home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

भारत का पहला प्रोटीन डे आज, जानें क्यों पड़ी इस खास दिन की जरूरत?

भारत का पहला प्रोटीन डे आज, जानें क्यों पड़ी इस खास दिन की जरूरत?

हर कोई जानता है कि हमारे शरीर के लिए प्रोटीन काफी जरूरी पोषक तत्व है, जो हमारे विकास में अहम योगदान देता है। प्रोटीन का पर्याप्त सेवन और रेगुलर डायट में उसे शामिल करना बहुत जरूरी है। लेकिन, जानकारी के अभाव में हमारे देश में लोग प्रोटीन के प्रति जागरुकता से थोड़े दूर हैं। इसी दूरी को मिटाने के लिए भारत में पहला प्रोटीन डे मनाया जा रहा है। प्रोटीन डे हर साल 27 फरवरी को मनाया जाएगा। इसकी पहल की है एक राष्ट्रीय स्तर के पब्लिक हेल्थ कैंपेन ‘राइट टू प्रोटीन ने’। भारत से पहले और भी कई देश प्रोटीन की आवश्यकता और उसकी जागरुकता के लिए इस दिन को अपना चुके हैं। इस आर्टिकल में जानें कि आखिर क्या है यह प्रोटीन डे और प्रोटीन क्यों है हमारे शरीर के लिए इतना जरूरी?

यह भी पढ़ें – C Reactive Protein Test : सी रिएक्टिव प्रोटीन टेस्ट क्या है?

प्रोटीन डे आखिर क्या है?

भारत में पहले प्रोटीन डे की शुरुआत एक राष्ट्रीय स्तर के पब्लिक हेल्थ कैंपेन राइट टू प्रोटीन ने की है। इस दिन की शुरुआत भारत में प्रोटीन की तरफ लोगों का ध्यान आकर्षित करने, जागरुकता फैलाने और इसके फायदों के बारे में शिक्षित करने के लिए की गई है। कैंपेन से जुड़े लोगों का कहना है कि इस दिन को मनाने से लोगों को बड़े स्तर पर प्लांट और एनिमल प्रोटीन के विभिन्न प्रकारों के बारे में पता चलेगा। इतना ही नहीं, वे डेली मील में बेहतर पोषण और स्वास्थ्य के लिए प्रोटीन की आवश्यकता के बारे में जरूरी बातें जान सकेंगे। प्रोटीन डे 2020 की थीम ‘प्रोटीन में क्या है’ चुनी गई है। जिसका मकसद है कि लोग खुद और दूसरों से प्रोटीन की खासियत और फायदों की बात करें और जागरुकता फैलाएं। राइट टू प्रोटीन कैंपेन समाज में विशेषज्ञों के द्वारा प्रोटीन की अवेयरनेस और फैक्ट्स व मिथ को बताने का उद्देश्य रखता है।

सर विठ्ठलदास ठाकरसी कॉलेज ऑफ होम साइंस की प्रिंसिपल व प्रोफेसर और न्यूट्रीशन एक्सपर्ट डॉ. जगमीत मदान का कहना है, ”स्वास्थ्य के क्षेत्र में भारत की प्रगति के साथ ही स्वास्थ्य के प्रति लोगों के व्यवहार और नजरिए को सकारात्मक रूप से बदलने वाला ऐसा कदम उठाना काफी महत्वपूर्ण है”। वहीं, पोल्टरी फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष रमेश खतरी का कहना है, ”हम भारत के पहले प्रोटीन डे का हिस्सा बनकर बहुत खुश हैं। यह सही खानपान और पर्याप्त प्रोटीन के सेवन की जागरूकता बढ़ाने के लिए अच्छा कदम है। इससे हम ग्रामीण और शहरी इलाकों में भारतियों को रोजाना आहार में पर्याप्त प्रोटीन के सेवन के लिए प्रोत्साहित कर पाएंगे”।

