home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

क्या सामान्य है प्रेग्नेंसी में ब्रेस्ट का सोर न होना?

क्या सामान्य है प्रेग्नेंसी में ब्रेस्ट का सोर न होना?

गर्भावस्था के दौरान होने वाली मां कई शारीरिक और मानसिक बदलावों से गुजरती है। ऐसा जरूरी नहीं है कि हर प्रेग्नेंट महिला में इसके सिम्पटम्स एक जैसे हों। कई महिलाएं केवल कुछ ही सिम्पटम्स का सामना करती हैं, जबकि कुछ बहुत सी समस्याओं का सामना कर सकती हैं। प्रेग्नेंसी की पहली तिमाही में उन्हें अलग समस्याएं होती है, तो दूसरी और अंतिम तिमाहीं में उनकी परेशानियां कुछ अलग होती हैं। गर्भावस्था का एक सबसे सामान्य लक्षण है प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर यानी दर्दभरा होना। लेकिन, कुछ महिलाएं प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर न होना (No Breast tenderness in pregnancy) जैसी फीलिंग का भी अनुभव करती हैं। प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर न होना (No Breast tenderness in pregnancy) कई होने वाली माताओं के लिए परेशानी का विषय हो सकता है। आइए, जानते हैं इसके बारे में। लेकिन, पहले गर्भावस्था के सामान्य लक्षणों के बारे में जान लेते हैं।

गर्भावस्था के सामान्य लक्षण क्या हैं? (Symptoms of Pregnancy)

गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला के शरीर में कई बदलाव आते हैं। जिनके कारण वो प्रेग्नेंसी में कई लक्षणों का सामना करती हैं। अगर आप गर्भवती हैं, तो सबसे पहले डॉक्टर से होने वाले परेशानियों और लक्षणों के बारे में जान लें। इसका सबसे पहला लक्षण है पीरियड्स का मिस होना। अगर किसी के पीरियड मिस हो जाएं, तो उसके बाद उन्हें पहले प्रेग्नेंसी टेस्ट (Pregnancy test) कराना चाहिए। आइए जानें प्रेग्नेंसी के अन्य शुरुआती लक्षणों के बारे में:

  • जी मिचलाना और उल्टी आना (Nausea and vomiting)
  • ब्रेस्ट टेंडरनेस और एंलार्जमेंट (Breast tenderness and enlargement)
  • थकावट (Fatigue)
  • सामान्य से अधिक यूरिन पास (Passing urine more frequently)
  • कुछ खाद्य-पदार्थों के लिए क्रेविंग (Cravings for some foods)

इसके अलावा भी कुछ अन्य लक्षण नजर आ सकते हैं। आज हमारा टॉपिक है प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर न होना (No Breast tenderness in pregnancy)। लेकिन, इससे पहले प्रेग्नेंसी के दौरान ब्रेस्ट चेंजेज (Breast changes) के बारे में थोड़ा जान लेते हैं।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में लो कार्ब डायट बच्चे और मां दोनों के लिए हो सकती है नुकसान दायक, अपनाने से पढ़ लें ये लेख

प्रेग्नेंसी के दौरान ब्रेस्ट चेंजेज (Breast changes during pregnancy)

गर्भवती महिला के हर ट्रायमेस्टर के दौरान ब्रेस्ट में बदलाव होना सामान्य है। ब्रेस्ट में होने वाली समस्याओं को हालांकि कुछ टिप्स से कम किया जा सकता है। लेकिन, यह भी समझना जरूरी है कि इस दौरान हर महिला की ब्रेस्ट में अलग-अलग बदलाव होते हैं। आइए जानें कि ट्रायमेस्टर के अनुसार ब्रेस्ट में बदलाव क्या-क्या हो सकते हैं:

फर्स्ट ट्रायमेस्टर (First trimester)

नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ चाइल्ड हेल्थ एंड ह्यूमन डेवलपमेंट (National Institute of Child Health and Human Development) के अनुसार कन्सेप्शन के बाद पहले एक और दो हफ्तों में महिलाओं की ब्रेस्ट सोर और हैवी रहती है। इसके साथ ही निप्पल्स में भी सेंसिटिविटी और दर्द हो सकती है। ऐसा हॉर्मोन लेवल (Hormone level) के हाय होने और ब्रेस्ट टिश्यू (Breast tissue) तक ब्लड फ्लो तक बढ़ने के कारण होता है। हालांकि, यह समस्याएं कुछ हफ्तों तक रहती हैं और बाद में प्रेग्नेंसी के लेटर स्टेजेज में यह लक्षण फिर से वापस आ सकते हैं। यह ब्रेस्ट चेंजेज (Breast changes) इस प्रकार हैं:

  • एंलार्जमेंट (Enlargement): पहली तिमाही में प्रेग्नेंसी महिला की ब्रेस्ट साइज (Brest size) बढ़ सकता है, खासतौर पर अगर यह उनकी पहले प्रेग्नेंसी हो। कुछ महिलायें इस दौरान खुजली का अनुभव भी कर सकती हैं।
  • ब्लू वेन्स (Blue veins): प्रेग्नेंसी के दौरान ब्लड वॉल्यूम (Blood volume) बढ़ जाता है, इसके कारण ब्रेस्ट और पेट में कई जगहों पर प्रोमिनेन्ट ब्लू वेन्स (Prominent blue veins) दिख सकती हैं। फर्स्ट ट्रायमेस्टर के दौरान ब्रेस्ट सोरनेस (Breast soreness) हो भी सकती हैं, तो इस दौरान प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर न होना (No Breast tenderness in pregnancy) भी कॉमन है।

प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर न होना

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी की फ़र्स्ट ट्राइमेस्टर डायट कर रही हैं प्लान, तो एक बार जरू पढ़ें ये आर्टिकल!

सेकंड ट्रायमेस्टर (Second trimester)

दूसरे ट्राइमेस्टर यानी तीसरे से छठे महीने में प्रेग्नेंट महिला में यह ब्रेस्ट चेंजेज (Breast changes) आ सकते हैं:

हालांकि, यह ब्रेस्ट लम्पस चिंता का कारण नहीं होते हैं। लेकिन, अगर आपको इनमें कोई समस्या हो या यह अधिक विकसित हो जाए, तो डॉक्टर की सलाह अवश्य लें। अब जानते हैं, कुछ महिलाएं प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर न होना (No Breast tenderness in pregnancy) से पहले ब्रेस्ट के तीसरे ट्रायमेस्टर होने वाले बदलावों के बारे में।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में आयोडीन का सेवन है फायदेमंद, लेकिन इसे सही मात्रा में लेना है आवश्यक!

थर्ड ट्रायमेस्टर (Third trimester)

प्रेग्नेंसी के अंतिम महीनों में भी महिलाएं कई ब्रेस्ट चेंजेज (Breast changes) से गुजरती हैं। यह बदलाव इस प्रकार हैं:

यह तो थी जानकारी प्रेग्नेंसी में ब्रेस्ट ग्रोथ के बारे में। अब जानते हैं क्या है प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर न होना (No Breast tenderness in pregnancy) और क्या हैं इसके कारण?

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में टूटे बाल, तो इन प्रोडक्ट्स को अपनाने की दी जा सकती है सलाह!

प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर न होना और क्या हैं इसके कारण? (No Breast tenderness in pregnancy)

होने वाली माताएं अपनी प्रेग्नेंसी को लेकर अक्सर चिंता में रहती हैं। कुछ महिलाओं में प्रेग्नेंसी के लक्षणों की कमी भी परेशानी का कारण हो सकती है। आमतौर पर ब्रेस्ट ग्रोथ (Breast growth) और उसमें दर्द को शुरुआती प्रेग्नेंसी का एक लक्षण माना जाता है। इसका कारण हॉर्मोन्स के बढ़ोतरी को माना जाता है। इसके साथ ही इनके कारणों में फैट का बिल्ड-अप होना और उस जगह पर ब्लड फ्लो (Blood flow) में बढ़ोतरी आदि भी शामिल हैं। लेकिन, क्योंकि हर प्रेग्नेंसी अलग होती है, तो इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि हर गर्भवती महिला में इसके लक्षण भी अलग हो सकते हैं, खासतौर जब बात गर्भावस्था में ब्रेस्ट चेंजेज (Breast changes) के बारे में होती है।

कुछ महिलाएं कन्सेप्शन के कुछ दिनों के बाद ही ब्रेस्ट सोरनेस (Breast soreness) को महसूस करती हैं, जबकी कुछ महिलाएं इसे कुछ हफ्तों के बाद महसूस करना शुरू कर सकती हैं। कुछ महिलाओं के लिए प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर होना जल्दी शुरू हो जाता है और कई महीनों तक रहता है। हालांकि, कुछ महिलाओं में यह अनुभव देरी से शुरू होता है और अधिक समय तक उन्हें यह समस्या नहीं होती है। कुछ होने वाली माताओं के निप्पल अधिक कोमल होते हैं और सामान्य से अधिक बाहर निकल सकते हैं। जबकि कई महिलाएं नोटिस करती हैं कि उनके निप्पल के आसपास का घेरा गहरा, बड़ा और संभवतः धब्बेदार हो गया है। यह सब नार्मल है और ऐसे ही सामान्य है प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर न होना (No Breast tenderness in pregnancy)।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में लो कार्ब डायट बच्चे और मां दोनों के लिए हो सकती है नुकसान दायक, अपनाने से पढ़ लें ये लेख

संक्षेप में कहा जाए तो गर्भावस्था में अधिकतर महिलाएं ब्रेस्ट्स के सोर होने की समस्या का अनुभव करती हैं। लेकिन, ऐसा जरूरी नहीं है कि हर महिला को यह समस्या हो। खासतौर पर अगर यह आपकी दूसरी या तीसरी प्रेग्नेंसी है, तो हो सकता है कि आप प्रेग्नेंसी में ब्रेस्ट के सोर होने की समस्या को महसूस न करें। हर महिला के लिए प्रेग्नेंसी के लक्षण अलग हो सकते हैं। अगर आप प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर न होना इस टॉपिक को लेकर चिंतित हैं, तो अपने डॉक्टर से इस बारे में अवश्य बात करें।

यह तो थी प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर न होना (No Breast tenderness in pregnancy) के बारे में जानकारी। लेकिन, जो महिलाएं इस दौरान ब्रेस्ट चेंजेज (Breast changes) का सामना करती हैं, वो अधिकतर इसे लेकर परेशान रहती हैं। ऐसे में, जानिए कुछ ऐसे उपायों के बारे में, जिनसे आप इन परेशानियों से छुटकारा पा सकते हैं।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में कोलेस्टेसिस मेडिकेशन : लेने से पहले पढ़ लें ये जरूरी खबर! हो सकती है शिशु को तकलीफ..

प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर न होना और ब्रेस्ट सोरनेस से कैसे छुटकारा पाएं? (Relive CHECK SPELL from Brest Soreness)

प्रेग्नेंसी में होने वाले ब्रेस्ट चेंजेज (Breast changes) और अन्य समस्याओं से आप आसानी से छुटकारा पा सकती हैं। इसके लिए आप डॉक्टर से भी बात कर सकती हैं। यह कुछ तरीके इस प्रकार हैं:

  • अगर प्रेग्नेंसी में आपको ब्रेस्ट लीकेज (Breast leakage) की समस्या हो रही है, तो आप ब्रेस्ट पैड्स (Breast Pads) का इस्तेमाल कर सकती हैं।
  • लोशन्स और ऑयल्स के इस्तेमाल से आप स्किन टाइटनेस और खुजली आदि से भी छुटकारा पा सकते हैं। इसके साथ ही स्ट्रेच मार्क्स (Stretch marks) से राहत दिलाने के लिए भी कई उत्पाद बाजार में उपलब्ध हैं।
  • अगर आपकी ब्रेस्ट में लम्पस हैं, तो नियमित रूप से इनकी जांच करें और डॉक्टर से भी राय लें। आमतौर पर यह लम्पस हानिरहित होते हैं।
  • प्रेग्नेंसी में ब्रेस्ट संबंधी समस्याओं (Breast problems) से छुटकारा पाने का सबसे बेहतरीन तरीका है वेल-फिटेड और सपोर्टेड ब्रा का इस्तेमाल करना। प्रेग्नेंसी में ब्रेस्ट प्रॉब्लम्स औरब्रेस्टफीडिंग के लिए भी आपको कई तरह की ब्राज बाजार में मिल जाएगी।

और पढ़ें: इफेक्टिव प्रेग्नेंसी नौसिया प्रोडक्ट्स : प्रेग्नेंसी की इस परेशानी से दिला सकते हैं राहत!

यह तो आप जान ही गए होंगे की ब्रेस्ट सोरनेस (Breast soreness) की तरह प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर न होना (No Breast tenderness in pregnancy) भी बेहद सामान्य है। इसमें चिंता करने वाली कोई बात नहीं है। ब्रेस्ट सोरनेस (Breast soreness) सामान्य है, लेकिन ऐसा जरूरी नहीं कि हर गर्भवती महिला इसका अनुभव करे। हर महिला का शरीर अलग होता है, ऐसे में आप में प्रेग्नेंसी में लक्षण भी अलग नजर आ सकते हैं। अगर इस दौरान आपकी ब्रेस्ट लम्पस (Breast lumps) विकसित हो जाएं या आपके निप्पल असामान्य डिस्चार्ज प्रोड्यूस करें, तो यह चिंता का विषय हो सकता है। गर्भावस्था के लक्षणों से राहत पाने के लिए आपका सही आहार का सेवन करना, नियमित व्यायाम, तनाव से दूर रहना आदि भी शामिल है

अगर प्रेग्नेंसी में स्तन का सोर न होना (No Breast tenderness in pregnancy) इसे लेकर आपके मन में कोई भी सवाल है तो अपने डॉक्टर से अवश्य बात करें और सही राय लें। आप हमारे फेसबुक पेज पर भी अपने सवालों को पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट कुछ हफ्ते पहले को
Sayali Chaudhari के द्वारा मेडिकली रिव्यूड