आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

क्या बच्चे बहुत ज्यादा सो सकते हैं? बच्चे के अच्छे स्लीप पैटर्न के लिए अपनाएं इन टिप्स को...

क्या बच्चे बहुत ज्यादा सो सकते हैं? बच्चे के अच्छे स्लीप पैटर्न के लिए अपनाएं इन टिप्स को...

स्लीप पैटर्न को लेकर बहुत से पेरेंट्स के मन में कई तरह के सवाल भी होते हैं, जिसमें से एक सवाल है कि क्या बच्चे बहुत ज्यादा सो सकते हैं (Can babies sleep too much)? नवजात शिशु की नींद की दिनचर्या नए माता-पिता को हैरान करने वाली हो सकती है। जैसे-जैसे आपके शिशु को गर्भ के बाहर के जीवन की आदत हो जाती है, उसे दैनिक दिनचर्या में समायोजित होने में परेशानी हो सकती है, जिसमें उसके नींद का पैटर्न भी शामिल है। आपको यह जानकर आश्चर्य हो सकता है कि कभी-कभी आपका शिशु केवल कुछ मिनट के लिए ही सोए और कभी-कभी सामान्य से भी ज्यादा घंटों तक लंबी नींद सोए। आइए जानते हैं कि क्या बच्चे बहुत ज्यादा सो सकते हैं (Can babies sleep too much) :

और पढ़ें: वजन बढ़ाने के लिए एक साल के बच्चों के लिए टेस्टी और हेल्दी रेसिपी, बनाना भी है आसान

क्या बच्चे बहुत ज्यादा सो सकते हैं (Can babies sleep too much)?

शिशुओं, विशेषकर नवजात शिशुओं को भरपूर नींद की जरूरत होती है। लेकिन नवजात शिशु की नींद का पैटर्न छोटा और अनिश्चित भरा हो सकता है, जैसे-जैसे आपका शिशु बड़ा होता जाता है और उसका सोने के पैटर्न अधिक नियमित होता जाता है। इस दुनिया में आने से पहले आपका शिशु गर्भ में आराम से सोने में काफी समय बिताता था। एक बार जन्म लेने के बाद, आपका शिशु दिनभर में अधिक देर तक सो सकता है। उसके लंबे और कम समय सोने के पैटर्न में बहुत सारे कारक डिपेंड करता हैं, जैसे कि शिशु की भूंख। नवजात शिशुओं का पेट छोटा होता है, इसलिए उनका पेट जल्दी भर जाता है। चाहे आप स्तनपान कर रहे हों या फॉर्मूला-फीडिंग, उनका पेट भरा होना नींद को बढ़ाता है। यदि उनका पेट भरा नहीं हुआ, तो नतीजतन, वे भूंख से अक्सर जाग सकते हैं।

  • नवजात 0 से 3 महीने: 24 घंटे की अवधि के भीतर 14 से 17 घंटे की नींद, हालांकि 22 घंटे तक की नींद भी कभी-कभी लेना सामान्य है। नींद आमतौर पर दिन में और रात में तेजी से होती है, कभी-कभी एक समय में केवल एक या दो घंटे तक चलती है।
  • 4 से 12 महीने के बड़े बच्चे: 24 घंटे की अवधि के भीतर 12 से 16 घंटे की नींद सामान्य है। उन घंटों में से कम से कम दो से तीन घंटे दिन में झपकी लेना चाहिए। समय के साथ, बच्चे धीरे-धीरे रात में अधिक देर तक सोने लगते हैं। 4 महीने का बच्चा रात में छह या आठ घंटे की नींद ले सकता है, जबकि 6 महीने का बच्चा 10 या 11 घंटे सो सकता है। जैसे ही आपका शिशु अपने पहले जन्मदिन के करीब होगा, वह रात में 10 से 12 घंटे के बीच सोएगा।

और पढ़ें: Japanese Encephalitis: जैपनीज इंसेफेलाइटिस क्या हैं? जानिए इसके लक्षण और इलाज

क्या बच्चे बहुत ज्यादा सो सकते हैं (Can babies sleep too much) : क्या अपेक्षा करें

शिशु के नींद का प्रभाव उनके विकास और वजन पर भी पड़ता है। खराब स्लीप पैटर्न के कारण, यानि कि ठीक से न सोने के कारण बच्चे के वजन में भी गिरावट आ सकता है। जितना बच्चे के लिए सोना जरूरी है, उतना ही उनके लिए नींद भी जरूरी है। यदि आपका बच्चा बहुत लंबे समय तक सोता है, तो दूध का समय होने पर उसे दूध भी पिलाते रहें। अपने नवजात शिशु से दूध पिलाने की दिनचर्या में व्यवस्थित होने की अपेक्षा करें। उनका वजन वापस बढ़ जाएगा, और उसके बाद से अधिकांश बच्चे तेजी से बढ़ते हैं। आप अपने बच्चे के दूध पिलाने और गंदे डायपर पर नज़र रखकर उसके विकास की प्रगति की निगरानी कर सकते हैं। आपका बाल रोग विशेषज्ञ भी प्रत्येक जांच में उनका वजन करेगा।

और पढ़ें : बच्चों के लिए विटामिन ए सप्लिमेंट्स लेने के पहले डॉक्टर से कंसल्टेशन है जरूरी

क्या बच्चे बहुत ज्यादा सो सकते हैं, ऐसा क्यों होता है (Can babies sleep too much, why does this happen)

कुछ बच्चे दूसरों की तुलना में बेहतर स्लीपर होते हैं। हालांकि, इससे उनकी नींद और भोजन प्रभावित होती है। आपको पहले कुछ हफ्तों के दौरान अतिरिक्त सावधानी बरतने और उनकी प्रगति का आकलन करने की आवश्यकता होती है। बच्चे की अच्छी नींद के साथ उसकी छोटी-छोटी बातों पर भी ध्यान रखें, जैसे कि बच्चे के डायपर पर नजर रखें। उनके यूरिन के कलर पर भी ध्यान रखें कि वो बहुत पीला नहीं होना चाहिए (गहरा पीला एक संकेत है कि बच्चा पर्याप्त दूध नहीं पी रहा है)। एक बच्चा जब पर्याप्त नींद नहीं लेता है, वह चिड़चिड़ा महसूस कर सकत है। कई बार उनको रोते में शांत कराना भी म़श्किल हो सकता है। एक नींद वाले बच्चे को ये समस्याएं नहीं होती हैं, लेकिन बहुत अच्छी नींद से माता-पिता को परेशान कर सकता है। एक बच्चे को अपनी स्वयं की सर्कैडियन लय स्थापित करने में कम से कम छह महीने लगते हैं। लेकिन अगर आपको लगता है कि आप रात और दिन के बीच किसी भी अंतर से बेखबर हैं, तो उनकी बढ़ती उम्र के साथ उन्हें नियमित अंतराल पर भोजन करने और दिन में थोड़ा जागने और रात में सोने की आदत डालें।

और पढ़ें : बेबी पाउडर के साइड इफेक्ट्स: इंफेक्शन, कैंसर या सांस की परेशानी दे सकती है दस्तक!

क्या बच्चे बहुत ज्यादा सो सकते हैं , इन टिप्स का रखें ध्यान (Can babies sleep too much, Take care of these tips)

यदि आपका शिश़ सामान्य से कंही अधिक नींद ले रहा है, तो आपको सबसे पहले यह सुनिश्चित करना होगा कि कोई चिकित्सीय समस्या तो नहीं है, जिसके कारण वह हर समय सोता रहता है। पीलिया, संक्रमण, और कोई भी चिकित्सीय प्रक्रिया, जैसे खतना, आपके बच्चे को सामान्य से अधिक सुला सकती है। आपका बाल रोग विशेषज्ञ जांच करेंगे कि आपका शिशु पर्याप्त वजन बढ़ा रहा है या नहीं। यदि नहीं, तो आपको अपने डॉक्टर की सिफारिशों के आधार पर उन्हें हर तीन घंटे (या अधिक) खाने के लिए जगाना पड़ सकता है। यहां कुछ टिप्स दिए गए हैं, जिसे अपनाकर आप नियमित रूप से सोने (और खिलाने) के कार्यक्रम को बढ़ावा देने की कोशिश कर सकते हैं:

  • अपने बच्चे को दिन में सैर के लिए बाहर ले जाएं ताकि वे प्राकृतिक प्रकाश के संपर्क में आएं, यानि कि उसकी आंखों को रोशनी की आदत पड़ें।
  • शाम के समय उन्हें घुमाने ले जाएं।
  • शिशु को दूध पिलाने के दौरान बात करें।
  • देर तक सोने की आदत न विकसित करें, बच्चे को सुबह जल्दी उठाएं और उसकी मसाज करें और नहलाएं आदि।
  • उसे बहुत देर तक बैड पर ही न रहने दें।
  • कमरे में सूर्य की रोशनी आने दें।
  • दिन के दौरान टीवी और गाने चलाएं, ताकि उनके कानों में अवाज जाए।
  • बच्चे को खिलौने दिखाएं।
  • घर में अगर छोटे बच्चे हैं, तो उनेक साथ शिशु को खेलने दें।

और पढ़ें : बच्चों के लिए विटामिन ए सप्लिमेंट्स लेने के पहले डॉक्टर से कंसल्टेशन है जरूरी

जितना आप उन्हें एक नॉर्मल लाइफस्टाइल देने की कोशिश करेंगे, बच्चे का विकास और उनका स्लीप पैटर्न दोनों की उतना अच्छा होगा। क्या बच्चे बहुत ज्यादा सो सकते हैं, तो इसका यही जवाब है कि बच्चे के लिए कम और बहुत अत्ध्यधिक नींद, दोनों ही उनके विकास के लिए अच्छा नहीं है। बच्चे के सामान्य दिनर्चार्या के लिए डॉक्टर आपको उसके बारे में बताएंगे। आप उसे फॉलो करें। क्या बच्चे बहुत ज्यादा सो सकते हैं , इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
डॉ. प्रणाली पाटील द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/02/2022 को