home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

बढ़ती उम्र में अल्जाइमर कितना आम है, जानें इसके बारे में

बढ़ती उम्र में अल्जाइमर कितना आम है, जानें इसके बारे में

बढ़ती उम्र में अल्जाइमर की परेशानी एक सामान्य परेशानी है। बहुत से लोगों को पता नहीं चलता कि उन्हें ये परेशानी है और कुछ लोगों में ये डायग्नोज हो जाता है।

अल्जाइमर (Alzheimer) क्या है ?

अल्जाइमर, डिमेंशिया (डिमेंशिया के लक्षण) का सबसे सामान्य कारण है। बढ़ती उम्र में अल्जाइमर से पीड़ित व्यक्ति की याददाश्त कमजोर हो जाती है। याददाश्त कमजोर होने की वजह से व्यक्ति के सोचने-समझने की क्षमता पर असर पड़ने के साथ-साथ दैनिक कार्यों को भी पूरा करने में कठिनाई शुरू हो जाती है।

बढ़ती उम्र में अल्जाइमर के कारण ब्रेन में सेल्स बनने के साथ-साथ खत्म भी होने लगते हैं। बढ़ती उम्र में अल्जाइमर से पीड़ित व्यक्ति के स्वभाव में लगातार नकारात्मक बदलाव आता है। इसका कोई ठोस इलाज नहीं है, जिससे अल्जाइमर की बीमारी ठीक हो सके। बढ़ती उम्र में अल्जाइमर की वजह से डिहाइड्रेशन, कुपोषण या इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है।

और पढ़ें : Alzheimer : अल्जाइमर क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

आखिर क्या होता है अल्जाइमर में?

हेल्थ एक्सपर्ट के अनुसार बढ़ती उम्र में अल्जाइमर, एक परेशानी वाली समस्या है। बढ़ती उम्र में अल्जाइमर की स्थिति में मस्तिष्क के टिशू पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। इसके लक्षण भी तुरंत नजर नहीं आते हैं। इस बीमारी में मस्तिष्क की कोशिकाएं डी-जेनरेट हो कर नष्ट हो जाती हैं और इसी कारण याददाश्त धीरे-धीरे कमजोर होने लगती है। उम्र ज्यादा होने के साथ-साथ जेनेटिकल, तनाव, डिप्रेशन, हाई ब्लड प्रेशर या सिर में चोट लगने के वजह अल्जाइमर का कारण बनता है।

बढ़ती उम्र में अल्जाइमर से स्वभाव में आते हैं ये बदलाव

विशेषज्ञों के अनुसार अल्जाइमर के पेशेंट के स्वभाव में कई बदलाव आने लगते हैं। जैसे अत्यधिक गुस्सा होना, बेचैनी, चिड़चिड़ापन, भूलना, शांत हो जाना, किसी से मिलना नहीं, अकेले रहना साथ ही ऐसे लोग डिप्रेशन, हैल्यूसिनेशन यानी मतिभ्रम जैसी स्थिति भी निर्मित हो सकती है। बढ़ती उम्र में अल्जाइमर का अबतक कोई ठोस इलाज नहीं है। सिर्फ न्यूरोलॉजिस्ट ही इसका पहचान कर सकते हैं।

और पढ़ें : दिल और दिमाग के लिए खाएं अखरोट, जानें इसके 9 फायदे

अल्जाइमर के लक्षण क्या हैं ?

बढ़ती उम्र में अल्जाइमर के तीन मुख्य स्टेज होते हैं: माइल्ड अल्जाइमर (अर्ली स्टेज), मॉडरेट अल्जाइमर (मिडिल स्टेज) और सिवीयर अल्जाइमर (लेट स्टेज)। तीनों स्टेज में लक्षण अलग-अलग होते हैं।

और पढ़ें : वृद्धावस्था में सीनियर फॉल के रिस्क को कैसे करें कम

अर्ली स्टेज- इसे माइल्ड अल्जाइमर भी कहते हैं और 2 से 4 साल तक रहता है।

माइल्ड अल्जाइमर के लक्षण-

  • थका हुआ महसूस होना।
  • लोगों से मिलने की इच्छा न होना।
  • काम नहीं करना।
  • तुरंत की बातों को भूलना।
  • बात करने में कठिनाई महसूस होना।
  • ठीक से निर्णय लेने में परेशानी होना।
  • स्वभाव में अत्यधिक बदलाव होना।
  • रास्ता भूलना।

इन परेशानियों को देख यह सुनिश्चित करना की यह अल्जाइमर की बीमारी ही है, वह ठीक नहीं है। क्योंकि इन लक्षणों के साथ-साथ कुछ लक्षण और भी हैं। उनमें शामिल है:

और पढ़ें : 8 ऐसी बातें जो वृद्धावस्था से पहले जान लेनी चाहिए

मिडिल स्टेज:

इस स्टेज को मॉडरेट अल्जाइमर (Moderate Alzheimer’s) भी कहते हैं। इस स्टेज में याद्दाश्त बहुत कमजोर हो जाती है और दैनिक जीवन में समस्याएं पैदा करने लगती हैं। यह स्टेज 2 से 10 वर्ष तक रह सकती है।

मॉडरेट अल्जाइमर के लक्षण:

  • ठीक से बात नहीं कर पाना।
  • किसी भी समस्या को ठीक करने में परेशानी होना।
  • समय और जगह को लेकर असमंजस में रहना।
  • मौसम के अनुसार कपड़े नहीं पहनना।
  • कभी-कभी व्यक्ति खुद को भी नुकसान पहुंचा लेता है।

मॉडरेट अल्जाइमर से पीड़ित कुछ लोगों को यह भी पता चल जाता है कि वे अपने जीवन का नियंत्रण खो रहे हैं, जिससे वे और भी निराश या उदास हो सकते हैं। यह स्थिति और ज्यादा कठिनाइयों भरा हो सकता है।

और पढ़ें : पार्किंसंस रोग के लिए फायदेमंद है डीप ब्रेन स्टिमुलेशन (DBS)

लेट स्टेज:

इस स्टेज को सिवीयर अल्जाइमर (Severe Alzheimer’s) कहते हैं, जो सबसे गंभीर अवस्था मानी जाती है। यह आम तौर पर 1 से 3 साल तक रहता है।

इस स्टेज में निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं:

  • पहले क्या हुआ और अब क्या हो रहा है, इस बात को लेकर भ्रम में रहना।
  • जो याद हो उसे ठीक से समझा नहीं पाना।
  • खाना खाने में परेशानी महसूस होना।
  • यूरिन कंट्रोल नहीं कर पाना।
  • त्वचा संबंधी परेशानी होना।
  • वजन कम होना और बार-बार बीमार पड़ना।
  • स्वभाव में अत्यधिक बदलाव होना।
  • खुद से अपना काम नहीं कर पाना।
  • अत्यधिक भ्रम में रहना।

और पढ़ें : इन 5 बातों को ध्यान में रखकर करें माता-पिता की देखभाल

अल्जाइमर क्या सिर्फ बढ़ती उम्र का कारण है ?

कभी-कभी भूलना सामान्य हो सकता है। लेकिन, पिछली बातों को भूलते जाना और भ्रम में रहना इसका मुख्य कारण है। इसका कोई ठोस इलाज नहीं है, जिससे अल्जाइमर की बीमारी ठीक हो सके। इस बीमारी की वजह से डिहाइड्रेशन, कुपोषण या इंफेक्शन का खतरा बढ़ जाता है। पेशेंट के व्यवहार में बदलाव भी शुरू हो जाता है।

मुंबई के जसलोक हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के न्यूरोलॉजी डिपार्टमेंट के कंसल्टेंट डॉ. आजाद एम ईरानी कहते हैं ‘अल्जाइमर 55 से 65 वर्ष या इससे ज्यादा उम्र के लोगों में होने के चांसेस ज्यादा होते हैं और इसका सबसे मुख्य कारण बदलती लाइफस्टाइल, जेनेटिक और तनाव है। साथ ही इसका अभी तक कोई इलाज नहीं है। इसलिए सिर्फ दवा से ही इसके लक्षणों पर नियंत्रण किया जा सकता है। पीड़ित व्यक्ति को एक्टिव रहने के लिए प्रोत्साहित करते रहें और सुडोकू जैसे अन्य ब्रेन गेम खेलने की आदत डालें।’ॉ

और पढ़ें : मां से होने वाली बीमारी में शामिल है हार्ट अटैक और माइग्रेन

ऐसी स्थिति में निम्नलिखित बदलाव नजर आते हैं:

  • डिप्रेशन
  • उदास रहना
  • लोगों से मिलना जुलना नहीं
  • मूड स्विंग होना
  • लोगों से भरोसा उठना
  • चिड़चिड़ापन
  • गुस्सा होना
  • वक्त पर नहीं सोना
  • कहीं भी घूमते रहना
  • चोरी के भ्रम में रहना

अल्जाइमर होने पर क्या करना चाहिए ?

यदि आपको लगता है कि आपके किसी प्रियजन को बढ़ती उम्र में अल्जाइमर या उससे जुड़ी परेशानी है, तो सबसे बेहतर होगा कि डॉक्टर से बात करें। वह आपको बता सकते हैं कि इन लक्षणों का क्या मतलब है और उनके उपचार के लिए आपके पास क्या विकल्प हैं। बढ़ती उम्र में अल्जाइमर के लिए डॉक्टर आपको सही सलाद देता है। कई बार डॉक्टर अल्जाइमर के लिए थेरेपी देने की बात करते हैं लेकिन इसका इलाज हर किसी के लिए अलग-अलग है। बढ़ती उम्र में अल्जाइमर होन पर परेशान होने से बेहतर है कि परिवार से व्यक्ति को सहानूभुति मिले ताकि अल्जाइमर से पीड़ित व्यक्ति खुद को अकेला ना समझें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Understanding Alzheimer’s Disease — Symptoms Accessed on 09/12/2019

7 Stages of Alzheimer’s Disease Accessed on 09/12/2019

10 Early Signs and Symptoms of Alzheimer‘s Accessed on 09/12/2019

What Is Alzheimer’s Disease? Accessed on 09/12/2019

What to know about Alzheimer’s disease Accessed on 09/12/2019

What Is Alzheimer’s Disease? Accessed on 09/12/2019

लेखक की तस्वीर
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 21/09/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x