home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

क्या टोपी की वजह से गंजापन हो सकता? जानें इससे जुड़े मिथक और सच

क्या टोपी की वजह से गंजापन हो सकता? जानें इससे जुड़े मिथक और सच

क्या टोपी पहनने से वास्तव में सिर के बाल कम हो सकते हैं या टोपी की वजह से गंजापन की समस्या होती है? आज हम कुछ रिसर्च के आधार पर जानेंगे टोपी से जुड़े कुछ मिथक और उनके पीछे का सच क्या है? कहा जाता है कि टोपी की वजह से गंजापन और बाल झड़ने के पीछे उम्र, तनाव, हेरीडिटी, हॉर्मोनल चेंजेस, मेडकैशन या मेडिकल कंडीशन जैसे कई अन्य कारण हो सकते हैं।

क्या टोपी की वजह से गंजापन होता है?

अगर आपको ऐसा लगता है की टोपी की वजह से गंजापन की समस्या होती है या बाल झड़ते हैं, तो ऐसा नहीं है। किसी भी रिसर्च में यह नहीं कहा गया है की टोपी या हैट लगाने से बाल झड़ते हैं। हालांकि, आपको लगता है कि टोपी पहनने की वजह से आपके बाल झड़ते हैं, तो निम्नलिखित बातें भी जान लें।

  • सामान्य मनुष्य के एक दिन में 50 से 100 बाल झड़ना सामान्य माना जाता है। सिर्फ टोपी की वजह से गंजापन नहीं होता है।
  • कैप की क्वॉलिटी कॉटन मटेरियल की है या कोई ऐसा मटेरियल जिससे अत्यधिक पसीना होता हो, तो इससे बालों को नुकसान होता है। अगर बालों को नुकसान पहुंचेगा तो बाल झड़ना स्वभावित होता है और यह परेशानी बनी रही तो गंजापन भी हो सकता है।

यह भी पढ़ें : हेयर ट्रांसप्लांट के फायदे और साइड इफेक्ट्स

मिथ- क्या बालों का झड़ना मां की वजह से होता है?

फैक्ट- यह पूरी तरह से सच नहीं है। कुछ हद तक यह महिलाओं में पाए जाने वाले X क्रोमोसोम की वजह से होता है। लेकिन ये पूरी तरह सच नहीं है। जेनेटिकल प्रॉब्लम अधिक प्रभावी होता हैं लेकिन, शोध बताते हैं कि जिन पुरुषों के गंजे पिता होते हैं उनमें गंजेपन की संभावना अधिक होती है।

मिथ- अगर आप गंजे हो रहे हैं तो आप बुजुर्ग हो रहें हैं?

फैक्ट- ऐसा नहीं है दरअसल, किशोरावस्था में बालों का झड़ना रुक सकता है और 20 और 30 साल के में यह समस्या आम हो सकती है। किसी-किसी व्यक्ति में तेजी से बाल झड़ने की वजह से गंजेपन की समस्या शुरू हो सकती है।

यह भी पढ़ें : बालों की तमाम समस्या को कम करने में आज भी मददगार है हेयर ऑयलिंग

मिथ- कैप पहनने से बाल झड़ते हैं टोपी की वजह से गंजापन होता है?

फैक्ट- उन पुरुषों के लिए अच्छी खबर है जो अपने बालों की कमी को छिपाने के लिए कैप पर निर्भर रहते हैं। कैप पहनने से कोई नुकसान नहीं पहुंचता है। हालांकि, गंदी टोपियां सिर में इंफेक्शन की समस्या जरूर शुरू हो सकती हैं। इंफेक्शन की वजह झड़ने की समस्या शुरू हो सकती है। इसलिए ध्यान रखें की आपकी टोपी साफ है या नहीं या कैप में इस्तेमाल किये गए कपड़े की क्वालिटी कैसी है।

मिथ- किसी ट्रॉमा की वजह से बाल झड़ने लगते हैं?

फैक्ट- शारीरिक या भावनात्मक तनाव की वजह से बाल झड़ सकते हैं। लेकिन, कुछ दिनों के बाद झड़े हुए बाल वापस आ जाते हैं।

मिथ- प्रोपेशिया (Propecia) और रोगेन (Rogaine) के मदद से इलाज किया जाता है

फैक्ट- पिछले कई सालों से प्रॉपेशिया की मदद से बाल झड़ने की समस्या को कम किया जाता है। प्रोपेशिया की दवा बाल झड़ने की समस्या को कम करता है। प्रोपेशिया की दवा वैसे हॉर्मोन को नियंत्रित रखता है, जिससे बाल झड़ने की परेशानी कम हो। वहीं रोगेन को जेल की तरह स्कैल्प पर लगाया जाता है।

मिथ- बालों को स्वस्थ रखना है तो हेयर स्प्रे का इस्तेमाल करना हानिकारक होता है

फैक्ट- दरअसल, केमिकल्स के इस्तेमाल की वजह से बालों पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है। लेकिन, अगर आप अत्यधिक इस्तेमाल करते या करती हैं तब। केमिकल्स के इस्तेमाल के साथ-साथ आयरन का भी इस्तेमाल किया जाता है। यह एक कारण हो सकता है बाल झड़ने का।

मिथ- कार्बोहाइड्रेट की मात्रा बढ़ने की वजह से बाल झड़ने लगते हैं

फैक्ट- एक्सपर्ट्स के अनुसार कार्बोहाइड्रेट और रेड मीट शरीर के साथ-साथ बालों को भी पोषक तत्व पहुंचाता है

मिथ- ऐसी धारणा है की गंजे लोग ज्यादा सेक्शुअली एक्टिव होते हैं।

फैक्ट- एक्सपर्ट्स के अनुसार यह धारणा पूरी तरह से गलत है। दोनों तरह के लोगों में टेस्टोस्टोरेन एक जैसे ही बनते हैं।

यह भी पढ़ें: शिशु की त्वचा से बालों को निकालना कितना सही, जानें क्या कहते हैं डॉक्टर?

टोपी की वजह से गंजापन के क्या हैं मिथ और फैक्ट समझने के बाद समझने की कोशिश करते हैं की बालों को हेल्दी कैसे रखें?

बालों को हेल्दी रखने के टिप्स निम्नलिखित हैं। जैसे-

टोपी की वजह से गंजापन के क्या कारण हैं यह हम समझ चुके हैं। अब गंजापन या बाल झड़ने की परेशानी को दूर करने के लिए आंवला का प्रयोग किया जा सकता है। आंवला बालों से लेकर आपके पूरे शरीर को फिट रखने में मददगार होता है। यह विटामिन-सी और एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर होता है। विटामिन-सी और एंटीऑक्सिडेंट दोनों ही खनिज तत्व बालों को मजबूत बनाने और उनकी ग्रोथ बढ़ाने के लिए फायदेमंद है। विटामिन-सी के कारण कोलाजन भी बनता है। कोलाजन हेयर ग्रोथ में अह्म भूमिका निभाता है। घरेलू नुस्खों में आंवले का उपयोग स्किन केयर के साथ-साथ हेयर केयर तक किया जा सकता है।

टोपी की वजह से गंजापन हो या किसी अन्य कारण से ऐसे में बालों के लिए प्याज लाभकारी होता है। बालों को हेल्दी रखने के लिए प्याज के रस का इस्तेमाल किया जा सकता है। अगर आप बाल झड़ने की समस्या से छुटकारा चाहते हैं तो प्याज के रस को स्कैल्प पर लगा सकते हैं। प्याज में मौजूद सल्फर की मात्रा बालों के लिए लाभ्कारी होता है। दरअसल हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार सल्फर हेयर ग्रोथ के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

टोपी की वजह से गंजापन हो रहा हो या किसी अन्य कारण से इससे बचने के लिए एक खास उपाय अवश्य करना चाहिए। जब भी शैम्पू करें या बालों पर डाले जाने वाले पानी गर्म प्रयोग न करें। अगर आपको गर्म पानी से स्नान करने की आदत है तो हल्के गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें। जरूरत से ज्यादा गर्म पानी की वजह से बालों को नुकसान जैसे बाल झड़ना या डैंड्रफ की परेशानी हो सकती है। यह भी ध्यान रखें की गर्म पानी का बालों पर बुरा प्रभाव पड़ने का साथ-साथ त्वचा पर हानिकारक असर होता है।

बालों को हेल्दी रखने के लिए नियमित मसाज करने के साथ-साथ शैम्पू भी दो से तीन दिनों के अंतराल पर करना अच्छा होता है। ऐसा करें से टोपी की वजह से गंजापन होने की परेशानी हो या किसी और कारण से बाल झड़ने की समस्या से बचा जा सकता है।

अगर आप बाल झड़ने की समस्या से परेशान हैं या टोपी की वजह से गंजापन की समस्या से जूझ रहें हैं तो इससे जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी तरह की मेडिकल एडवाइस, इलाज और जांच की सलाह नहीं देता है।

और पढ़ें:

हेयर कलर के प्रकार जानने के बाद ही बालों को करें कलर

लड़की ने तोड़ा वर्ल्ड रिकॉर्ड, इतने लंबे बाल देखकर हैरान रह जाएंगे

बच्चों की त्वचा की देखभाल नहीं है आसान, इन टिप्स से बनेगा काम

होममेड बेबी फूड है बच्चों के लिए हेल्दी, जानें आसान रेसिपी

बाल सीधे करने के पांच तरीके, क्या आप इनके बारे में जानते हैं?

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Does Wearing a Hat Cause Hair Loss?/https://www.healthline.com/Accessed on 27/01/2020

10 Myths and Facts about Hair Loss/https://www.mensjournal.com/Accessed on 27/01/2020

Hair loss/https://medlineplus.gov/ency/article/003246.htm/Accessed on 27/01/2020

Hair Loss: Common Causes and Treatment./https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/28925637/Accessed on 27/01/2020

Male pattern baldness: What you need to know/https://www.medicalnewstoday.com/articles/68077.php/Accessed on 27/01/2020

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Nidhi Sinha द्वारा लिखित
अपडेटेड 04/10/2019
x