यह भी पढ़ें – मसल्स ग्रोथ कैसे हो? क्विज में छिपा है इसका आंसर

प्रोटीन डे पर जानें डायट में प्रोटीन की जरूरत

protien

हमारे जीवन के लिए प्रोटीन बिल्डिंग ब्लॉक्स होते हैं। हमारे शरीर में मौजूद हर कोशिका में प्रोटीन होता है, जिसका बेसिक स्ट्रक्चर अमिनोएसिड की चेन होती है। हमारे शारीरिक अंगों के स्वस्थ बने रहने के लिए उनकी कोशिकाओं यानी सेल्स का खुद को रिपेयर करने और पुरानी सेल्स की जगह नई सेल्स बनाने का कार्य करना बहुत जरूरी है और इसके लिए उन्हें प्रोटीन की जरूरत होती है। इसलिए आपको अपने आहार व डायट में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन को शामिल करना चाहिए। इसके अलावा, बच्चों, किशोरों और गर्भवती महिलाओं के शारीरिक विकास के लिए प्रोटीन बहुत जरूरी होता है। इसके साथ ही आपको बता दें कि, फैट्स या कार्ब्स की तरह हमारा शरीर प्रोटीन को स्टोर नहीं रखता है, जिस वजह से हमें रोजाना इसके सेवन की जरूरत होती है। ताकि, जरूरत पड़ने पर हमारा शरीर इसका उपयोग कर सके।

ये भी पढ़े इनसेक्ट प्रोट्रीन डायट क्यों है पश्चिमी लोगों की पसंद?

फूड्स से प्रोटीन

हमारी डायट में शामिल प्रोटीन युक्त फूड्स का जब हम सेवन करते हैं, तो पाचन क्रिया के दौरान इनमें मौजूद प्रोटीन टूटकर अमिनोएसिड में बदल जाता है। मनुष्य के शरीर को स्वास्थ्य बनाए रखने के लिए भारी मात्रा में अमिनोएसिड की जरूरत होती है। अमिनोएसिड सोयाबीन, दालें, नट, बटर और कुछ अनाज जैसे प्लांट बेस्ड सोर्स और मीट, दूध, मछली और अंडे जैसे एनिमल बेस्ड सोर्स में पर्याप्त मात्रा में मौजूद होता है। अमिनोएसिड को भी तीन भागों यानी एसेंशियल, नॉन एसेंशियल और कंडीशनल में बांटा गया है।

यह भी पढ़ें – प्रेग्नेंसी के समय खाएं ये चीजें, प्रोटीन की नहीं होगी कमी

एसेंशियल अमिनोएसिड का उत्पादन हमारा शरीर खुद नहीं कर पाता है, इसलिए इसे आहार द्वारा लेना ही एकमात्र रास्ता होता है। इसके लिए आपको प्रतिदिन की पर्याप्त मात्रा में इसका सेवन करना चाहिए। वहीं, नॉन एसेंशियल अमिनो एसिड को हमारा शरीर खुद एसेंशियल अमिनो एसिड या प्रोटीन के सामान्य ब्रेकडाउन से उत्पादित करता है। इसके अलावा, कंडीशनल अमिनोएसिड की जरूरत सिर्फ स्ट्रेस और बीमारी से उबरने के लिए होती है।

प्रोटीन के कार्य

प्रोटीन हमारे शरीर में एंटीबॉडी के रूप में भी कार्य करता है, जो वायरसबैक्टीरिया जैसे खतरनाक तत्वों से हमारे शरीर को बचाता है। इसके अलावा, प्रोटीन एंजाइम के रूप में भी कार्य करता है, जो हमारे शरीर की सेल्स में हजारों कैमिकल रिएक्शन के लिए जिम्मेदार होता है। इसके अलावा प्रोटीन एक मैसेंजर की तरह भी कार्य करता है, जो विभिन्न सेल्स, टिश्यू और अंगों के बायोलॉजिकल प्रोसेस के बीच समन्वय बिठाने के लिए संकेत देता है। इसके साथ ही, प्रोटीन कोशिकाओं को स्ट्रक्टर और सपोर्ट प्रदान करता है और सेल्स में ही एटम और छोटे मोलेक्यूल को स्टोर रखने में मदद करता है।

प्रोटीन डे पर जानें कि हमारे शरीर को कितने प्रोटीन की जरूरत होती है?

हमारे शरीर को मसल्स, हड्डियों, बाल, त्वचा स्वस्थ रखने और विकास के लिए प्रोटीन की जरूरत होती है। इसलिए, हमें पर्याप्त प्रोटीन की आवश्यकता होती है। लेकिन, प्रोटीन डे को मनाने के साथ आपके मन में यह सवाल भी आ सकता है कि आखिर क्या सभी के लिए प्रोटीन की एक मात्रा की ही आवश्यकता होती है या फिर हमें कितनी मात्रा में प्रोटीन का सेवन करना चाहिए। आपको बता दें कि, आपके लिए जरूरी प्रोटीन की मात्रा आपके लिंग, स्वास्थ्य, उम्र जैसे कई कारकों पर निर्भर करती है। आइए, जानते हैं कि अनुमान के मुताबिक इसकी जरूरी मात्रा कितनी है।

protien

  • एक सामान्य अनुमान है कि किसी भी व्यक्ति को अपने शारीरिक भार के प्रति किलोग्राम के मुकाबले 0.8 ग्राम प्रोटीन का सेवन करना चाहिए। यानी अगर आपका वजन 50 किलो है, तो आपको प्रतिदिन में करीब 40 ग्राम प्रोटीन की जरूरत होती है।
  • दूसरा तरीका यह है कि अनुमानित रूप से एक औसतन पुरुष को प्रतिदिन करीब 56-91 ग्राम प्रोटीन और औसतन महिला को प्रतिदिन करीब 46-75 ग्राम प्रोटीन की जरूरत होती है।
  • इसके अलावा, आपकी उम्र के हिसाब से यह मात्रा कम या ज्यादा हो सकती है। इसी तरह अगर आप बीमार हैं, तो आपको थोड़े से ज्यादा प्रोटीन की जरूरत हो सकती है।
  • बॉडी बिल्डिंग या वेट ट्रेनिंग करने वाले लोगों के लिए भी प्रोटीन की जरूरी मात्रा अलग-अलग हो सकती है।

अपने लिए प्रोटीन की सही मात्रा के बारे में पता करने के लिए किसी डाइटीशियन या डॉक्टर की मदद लें।

यह भी पढ़ें- एक्सरसाइज से पहले खाएं ये चीजें, बढ़ेगी ताकत और दमदार होंगे मसल्स

प्रोटीन डे पर जानें प्रोटीन के सेवन से मिलने वाले फायदे

प्रोटीन का पर्याप्त सेवन करने पर हमें निम्नलिखित फायदे प्राप्त होते हैं, जिनके प्रति प्रोटीन डे लोगों को जागरुक किया जा रहा है। जैसे-

  • आपकी भूख को कंट्रोल करता है, जिससे अस्वस्थ व जंक फूड खाने की संभावना कम होती है।
  • आपके शरीर की मसल्स का मास और ताकत बढ़ाता है।
  • हड्डियों की मजबूती और स्वास्थ्य के लिए जरूरी है।
  • मेटाबॉलिज्म बढ़ाने और फैट बर्निंग में मदद करता है, जिससे मोटापा कम होता है।
  • ब्लड प्रेशर को संतुलित करने में मदद करता है।
  • शरीर को चोट से उबरने या खुद को रिपेयर करने में मदद करता है।

हैलो हेल्थ ग्रुप किसी भी प्रकार की चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार मुहैया नहीं कराता।

और पढ़ेंः

फिट रहने के लिए कितना % प्रोटीन रोजाना लेना है जरूरी?

इन हेल्दी फूड्स की मदद से प्रेग्नेंसी के बाद बालों का झड़ना कम करें

जानिए कितनी मात्रा में लेना चाहिए प्रोटीन

प्रोटीन सप्लीमेंट (Protein Supplement) क्या है? क्या यह सुरक्षित है?

 

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

10 Science-Backed Reasons to Eat More Protein –https://www.healthline.com/nutrition/10-reasons-to-eat-more-protein – Accessed on 27/2/2020

9 Important Functions of Protein in Your Body – https://www.healthline.com/nutrition/functions-of-protein – Accessed on 27/2/2020

Protein in diet – https://medlineplus.gov/ency/article/002467.htm – Accessed on 27/2/2020

What are proteins and what do they do? – https://ghr.nlm.nih.gov/primer/howgeneswork/protein – Accessed on 27/2/2020

What Protein Does for Your Body – https://www.webmd.com/diet/ss/slideshow-what-protein-does-for-your-body – Accessed on 27/2/2020

The Benefits of Protein – https://www.webmd.com/men/features/benefits-protein#1 – Accessed on 27/2/2020

Protein Intake – How Much Protein Should You Eat Per Day? – https://www.healthline.com/nutrition/how-much-protein-per-day – Accessed on 27/2/2020

लेखक की तस्वीर badge
Surender aggarwal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 22/05/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x