home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

गर्भावस्था में स्नैक्स से न करें समझौता

गर्भावस्था में स्नैक्स से न करें समझौता

प्रेग्नेंसी… या गर्भधारण किसी भी दंपति के लिए ऐसा अनुभव है जिसे बयां कर पाना थोड़ा मुश्किल होता है। ज्यादातर महिला प्रेग्नेंसी के दौरान अलग-अलग तरह के अनुभव करती हैं। वैसे एक समस्या प्रेग्नेंसी के दौरान सभी महिलाएं महसूस करती हैं, तो वो है मूड स्विंग की समस्या। इस दौरान स्वभाव में बदलाव के साथ-साथ गर्भवती महिला के खाने का स्वाद भी बदलता रहता है। कभी महिलाएं मीठा खाना पसंद करती हैं, तो कभी कुछ चटपटा। वैसे प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को अपने डायट का विशेष ख्याल रखना पड़ता है। देखा जाए तो आजकल ज्यादातर महिलाएं वर्किंग हैं। अब ऐसी स्थिति में लंच और डिनर तो मैनेज हो जाता है लेकिन, स्नैक्स में क्या खाएं यह कुछ महिलाओं के लिए चिंता का विषय बन जाता है। मुंबई की रहने वाली 34 वर्षीय रेखा यादव 11 महीने के एक बच्चे की मां हैं। रेखा से जब हमने गर्भावस्था में स्नैक्स के लिए उन्होनें क्या किया था यह जानना चाहा तो रेख कहती हैं “मैंने हेल्दी डायट तो मेंटेन की थी लेकिन, वर्किंग होने की वजह से अक्सर मुझे स्नैक्स से जुड़ी परेशानी होने लगी की मैं स्नैक्स में क्या खाऊं? ऑफिस में प्रेग्नेंसी के पहले तो मैं कुछ भी खा लेती थी लेकिन प्रेग्नेंसी के दौरान जब यह परेशानी मेरे सामने आई तो मैंने डॉक्टर से संपर्क किया और उन्होंने मुझे गर्भावस्था में स्नैक्स के लिए सुझाव दिया।” इस आर्टिकल में जानेंगे प्रेग्नेंसी में हेल्दी स्नैक्स के लिए क्या किया जा सकता है।

और पढ़ें: क्या प्रेग्नेंसी में वजन उठाने से बचना चाहिए?

कैसा हो गर्भावस्था में स्नैक्स?

गर्भावस्था में स्नैक्स भी हेल्दी होना चाहिए। मैदे वाले खाद्य पदार्थ, जंक फूड या फिर स्ट्रीट फूड का सेवन नहीं करना चाहिए। स्वास्थय विशेषज्ञों के अनुसार निम्नलिखित स्नैक्स का सेवन गर्भवती महिला और गर्भ में पल रहे शिशु के लिए लाभकारी होता है। इनमें शामिल है:-

गर्भावस्था में स्नैक्स टिप्स 1- चटपटे चाट (Chaat in pregnancy):-

गर्भावस्था में स्नैक्स - snacks to eat in pregnancy
चटपटे चाट

फिल्मों में अक्सर दिखाया जाता है की जब शादी शुदा महिला का खट्टा खाने का मन करे तो वह गर्भवती है। अगर आपभी कुछ चटपटा खाना चाहती हैं, तो आप अपने लिए हेल्दी चटपटा चाट बना सकती हैं। चने और राजमा को उबाल कर इसमें कच्चा प्याज, टमाटर और खीरे को मिक्स कर लें। इस चटपटे चाट में प्रोटीन, कैल्शियम और आयरन जैसे अन्य पौष्टिक तत्व शामिल होते हैं। आप इसमें अपने स्वाद अनुसार चाटमसाला मिलाकर खा सकती हैं।

[mc4wp_form id=”183492″]

और पढ़ें: Intermittent Fasting: क्या प्रेग्नेंसी में इंटरमिटेंट फास्टिंग करना सही निर्णय है?

गर्भावस्था में स्नैक्स टिप्स 2: एप्पल विथ पीनट बटर (Apple with Peanut Butter during pregnancy):-

गर्भावस्था में स्नैक्स - snacks to eat in pregnancy
एप्पल विथ पीनट बटर

हमलोग ब्रेड बटर की रोज बात करते हैं और इसका सेवन भी करते हैं लेकिन, गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था में स्नैक्स के रूप में एप्पल विथ पीनट बटर का सेवन करना चाहिए। सेब और पीनट बटर में फाइबर, प्रोटीन और हेल्दी फैट की मौजूदगी गर्भवती महिलाओं के लिए अत्यधिक पौष्टिक खाद्य पदार्थ है। जिस तरह से ब्रेड पर बटर लगाकर कहते हैं ठीक वैसे ही सेब पर पीनट बटर लगाकर उसपर आलमंड (बादाम) या काजू डालकर इसका सेवन किया जा सकता है। आप चाहें तो अपनी पसंदीदा फ्रूट्स जैसे केला या नाशपाती पर भी पीनट बटर लगाकर इसका सेवन कर सकती हैं।

गर्भावस्था में स्नैक्स टिप्स 3: प्रोटीन बार (Protein Bar during pregnancy)

प्रोटीन बार

गर्भवती महिलाओं को अपने साथ प्रोटीन बार जरूर रखना चाहिए। इसे प्रेग्नेंट लेडी अपने पर्स, ऑफिस के ड्रॉवर या अगर आप घर पर हैं तो अपने किचेन में रख सकती हैं। इस बार में फाइबर, प्रोटीन और हेल्दी फैट्स होते हैं। इस तरह के प्रोटीन बार में शुगर की मात्रा बेहद कम होती है या नहीं होती हैं। इस तरह के प्रोटीन बार के सेवन से पहले यह जरूर जान लें की यह सिर्फ जूस से बना हो। सिरप से बने प्रोटीन बार का सेवन नहीं करना चाहिए।

और पढ़ें: गर्भावस्था में नट्स चाहें बादाम हो या काजू, सेहत के लिए बेहतरीन

गर्भावस्था में स्नैक्स टिप्स 4: पॉपकॉर्न और नट्स (Popcorn and Nuts during pregnancy)

पॉपकॉर्न और नट्स

कहते हैं महिलाओं को आराम करने का सबसे सही वक्त प्रेग्नेंसी ही होता है, तो ऐसा नहीं है की आप सिर्फ बिस्तर पर लेटे या सोते ही रहेंगी बल्कि इस दौरान आप आराम करते हुए इंटरटेनमेंट का आनंद भी ले सकती हैं और आप पॉपकॉर्न और बादाम का सेवन कर सकती हैं। इसमें फाइबर की मात्रा मौजूद होती है, जिससे डायजेशन बेहतर रहता है और इसका कोई साइड इफेक्ट भी नहीं पड़ता है। हालांकि अगर आप पॉपकॉर्न खा रहीं हैं, तो इसमें एक्स्ट्रा नमक ऐड या ऊपर से नमक डाल कर न खाएं। पॉपकॉर्न का एक फायदा और है की अगर आप इसे एयर टाइट कंटेनर में बंद करके रखेंगी तो आपकी जब इच्छा हो खाने की तो आप इसे खा सकते हैं।

गर्भावस्था में स्नैक्स टिप्स 5: स्मूदी (Smoothie during pregnancy)

स्मूदी

कई बार हमसभी एक ही तरह के खाने-पीने की चीजों को खाते-खाते बोर हो जाते हैं, तो ऐसा प्रेग्नेंसी में होता है। इसलिए चाय, कॉफी या जूस की जगह स्मूदी का भी सेवन किया जा सकता है। गर्भवती महिला अपनी पसंदीदा फ्रूट्स जैसे स्ट्रॉबेरी, केला, अनार या कोई अन्य फलों का स्मूदी पी सकती हैं। स्मूदी के लिए दूध या दही दोनों में से किसी एक का विकल्प चुना जा सकता है। यह काफी हेल्दी माना जाता है।

और पढ़ें: क्या प्रेग्नेंसी में प्रॉन्स खाना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी के दौरान खाने से जुड़े फैक्ट्स क्या कहते हैं? (Facts about foods during pregnancy)

गर्भावस्था में स्नैक्स के साथ-साथ निम्नलिखित फैक्ट्स को जरूर जानना चाहिए:-

  • गर्भावस्था के दौरान गर्भवती महिला की कैलोरी की मात्रा बढ़ जाती है। वह दो लोगों के लिए नहीं खाती हैं। दरअसल कैलोरी की खपत ज्यादातर गर्भवती महिलाओं के लिए प्रतिदिन कुछ सौ कैलोरी तक बढ़ जाती है।
  • गर्भावस्था के दौरान वजन बढ़ने से परेशान नहीं होना चाहिए। इस दौरान बैलेंस्ड वेट वाली महिलाओं का वजन 11 से 16 किलो तक बढ़ता है। वहीं अगर किसी गर्भवती महिला अंडर वेट है तो उनका वजन ज्यादा बढ़ सकता है। अगर कोई गर्भवती महिला ओवर वेट हैं तो इनका वजन कम बढ़ सकता है।
  • प्रेग्नेंट लेडी को आयरन की मात्रा की ज्यादा आवश्यकता होती है। इसलिए आयरन युक्त आहार का सेवन आवश्यक होता है। आयरन युक्त खाद्य के सेवन से गर्भवती महिला में खून की कमी की समस्या नहीं होती है और गर्भ में पल रहे शिशु को ऑक्सिजन सप्लाई भी ठीक तरह से होता है।

गर्भवती महिलाओं को अपने डायट के साथ-साथ गर्भावस्था में स्नैक्स का भी ख्याल रखना चाहिए। प्रेग्नेंट लेडी को डायट के साथ ही प्रेग्नेंसी के दौरान एक्सरसाइज करें, योग करें या वॉकिंग करें। अगर आप गर्भावस्था में स्नैक्स से जुड़े किसी तरह के कोई सवाल का जवाब जानना चाहते हैं तो विशेषज्ञों से समझना बेहतर होगा। वह आपके लिए बिल्कुल उचित सलाह प्रदान करेंगे।

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Eat Healthy During Pregnancy: Quick tips – https://health.gov/myhealthfinder/topics/pregnancy/nutrition-and-physical-activity/eat-healthy-during-pregnancy-quick-tips /Accessed on 06/04/2020

Pregnancy and diet – https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/pregnancy-and-diet /Accessed on 06/04/2020

PREGNANCY – https://www.nutrition.gov/topics/nutrition-age/adults/women/pregnancy /Accessed on 06/04/2020

A Study of Snack Consumption, Night-Eating Habits, and Nutrient Intake in Gestational Diabetes Mellitus/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3572811/Accessed on 06/04/2020

Frequency of eating during pregnancy and its effect on preterm delivery./https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/11282791/Accessed on 06/04/2020

लेखक की तस्वीर badge
Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 14/07/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड