home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

पुरुषों में हेयर फॉल के कारण और इलाज के बारे में जानें सबकुछ

पुरुषों में हेयर फॉल के कारण और इलाज के बारे में जानें सबकुछ

पुरुषों में हेयर फॉल आजकल एक आम समस्या बन गई है। जिसे लेकर पुरुष हमेशा परेशान रहते हैं। आज हम देखते हैं कि 10 में 7 पुरुषों में हेयर फॉल की समस्या पाई जाती है। पुरुषों के बाल झड़ना उनके लुक्स को खराब कर देता है। यही कारण है कि महिलाओं की तरह पुरुष भी अपने बालों का ख्याल रखने के लिए भरसक प्रयास करने लगे हैं। इसलिए आइए पहले जानते हैं कि पुरुषों में हेयर फॉल होने के क्या कारण हैं। पुरुषों में हेयरफॉल के कई ट्रीटमेंट भी हैं, जिनके बारे में आप इस आर्टिकल मे जानेंगे।

यह भी पढ़ें- हेयर ग्रोथ फूड्स अपनाकर पाएं काले घने लंबे बाल

पुरुषों में हेयर फॉल किन कारणों से हो सकता है?

गंजापन

पुरुषों में हेयर फॉल के कई कारण हो सकते हैं जिनमें से मुख्य हैं :

  • पुरुषों में बाल झड़ना आनुवांशिक (genetics) भी हो सकता है। डॉक्टरों के मुताबिक पुरुषों में आनुवांशिक कारणों से एक निश्चित पैटर्न में बाल झड़ते हैं। इस तरह के लोगों में हेयर लॉस पैटर्न (hair loss pattern) उनके पिता या दादा से मिलता-जुलता है।
  • पुरुषों के बाल झड़ना हॉर्मोनल परिवर्तन (hormonal changes) की वजह से भी हो सकता है। आम तौर पर टेस्टोस्टेरॉन की कमी या अधिकता इसके लिए जिम्मेदार होती है।
  • कभी-कभी गंभीर रूप से बीमार पड़ने या बुखार होने की वजह से भी पुरुषों के बाल झड़ना शुरू हो जाते हैं।
  • कैंसर के इलाज के लिए ली जाने वाली कीमोथेरेपी के बाद भी हेयर फॉल की समस्या शुरू हो जाती है।
  • भावनात्मक या शारीरिक तनाव की वजह से भी पुरुषों के बाल झड़ना शुरू हो जाते हैं। लगातार स्ट्रेस हेयर लॉस का कारण बनता है।
  • मेल पैटर्न बाल्डनेस आनुवंशिक समस्या है। रिसर्च में पाया गया है कि पुरुषों के सेक्स हॉर्मोन जिसे एंड्रोजेंस कहते हैं, वे मेल पैटर्न बाल्डनेस के लिए जिम्मेदार होते हैं। एंड्रोजेंस बालों की वृद्धि को नियंत्रित करने का काम करते हैं। सिर के हर बाल की अपनी एक ग्रोथ साइकिल होती है। मेल पैटर्न बाल्डनेस में बाल की वृद्धि ही पतले और कमजोर बालों से होती है। साथ ही हेयर फॉलिकल भी सिकुड़ जाते हैं। बालों की ग्रोथ धीमी होती है। वहीं, ग्रोथ साइकिल में हर बाल के बाद बालों की वृद्धि कम या न के बराबर होती है।

यह भी पढ़ेंः इन हेल्दी फूड्स की मदद से प्रेग्नेंसी के बाद बालों का झड़ना कम करें

पुरुषों में हेयर फॉल का इलाज क्या है?

पुरुषों में हेयर फॉल का इलाज निम्न तरीकों से किया जाता है :

1. ओवर-द-काउंटर दवाओं से पुरुषों में हेयर फॉल का होता है इलाज

मिनोक्सिडिल (Minoxidil) एक ऐसी दवा है जिसे स्कैल्प पर लगाना होता है। मिनोक्सिडिल को लगाने से पुरुषों में हेयर लॉस कम होता है और साथ ही हेयर फॉलिकल नए बालों को ग्रो करते हैं। मिनोक्सिडिल लगाने के चार महीने से एक साल के अंदर ही रिजल्ट सामने आने लगते हैं। दवा का प्रयोग करने से आपके बालों का झड़ना कम या बंद हो जाएगावहीं, मिनोक्सिडिल के कुछ साइड इफेक्ट्स भी हैं, जैसे- रूखापन, जलन या स्कैल्प में पपड़ी पड़ जाना।

फिनास्टेराॅइड एक ओरल दवा है, जिसका सेवन मुंह के द्वारा किया जाता है। ये हेयर फॉल के लिए जिम्मेदार हॉर्मोन को ब्लॉक करने का काम करती है। इस दवा की तुलना में फिनास्टेराइड ज्यादा असरदार और सफल है। जब आप फिनास्टेराइड का सेवन बंद कर देते हैं तो पुरुषों में हेयर फॉल फिर से शुरू हो जाता है।

बेहतर रिजल्ट के लिए फिनास्टेराइड को लगभग तीन महीने से एक साल तक लेना चाहिए। अगर एक साल के बाद भी बालों में ग्रोथ नहीं हो रही है तो डॉक्टर फिनास्टेराइड लेने के लिए मना कर देते हैं। फिनास्टेराइड के अपने कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें : बालों की तमाम समस्या को कम करने में आज भी मददगार है हेयर ऑयलिंग

2. हेयर ट्रांसप्लांट

हेयर ट्रांसप्लांट के नुकसान
हेयर ट्रांसप्लांट यानी बालों का प्रत्यारोपण, ये एक प्रकार की सर्जरी है। इसमें जिनके सिर पर बाल नहीं है या बाल झड़ गए हैं, उनके सिर पर डर्मेटोलॉजिकल सर्जन हेयर ट्रांसप्लांटेशन की सहायता से हेयर ग्रो कराते हैं। हेयर ट्रांसप्लाट का मुख्य उद्देश्य सिर पर बालों की संख्या में इजाफा या बालों को घना करना है।

हेयर ट्रांसप्लांट सर्जरी की दो प्रक्रिया बहुत ज्यादा प्रचलन में है :

पुरुषों में हेयर फॉल के लिए फॉलिक्यूलर यूनिट स्ट्रीप सर्जरी [Follicular unit strip surgery (FUSS)]

फॉलिक्यूलर यूनिट स्ट्रीप सर्जरी में सिर के त्वचा की स्ट्रीप हटाई जाती है। इसके बाद उस स्थान को बालों से ढ़ंका जाता है। सबसे पहले आपके सिर को सुन्न किया जाता है। इसके बाद सर्जन आपके स्कैल्प की स्ट्रीप निकालकर छोटे-छोटे छेद (Graft) बनाते हैं। इसके बाद उसमें एक या कुछ बालों को डाला जाता है। इससे गंजे हुए भाग पर बालों का प्रत्यारोपण किया जाता है। जिसमें रिसिपिएंट साइट कहते हैं।

इस हेयर ट्रांसप्लांट की कीमत आपके ग्राफ्टिंग के आधार पर तय होती है। ये उनके लिए फायदेमंद होता है जिन्हें कम जगह पर ही ग्राफ्टिंग करानी होती है। वहीं, फॉलिक्यूलर यूनिट स्ट्रीप सर्जरी का एक नुकसान ये है कि जहां पर बालों का प्रत्यारोपण किया जाता है वहां पर चोट या पपड़ी जम जाती है। कुछ लोगों के सिर में सूजन जैसी समस्या भी सामने आती है।

ये भी पढ़े आपकी डेटिंग प्रोफाइल में “मेन बन” वाला लुक लगा देगा चार चांद

फॉलिक्यूलर यूनिट एक्सट्रैक्शन [Follicular unit extraction (FUE)]

फॉलिक्यूलर यूनिट एक्सट्रैक्शन सर्जरी करने से पहले आपके सिर को सुन्न किया जाता है। इसमें सिर में सभी जगह पर छेदकर कर बालों को रोपा जाता है। जिसके बाद बालों की जड़ों पर बहुत छोटे डॉट्स पता चलते हैं। बाकी पूरा सिर बालों से ढंक दिया जाता है। फॉलिक्यूलर यूनिट स्ट्रीप सर्जरी (FUSS) की तुलना में जल्दी रिकवर होती है। साथ ही रिस्क और घाव होने के मौके भी बहुत कम होते हैं। वहीं फॉलिक्यूलर यूनिट एक्सट्रैक्शन (FUE) विधि की तुलना में फॉलिक्यूलर यूनिट स्ट्रीप सर्जरी (FUSS) ज्यादा महंगी होती है।

यह भी पढ़ेंः Fun Facts: कर्ली बालों वाली लड़कियों को हर किसी से मिलता है इस तरह का ज्ञान

3. लेजर ट्रीटमेंट

लेजर हेयर रिमूवल Laser hair removal

लेजर ट्रीटमेंट से हेयर फॉलिकल में इंफ्लेमेशन को कम किया जाता है। जिसके बाद बाल फिर से ग्रो होने लगते हैं। हालांकि, इस पर कोई ज्यादा रिसर्च नहीं है कि लेजर ट्रीटमेंट से पुरुषों में हेयर फॉल कम होता है या नहीं, लेकिन लो-लेवल लेजर थेरिपी (LLLT) से पुरुषों में हेयर फॉल को कम किया जाता है।

4. लाइफस्टाइल में बदलाव

लाइफस्टाइल के कारण भी कभी-कभी पुरुषों में हेयर फॉल की समस्या होती है। इसलिए लाइफस्टाइल में थोड़ा सा बदलाव करने से हेयर फॉल की समस्या रुक सकती है :

यह भी पढ़ेंः ये क्विज बताएंगे बालों का कितना ख्याल है आपको?

5. चेकअप कराएं

पुरुषों में हेयर फॉल का एक कारण आनुवंशिकी भी है। इसलिए आपको कई बार चेकअप कराना जरूरी होता है। इसके अलावा हेयर फॉल इन कारणों से भी हो सकता है, इसलिए इनकी भी जांच कराएं :

अगर आप में ऊपर बताई गई कोई भी समस्या है तो हेयर फॉल के लक्षण सामने आ सकते हैं। इसलिए अपने डॉक्टर के पासजा कर चेकअप कराएं।

यह भी पढ़ें : क्विज में छिपे हैं हेयर लॉस के फैक्ट्स, क्या आप जानते हैं?

6. पुरुषों में हेयर फॉल के लिए घरेलू उपाय करें

पुरुषों में हेयर फॉल को रोकने के लिए निम्न घरेलू उपाय अपनाएं जा सकते हैं।

  • एक कप सरसों के तेल में कुछ हिना की पत्तियां डालें और इसे उबाल लें। इसे ठंडा करके छान लें। अब इस मिश्रण को अपने बालों में लगाएं। करीब बीस मिनट बाद बाल शैंपू से धो लें। एक दिन के बाद फिर दोहराएं। इससे भी गंजेपन में राहत मिल सकती है।
  • प्याज का रस बालों की ग्रोथ के लिए बहुत फेमस है। एक प्याज लें और इसे या तो ग्राइंड कर लें या ग्रेट करके इसका रस निकाल लें। इस रस को बालों की जड़ों में लगाएं। आधे घंटे बाद बाल धो लें। प्याज में प्रचुर मात्रा में सल्फर होता है। इस कारण यह हेयर ग्रोथ के लिए फायदेमंद माना जाता है। कई विशेषज्ञों का मानना है कि यदि बालों की ग्रोथ न भी हो तो भी प्याज का रस हेयर फॉल के लिए फायदेमंद साबित होता है। इससे निश्चित रूप से पुरुषों के बाल झड़ना कम होगा।
  • बाल झड़ने से रोकना चाहते हैं तो दही नींबू का मिक्स्चर अपनाएं। 3 से 4 चम्मच दही लें और इसमें 1 नींबू का रस मिला लें। इसे बालों की जड़ों में लगाएं। ऐसा सप्ताह में कम से कम दो बार करें। इसे 2 से 3 घंटे तक रखें। इसके बाद शैंपू कर लें।
  • अंड़े से बना हुआ मास्क हेयरफॉल को कम करने में मदद करता है। अंड़ा बालों को झड़ने से रोकता है और इन्हें मजबूत बनाता है। अंड़े का मास्क बनाने के लिए व्हाइट पार्ट का इस्तेमाल करें। इस व्हाइट पार्ट में जैतून क तेल मिला लें। इस मास्क को बालों की जड़ों के सा​थ ही बालों की टीप तक लगाएं। मास्क को करीब दो घंटे के लिए बालों में लगे रहने दें। इसके बाद इसे धो लें। यह पुरुषों के बाल झड़ना रोकने के लिए एक प्रभावी उपाय है।
  • बाल झड़ना रोकना चाहते हैं तो केले का मास्क आपकी मदद कर सकता है। केला ना सिर्फ पेट के लिए लाभदायक है बल्कि यह स्किन और हेयर के लिए भी फायदेमंद होता है। केले का हेयर मास्क बनाने के लिए एक कटोरे में पके हुए केले लें। इसमें थोड़ा सा नींबू और जैतून का तेल मिलाएं। इस मास्क को करीब 40 मिनट के लिए बालों में लगाकर छोड़ दें। सिर धो लें। यह मास्क आपके बालों की ग्रोथ के साथ-साथ उन्हें हेल्दी और खूबसूरत बनाता है।

पुरुषों में हेयर फॉल के लिए अपनाएं ये टिप्स

  • नियमित रूप से एक्सरसाइज करें। इससे शरीर का मेटाबॉलिज्म सुधरता है। इससे हेयर फॉलिकल्स (hair follicles) मजबूत बनते हैं। जिससे पुरुषों में हेयरफॉल रोकन में मदद मिलती है।
  • न्यूट्रिशियस और बैलेंस डाइट लें। यह हमारे शरीर और दिमाग दोनों को ही हेल्दी बनाता है।
  • प्रोफेशनल और पर्सनल लाइफ में मानसिक समस्या के इलाज के लिए लोग एंटी डिप्रेसेंट ड्रग्स लेने लगते हैं। इन दवाओं के ज्यादा इस्तेमाल से भी पुरुषों के बाल झड़ना शुरू हो जाते हैं।
  • डाइट में प्रोटीन और विटामिन की मात्रा संतुलित रखें। खासकर बायोटिन को बालों के लिए उपयोगी पाया गया है। इसके अलावा फोलिक एसिड और ओमेगा 3 फैटी एसिड को भी भोजन में शामिल करें।
  • बालों के टूटने, डैंड्रफ, हेयर फॉल जैसी परेशानियों का एक कारण शरीर में पानी की कमी भी हो सकती है। इसलिए, पानी का पर्याप्त मात्रा में सेवन करें। पानी में प्राकृतिक तौर पर मिनरल्स होते हैं जो कई तरह के बैक्टीरिया और वायरस का सफाया कर देते हैं।
  • बालों को वॉश करने के लिए हमेशा माइल्ड शैम्पू का ही इस्तेमाल करें और हो सके तो हर्बल शैम्पू का उपयोग करें।
  • बालों को ऑयल मसाज देना न भूलें। इसके लिए नेचुरल हेयर ऑयल जैसे कोकोनट ऑयल, ऑलिव ऑयल आदि का इस्तेमाल करें। सप्ताह में दो से तीन बार बालों में मसाज दें।
  • बालों में हेयर डाई के इस्तेमाल से बचें।
  • रूसी की वजह से पुरुषों के बाल झड़ना एक आम समस्या है। इसलिए, हेयर फॉल के इस कारण को खत्म करने के लिए डैंड्रफ का इलाज जरूरी है।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल जानकारी नहीं दे रहा है। पुरुषों में हेयर फॉल से जुड़ी अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ें :-

Allergy Blood Test : एलर्जी ब्लड टेस्ट क्या है?

इन हेल्दी फूड्स की मदद से प्रेग्नेंसी के बाद बालों का झड़ना कम करें

Fun Facts: कर्ली बालों वाली लड़कियों को हर किसी से मिलता है इस तरह का ज्ञान

ये क्विज बताएंगे बालों का कितना ख्याल है आपको?

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Shayali Rekha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 22/08/2020 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड