आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Goat’s Milk: क्या बच्चों के लिए बकरी का दूध होता है फायदेमंद?

    Goat’s Milk: क्या बच्चों के लिए बकरी का दूध होता है फायदेमंद?

    जब बच्चा पैदा होता है, तो उसका पेट भरने का एकमात्र सहारा दूध ही होता है। नवजात शिशु केवल दूध पीकर ही अपना पेट भरते हैं और पोषण प्राप्त करते हैं। जब बच्चा एक साल का हो जाता है, तो वो दूध के साथ ही अन्य आहार भी खाना शुरू करता है। तब मां का दूध भी बंद कर दिया जाता है। इसके बाद ज्यादातर बच्चे गाय या फिर भैंस का दूध पीते हैं। लोगों के मन में यहीं धारणा है कि गाय या भैंस का ही दूध बच्चों के लिए सबसे अच्छा होता है लेकिन ऐसा नहीं है। बच्चों के लिए बकरी का दूध भी फायदेमंद होता है। बकरी के दूध के फायदे एक नहीं बल्कि बहुत से हैं। ब्रिटिश जर्नल ऑफ न्यूट्रीशन में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, ‘ गोट मिल्क इंफेन्ट फॉर्मुला (Goat milk infant formula) में ब्रेस्ट मिल्क के समान ही प्रिबायोटिक्स प्रॉपर्टी (prebiotic properties) होती हैं, जो हेल्दी गट फंक्शन (gut function) के लिए जिम्मेदार होता है। अगर आपके मन में बकरी के दूध को लेकर कुछ प्रश्न हो, तो ये आर्टिकल आपको जरूर पढ़ना चाहिए। जानिए बकरी का दूध बच्चों के सुरक्षित होता है या फिर नहीं।

    और पढ़ें: बच्चों के लिए घी : कब और कैसे दें, जानें बच्चों को घी खिलाने के फायदे

    बच्चों के लिए बकरी का दूध (Goat’s Milk) सुरक्षित है?

    बच्चों को आप जो भी खिलाते या पिलाते हैं, वो आपकी तरफ से सौ प्रतिशत शुद्ध होता है लेकिन आपको सही जानकारी भी होनी चाहिए। आप बच्चे को किस उम्र में कौन-सा दूध दे रहे हैं, ये जानना बहुत जरूरी है। बच्चों के लिए बकरी का दूध सुरक्षित होता है लेकिन 12 महीने तक के बच्चे को बकरी का फॉर्मुला मिल्क दिया जा सकता है। नवजात को बकरी का फ्रेश मिल्क नहीं देना चाहिए। एक साल के बाद ही आप बच्चे को बकरी का फ्रेश मिल्क दे सकते हैं। अमेरिकन एकेडमी ऑफ पेडिएट्रिक (American Academy of Pediatrics) की मानें, तो नवजात शिशु के लिए बकरी के ताजे दूध की अपक्षा फॉर्मुला मिल्क अधिक सुरक्षित होता है। नवजात के लिए मां का दूध सुरक्षित माना जाता है। किसी जानवर का दूध 12 माह तक नहीं दिया जाना चाहिए। इंफेन्ट के लिए बकरी का दूध सुरक्षित नहीं होता है और न ही उन्हें इससे पूरी तरह से पोषण मिल सकता है। अगर आप नवजात को बकरी का दूध पिलाते हैं, तो ये स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं भी खड़ी कर सकता है। स्टडी में ये बात भी सामने आई कि जिन बच्चों को गाय के दूध से एलर्जी होती है, उनके लिए बकरी का दूध फायदेमंद हो सकता है। बकरी के दूध से एलर्जी की कम संभावना रहती है और साथ ही गाय के दूध की अपेक्षा इसमे लैक्टोज भी बहुत कम मात्रा में पाया जाता है।

    और पढ़ें: घर में आसानी से बनने वाले बच्चों के लिए हेल्थ ड्रिंक

    गोट मिल्क (Goat’s Milk) के बारे में क्या कहती है स्टडी?

    ऑस्ट्रेलिया स्थित पब्लिक रिचर्स यूनिवर्सिटी रॉयल मेलबर्न इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (RMIT) की ओर से की गई स्टडी में ये बात सामने आई है कि बकरी के दूध में संक्रमण को दूर करने की क्षमता यानी एंटी इन्फेक्शन क्वालिटी होती है। बच्चों में होने वाले पेट संबंधी इन्फेक्शन को बकरी का दूध दूर करने में सक्षम होता है। बकरी के दूध में प्रीबायोटिक्स (prebiotic) भी पाए जाते हैं, जो इंटेस्टाइन में अच्छे बैक्टीरिया को बढ़ाने का काम करते हैं। प्रोफेसर हर्षन गिल के मुताबिक बकरी के दूध में ऑलिगोसेकेराइड्स (oligosaccharides)होते हैं, जो फॉर्मुला मिल्क और ब्रेस्ट मिल्क (मां के दूध में) में भी पाएं जाते हैं। यानी नवजात के लिए गोट मिल्क फॉर्मुला मिल्क बहुत लाभकारी होता है।

    [mc4wp_form id=”183492″]

    बकरी का दूध किस तरह से पहुंचाता है फायदा?

    बकरी के दूध में प्रोटीन, कैल्शियम, पोटैशियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम और विटामिन ए की पर्याप्त मात्रा पाई जाती है। विटामिन ए खसरे से लड़ने के साथ ही आंखों की समस्या से भी छुटकारा दिलाता है। बकरी के दूध के फायदे जानने से पहले आपको इसकी न्यूट्रीशनल वैल्यू की जानकारी होना बहुत जरूरी है। बकरी के एक कप दूध की न्यूट्रीशनल वैल्यू निम्नलिखत है।

    • कैलोरी (Calories): 168 कैलोरी
    • प्रोटीन ( Protein): 9 ग्राम
    • फैट (Fat): 10 ग्राम
    • कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrates): 11 ग्राम
    • फाइबर (Fiber): 0 ग्राम
    • शुगर (Sugar) : 11 ग्राम

    बकरी का दूध पच सकता है आसानी से

    गाय के दूध की अपेक्षा बच्चे बकरी का दूध आसानी से पचा सकते हैं। आलमंड मिल्क और राइस मिल्क की अपेक्षा गोट मिल्क में अधिक प्रोटीन होती है। यानी बकरी का दूध न सिर्फ आसानी से पच जाता है बल्कि बच्चों के लिए प्रोटीन का अच्छा सोर्स भी है। अगर आपका बच्चे को गाय का या भैंस का दूध पीने में समस्या हो रही है, तो आप बकरी का दूध इस्तेमाल करके देख सकते हैं। बेहतर होगा कि आप दूध बदलने से पहले एक बार डॉक्टर से परामर्श जरूर करें।

    और पढ़ें: 3 साल के बच्चे का डायट प्लान फॉलो करते समय किन बातों का रखना चाहिए ध्यान

    दूध की एलर्जी (Milk Allergies) से मिल सकती है राहत

    कुछ बच्चों को गाय के दूध से एलर्जी हो सकती है। बकरी के दूध में ऐसी समस्या नहीं होती है। जिन लोगों को डेयरी एलर्जी होती है, उनके लिए भी बकरी का दूध फायदेमंद साबित हो सकता है। अगर आपके बच्चे को दूध से एलर्जी की समस्या है, तो बेहतर हो कि आप एक बार डॉक्टर से परामर्श करें और उनसे बकरी के दूध के सेवन के बारे में जरूर पूछें।

    कोलेस्ट्रॉल लेवल को करता है मैनेज (Managing Cholesterol Levels)

    बकरी का दूध न केवल बच्चों के लिए लाभदायक होता है बल्कि इसे किसी भी उम्र में पिया जा सकता है। बकरी का दूध पीने से शरीर में हाई कोलेस्ट्रॉल मैनेज होता है। ये दूध कोलेस्ट्रॉल लेवल को कम करने में मदद कर सकता है।

    बकरी के दूध के फायदे: बोंस के लिए है फायदेमंद

    हम सभी को पता है कि दूध में कैल्शियम अधिक मात्रा में पाया जाता है। बढ़ते बच्चों के लिए कैल्शियम बहुत जरूरी होता है। बकरी के दूध में भी कैल्शियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है। यानी कैल्शियम की कमी को पूरा करने के लिए बकरी का दूध सर्वोत्तम है। अगर बच्चे में कैल्शियम की बहुत कमी है, तो डॉक्टर से आप जरूरी सप्लिमेंट के बारे में पूछ सकते हैं। डॉक्टर बच्चों को दूध के साथ ही कैल्शियम सप्लिमेंट लेने की सलाह भी दे सकते हैं।

    और पढ़ें:क्या आप जानते है शिशुओं के लिए हल्दी के फायदे कितने होते हैं? जाने विस्तार से!

    बकरी के दूध (goat’s milk) से क्या हो सकता है नुकसान?

    जिन बच्चों को गाय के दूध से एलर्जी की समस्या होती है, उनको गोट मिल्क से एलर्जी की संभावना हो सकती है लेकिन इसकी संभावना कम रहती है। ये बात एलर्जी की गंभीरता पर निर्भर करती है। गाय के दूध से एलर्जी के केस बकरी के दूध की अपेक्षा बहुत अधिक होते हैं। आप बेहतर होगा कि इस बारे में डॉक्टर से सलाह जरूर करें। बकरी का ताजा दूध घर के आसपास मिलना मुश्किल हो सकता है। आपको गोट मिल्क फॉर्मुला तो उपलब्ध हो जाएगा लेकिन बकरी का दूध आसानी से नहीं मिलता है। आपको इसके लिए अलग से ऑर्डर करने की जरूरत पड़ सकती है। बकरी के दूध का स्वाद गाय के दूध के स्वाद से कुछ अलग होता है। जो बच्चा गाय का दूध पी रहा है, अधिक संभावना है कि उसे बकरी के दूध के स्वाद से समस्या हो। आप दूध के स्वाद को बदलने के लिए बच्चे का फेवरेट मिल्क फ्लेवर्ड पाउडर मिलाकर उसे दे सकती हैं। अगर आप फॉर्मुला मिल्क बच्चे को देने जा रही हैं, तो डॉक्टर से ब्रांड के बारे में जानकारी जरूर लें।

    हम उम्मीद करते हैं कि आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बकरी के दूध के फायदे के बारे में जानकारी मिल गई होगी। बकरी का ताजा दूध इस्तेमाल करने से पहले उसे उबाल जरूर लें। साथ ही बकरी के दूध से जुड़ी जरूरी जानकारी के लिए डॉक्टर से सलाह जरूर करें। हम उम्मीद करते हैं कि आपको ये आर्टिकल पसंद आया होगा। आप स्वास्थ्य संबंधी अधिक जानकारी के लिए हैलो स्वास्थ्य की वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। अगर आपके मन में कोई प्रश्न है, तो हैलो स्वास्थ्य के फेसबुक पेज में आप कमेंट बॉक्स में प्रश्न पूछ सकते हैं।

    health-tool-icon

    बेबी वैक्सीन शेड्यूलर

    इम्यूनाइजेशन शेड्यूल का इस्तेमाल यह जानने के लिए करें कि आपके बच्चे को कब और किन टीकों की आवश्यकता है

    आपके बेबी का जेंडर क्या है?

    पुरुष

    महिला

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/02/2021 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: