home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

चकोतरा के फायदे : कई बीमारियों से लड़ने में मदद कर सकता है यह नारंगी फल

चकोतरा के फायदे : कई बीमारियों से लड़ने में मदद कर सकता है यह नारंगी फल

चकोतरा जिसे ग्रेपफ्रूट के नाम से जाना जाता है, साइट्रस परिवार की प्रजाति का फल है। यह पीले, गुलाबी, लाल और कई रंगों में उपलब्ध होता है। इसका स्वाद खट्टा-मीठा होता है। इस फल को इसके गुणों के कारण भारत में भी अहमियत दी जाने लगी है। ग्रेपफ्रूट में कम कैलोरी के साथ-साथ फाइबर भी अधिक पाया जाता है। इसमें कई गंभीर बीमारियों से लड़ने की क्षमता होती है। ग्रेपफ्रूट में बायोफ्लवोनोइड्स और दूसरे तत्व होने के कारण कैंसर, दिल की बीमारियां और ट्यूमर का खतरा कम हो जाता है। यह मेटाबॉलिज्म बढ़ाने के साथ ही इंसुलिन को कम करता है। साथ ही यह भूख के एहसास को भी कम कर देता है।

और पढ़ें : Pomegranate: अनार क्या है?

चकोतरा के पोषक तत्व क्या हैं?

कुछ शोध बताते हैं कि चकोतरा विटामिन सी, फाइबर, पोटैशियम, पेक्टिन और दूसरे न्यूट्रएंट्स का अच्छा सोर्स हैं। इसमें मौजूद कुछ तत्वों में एंटीऑक्सीडेंट गुण भी होते हैं जो शरीर की कोशिकाओं (Cells) को डैमेज होने से बचाते हैं और कोलेस्ट्रॉल को भी कम करते हैं। नीचे जानिए इसके पोषक तत्व की लिस्ट :

  • कैलोरीज: 52
  • कार्बोहाइड्रेट्स: 13 ग्राम
  • प्रोटीन: 1 ग्राम
  • फाइबर: 2 ग्राम
  • विटामिन सी: आरडीआई का 64 प्रतिशत
  • विटामिन ए: आरडीआई का 28 प्रतिशत
  • पोटैशियम: आरडीआई का 5 प्रतिशत
  • थिअमिन: आरडीआई का 4 प्रतिशत
  • फोलेट: आरडीआई का 4 प्रतिशत
  • मैग्नीशियम: आरडीआई का 3 प्रतिशत

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी में केला खाना चाहिए या नहीं?

चकोतरा के फायदे क्या हैं?

चकोतरा के फायदे – भूख कम करे

दूसरे फलों की तुलना में ग्रेपफ्रूट भूख कम करने और वजन घटाने में बहुत मददगार है। यही कारण है कि वजन घटाने के दौरान न्यूट्रिशनिस्ट चकोतरा खाने की सलाह देते हैं। यह कॉलेसिस्टॉकिनिन नाम के हॉर्मोन बनाने में मदद करता है जिसके कारण पाचन में मदद मिलती है और भूख कम लगती है।

चकोतरा के फायदे – एंटीऑक्सीडेंट का अहम सोर्स

ग्रेपफ्रूट एसिडिटी की मात्रा कम करने के गुणों के कारण इन्फ्लूएंजा के लिए बेहतर माना जाता है। रिसर्च के अनुसार, ग्रेपफ्रूट का कसीला स्वाद नारींजीन के कारण होता है जो एक प्रकार का फ्लैवोनॉइड है और पाचन प्रक्रिया को बेहतर बनाने में मदद करता है। यह एक ताकतवर एंटीऑक्सीडेंट होता है जिसमें एंटीफंगल, एंटीबैक्टीरियल, एंटी-कैंसर और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण मौजूद होते हैं। इन सभी गुणों के कारण चकोतरा कई बीमारियों से बचाने में मदद करता है।

चकोतरा के फायदे – बेहतर नींद में सहायक

सोने से पहले एक गिलास ग्रेपफ्रूट का ज्यूस पीने से नींद की कमी की शिकायत दूर होती है। ट्रीप्टोफन नाम के तत्व के कारण नींद आती है, जिसके कारण आप सुकून की नींद प्राप्त कर सकते हैं।

और पढ़ें : Avocado: एवोकैडो क्या है?

चकोतरा के फायदे – बीमारी से लड़ने में मदद करे

ग्रेपफ्रूट में शरीर को रोजाना की जरूरत का 73 प्रतिशत विटामिन-सी होता है। जिसके कारण यह इम्यून सिस्टम को बेहतर बनाने में मदद करता है। ग्रेपफ्रूट को अपनी डायट में शामिल करें और सर्दी बुखार से बचे रहें।

चकोतरा के फायदे – डायबिटीज को नियंत्रित करे

डायबिटीज में ग्रेपफ्रूट बहुत फायदेमंद हो सकता है क्योंकि यह शरीर में स्टार्च के स्तर को कम करता है और शुगर को नियंत्रण में रखता है। स्टडीज के द्वारा पता चलता है कि ग्रेपफ्रूट में पाए जाने वाले फ्लैवोनॉइड इसे डायबिटीज और दूसरी कई बीमारियों के लिए फायदेमंद बनाते हैं। एक शोध के अनुसार, जो लोग नियमित चकोतरे का सेवन करते हैं उनमें ब्लड प्रेशर और मधुमेह जैसी समस्याएं कम होती हैं।

चकोतरा के फायदे – एसिडिटी को कम करें

ताजे चकोतरे का रस पाचन के लिए आंतों में एक क्षारीय स्थिति बनाता है। इस फल में सिट्रिक एसिड की अच्छी मात्रा है जिसके कारण यह एल्कलाइन की मात्रा बढ़ाता है जिससे एसिडिटी कम होती है। यह शरीर में एसिड बनने से रोकता है, जिससे एसिडिटी के कारण होने वाली गंभीर बीमारियों से भी बचा जा सकता है।

चकोतरा के फायदे – तनाव में फायदेमंद

कुछ लोग शरीर मे पानी की कमी को दूर करने, सिरदर्द, तनाव और डिप्रेशन आदि में चकोतरा की भाप को लेते हैं। चकोतरा बीज एक्सट्रैक्ट की भाप का इस्तेमाल फेफड़े के इंफेक्शन में भी किया जाता है।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी में संतरा खाना कितना सुरक्षित है?

चकोतरा के फायदे – कृषि में भी फायदेमंद

कृषि में इसके बीज का एक्सट्रैक्ट बैक्टीरिया और फंगस को मारने, फफूंदी लगने से रोकने, जानवरों के खाने में मौजूद पैरासाइट को मारने, फूड को सरंक्षित करने और पानी को साफ रखने में इस्तेमाल होता है।

चकोतरा के फायदे – इंफेक्शन में भी फायदेमंद

यह कान, नाक के इन्फेक्शन को साफ करने, गले की खराश में, दांतो में होने वाली बीमारी ( Gingivitis) और मसूड़ों को स्वस्थ रखने के साथ-साथ सांस की बदबू को दूर करने में भी इस्तेमाल होता है।

चकोतरा के फायदे – वजन कम करे चकोतरा

आपको जानकर हैरानी होगी कि चकोतरा वजन कम करने में भी मदद करता है। अगर आप वजन कम करना चाहते हैं, तो आप अंगूर और चकोतरे का रस मिलाकर नियमित रूप से पी सकते हैं। इससे आपको काफी हद तक फायदा हो सकता है।

चकोतरा के फायदे – बुखार में फायदेमंद है चकोतरा

चकोतरे में क्विनिन होता है, जो मलेरिया होने पर काफी फायदा पहुंचा सकता है। क्विनिन एक तरह का अल्कोलॉइड होता है, जो मलेरिया के बुखार में फायदेमंद होता है। इसके साथ ही ये गठिया और जोड़ों के दर्द में भी फायदेमंद साबित हो सकता है।

और पढ़ें : तामसिक छोड़ अपनाएं सात्विक आहार, जानें पितृ पक्ष डायट में क्या खाएं और क्या नहीं

चकोतरा के फायदे – किडनी स्टोन में है फायदेमंद

अगर किसी को किडनी स्टोन की समस्या है, तो चकोतरा आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। किडनी में गन्दगी के इकट्ठी होने के कारण पथरी हो जाती है। ये गन्दगी किडनी में फिल्टर होती है और यूरिन के माध्यम से शरीर से बाहर निकल जाती है। हालांकि, जब ये गन्दगी किडनी में टूटती है तो कुछ टुकड़े बड़े रह जाते हैं और किडनी में पथरी बनके ब्लॉकेज बना देते हैं

चकोतरे में सिट्रिक एसिड मौजूद होती है जो पथरी को कैल्शियम के साथ बाध्य कर देता है और शरीर से बाहर निकालने में प्रभावी होता हैइसके अलावा, साइट्रिक एसिड में आपके यूरिन की मात्रा और पीएच को बढ़ाने की क्षमता होती है, जिससे कि पथरी का गठन मुश्किल हो जाता है।

ग्रेपफ्रूट प्राकृतिक दवा की कैटेगरी में आता है जो कई बीमारियों से लड़ने की क्षमता रखता है। यह शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करता है, जिसके कारण यह दिल की बीमारियों से बचाने में भी मदद करता है। इन अदभुत गुणों के कारण चकोतरा को सुपरफूड्स की केटेगरी में शामिल किया गया है।

तो ये थे चकोतरे के कुछ बेहतरीन फायदे। उम्मीद करते हैं आपको हमारा ये आर्टिकल पसंद आया होगा। अगर आपके मन में इससे जुड़े अन्य कोई सवाल हैं, तो हमसे जरूर पूछें।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Glycemic Responses to Majia Pomelos in Type 2 Diabetic Patients. https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT02006836. Accessed On 19 October, 2020.

Grapefruit. https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/ingredientsprofiles/Grapefruit. Accessed On 19 October, 2020.

Grapefruit. https://snaped.fns.usda.gov/seasonal-produce-guide/grapefruit. Accessed On 19 October, 2020.

Consumption of grapefruit is associated with higher nutrient intakes and diet quality among adults, and more favorable anthropometrics in women, NHANES 2003–2008. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4016745/. Accessed On 19 October, 2020.

The effects of daily consumption of grapefruit on body weight, lipids, and blood pressure in healthy, overweight adults. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/22304836/. Accessed On 19 October, 2020.

लेखक की तस्वीर
Mubasshera Usmani द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 27/04/2021 को
Dr. Pooja Bhardwaj के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x