आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

अधिक लहसुन खाना दे सकता है इतनी परेशानियों को न्योता!

    अधिक लहसुन खाना दे सकता है इतनी परेशानियों को न्योता!

    कई होम शेफ्स के लिए, लहसुन अपने स्वाद और एरोमा के कारण कुकिंग के लिए एक पसंदीदा मसाला है। आजकल लहसुन का इस्तेमाल सिर्फ इंडियन कुकिंग में ही नहीं बल्कि कई तरह के फास्ट फूड में भी किया जाता है। यह शक्तिशाली इंग्रीडेंट अपने औषधीय गुणों (Medicinal properties) के कारण कई स्वास्थ्य लाभों से भी जुड़ा हुआ है। हालांकि कई बार लोग इसका सेवन ज्यादा मात्रा में करना शुरू कर देते हैं, खासकर सर्दियों के मौसम में। लेकिन सावधान रहें; अधिक लहसुन खाना (Eating more garlic) आपके स्वास्थ्य को गंभीर रूप से नुकसान पहुंचा सकता है। यह आर्टिकल यह निर्धारित करने के लिए शोध की जांच करता है कि क्या आप बहुत अधिक लहसुन खा सकते हैं। बहुत अधिक लहसुन खाना आपकी हेल्थ को किस प्रकार प्रभावित कर सकता है? इसके बारे में भी यहां विस्तार से बताया गया है।

    लहसुन के हेल्थ बेनेफिट्स (Health Benefits of garlic)

    लहसुन को अक्सर इसके स्वास्थ्य लाभों के लिए सराहा जाता है। अमेरिकन नैशनल सेंटर फॉर कॉम्पिलिटरी एंड इंटिग्रेटिव हेल्थ (एनसीसीआईएच) के अनुसार लहसुन एक ऐसा पौधा है जिसे पारंपरिक रूप से मिस्र, ग्रीक, रोमन, चीनी, जापानी और मूल अमेरिकियों द्वारा अच्छे स्वास्थ्य के लिए उपयोग किया जाता है। इसके कुछ लाभों में ब्लड कोलेस्ट्रॉल (Blood cholesterol) को कम करना, ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) को कम करना, सामान्य सर्दी को रोकना और यहां तक ​​कि कैंसर से बचना शामिल है। लहसुन के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने वाले पहलुओं के कारण, इसे डाइटरी सप्लीमेंट भी बनाया जाता है – आप इसे खाने के बजाय टैबलेट के रूप में भी ले सकते हैं।

    वर्मोंट एक्सटेंशन यूनिवर्सिटी के अनुसार, लहसुन का प्राइमरी बेनेफिशियल कंपोनेंट, एलिसिन (Allicin), हीट से ख़त्म हो जाता है, इसलिए पूरी तरह से लाभ प्राप्त करने के लिए लहसुन को कच्चा ही खाना चाहिए। पेट की संवेदनशीलता वाले लोगों को हार्टबर्न और पेट दर्द से बचने के लिए कच्चे लहसुन का सेवन अन्य भोजन के साथ करना चाहिए। लेकिन कई अन्य खाद्य पदार्थों और डायटरी सप्लिमेंट की तरह, बहुत अधिक अच्छी चीज भी नुकसान कर सकती है। ज्यादातर लोग लहसुन के इस्तेमाल से मुंह से आने वाली दुर्गन्ध से परिचित हैं। विशेष रूप से संवेदनशील लोगों में, बहुत अधिक लहसुन खाना (Eating more garlic) हार्टबर्न और अपसेट स्टमक (Upset stomach) का कारण बन सकता है।

    और पढ़ें: गर्मियों में जरूर करें तरबूज का सेवन, जानिए क्या हैं इसके फायदे!

    लहसुन के साइड इफेक्ट्स (Side effects of garlic)

    हालांकि बैलेंस्ड डायट के लिए गार्लिक एक हेल्दी एडीशन है, लेकिन बहुत अधिक लहसुन खाना (Eating more garlic) आपकी हेल्थ के लिए हानिकारक भी साबित हो सकता है। जैसे

    अधिक लहसुन खाना ब्लीडिंग का रिस्क बढ़ा सकता है (Increased risk of bleeding)

    बहुत अधिक लहसुन खाने के सबसे गंभीर दुष्प्रभावों में से एक ब्लीडिंग का एक बढ़ा हुआ रिस्क है, खासकर यदि आप ब्लड थिनर ले रहे हैं या सर्जरी करवा रहे हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि लहसुन में एंटीथ्रॉम्बोटिक प्रॉपर्टीज (Antithrombotic properties) होती हैं, जिसका मतलब है कि यह ब्लड क्लॉट्स को बनने से रोक सकता है। हालांकि, गार्लिक-इंड्यूस्ड ब्लीडिंग (Garlic-induced bleeding) असामान्य है, लेकिन एनसीबीआई की एक स्टडी में एक ऐसे केस की रिपोर्ट की गई जिसमें एक व्यक्ति ने नियमित रूप से सर्जरी से पहले प्रति दिन 12 ग्राम लहसुन (लगभग 4 लौंग) खाने के बाद ब्लीडिंग में वृद्धि का अनुभव किया।

    एनसीबीआई एक दूसरी केस स्टडी में, एक व्यक्ति ने सर्जरी के बाद एक्सेसिव डिस्कलरेशन (Excessive discoloration) और ब्रूसिंग (Bruising) का अनुभव किया। संभावित कारण एक डायटरी सप्लिमेंट था जो व्यक्ति ले रहा था, जिसमें फिश ऑयल और 10 मिलीग्राम गार्लिक कंसन्ट्रेट (Garlic concentrate) था, जो दोनों ही ब्लड क्लॉट फॉर्मेशन (Blood clot formation) को अफेक्ट करते हैं। इस तरह, गार्लिक सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले अपने हेल्थ केयर प्रोफेशनल से बात करना जरूरी है। यदि आप कोई दवा ले रहे हैं या सर्जरी के लिए तैयार हैं, तो आपको अपने डायट में लहसुन को शामिल करने से पहले एक डॉक्टर से भी सलाह लेनी चाहिए।

    और पढ़ें: पोषण का अर्थ सिर्फ ठोस आहार नहीं, दैनिक पोषण में पेय पदार्थों की भी है अहम् भूमिका

    अधिक लहसुन खाना और हार्टबर्न (Heartburn)

    यदि आपको गैस्ट्रोइसोफेजियल रिफ्लक्स डिजीज (जीईआरडी) है, तो आपके लिए अधिक लहसुन खाना (Eating more garlic) खतरनाक साबित हो सकता है। जीईआरडी एक सामान्य स्थिति है जो तब होती है जब पेट का एसिड आपके एसोफैगस में वापस फ्लो होता है, जिससे हार्टबर्न और वॉमिटिंग जैसे लक्षण होते हैं। लहसुन लोअर एसोफेजल स्फिंक्टर (एलईएस/Lower esophageal sphincter) टोन को कम कर सकता है, जो आपके एसोफैगस के नीचे की मांसपेशियों को एसिड को एंट्री करने से रोकता है। बदले में, यह एसिड रिफ्लक्स को ट्रिगर कर सकता है। हालांकि, कुछ फूड्स जीईआरडी वाले लोगों को अलग तरह से प्रभावित करते हैं।

    अधिक लहसुन खाना

    अधिक लहसुन खाना और पाचन संबंधी समस्याएं (Digestive issues)

    प्याज और शतावरी की तरह, लहसुन में फ्रुक्टेन (Fructan) की मात्रा अधिक होती है, जो कि एक प्रकार का कार्ब जो कुछ लोगों में ब्लोटिंग, गैस और पेट दर्द का कारण बन सकता है। वास्तव में, जब फ्रुक्टेन इन्टॉलरेंस वाले लोग हाई फ्रुक्टेन फूड खाते हैं, तो यह छोटी आंत में पूरी तरह से एब्सॉर्ब नहीं होता है। इसके बजाय, यह कोलन में जाता है और आपके गट में फर्मेंट होता है, एक प्रक्रिया जो डायजेस्टिव इश्यूज में सपोर्ट कर सकती है।

    और पढ़ें: अपने दिन की सही शुरुआत के लिए ब्रेकफास्ट में शामिल करें इन बेस्ट फूड्स को!

    अधिक लहसुन खाना और गार्लिक ब्रीथ (Garlic breathe) की समस्या

    लहसुन में कई तरह के सल्फर कंपाउंड्स होते हैं, जिन्हें अक्सर इसके कई हेल्थ बेनिफिट्स के लिए जाना जाता है। हालांकि, ये कंपाउंड्स सांसों की बदबू का कारण बन सकते हैं, खासकर जब बड़ी मात्रा में इसका सेवन किया जाता है। यह कच्चे लहसुन के लिए विशेष रूप से है, क्योंकि खाना पकाने से इन लाभकारी सल्फर कंपाउंड्स की कंटेंट कम हो जाता है। फिर भी, आप गार्लिक ब्रीथ से छुटकारा पाने के लिए कई घरेलू उपचार आजमा सकते हैं।

    और पढ़ें: साल्मोनेला फूड पॉइजनिंग (Salmonella Food Poisoning) क्या होती है? जानें

    आपको कितना लहसुन खाना चाहिए?

    हालांकि आपको कितना लहसुन खाना चाहिए, इसके लिए कोई औपचारिक रेकमेंडेशन मौजूद नहीं है, स्टडीज से पता चलता है कि हर दिन 1-2 लौंग (3-6 ग्राम) खाने से हेल्थ बेनेफिट्स हो सकते हैं। यदि आप इस मात्रा से अधिक खाने के बाद कोई साइड इफेक्ट्स देखते हैं, तो लहसुन का सेवन कम करने पर विचार करें। खाने से पहले लहसुन को पकाने से भी गार्लिक ब्रीथ, पाचन संबंधी समस्याएं और एसिड रिफ्लक्स (Acid reflux) जैसे साइड इफेक्ट्स को रोकने में मदद मिल सकती है।

    यदि आपको पहले से कोई मेडिकल कंडिशन है या आप दवाएं ले रहे हैं, तो अपने आहार में कोई भी बदलाव करने या किसी भी हर्बल सप्लिमेंट (Herbal supplement) का उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करना सबसे अच्छा ऑप्शन है।

    लहसुन अत्यधिक पौष्टिक होता है और कई तरह के स्वास्थ्य लाभों से जुड़ा होता है। हालाँकि, यदि आप इसका अधिक मात्रा में सेवन करते हैं, तो इससे गार्लिक ब्रेथ, एसिड रिफ्लक्स, पाचन संबंधी समस्याएं और ब्लीडिंग का खतरा बढ़ सकता है। इसलिए, इस स्वादिष्ट मसाले का कम मात्रा में लेना सबसे अच्छा है और यदि आप किसी भी एडवर्स इफेक्ट्स का अनुभव करना शुरू करते हैं तो इसका सेवन कम कर दें।

    उम्मीद करते हैं कि आपको अधिक लहसुन खाना (Eating more garlic) और इसके साइड इफेक्ट्स से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    health-tool-icon

    बीएमआर कैलक्युलेटर

    अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

    पुरुष

    महिला

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र
    लेखक की तस्वीर badge
    Manjari Khare द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 09/06/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: