home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Broken (Fractured) Ankle: जानिए टखने में फ्रैक्चर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

टखने में फ्रैक्चर क्या है?|टखने में फ्रैक्चर का कारण क्या है?|टखने में फ्रैक्चर का लक्षण  क्या है?|टखने में फ्रैक्चर का जांच कैसे की जाती है?|टखने में फ्रैक्चर का घरेलू उपचार क्या है?|टखने में फ्रैक्चर का उपचार क्या है?
Broken (Fractured) Ankle: जानिए टखने में फ्रैक्चर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

टखने में फ्रैक्चर क्या है?

टूटी हुई टखने को टखने के “फ्रैक्चर” के नाम से भी जाना जाता है। यह तब होता है जब टखने के जोड़ को बनाने वाली एक या अधिक हड्डियां टूट जाती हैं। जिस कारण टखने में फ्रैक्चर (Ankle fracture) हो जाता है।

टूटी हुई टखने को फ्रैक्चर टखने भी कहा जाता है। यह तब होता है जब टखने के जोड़ में एक या एक से अधिक हड्डियाँ टूट जाती हैं।

टखने के एक हड्डी में साधारण सा फ्रैक्चर आपको चलने से नहीं रोक सकती है, लेकिन वहीं टखनो में कई फ्रैक्चर, जो आपके टखने के हड्डी को उसके जगह से अलग कर देता है, तब आवश्यकता हो सकती है कि आपके डॉक्टर आपको कुछ महीने के लिए उस पर वजन न डालने की सलाह दें। टखना किसी भी उम्र के व्यक्ति का फ्रैक्चर हो सकता है। पिछले 30 से 40 वर्षों के दौरान, डॉक्टरों ने टखने के फ्रैक्चर की संख्या और गंभीरता में वृद्धि देखी है।

टखने का जोड़ निम्नलिखित हड्डियों से बना होता है:

टिबिया आपके निचले पैर की बड़ी हड्डी है। इसे शिनबोन भी कहा जाता है।

डॉक्टर टूटे हड्डी के अनुसार टखने के फ्रैक्चर को वर्गीकृत करते हैं। उदाहरण के लिए, फ़ाइबुला के अंत में एक फ्रैक्चर को पार्श्व मैलेलेलस फ्रैक्चर कहा जाता है, या अगर टिबिया और फ़ाइबुला दोनों को टूट जाते हैं, तो इसे बाइमलेओलर फ्रैक्चर कहा जाता है।

दो जोड़ जहां अधिक टखने के फ्रैक्चर होते हैं:

  • टखने का जोड़ – जहां टिबिया, फाइबुला और टेलस मिलते हैं
  • सिंडीस्मोसिस जोड़- टिबिया और फाइबुला के बीच का जोड़ है, जो लिगामेंट् द्वारा एक साथ जुड़ा रहता है

मल्टीपल लिगामेंट्स टखने के जोड़ को स्थिर बनाने में मदद करते हैं।

और पढ़ें : हेड इंजरी या सिर की चोट क्या है?

टखने में फ्रैक्चर का कारण क्या है?

टखना तब टूटता है जब टखने पर बहुत अधिक बल लगाया जाता है। टखने का टूटने का कारण सबसे आम कारणों में शामिल हैं:

  • ऐसा हो सकता है यदि आप असामान सतह पर चलते हैं और खराब जुते के फिटिंग की वजह से या रोशनी की कमी के कारण संतुलन खोने से व्यक्ति गिर सकता है। जिस कारण व्यक्ति का टखना फ्रैक्चर हो जाता है।
  • अगर आप ऊंचाई से कूदते हैं तो आपका टखना टूट सकता है। यही नहीं अगर आप कम ऊंचाई से भी कूदते हैं तो ऐसा हो सकता है।
  • यदि आप अपना पैर को सही तरीके से नीचे नहीं रखते हैं, तो आपका टखना टूट सकता हैं। जैसे ही आप उस पर वजन डालते हैं, आपका टखना मुड़ सकता है या साइड में आ जाता है।
  • खेलों के दौरान भी आपका टखना टूट सकता है। जैसे: फुटबॉल और बास्केटबॉल शामिल हैं।
  • टखना टूटने का कारण कार दुर्घटना भी हो सकता है और अक्सर, इन चोटों को सर्जिकल करने की आवश्यकता होती है।

और पढ़ें : Injury: चोट क्या है?

टखने में फ्रैक्चर का लक्षण  क्या है?

टखने में फ्रैक्चर के लक्षण स्पष्ट होते हैं। जानते हैं इसके लक्षण क्या हैं:

  • दर्द सबसे आम शिकायत में से एक है।
  • सूजन
  • कोमलता
  • चोट
  • मुश्किल से चलना या पैर हिलाना
  • पैर टेढ़ा प्रतीत होता है
  • चक्कर आना (दर्द से)
  • त्वचा से बाहर चिपकी हुई हड्डी

और पढ़ें : इनग्रोन टो नेल सर्जरी क्या है?

डॉक्टर को कब दिखाएं

जब आपका टखना घायल हो जाए और दवाई लेने पर,घरेलू उपचार के बाद भी आराम न मिलने पर, टखने पर जरा भी वजन ना बर्दाश्त होने पर, तब आप अपने डॉक्टर को जाकर दिखाएं और हो सके तो अस्पताल में जाकर तुरंत भर्ती हो जाए जब आपको ये लक्षण दिखें:

  • टखना बिल्कुल हिल न रहा हो
  • जब टखना सुन्न पड़ जाए
  • उंगलियां अगर ना हिल रही हो
  • पैरों का नीला पड़ जाना

और पढ़ें : कंधे की अकड़न क्या है?

टखने में फ्रैक्चर का जांच कैसे की जाती है?

डॉक्टर चोट से संबंधित कुछ सवाल पूछते हैं। ये प्रश्न महत्वपूर्ण होते हैं क्योंकि चोट अलग-अलग फ्रैक्चर पैटर्न से जुड़े होते हैं।

  • कहाँ चोट लगी है?
  • आपकी चोट कितनी देर पहले लगी थी?
  • क्या आपके घुटने, पिंडली या पैर में भी चोट लगी है?
  • चोट कैसे लगी?
  • क्या आपके टखने अंदर या बाहर निकले?
  • क्या आपने क्रेक की आवाज सुनी है?
  • क्या आप चोट के तुरंत बाद चलने में सक्षम थे?
  • क्या अब आप चल सकते हैं?
  • क्या आपके टखने और पैरो में झुनझुनी या सुन्न तो नहीं?
  • क्या आपके पिछले टखने में फ्रैक्चर (Ankle fracture) , मोच या सर्जरी हुई है?

डॉक्टर एक शारीरिक परीक्षण करते हैं, जिसे निम्नलिखित के लिए देखना जरूरी होता है:

  • चोट, घर्षण, या कट के निशान
  • सूजन, खुन का बहना और नीला पड़ना
  • दर्द, विकृति और घुटने की टूटी हड्डियों के मूवमेंट, पिंडली, टखना, और पैर। इन सब का जांच करना।
  • दर्द, जोड़ में ढीलापन, या लिगामेंट का फटना
  • आपके टखने और पैर दोनों में उत्तेजना और गति

और पढ़ें : बिना सर्जरी के फिशर ट्रीटमेंट कैसे होता है?

टखने में फ्रैक्चर का घरेलू उपचार क्या है?

यदि आपको टखने में फ्रैक्चर (Ankle fracture) का संदेह होता है, तो आपको अपने डॉक्टर को फोन करना चाहिए या तुरंत अस्पताल के आपातकालीन विभाग में जाना चाहिए। आप अस्पताल या डॉक्टर के कार्यालय में जाने तक यह निम्नलिखित कार्य कर सकते हैं:

  • घायल टखने से दूर रहें ताकि आप इसे और अधिक घायल न कर सके।
  • सूजन और दर्द को कम करने में मदद करने के लिए टखने को ऊंचा रखें।
  • सूजन और दर्द को कम करने के लिए चोट वाले स्थान पर कोल्ड पैक लगाएं। सीधे बर्फ न लगाएं। कोल्ड पैक 48 घंटे तक प्रभावी होते हैं।
  • ब्रेफेन (एडविल, मोट्रिन) टखने की चोटों के लिए अच्छा हो सकता है क्योंकि यह सूजन को कम रखने के लिए दर्द की दवा और दवा दोनों के रूप में काम करता है। लेकिन अपने चिकित्सक से पहले जांच करा लें कि आपको कोई मेडिकल समस्या है या कोई अन्य दवाई या सप्लीमेंट लें।

और पढ़ें : एम्पीसिलिन और सलबैक्टम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

टखने में फ्रैक्चर का उपचार क्या है?

फ्रैक्चर के प्रकार और आपके जोड़ की स्थिरता यह निर्धारित करेगी कि किस प्रकार के स्प्लिंट या कास्ट का उपयोग किया जाएगा और इसे कब तक जगह में रखने की आवश्यकता होगी।

  • यदि आपकी हड्डियों को ठीक से श्रेणी में नहीं किया गया है, तो चिकित्सक स्प्लिंट या कास्ट रखने से पहले उन्हें श्रेणी में करते हैं।
  1. यदि आपातकालीन विभाग में हड्डियों को ठीक से नहीं लगाया जा सकता है, तो आपको ऑपरेशन की आवश्यकता हो सकती है।
  2. किसी भी हड्डी की त्वचा के माध्यम से टूटने पर एक ऑपरेशन की भी आवश्यकता होगी। यदि हड्डी त्वचा से टूट जाती है, फ्रैक्चर को तब कंपाउंड फ्रैक्चर कहा जाता है। यह एक साधारण फ्रैक्चर की तुलना में अधिक गंभीर है।
  • किसी भी घायल टखने के साथ, आपको तब तक वजन नहीं उठाना चाहिए जब तक कि आपका डॉक्टर यह न कहे कि ऐसा करना ठीक है।
  • सूजन कम होने के बाद और आप फिर से स्वस्थ हो जाते हैं, तो एक आर्थोपेडिक चिकित्सक या आपके प्राथमिक देखभाल चिकित्सक टखने पर बेहतर फिटिंग वाले कास्ट या स्प्लिंट लगा सकते हैं। फ्रैक्चर के प्रकार के आधार पर, आपको वॉकिंग कास्ट में रखा जा सकता है, जो कुछ वजन को सहन कर सकता है, या आपको अभी भी एक नॉन-वेट-बेयरिंग कास्ट की आवश्यकता हो सकती है, जिससे आपको चलने में मदद करने के लिए बैसाखी के उपयोग की आवश्यकता होगी।
  • आपके द्वारा अनुभव किए जा रहे दर्द की डिग्री के आधार पर, आपका डॉक्टर आपको प्रिस्क्रिप्शन-ताकत दर्द की दवा दे सकता है। इनका उपयोग आवश्यकतानुसार ही किया जाना चाहिए। इन दवाओं का उपयोग करते समय आपको भारी मशीनरी नहीं चलाना चाहिए।

और पढ़ें : Pilonidal cyst- पिलोनाइडल सिस्ट क्या है?

अगला फॉलो-अप

टखने के फ्रैक्चर के लिए फॉलो-अप देखभाल फ्रैक्चर की गंभीरता पर निर्भर करती है।

  • आपको किसी आर्थोपेडिक डॉक्टर के साथ आपातकालीन सर्जरी, अगले दिन फॉलो-अप या 1-2 सप्ताह में फॉलो-अप की आवश्यकता हो सकती है।
  • आपको अपने परिवार के डॉक्टर से केवल फॉलो-अप की आवश्यकता हो सकती है।
  • फ्रैक्चर को ठीक होने के लिए 4-8 सप्ताह की आवश्यकता होती है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Ankle Fracture. https://orthoinfo.aaos.org/en/diseases–conditions/ankle-fractures-broken-ankle/. Accessed On 28 September, 2020.

Broken Ankle. https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/broken-ankle/symptoms-causes/syc-20450025.Accessed On 28 September, 2020.

Ankle Fracture. https://www.hss.edu/condition-list_ankle-fractures.asp. Accessed On 28 September, 2020.

Ankle Injuries and Disorders. https://medlineplus.gov/ankleinjuriesanddisorders.html. Accessed On 28 September, 2020.

Ankle Fractures. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/books/NBK542324/. Accessed On 28 September, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Poonam द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 20/05/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड