home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

पोषण का अर्थ सिर्फ ठोस आहार नहीं, दैनिक पोषण में पेय पदार्थों की भी है अहम् भूमिका

पोषण का अर्थ सिर्फ ठोस आहार नहीं, दैनिक पोषण में पेय पदार्थों की भी है अहम् भूमिका

हम जब भी आहार या स्वस्थ जीवन के बारे में बात करते या सोचते हैं तो अक्सर हमारे मन में सलाद, फल, प्रोटीन से भरपूर सेहत के लिए अच्छी खाद्य सामग्रियां होती हैं और पेय पदार्थों का खयाल नहीं आता है, जबकि ये आहार में बेहद सहायक हैं, बल्कि दैनिक आहार का सबसे अच्छा और स्वास्थ्यप्रद हिस्सा हैं। पेय पदार्थ शरीर में तरल की होने वाली कमी को नियमित पूरी करते हैं और इलेक्ट्रोलाइट संतुलन भी बनाए रखते हैं। दरअसल पोषण का अर्थ केवल ठोस आहार नहीं है और पेय पदार्थों (Benefits of liquid diet) को अब तक बहुत कमतर आंका गया है। स्वास्थ्य के प्रति अधिक सजग या स्वस्थ जीवन शैली के बारे में जानने वाले बहुत कम लोग दैनिक जीवन में स्वस्थ पेय पदार्थों की सटीक भूमिका समझते हैं।

पेय पदार्थ मनुष्य की संस्कृति का एक अभिन्न हिस्सा रहा है। इनमें बहुत सारे विकल्प और स्वाद में विविधताएं हैं इसलिए मेहमानों के सत्कार में पेय परोसने की सदियों पुरानी परंपरा रही है। लोग खुशियों के पल में पेय का आनंद लेते हैं। बीमार लोगों के उपचार के दौरान या बीमारी से बचाव में पेय पदार्थ (Benefits of liquid diet) काम आते हैं और इसके कई अन्य लाभ हैं। आज के दौर में पेय पदार्थ स्वस्थ आहार का अभिन्न हिस्सा बन गए हैं, क्योंकि ये सेहत के लिए अच्छे और पोषण से भरपूर हैं। लोगों में लिक्विड डाइट (liquid diet)) जैसे सब्जियों, फलों के जूस (fruit juice), हर्बल चाय (herbal tea) और कॉफी (coffee), सूप, फ्लेवर्ड मिल्क, एनर्जी या इंस्टैंट ड्रिंक(energy drink) का चलन बढ़ा है।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में खाएं कैल्शियम से भरपूर भोजन, होते हैं ये फायदे

लेकिन कभी-कभी लोगों को लगता है ऐसे आहार से उनमें ऊर्जा की कमी हो जाती है। हालांकि इस समस्या का समाधान खाद्य पदार्थों की तरह ऐसे पेय पदार्थों (Benefits of liquid diet) का सेवन करना है जो आपकी जरूरत के हिसाब से कैलोरी के साथ और कैलोरी के बिना उपलब्ध हैं। आप अपनी जरूरत के हिसाब से यह चुन या कस्टमाजइ कर सकते हैं कि हेल्थ ड्रिंक (health drinks) को बतौर हेल्दी स्नैक दैनिक आहार का हिस्सा बनाएं या पेट भरने वाला संपूर्ण आहार।

आइए देखते हैं कि आपके स्वास्थ्य और पोषण की जरूरतों को पूरा करने में कौन सा पेय सहायक है और किस तरह!

क्या हैं पेय पदार्थ के फायदे? (Benefits of liquid diet)

शुरुआत पानी से करते हैं : हम अक्सर सुनते हैं – दिन की शुरुआत एक गिलास पानी से करें। ऐसा क्यों? पानी हमारे शरीर के लिए आवश्यक सबसे महत्वपूर्ण पोषक तत्व है; शरीर के वजन का 60 प्रतिशत तक पानी होता है। यह कई कार्य करता है जैसे शरीर का खोया पानी वापस भरना (रिहाइड्रेशन), विषैले पदार्थों की निकासी, प्यास बुझाना, इलेक्ट्रोलाइट का संतुलन (electrolyte balance), तापमान नियंत्रण, ल्युब्रिकेशन और भी बहुत कुछ। खास कर जब बात शरीर से विषैले तत्वों की निकासी की हो पानी (जिसमें कैलोरी नहीं है) को गुनगुना या गर्म कर दैनिक आहार में नियमित लें, तो शरीर के मल और विषैले पदार्थ की निकासी आसान होती है और पूरे दिन आपके शरीर में पानी बना रहता है

Iiquid diet - पेय पदार्थों की अहम् भूमिका

चाय और कॉफी (tea or coffee) – पानी के बाद लोग सबसे अधिक जो पेय लेते और पसंद करते हैं वह कॉफी और चाय है। यह हर्बल चाय (herbal tea) या दूध की चाय हो सकती है और फिर चाय और कॉफी कई रूपों में उपलब्ध हैं। खास कर ग्रीन टी (green tea) और ग्रीन कॉफी (green coffee) तेजी से लोकप्रिय हो रही हैं क्योंकि इनमें एंटीऑक्सीडेंट होने की वजह से दिल की सेहत और वजन कम करने में इनकी अहम् भूमिका होने की संभावना है। इसके अतिरिक्त चाय या कॉफी में जो कैफीन (caffeine) होता है उससे मानसिक स्फूर्ति बनी रहती है। इसलिए दिन भर व्यस्त रहने और फिटनेस पर ध्यान देने वाले लोगों के लिए इस पेय का महत्व बढ़ जाता है। हालांकि गर्भावस्था के दौरान या स्तनपान की अवधि में इनसे परहेज का सुझाव दिया जाता है।

और पढ़ें: Quiz : खाद्य पदार्थों के बारे में आप कितना जानते हैं?

दूध और दूध के बदले अन्य पेय (milk drinks) – दूध कैल्शियम, विटामिन और अन्य अनिवार्य पोषक तत्वों का प्रमुख स्रोत है। आज दूध की कई किस्में उपलब्ध हैं जैसे गाय का दूध, स्किम्ड मिल्क, सोया मिल्क, बादाम दूध। वजन सही रखने, मांसपेशियां बनाने और सेहत भरी हड्डियों के लिए दैनिक आहार में दूध का होना जरूरी है। यदि आप वजन कम करने के दौर में हैं तो कम-फैट या स्किम्ड मिल्क (skimmed milk) सबसे अच्छा विकल्प है क्योंकि इसमें सैचुरेटेड फैट कम होता है हालांकि कुछ लोग जो वजन बढ़ाना चाहते हैं तो संपूर्ण दूध या सोया मिल्क (soy milk) का सेवन कर सकते हैं। यह खास कर बच्चों के लिए जरूरी है जो बढ़ने या शारीरिक विकास के दौर में होते हैं।

प्रोटीन ड्रिंक का विकल्प (protein drinks) – आहार को संपूर्णता देने का एक आसान उपाय प्रोटीन शेक (protein shake) लेना है। यह आपको आवश्यक प्रोटीन देता है; मुख्य आहार के बीच लगने वाली भूख मिटाता है और खास कर यदि आप अधिक व्यायाम या मसल्स बनाने के लिए जिम करते हैं तो दैनिक आहार में प्रोटीन शेक का होना आवाश्यक है। आप अपनी पसंद और स्वाद से पशु या फिर पौधे से प्राप्त प्रोटीन चुन सकते हैं। प्रोटीन ड्रिंक (protein drink) केवल एथलीटों के लिए नहीं बल्कि आम इंसान के लिए लाभदायक हैं जो व्यस्त जीवन शैली या अन्य किसी वजह से दैनिक प्रोटीन की आवश्यकता पूरी करने में सक्षम नहीं हैं। इस तरह आहार को सेहत और पोषण से भरपूर बनाए रखने में प्रोटीन शेक बहुत सहायक है।

स्मूदीज (smoothies) – सुबह जल्दबाजी हो तो आप बतौरहेल्दी ब्रेकफास्ट स्मूदीज़ बना सकते हैं। उच्च पोषण देने वाले ठोस खाद्य पदार्थों को ब्लेंड कर सेमी-साॅलिड स्मूदी (semi solid smoothies) से दिन की अच्छी शुरुआत कर सकते हैं। इसमें फलों का पोषण, प्रोटीन से भरपूर दही और दूध, नट्स और सीड्स होंगे जो आपकी ऊर्जा का स्तर कायम रखेंगे और दोपहर के भोजन तक भूख नहीं सताएगी। अब इसमें क्या-क्या डालें यह पसंद आपकी है। आप अपनी पसंद से दही या दूध में ओट्स (oats), केला (banana), मेवे (dry fruits) और सीड्स (seeds) जैसी सामग्रियां डाल सकते हैं और यह एक संपूर्ण आहार होगा जो आपको तृप्त और सुबह से ऊर्जा से भरपूर रखेगा। इसमें आप कुछ नट्स और सीड्स डाल सकते हैं जैसे फ्लैक्स सीड्स, पम्पकिन सीड्स, सनफ्लावर सीड्स, वाटरमेलन सीड्स, बादाम, अखरोट पीस कर या साबूत, जो आपकी स्मूदी की मजेदार गार्निशिंग करेंगे और इसे देख आपके मुंह में पानी आ जाएगा।

और पढ़ें: कैफीन के फायदे : कैफीन के 7 गुण जो स्वास्थ्य परेशानियों करें दूर

क्लियर सूप (clear soup) – कम फैट, अधिक फाइबर युक्त – बशर्तें आप ढेर सारे मक्खन और क्रीम नहीं डाल दें। सूप बनाना आसान है और बाहर ठंड हो तो घर में बैठ कर पीने से शरीर में गर्मी आ जाती है। सूप चाहे जिस प्रकार का हो सही मात्रा में एक कप गर्म सूप हमेशा आपका दिल जीत लेता है। इसे बनाना भी आसान है क्योंकि आपको सभी सामग्रियों को बस पैन में डाल देना है और तब तक भूल जाना है जब तक सेवन नहीं करना हो। जहां तकक्लियर सूप (clear soup) की बात है इसमें अधिकांश मिनरल्स और विटामिन सुरक्षित रहते हैं क्योंकि आप इसकी उबली हुई सब्जियों का पानी पीते हैं। यानी विटामिन और मिनरल्स से भरपूर शोरबा पीते हैं।

मिड-डे ड्रिंक (mid day drink) – वजन घटाने / सही करने के सफर में आपको अक्सर किसी ऐसी चीज की तलाश होती है जो अनावश्यक कुछ खाने से बचने में आपकी मदद करे। यह नारियल पानी, या कम वसा वाला छाछ आदि लेने का समय होता है। नारियल पानी ताजा, स्वादिष्ट और आप के लिए अच्छा है। इसमें पोटाशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम, मैंगनीज और सोडियम जैसे मिनरल्स के साथ एंटीऑक्सिडेंट (antioxidant) भी होते हैं। इतना ही नहीं छाछ एक फर्मेंटेड डेयरी उत्पाद है जिसमें संपूर्ण वसा या कम वसा और कैल्शियम भी होता है। इसमें आंत के लिए अच्छे बैक्टीरिया भी होते हैं जो इम्युनिटी बढ़ाने में आपकी मदद करते हैं। तो ये पेय मध्य-दिन में ले सकते हैं। ये स्वादिष्ट और पोषक तत्वों से भरपूर हैं और आपको प्राॅसेस्ड फूड की ओर हाथ बढ़ाने से रोकते हैं।

कैलोरी युक्त पेय पोषण से भरपूर (calorie drink) – इस कैटेगरी में फलों, सब्जियों के जूस और स्पोर्ट्स ड्रिंक आते हैं। इस प्रकार के पेय (Benefits of liquid diet) आपके शरीर लिए आवश्यक पोषक तत्वों की आपूर्ति कर सकते हैं यदि आप उचित मात्रा में लेते हैं। उदाहरण के लिए फलों और सब्जियों के जूस आपके लिए आवश्यक एंटीऑक्सिडेंट, पोटेशियम, मैग्नीशियम, आयरन, जिंक, फाइबर, फोलेट और विटामिन ए, सी, ई, के, डी के अच्छे स्रोत हैं लेकिन इनमें सोडियम भी होता है इसलिए मात्रा का ध्यान रखना होगा। बेहतर होगा कि आप कम सोडियम वाला जूस चुनें और उनके गुणों का आनंद लेते हुए दैनिक पोषण की आवश्यकताओं को पूरा कर दिल की सेहत, त्वचा की दमक और बालों में निखार और मजबूती पाएं। जहां तक स्पोर्ट्स ड्रिंक (sports drink) की बात है उनमें कोल्ड ड्रिंक से कम कैलोरी होती है। इनमें थोड़ी मात्रा में सोडियम, पोटेशियम, और क्लोराइड जैसे इलेक्ट्रोलाइट्स होते हैं जो एथलीटों के लिए आवश्यक हैं, जो घंटों व्यायाम करते हैं और बहुत पसीना बहाते हैं जिससे शरीर से पानी निकल जाता है।

और पढ़ें: तो क्या सबसे अनहेल्दी पैक्ड फूड हम भारतीय खाते हैं?

पेय पदार्थों से मिलने वाले लाभों का सारांश (Benefits of liquid diet)

हायड्रेशन (hydration) – शरीर के लिए तरल की आवश्यकता पूरी करने में कोई तरल पदार्थ या पेय मदद करता है और इससे आपके शरीर में पूरे दिन नमी बनी रहती है। यह आपके बिजी शेड्यूल में भी दिल की सेहत बनाए रखने का काम करता है। इससे आपकी ऊर्जा और मानसिक स्फूर्ति बनी रहती है। जोड़ों के सही से काम करने और त्वचा की सेहत और शरीर की आंतरिक सफाई में भी पेय (Benefits of liquid diet) की अहम् भूमिका है। यह विषैले पदार्थों को बाहर निकालने औरइलेक्ट्रोलाइट्स को संतुलित कर शरीर को निर्जलीकरण से बचाने में मदद करता है।

Iiquid diet - पेय पदार्थों की अहम् भूमिका

पाचन (Digestion) – आपने देखा होगा कि अक्सर डॉक्टर मरीज से लिक्विड डाइट लेने की सलाह देते हैं। ऐसा पाचन तंत्र के रोग, अन्य बीमारी या सर्जरी के बाद होता है। वजह यह है कि तरल आहारदर्द कम करने और अन्य समस्याओं जैसे आंतों में रुकावट से बचाने में मदद कर सकता है। शोरबा जैसे सादा तरल आहार सबसे अधिक पसंद किया जाता है क्योंकि वे आसानी से पचते हैं और ऐसा कोई अवशेष नहीं छोड़ते हैं जो आंत के लिए पचाना कठिन हो।

वजन सही रखना (weight maintenance) – तरल पदार्थों (Benefits of liquid diet) में ठोस खाद्य पदार्थों से कैलोरी कम और फाइबर अधिक होता है बशर्ते आप सही चीजें चुनते हैं। उदाहरण के लिए यदि आप वजन कम करने का आहार लेते हैं तो आप कम कैलोरी वाले तरल पदार्थ चुनें जैसे ग्रीन टी, ग्रीन कॉफी, लेमन वॉटर, वेज सूप आदि। वजन बढ़ाने के लिए भी तरल आहार जैसे संपूर्ण छाछ, केले, हनी स्मूदी आदि के लाभ ले सकते हैं। तो यह आप पर निर्भर करता है कि अपने तरल आहार को कैसे अनुकूल बनाएं या आपकी पसंद और लक्ष्य के अनुसार क्या चुनें।

और पढ़ें: प्रेगनेंसी में कॉफी पीना फायदेमंद या नुकसानदेह?

मांसपेशियों का निर्माण (muscle building) – स्वास्थ्य के प्रति अधिक सचेत या नियमित व्यायाम करने वाले लोग आहार में तरल का महत्व बेहतर समझते हैं। और वे सबसे अधिक प्रोटीन ड्रिंक लेते हैं, चाहे वनस्पति, जंतु या फिर कृत्रिम स्रोत से हो। इससे आवश्यक प्रोटीन मिलता है और यह मांसपेशियों के निर्माण में सहायक है। इतना नहीं, इलेक्ट्रोलाइट्स से भरपूर पेय आपकी मांसपेशियों को दुबारा तंदुरुस्त होने में मदद कर सकता है। स्वस्थ (रिकवर) होने के बाद एपल साइडर विनेगर के सेवन पर केंद्रित एक अध्ययन से यह पता चला है कि इससे शरीर में सूजन कम हो सकती है जो लैक्टिक एसिड बनने की वजह से होती है।

स्किन ग्लो (skin glow) – आज अधिकतर लोग अपनी त्वचा के लिए ब्यूटी प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल तो करते हैं पर खान-पान का पूरा ध्यान नहीं रखते हैं। अक्सर खाना पकाने की फुर्सत नहीं मिलती है। ऐसे में ये पेय पदार्थ (Benefits of liquid diet) आपकी त्वचा के पोषण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। शरीर की नमी बनाए रखने के साथ फलों, सब्जियों के जूस, स्मूदी और हर्बल चाय लेने से आपको एंटीऑक्सिडेंट की खुराक मिल जाती है। एंटीऑक्सिडेंट आपके शरीर को हर रोज नुकसान करने वाले फ्री रेडिकल से लड़ने में मदद करते हैं जिनके पैदा होने की वजह प्रदूषण या अधिक धूप लगना और खान-पान की बुरी आदतें हैं। विटामिन सी युक्त ये पेय पदार्थ आपके शरीर में कोलाजेन बनने में मदद कर सकते हैं जिससे त्वचा के लिए आवश्यक लचीलापन कायम रहने के साथ उम्र बढ़ने या त्वचा के बेजान दिखने के लक्षण कम होते हैं।

और पढ़ें: संतुलित आहार और भारतीय व्यंजनों का समझें कनेक्शन

इस से यह निष्कर्ष निकलता है कि खाद्य पादार्थ ही नहीं, पेय पदार्थ (Benefits of liquid diet) भी आहार का काम कर सकते हैं या दैनिक आहार में हेल्दी स्नैक का विकल्प बन सकते हैं। इसलिए अपने पसंदीदा पेय का चयन अपने लक्ष्य और आवश्यकता के अनुसार करें।

– अमित त्यागी, सीईओ, न्यूहर्ब्स इंडिया

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर
19/02/2021 पर अमित त्यागी के द्वारा लिखा
अमित त्यागी के द्वारा मेडिकल समीक्षा
x