। जापान की आइची मेडिकल यूनिवर्सिटी के किए शोध के अनुसार सोय का अत्यधिक सेवन करने से थायराॅइड होने की संभावना रहती है। रोजाना एक गिलास यदि कोई सोय मिल्क का सेवन करे तो उसे भी थायराॅइड की समस्या होने की संभावना रहती है।

पुरुषों के लिए हानिकारक सोयाबीन बन सकता है एलर्जी का कारण : इसका सेवन करने से एलर्जी भी हो सकती है। खुजली, जलन यहां तक कि जानलेवा एनाफिलिक्स (Anaphylaxis) की बीमारी हो सकती है। एफडीए रिपोर्ट के अनुसार सोय का सेवन करने से करीब आठ प्रकार की एलर्जी होने की संभावना भी रहती है। यही वजह है कि एफडीए ने पैकेट में मिलने वाले खाद्य पदार्थों के पैकेट के पीछे प्रोडक्ट अंदर के यूज किए पदार्थ के बारे में लिखना अनिवार्य किया। सोय में वो तमाम तत्व हैं जो प्रोसेस्ड किए जा सकते हैं।

और पढ़ें: Peyronies : लिंग का टेढ़ापन (पेरोनी रोग) क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

रिप्रोडक्टिव रिस्क : पुरुषों के लिए हानिकारक सोयाबीन (Soybeans harmful to men) के अंतर्गत आप जान लें कि इसका सेवन करने से प्रजन्न शक्ति पर भी असर पड़ता है। यूनिवर्सिटी आफ जीनिवा मेडिकल स्कूल की ओर से किए शोध के अनुसार सोय के अंदर आइसोफ्लेवोंस पाया जाता है उसका सेवन करने से पुरुषों का स्पर्म काउंट जहां कम होता है वहीं सेक्शुअल साइड इफेक्ट भी देखने को मिलते हैं। इंसानों व चूहों पर किए गए सोय पर आधारित शोध पर कई विशेषज्ञ तर्क देते हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि साइंटिस्ट पुरुषों की तुलना में चूहों को सोय के ज्यादा मात्रा में डोज देते थे। इससे यह बात तो साबित होती ही है कि यदि चूहों में इसके विपरीत नतीजे दिख रहे हैं तो पुरुषों में भी इसके विपरीत नतीजे जरूर देखने को मिलेंगे।

सोयाबीन में पाए जाने वाले न्यूट्रिएंट्स (Nutrients found in soybean)

सोया में नीचे दिए गए तत्वों के अलावा विटामिन ई, नियासिन (Niacin), विटामिन बी6 और पेंटोथेनिक एसिड पाया जाता है। वहीं इसमें प्रीबायोटिक फाइबर भी होता है। इसमें प्लांट स्टेरोल्स, आइसोफ्लेवोंस डेडजिन और जिनिस्टीन जैसे कई लाभकारी फायटोकैमिकल्स भी होते हैं। उदाहरण के तौर पर 155 ग्राम सोबीन में यह तत्व पाए जाते हैं :

कैलोरी -189

कार्ब- 11.5 ग्राम

प्रोटीन- 16.9 ग्राम

फैट- 8.1 ग्राम

विटामिन सी- रेफ्रेंस डेयरी इनटेक का 16%

विटामिन के- रेफ्रेंस डेयरी इनटेक का 52%

थायामाइन- रेफ्रेंस डेयरी इनटेक का 21%

रिबोफ्लेविन- रेफ्रेंस डेयरी इनटेक का 14%

फ्लोटेट- रेफ्रेंस डेयरी इनटेक का 121%

आयरन– रेफ्रेंस डेयरी इनटेक का 20%

मैग्नीशियम- रेफ्रेंस डेयरी इनटेक का 25%

फासफोरस- रेफ्रेंस डेयरी इनटेक का 26%

जिंक- रेफ्रेंस डेयरी इनटेक का 14%

मैग्नीज- रेफ्रेंस डेयरी इनटेक का 79%

कॉपर – रेफ्रेंस डेयरी इनटेक का 19%

और पढें : Male urinary incontinence: पुरुषों में यूरिनरी इनकॉन्टिनेंट क्या है?

पुरुषों के लिए हानिकारक सोयाबीन (Soybeans harmful to men) है या नहीं अब तो आप ये जान ही चुके हैं, लेकिन कुछ मामलों में महिलाओं के लिए यह फायदेमंद भी है। ऐसा इसलिए है कि यदि इसका नियमित मात्रा में सेवन किया जाए तो इससे ब्रेस्ट कैंसर और ओवेरियन कैंसर होने की संभावना कम हो जाती है। वहीं यदि प्रोटीन पाने के लिए यदि कोई सोय प्रोडक्ट पर निर्भर करता है और नियमित मात्रा में सोय प्रोडक्ट का सेवन करता है तो उस स्थिति में उसका वजन भी नहीं बढ़ता है। इसका सेवन करने से जहां हेल्थ बेनिफिट होते हैं वहीं कई मामलों में समस्या भी हो सकती है। ऐसे में जरूरी है कि डॉक्टर की सलाह देने के बाद ही इसका सेवन किया जाए।

 

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
लेखक की तस्वीर badge
Satish singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 04/05/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x