आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

null

आइए जानें पावरनैप के 7 शानदार फायदे

    आइए जानें पावरनैप के 7 शानदार फायदे

    क्या आपको पता है कि पावरनैप (Power Nap) हमारे शरीर के लिए कितनी जरूरी होती है? कई लोगों की नींद पूरी नहीं हाे पाती है, यानि कि वो 7 से 8 घटे की आवश्यक नींद नहीं ले पाते हैं, तो ऐसे में पावरनैप को काफी प्रभावकारी माना गया है। पावरनैप लेने से आपके शरीर को आराम करने का समय मिल जाता है। लगातार काम करने के कारण कई बार एक्जॉशन हो जाता है। इससे बचने के लिए आप पावरनैप ले सकते हैं। पावरनैप लेने से आपका दिमाग कुछ देर के लिए शांत हो जाता है और दोबारा से उसी ऊर्जा के साथ काम करने के लिए तैयार होता है। आइए जानते हैं कि पावरनैप (Power Nap) क्या है?

    और पढ़ें: चाइल्ड स्लीप और मेंटल हेल्थ : जानिए बच्चे की उम्र के अनुसार कितनी नींद है जरूरी

    पावरनैप के फायदे (Benefits of Power Nap)

    इसे समझने का आसान तरीका ये है कि लंबे समय तक एक ही काम करने से हम थकान महसूस करते हैं। जिस प्रकार से हमारे हाथ, पैर और शरीर के बाकी अंग खराब हो जाते हैं ठीक उसी प्रकार हमारा मस्तिष्क भी एक ही काम लम्बे समय तक करने से थक जाता है। काम के बीच में थोड़ा आराम करने से आप लंबे समय तक ज्यादा तेजी और कुशलता के साथ काम कर सकते हैं।

    और पढ़ें: नींद न आने की समस्या और डायबिटीज जानिए कैसे हो सकती है आपके लिए खतरनाक?

    बढ़ी हुई क्षमता और बुद्धि का एहसास (Increased ability)

    आपकी क्षमता बढ़ाने के साथ ही पावर नैप आपके याद रखने की क्षमता को भी कई गुना बढ़ाती है।हमारा दिमाग लंबे समय के लिए किसी एक चीज को याद रखने में सक्षम नहीं होता है। किसी भी चीज को याद रखने के लिए जरूरी है हम उसे बार- बार देखें या फिर सुनें। मस्तिष्क में इकट्ठा होने वाली सारी जानकारी दिमाग की परतों ( ग्रे मैटर) में एकत्रित होती है। सोने पर आपके दिमाग को आराम मिलता है और याद करने की क्षमता के साथ ही रीकॉल करने की क्षमता भी बढ़ जाती है।

    और पढ़ें: बेहतर नींद के लिए नहाना है कितना फायदेमंद ?

    आपके दिल का ख्याल रखती है दस मिनट की पावरनैप वाली नींद (For Heart Health)

    बहुत लंबे समय के लिए लगातार काम करने से आपको तनाव हो जाता है जिसकी वजह से ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। बढ़ा हुआ ब्लड प्रेशर आपकी सेहत के लिए हानिकारक है। इस समस्या से बचने के लिए पावरनैप एक कारगर इलाज है। डॉक्टर्स मानते हैं कि दिन में हल्की नींद लेने वाले लोगों में ब्लड प्रेशर और हृदय से जुड़ी कोई भी समस्या नहीं होती है।

    सेल डैमेज से बचने के लिए जरूरी है पावरनैप (Powernap is necessary to avoid cell damage)

    लगातार काम करने से आपके लिवर, किडनी, फेफड़ों की कोशिकाओं में परेशानी आ सकती है। सेल्स में खराबी के आप जल्दी बूढ़े दिखने लगेंगे और साथ ही आपके चेहरे पर थकान भी दिखेगी। हालांकि कहा जाता है कि अच्छी नींद लेने से इन परेशानियों का हल हो सकता है।

    और पढ़ें: स्पेशल चाइल्ड के ऑनलाइन एज्यूकेशन और मेंटल हेल्थ से जुड़ें सवालों पर जानें एक्सपर्ट ओपिनियन..

    पावरनैप लेने से बढ़ता है टेस्टोस्टेरोन की मात्रा (Taking power naps increases the amount of testosterone)

    एक शोध के मुताबिक चार से छह घंटों की नींद लेने वाले लोगों में आठ घंटे नींद वाले पुरुषों के मुकाबले कम टेस्टोस्टेरोन पाया गया। अगर आप अच्छी मसल और बॉडी के लिए वर्जिश कर रहे हैं तो बहुत जरूरी है कि आप सही ढंग से सोएं। सही ढंग से नींद न पूरी होने पर टेस्टोस्टेरोन कम बनेगा और मसल बिल्डिंग में समस्या आ सकती है।

    और पढ़ें : जानिए सोने के कितने प्रकार होते हैं?

    [mc4wp_form id=”183492″]

    तनाव कम करने और इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए भी जरुरी है पावरनैप (Powernap is also necessary to reduce stress and boost immunity)

    क्लीनिकल एंडोक्राइनोलॉजी और मेटाबोलिज्म की जर्नल के आधार पर ये कहा जा सकता है कि रात को अच्छी नींद न मिलने पर आपके हार्मोनल लेवल में खराबी आ सकती है। अच्छी नींद न मिलने पर नॉरएपिनेफ्रिन (Nor-epinephrine) हॉर्मोन के स्तर में बढ़ोत्तरी आ सकती है। अच्छी नींद लेने से और काम के बीच दस मिनट की छोटी पावरनैप आपके हार्मोनल लेवल को नियंत्रित रखती है।

    अच्छी नींद है मूड एलीवेटर (For Good Sleep)

    अच्छी नींद लेने से आपका मूड लिफ्ट होता है। अच्छी नींद आपके मानसिक और कॉग्निटिव हेल्थ को ठीक करती है। बुजुर्गों में सोने से चिड़चिड़ापन भी कम होता है साथ ही वे ज्यादा सक्रिय महसूस करते हैं।

    और पढ़ें : क्या नींद न आने की परेशानी सेहत पर डाल सकता है नकारात्मक प्रभाव?

    पावरनैप किस तरह के लोगों के लिए बेहतर विकल्प नहीं हो सकता है (Power Nap may not be a better choice for what kind of people)?

    एक्सपर्ट्स के मुताबिक, अगर किसी को अनिद्रा की समस्या है, तो उन्हें दिन के समय पावरनैप नहीं लेनी चाहिए। ऐसा करने से रात के समय उन्हें नींद न आने की समस्या बढ़ सकती है। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर की सलाह ले सकते हैं।

    पावरनैप किस तरह के लोगों के लिए बेहतर विकल्प हो सकता है(What Kinds of People Could Power Nap Be a Better Choice for?)?

    • अगर आपको लगता है कि किसी विषय पर आपके सोचने की क्षमता कमजोर होती जा रही है या आप बेहतर परिणाम की गणना नहीं कर सकते हैं, तो ऐसी स्थिति में 10 से 15 मिनट की झपकी आपको फ्रेश फील करा सकती है।
    • अगर काम के समय आपको धुंधला दिखाई देता हो या आप बहुत ज्यादा थका हुआ महसूस कर रहे हैं, तो भी आप एक छोटी झपकी ले सकते हैं।

    पावरनैप को बेहतर बनाने के लिए किन बातों का ध्यान रखना जरूरी हो सकता है (What may be important to keep in mind to improve Power Nap)?

    घर पर या ऑफिस में झपकी लेते समय आपको कुछ बातों को जरूर ध्यान में रखना चाहिए, जैसेः

    • शांत, ठंडे और कम से कम रोशनी वाले स्थान का चयन करें।
    • आंखों पर स्लीप मास्क पहनें।
    • अगर बहुत फिटिंग के कपड़े पहनें हुए हैं, तो उसे थोड़ा ढ़ीला कर लें और अगर कोट या जैकेट पहनी हुई है, तो उसे भी उतार लें।
    • आपको कितनी देर के लिए झपकी लेनी है, उसका समय फोन में सेट करें और फोन को साइलेंट मोड पर कर दें। ताकि, आपकी झपकी के दौरान किसी तरह की बाधा न हो और आप अपने तय समय पर जाग भी जाएं।

    और पढ़ें : स्लीपिंग सिकनेस (Sleeping Sickness) क्या है? जानें इसके लक्षण और बचाव उपाय

    पावरनैप के समय का रखें खास ध्यान (Special attention to the time of powernap)

    • झपकी हमेशा दोपहर के वक्त एक से तीन बजे के बीच ही लें।
    • अगर शाम के समय झपकी लेना चाहते हैं, तो इसका समय आप पांच से छह के बीच का फिक्स कर सकते हैं।
    • इसके अलावा, अगर आपकी कोई जरूरी मीटिंग है, तो अपने मीटिंग से एक या दो घंटे पहले भी आप छोटी झपकी ले सकते हैं।

    नींद की क्वालिटी बढ़ाने के उपाय क्या हो सकते हैं(What can be done to increase the quality of sleep)?

    • अगर आपको नींद न आने की समस्या है या आपकी नींद बहुत ही जल्दी टूट जाती है, तो ऐसे कई तरीके हैं, जिससे आप अपनी नींद की गुणवत्ता को बढ़ा सकते हैं।
    • रात में सोने से पहले ठंडे या हल्के गुनगुने पानी से स्नान करें। ऐसा करने से आपकी बॉडी रिलेक्स हो जाएगी और आपको जल्द ही अच्छी नींद आ सकती है।
    • सोने से पहले अपने बिस्तर को जरूर साफ करें। बेडसीट को साफ रखें। ताकि सोते समय आपको किसी तरह की परेशानी जैसी खुजली या कुछ चुभने का अनुभव न हो।
    • कम और हल्के और ढ़ीले कपड़े पहनें। ताकि आपका शरीर को हवा लगती रहे। साथ ही आप अन्य तरह के उपायों को भी अपना सकते हैं। इस विषय में अपने डॉक्टर से जरूर बात करें।

    उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और पावरनैप से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Benefits of napping in healthy adults: impact of nap length, time of day, age, and experience with napping. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/19645971/. Accessed on 11 August, 2020.

    The impact of frequent napping and nap practice on sleep-dependent memory in humans. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6180010/. Accessed on 11 August, 2020.

    The benefits of napping. https://www.health.harvard.edu/healthbeat/the-benefits-of-napping. Accessed on 11 August, 2020.

    Napping: Do’s and don’ts for healthy adults. https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/adult-health/in-depth/napping/art-20048319. Accessed on 11 August, 2020.

    Effects of Diet on Sleep Quality1,2. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5015038/. Accessed on 11 August, 2020.

    लेखक की तस्वीर
    Suniti Tripathy द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/12/2021 को
    Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड