आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

टॉडलर के रात को बार-बार जागने के यह हो सकते हैं कारण!

    टॉडलर के रात को बार-बार जागने के यह हो सकते हैं कारण!

    क्या आपका टॉडलर रात को नहीं सोता है, वो रात को बार-बार उठता और रोता है? इसके साथ ही उसे फिर से सोने में समस्या होती है? तो यह स्थिति आपके लिए चिंता का विषय हो सकता है। इस दौरान अपने टॉडलर को शांत कराना मुश्किल हो सकता है। अधिकतर मामलों में उसके रोने के कारणों के बारे में जान कर आप बच्चे को शांत कराने और फिर से सोने में मदद कर सकते हैं। आज हम बात करने वाले हैं इस बारे में कि टॉडलर रात को क्यों जागते हैं (Why do toddlers wake up at night)? इसमें कुछ टिप्स आपके लिए लाभदायक सिद्ध हो सकते हैं। टॉडलर रात को क्यों जागते हैं (Why do toddlers wake up at night), इससे पहले जान लेते हैं इसके कारणों के बारे में।

    टॉडलर रात को क्यों जागते हैं (Why do toddlers wake up at night): क्या हैं इसके कारण?

    टॉडलर्स की नींद में समस्या के कारण भी वही चीजें बन सकती हैं, जो बच्चे को परेशान करती हैं। हालांकि, इसके कुछ अन्य कारण भी हो सकते हैं। टॉडलर रात को क्यों जागते हैं (Why do toddlers wake up at night), जानते हैं इसके क्या हो सकते हैं कारण?

    और पढ़ें: शिशु के साथ को-स्लीपिंग के क्या हो सकते हैं फायदे?

    टीथिंग (Teething)

    टॉडलर के दांत या दाढ़ निकलना उनके लिए बेहद दर्दभरी हो सकता है। इससे आपका टॉडलर दिन में चिड़चिड़ा हो सकता है और पूरी रात इसके कारण जाग सकता है। इस समस्या से बच्चे को राहत दिलाने के लिए अपने बच्चे को कुछ ठंडा दें। इसके साथ ही एसिटामिनोफेन या आइबूप्रोफेन का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। लेकिन, डॉक्टर की सलाह के बाद ही बच्चे को इन दवाइयों को दें।

    टोडलर रात को क्यों जागते हैं, why do toddlers wake up at night

    बीमारी (Illness)

    कान में इंफेक्शन, स्टिफनेस, गले में खराश और बुखार आदि के कारण भी बच्चे को नींद आने में समस्या हो सकती है। कूल-मिस्ट ह्यूमिडिफायर और सूदिंग ऑइंटमेंट से कोल्ड के लक्षणों से राहत मिल सकती है। इसके साथ ही कान में इंफेक्शन के कारण होने वाले प्रेशर से छुटकारा पाने के लिए वार्म या कूल कम्प्रेस का इस्तेमाल करें। टॉडलर रात को क्यों जागते हैं (Why do toddlers wake up at night), उसका बीमार होना, इसका बहुत सामान्य कारण है।

    और पढ़ें: 5-Month-Old’s Sleep Schedule: 5 महीने के शिशु का स्लीप शेड्यूल कैसा होना चाहिए?

    किसी बड़े बदलाव के कारण (Any big change)

    अगर टॉडलर के जीवन में कोई बड़ा बदलाव आया हो जैसे कोई नया भाई-बहन, पॉटी ट्रेनिंग, वीनिंग, किसी नए घर में शिफ्ट होना आदि के कारण भी शिशु को नींद आने में समस्या हो सकती है। इन सब स्थितियों में एडजस्ट होने में आपके टॉडलर को कुछ समय लग सकता है। ऐसे में उसे शांत कराने के लिए अपने बच्चे को अटेंशन दें ताकि वो सुरक्षित महसूस करें। ताकि, रात को वो अच्छे से सो सके।

    ड़र (Fear)

    जैसे-जैसे आपके टॉडलर का थॉट प्रोसेस अधिक विकसित होता है, वह चीजों से डरने लगता है। जैसे अंधेरे का डर या अकेले रहने का डर, इन वजहों से उसे सोने में समस्या हो सकती है। इसके साथ ही रात में बुरे सपनों को भी बच्चे अक्सर असली समझ लेते हैं। दिन में कोई तनाव, कोई बड़ा बदलाव भी इसका कारण हो सकता है कि बच्चा सपने की वजह से ड़र जाए। ऐसे में सोने से बच्चे को शांत करें, उन्हें अच्छी कहानियां सुनाएं आदि। ड़र भी टॉडलर रात को क्यों जागते हैं (Why do toddlers wake up at night), इसका एक मुख्य कारण हो सकता है।

    और पढ़ें: टोडलर टीथिंग कब शुरू होती है और क्या हैं इसके लक्षण?

    लंबी या बहुत लेट नैप (Long and late naps)

    अगर आपका बच्चा शाम को बहुत लेट या लंबे नैप लेता है तो वो रात को पर्याप्त रूप से थका हुआ नहीं होता है और इससे उसे रात को सोने में समस्या होती है। ऐसे में अपने बच्चे को अधिक देर तक या लंबे समय तक नैप न लेने दें। इसके साथ ही कम नैप लेने से भी बच्चा चिड़चिड़ा महसूस कर सकता है। जिससे रात को उसे सोने में समस्या होती है।

    टॉडलर रात को क्यों जागते हैं (Why do toddlers wake up at night): माइलस्टोन

    अगर आपका शिशु नौ महीने का है और उसे रात को जागने की परेशानी है, तो हो सकता है कि वो क्रॉलिंग या वॉकिंग जैसे बड़े माइलस्टोन को हिट कर रहा हो। मेजर डेवलपमेंट माइलस्टोन्स टॉडलर में रिग्रेशन को ट्रिगर कर सकते हैं जिसमें स्लीप रिग्रेशन भी शामिल है। अब जानिए कि टॉडलर के रात को उठने की समस्या में आप क्या कर सकते हैं?

    और पढ़ें: Mom & Dad, यहां जानिए टॉडलर के लिए इम्यून बूस्टर सप्लिमेंट्स की डिटेल्स!

    अगर आपका टॉडलर रात को जागता है तो आपको क्या करना चाहिए?

    टॉडलर के रात में जागने से हर किसी की नींद डिस्टर्ब होती है। उसके जागने का कारण चाहे कोई भी क्यों न हो, यह सबके लिए चिंता का विषय है। ऐसे में आपके लिए कुछ चीजों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। आइए जानें कि अगर आपका टॉडलर रात को जागता है तो आपको क्या करना चाहिए?

    कोई जल्दबाजी न करें

    अगर आप रात में अपने बच्ची के उठने और रोने की आवाज सुनते हैं, तो एकदम उसके पास न पहुंच जाए बल्कि कुछ देर इन्तजार करें, ताकि वो खुद रोना बंद कर दें। असल में बच्चा कई बाद नींद में ऐसे ही रोते और अन्य आवाजें निकालते हैं और खुद सेटल हो जाते हैं। लेकिन, अगर आपका बच्चा अधिक रो रहा है और जल्दी चुप नहीं हो रहा है तो उसे मदद की जरूरत है।

    और पढ़ें: स्टडी: टॉडलर के लिए ब्रेस्टफीडिंग है आवश्यक!

    अधिक देर तक बच्चे के पास न रहें

    उम्मीद है कि आपको इस बात का जवाब मिल गया होगा कि टॉडलर रात को क्यों जागते हैं (Why do toddlers wake up at night)? उसके रोने पर अपने बच्चे के पास जा कर उसे न तो उठायें न ही उससे अधिक बात करें। इसके पीछे का उद्देश्य आपका यही है कि बच्चा खुद को कम्फर्ट करना सीखे। धीरे से उसे उठायें और चुप कराने की कोशिश करें। अगर आपका बच्चा रात में बुरे सपने की वजह से जागता है, तो उसे यह आश्वासन दिलाने की कोशिश करें कि वह सपना सच नहीं था और वो पूरी तरह से सुरक्षित है। जब वो शांत हो जाए, तो उसे सुला दें। अगर बच्चा फिर से रोये तो थोड़ी देर के बाद उसके पास जाएं।

    कंसिस्टेंट रहें

    अपने टॉडलर के साथ रोजाना एक जैसा ही बिहेव करें। ऐसा न हो कि एक दिन आप उसके रोने पर उसे अपने साथ सुलाएं और दूसरे दिन उसे थोड़ी देर शांत करा कर उसी के कमरे या बेड पर सोने दें। इससे बच्चा खुद सोना नहीं सीखेगा। इससे आपके टॉडलर को सेटल होने में लंबा समय लग सकता है। ऐसे में उसके साथ पहले दिन जैसा बिहेव करें, अगले दिन भी वैसा ही व्यवहार करें।

    यह तो थी टॉडलर रात को क्यों जागते हैं (Why do toddlers wake up at night), इस बारे में जानकारी। अब जानिए कि रात में टॉडलर के जागने की इस समस्या से आप कैसे छुटकारा पा सकते हैं?

    और पढ़ें: टोडलर ग्रोथ स्पर्ट्स : बच्चे की ग्रोथ के महत्वपूर्ण चरण, जानिए विस्तार से!

    टॉडलर को रात में जागने की समस्या से इस तरह से पाएं राहत

    यह समस्या आपके बच्चे को तब भी परेशान कर सकती है, जब आपका बच्चा बीमार हो। इस स्थिति में डॉक्टर की सलाह लेना और उसका इलाज कराना जरूरी है। टॉडलर को रात में जागने की समस्या से आप इस तरह से राहत पा सकते हैं:

    • इस बात को सुनिश्चित करें कि आपका बच्चा पर्याप्त नींद ले
    • बच्चे से सही नाइट टाइम रूटीन फॉलो कराएं
    • सोते हुए उसे आरामदायक महसूस कराएं
    • उसकी स्क्रीन टाइम को कम करें
    • अपने टॉडलर को दिन में एक्टिव रखें
    • उसकी लॉन्ग नैप्स को कम रखें
    • अपने टॉडलर में अकेले सोने की आदत डालें

    टोडलर रात को क्यों जागते हैं, why do toddlers wake up at night

    और पढ़ें: Best Baby Strollers: इन स्ट्रॉलर्स से मां और शिशु दोनों का जीवन हो सकता है आसान!

    उम्मीद है कि टॉडलर रात को क्यों जागते हैं (Why do toddlers wake up at night), इस बारे में यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। यह आप समझ ही गए होंगे कि आपके टॉडलर के रात को जागने के पीछे कई कारण हो सकते हैं। अगर इसका कारण उसकी बीमारी है, तो सबसे पहले डॉक्टर की सलाह लें। अगर किसी अन्य कारण से बच्चा रोता है जैसे डरावने सपने, लंबी या छोटी नैप्स, सेपरेशन एंग्जायटी, नयी जगह आदि, तो सोने से पहले अपने टॉडलर को शांत कराएं। इसके साथ ही उसकी स्लीप रूटीन फॉलो करने को कहें। अगर इस बारे में आपके मन में कोई भी सवाल है, तो डॉक्टर से इस बारे में अवश्य बात करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Sleep in Toddlers & Preschoolers.https://my.clevelandclinic.org/health/articles/14302-sleep-in-toddlers–preschoolers .Accessed on 30.5.22

    Helping baby sleep through the night. https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/infant-and-toddler-health/in-depth/baby-sleep/art-20045014 .Accessed on 30.5.22

    Bedtime habits for infants and children. https://medlineplus.gov/ency/article/002392.htm .Accessed on 30.5.22

    night Waking, Sleep-Wake Organization, and Self-Soothing in the First Year of Life. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC1201414/ .Accessed on 30.5.22

    How Much Sleep Do baby Need?. https://www.cdc.gov/sleep/about_sleep/how_much_sleep.html

    .Accessed on 30.5.22

    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 31/05/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: