ड्राई ड्राउनिंग क्या होता है? इससे बच्चों को कैसे संभालें

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट मई 21, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

ड्राई ड्राउनिंग का हिंदी में अर्थ अगर आप खोज रहेंगे, तो आप इसे सूखा डूबना समझ सकते हैं। हालांकि, फिर आप यह सोच सकते हैं कि भला सूखा डूबना क्या हो सकता है, या बिना पानी में डूबे कैसे डूबने से मौत हो सकती है? तो बता दें कि, आपका सोचना काफी हद तक सही हो सकता है। हालांकि, ड्राई ड्राउनिंग का यही मतलब होता है कि पानी से बाहर डूबकर मृत्यु होना।

यह भी पढ़ेंः बच्चों में कान के इंफेक्शन के लिए घरेलू उपचार

ड्राई ड्राउनिंग क्या है?

ड्राई ड्राउनिंग की समस्या पानी में डूबने की स्थिति से ही जुड़ी हुई है। ड्राई ड्राउनिंग की समस्या सबसे ज्यादा छोटे बच्चों में भी देखी जाती है। हालांकि, इसकी स्थिति में पानी मे डूबने के दौरान या पानी में रहते हुए बच्चे की मृत्यु नहीं होती है। बल्कि, पानी से सुरक्षित तरीके से बाहर आने के बाद कुछ घंटों के बाद बच्चे की मौत हो सकती है। जिसे ही ड्राई ड्राउनिंग कहा जाता है।

ड्राई डाउनिंग क्यों होती है?

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार पानी में गिरने या असुरक्षित तरीके से पानी के अंदर जाने से बच्चे का नाक और मुंह से वायुमार्ग में पानी जा सकता है। जिससे सांस लेने में परेशानी की समस्या हो सकती है और फेफड़ों में पानी भर सकता है । ड्राई डाउनिंग वयस्कों और बड़े लोगों में बहुत कम होता है। लेकिन तैरते या नहाने समय छोटे बच्चों में यह मौत का कारण सबसे अधिक हो सकता है। हालांकि, हर बार इसकी स्थिति जानलेवा नहीं होती है। जरूरी लक्षणों की पहचान करके आप अपने बच्चे को ड्राई डाउनिंग से बचा सकते हैं।

इसके अलावा, अगर कोई बच्चा गलती करे या किसी कारण से पानी में गिर जाता है, तो वह घबरा जाता है। जिसके कारण भी उसके सांस की नली में पानी भर सकता है। अधिकतर ऐसी स्थितियों में लोग बच्चे को पानी से बाहर निकाल कर बचा लेते हैं। उन्हें लगता भी है कि अब बच्चे की जान सुरक्षित है और उस समय बच्चा बिल्कुल सुरक्षित नजर भी आता है। लेकिन, नाक या मुंह के जरिए सांस की नली में गया हुआ पानी फेफड़ों में चला जाता है, जो धीरे-धीरे मांसपेशियों के कार्य को ब्लॉक कर देता है। डॉक्टर इस घटना को “पोस्ट-इमर्शन सिंड्रोम” कहते हैं और यह बहुत ही दुर्लभ स्थिति होती है। इसके अलावा मेडिकली तौर पर अभी तक इसका कोई उचित उपचार भी नहीं है।

यह भी पढ़ेंः बच्चों के लिए एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल करना क्या सुरक्षित है?

ड्राई डाउनिंग या पोस्ट-इमर्शन सिंड्रोम के लक्षण क्या हैं?

पोस्ट-इमर्शन सिंड्रोम के निम्न लक्षण हो सकते हैं। हालांकि, ये सारे लक्षण तभी इससे संबंधित हो सकते हैं, अगर बच्चा किसी कारण से पानी में गिर गया हो या वो तैरने का अभ्यास करना हो। इसमें शामिल हो सकते हैंः

  • बच्चे को खांसी आना
  • बच्चे को सांस लेने में तकलीफ होना
  • पानी से बाहर आते ही बच्चे का अचानक से बहुत ज्यादा थकान महसूस करना
  • सीने में दर्द होना

ड्राई डाउनिंग वर्सेस सेकेंडरी डाउनिंग

ड्राई डाउनिंग और सेकेंडरी डाउनिंग दोनों के एक ही कारण होते हैं। दोनों की स्थिति भी दुर्लभ होती है। हालांकि, ड्राई डाउनिंग से बच्चे के मौत का खतरा पानी से बाहर आने के लगभग आधे घंटे के अंदर हो सकता है, वहीं सेकेंडरी डाउनिंग की स्थिति में इसका खतरा अगले 72 घंटों तक बना रह सकता है। सेकेंडरी वाले स्थिति में सांस नली से पानी फेफड़ो में इकट्ठा हो चुका होता है। जिसके कारण दम घुटने से मौत हो जाती है।

यह भी पढ़ेंः नवजात की देखभाल करने के लिए नैनी या आया को कैसे करें ट्रेंड?

ड्राई डाउनिंग के उपचार क्या हैं?

अगर आपको अपने बच्चे या किसी अन्य छोटे बच्चे या व्यक्ति में ड्राई या सेकेंडरी डाउनिंग के लक्षण दिखाई देते हैं, तो आपको तुरंत आपातकालीन चिकित्सा सहायता के लिए फोन करना चाहिए।

साथ ही, आपको निम्न बातों का भी ध्यान रखना चाहिएः

  • जब तक आपको बच्चे को मेडिकल हेल्प नहीं मिलती तब तक बच्चे को शांत रखने की कोशिश करें। शांत रहने से उसके विंडपाइप की मांसपेशियों को आराम करने में मदद मिल सकती है।
  • आपातकालीन चिकित्सा बच्चे की मौजूदा स्थिति को देखते हुए उपचार की प्रक्रिया शुरू कर सकती है। आमतौर पर ऐसी स्थिति में बच्चे को ऑक्सीजन की कमी हो जाती है, तो चिकित्सक बच्चे को ऑक्सीजन लेने में मदद कर सकते हैं।
  • इसके बाद अगर बच्चे का स्वास्थ्य स्थिर हो जाता है, तो मेडिकल टीम बच्चे को अस्पताल लेकर जा सकती है। जहां डॉक्टर उसके स्वास्थ्य की जांच करेंगे और उसकी निगरानी करेंगे।
  • इसके अलावा, ड्राई डाउनिंग के कारण कई बच्चे में बैक्टीरियल निमोनिया की भी समस्या हो सकती है। क्योंकि इसके कारण बच्चे के फेफड़े संक्रमित हो सकते है। इसके जांच करने के लिए विशेषज्ञ बच्चे के सीने का एक्स-रे करेंगे और फेफड़ों में जमा हुए पानी को बाहर निकालने के लिए आवश्यक उपचार की प्रक्रिया करेंगे।

यह भी पढ़ेंः बच्चों में साइनसाइटिस का कारण: ऐसे पहचाने इसके लक्षण

ड्राई या सेकेंडरी डाउनिंग की स्थिति से शिशु को बचाने के लिए क्या करना चाहिए?

  • ड्राई या सेकेंडरी डाउनिंग की स्थिति बच्चे के साथ पानी से जुड़ी घटना होती है। जिससे बच्चे के सुरक्षित रखने के लिए जितना हो सके अपने बच्चे को पानी वाली जगहों से दूर रखना चाहिए।
  • अगर आपका बच्चा दो साल का है या उससे छोटी उम्र का है, तो उसके लिए यह एक गंभीर समस्या हो सकती है। इसलिए बच्चे को हमेशा अपने आस-पास रखें। बच्चे को ऐसे स्थान में न जाने दें, जहां पर पानी का स्त्रोत हो।
  • भले ही आपका बच्चा चार साल का हो, लेकिन उसे कभी भी बाथटब में भी अकेला न छोड़ें।
  • बच्चे के नहाने के स्थान पर साबुन या शैंपू जैसी चीजे उसके आस-पास न रखें जिससे बच्चे के फिसलने का जोखिम हो सकता है।
  • अगर आप अपने नवजात शिशु को तैरना सिखाना चाहते हैं, तो हमेशा किसी एक्सपर्ट की देखरेख और उचित सेफ्टी सुविधाओं के तहत ही शिशु को तैरना सिखाएं। भले ही आप कितने अच्छे तैराक हो, लेकिन कभी भी अपने छोटे बच्चे को खुद से तैरना न सिखाएं।
  • अगर बच्चे के साथ बोटिंग कर रहे हैं, तो बोट पर मौजुद सभी यात्रियों के साथ बच्चे को भी लाइफजैकेट पहनना चाहिए।
  • अगर आपका बच्चा तैरना जानता है, तो उसे हमेशा किसी छोटे पूल में ही तैरने दें। अपने शिशु को किसी बिच या नदी में तैरने से रोकें।

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर इससे जुड़ा आपका कोई सवाल है, तो अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

और पढ़ेंः-

शिशु की जीभ की सफाई कैसे करें

बच्चों के लिए सही टूथपेस्ट का कैसे करे चुनाव

चोट लगने पर बच्चों के लिए फर्स्ट एड और घरेलू उपचार

बच्चों में हिप डिस्प्लेसिया बना सकता है उन्हें विकलांग, जाने इससे बचने के उपाय

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

बच्चों में ब्रोंकाइटिस की परेशानी क्यों होती है? जानें इसका इलाज

जानें बच्चों को ब्रोंकाइटिस की परेशानी क्यों होती है और इससे कैसे पहचाने। बच्चों में ब्रोंकाइटिस के घरेलू उपाय। Bronchitis in child in Hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
बच्चों की देखभाल, पेरेंटिंग अप्रैल 27, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

बच्चों के लिए टिकटॉक कितना सुरक्षित है? पेरेंट्स जान लें ये बातें

बच्चों के लिए टिकटॉक कितना सुरक्षित है? क्या आपने कभी सोचा है, कई युवाओं में स्मोकिंग और ड्रिंकिंग की तरह टिकटॉक की भी लत देखी जा रही है। टिकटॉक के कारण डिप्रेशन, चिड़चापन जैसे लक्षण भी देखें जा रहे हैं। Is TikTok Safe for Kids? how to handle your kids with tiktok.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
पेरेंटिंग टिप्स, पेरेंटिंग अप्रैल 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

पैसिफायर या अंगूठा चूसना बच्चे के लिए क्या दोनों गलत है?

इस लेख में जानें की बच्चों के लिए पैसिफायर या अंगूठा चूसना दोनों में से अधिक फायदेमंद क्या होता है। Pacifier vs thumb sucking in Hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
पेरेंटिंग टिप्स, पेरेंटिंग अप्रैल 27, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

घर में आसानी से बनने वाले बच्चों के लिए हेल्थ ड्रिंक

इस लेख में जानें बच्चों के लिए हेल्थ ड्रिंक की रेसिपी और उनके फायदे। इसके अलावा पढ़ें बच्चों को कौनसी ड्रिंक्स नहीं देनी चाहिए। Healthy drinks for kids in Hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
बच्चों का पोषण, पेरेंटिंग अप्रैल 24, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

बच्चे का टूथब्रश-children's toothbrush

बच्चे का टूथब्रश खरीदते समय किन जरूरी बातों का ध्यान रखना चाहिए?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
प्रकाशित हुआ मई 12, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
शिशु को तैरना- shishu-tairna-benefits-infant-swim

शिशु को तैरना सिखाने के होते हैं कई फायदे, जानें किस उम्र से सिखाएं और क्यों

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Ankita Mishra
प्रकाशित हुआ मई 4, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
बच्चों-में-दस्त

बच्चों में दस्त होने के कारण और घरेलू उपाय

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
प्रकाशित हुआ अप्रैल 28, 2020 . 10 मिनट में पढ़ें
बच्चों-के-लिए-मोबाइल-गेम्स-खेलना-फायदेमंद-है-या-नुकसानदेह

बच्चों के लिए मोबाइल गेम्स खेलना फायदेमंद है या नुकसानदेह

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
प्रकाशित हुआ अप्रैल 28, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें