home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Pregnancy 21st Week : प्रेग्नेंसी वीक 21, जानिए लक्षण, शारीरिक बदलाव और सावधानियां

प्रेग्नेंसी वीक 21 में गर्भस्थ शिशु का विकास|प्रेग्नेंसी वीक 21 में शारीरिक और दैनिक जीवन में परिवर्तन|प्रेग्नेंसी वीक 21 में डॉक्टरी सलाह|प्रेग्नेंसी वीक 21 में स्वास्थ्य और सुरक्षा
Pregnancy 21st Week : प्रेग्नेंसी वीक 21, जानिए लक्षण, शारीरिक बदलाव और सावधानियां

प्रेग्नेंसी वीक 21 में गर्भस्थ शिशु का विकास

प्रेग्नेंसी वीक 21 में मेरे शिशु का विकास कैसा है? (Pregnancy Week 21)

प्रेग्नेंसी वीक 21 के दौरान आपके शिशु की लंबाई करीब 26.7 सेंटीमीटर और वजन 360 ग्राम के आसपास होता है। गर्भावस्था के 21 हफ्ते (प्रेग्नेंसी वीक 21) होने के दौरान गर्भ में शिशु की आंतें लिक्विड शुगर की थोड़ी मात्रा सोखने लायक विकसित हो चुकी होती हैं। हालांकि, शिशु को अधिकतर पोषण प्लासेंटा के द्वारा ही दिया जाता है।

प्रेग्नेंसी वीक 21 में आपके शिशु के स्प्लीन और लिवर ब्लड सेल्स का उत्पादन शुरू कर देते हैं। प्रेग्नेंसी के नौवे महीने तक और शिशु के जन्म तक ब्लड सेल्स के मुख्य उत्पादक ये अंग ही रहते हैं। प्रेग्नेंसी वीक 21 तक बोन मैरो भी ब्लड सेल्स के उत्पादन में मुख्य भूमिका निभाने के योग्य हो जाती है। प्रेग्नेंसी वीक 30 से पैंक्रियाज ब्लड सेल्स का उत्पादन करना बंद कर देता है, जबकि लिवर जन्मम से कुछ हफ्ते पहले ब्लड सेल्स का उत्पादन बंद कर देता है।

प्रेग्नेंसी वीक 21 के आते-आते शिशु के सुनने की क्षमता विकसित हो जाती है और वह निगलना व गर्भ में घूमना सीख लेता है। शिशु के हलचल करने से आपको पेट के निचले हिस्से में सेंसेशन हो सकती हैं। इसे क्विकनिंग (quickening)कहते हैं। प्रेग्नेंसी वीक 21 के दौरान आपके शिशु का वजन प्लासेंटा से ज्यादा हो जाता है। इस समय भी प्लासेंटा का वजन बढ़ता रहता है, लेकिन शिशु का वजन उसके मुकाबले ज्यादा तेजी से बढ़ता है। लानूगो इस समय भी आपके शिशु के लिए सुरक्षात्मक परत के रूप में काम करता है।

और पढ़ें- गर्भवती होने के लिए तैयारी कर रहीं हैं, तो फॉलो करें ये टिप्स

प्रेग्नेंसी वीक 21 में शारीरिक और दैनिक जीवन में परिवर्तन

प्रेग्नेंसी वीक 21 के दौरान मेरे शरीर में क्या-क्या बदलाव होते हैं?

प्रेग्नेंसी वीक 21 के समय आप पहले के मुकाबले ज्यादा आरामदायक महसूस कर सकती हैं। क्योंकि, प्रेग्नेंसी के शुरुआती परेशान करने वाले लक्षणों से राहत मिल जाती है। हालांकि, अभी आपको कुछ और दिक्कतें हो सकती हैं। जैसे- आपके लिए इस समय मुंह के मुंहासें बड़ी वजह हो सकती है। शरीर में ज्यादा ऑइल प्रोडक्शन की वजह से मुंहासें निकलने लगते हैं। मुंहासों को कम करने के लिए आपको मुंहासों वाली जगह को माइल्ड सोप या क्लिंजर से दिन में दो बार धोना चाहिए। इसके साथ ही सुनिश्चित करें कि आप जो मेकअप या मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल कर रही हैं, उसमें तेल की मात्रा न हो। डॉक्टर से पूछे बिना मुंहासें दूर करने के लिए किसी दवा या प्रोडक्ट का इस्तेमाल न करें, क्योंकि इससे आपके स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है।

प्रेग्नेंसी वीक 21 के आसपास आपको वैरीकोज वेन की समस्या हो सकती है। शिशु का विकास होने से आपके पैरों की नसों पर प्रेशर पड़ता है और प्रोजेस्ट्रोन की उच्च मात्रा से नसें कमजोर होने लगती हैं। इसके अलावा, अगर आपकी फैमिली में पहले भी किसी को वैरीकोज वेन की समस्या हुई है, तो आपको इसके होने का ज्यादा खतरा हो सकता है। इसके साथ ही अगर आपकी उम्र ज्यादा है या आप लगातार दूसरी बार प्रेग्नेंट हो रही हैं, तो आपकी वैरीकोज वेन की समस्या गंभीर हो सकती है। इस समस्या से राहत पाने के लिए आपको रोजाना एक्सरसाइज करनी चाहिए और अपनी बाईं तरफ सोना चाहिए।

और पढ़ें- क्या प्रेग्नेंसी में चॉकलेट खाना सेफ है?

प्रेग्नेंसी वीक 21 के दौरान आपको स्पाइडर वेन की समस्या भी हो सकती है। इस समस्या में खासतौर पर पैरों, चेहरे और टखनों की त्वचा पर रक्त वाहिकाओं का छोटा समूह दिखने लगता है। हालांकि, डिलीवरी के बाद यह खुद ठीक हो जाती हैं।

प्रेग्नेंसी वीक 21 में मुझे किन बातों का ध्यान रखना चाहिए?

डिलीवरी के बाद बच्चों की परवरिश और देखभाल में समय का पता भी नहीं चलता। इसलिए आप प्रेग्नेंसी वीक 21 में अपने अनुभव और विचारों को डायरी में लिखकर, रिकॉर्ड करके या फोटो लेकर आप इस अनुभव को हमेशा के लिए अपने साथ संजोय सकती हैं। इसके अलावा, इस समय आपको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है। यह आपका समय और इस समय का पूरी तरह आनंद लें।

[mc4wp_form id=”183492″]

और पढ़ें- शिशु के लिए किस तरह का डायपर है बेस्ट ?

प्रेग्नेंसी वीक 21 में डॉक्टरी सलाह

प्रेग्नेंसी वीक 21 में मुझे डॉक्टर को क्या-क्या बताना चाहिए?

हालांकि, प्रेग्नेंसी वीक 21 डिलीवरी से काफी दूर है, फिर भी आपके स्तन स्तनपान के लिए खुद को तैयार कर रहे होते हैं और जिसकी वजह से दूध नलिकाएं भरने लगती हैं। प्रेग्नेंसी के शुरुआती दिनों में स्तनों में गांठ बनना, लाल होना और मुलायम होना आम बात है। अपनी दूध नलिकाओं को साफ करने के लिए आप उनपर हल्के हाथ से मसाज करें, ताकि स्तनपान कराते हुए चिंता की कोई बात न हो। वायरलेस मैटर्निटी ब्रा का इस्तेमाल करें, जो कि न सिर्फ सुविधाजनक होती हैं, बल्कि सही सपोर्ट भी देती हैं। याद रखें कि हर महीने ब्रेस्ट की सेल्फ-एग्जामिनेशन गांठों से बचाव के लिए बहुत जरूरी है। हालांकि, प्रेग्नेंसी के कारण स्तनों में बदलाव से ट्यूमर की जांच करना इस समय मुश्किल होता है, लेकिन फिर भी यह जांच बहुत जरूरी है।

और पढ़ें- प्रेग्नेंसी के दौरान काम कर रही हैं तो ध्यान रखें ये बातें

प्रेग्नेंसी वीक 21 के दौरान मुझे किन टेस्ट्स के बारे में पता होना चाहिए?

प्रेग्नेंसी वीक 21 के दौरान डॉक्टर के पास नियमित रूप से जाना चाहिए। आप डॉक्टर से इन टेस्ट्स के बारे में पूछ सकते हैं।

  • वजन और ब्लड प्रेशर की जांच
  • यूरीन में ग्लूकोज और प्रोटीन की जांच
  • शिशु की हृदय गति की जांच
  • बाहर से यूट्रस के आकार की जांच
  • हाथों और पैरों पर सूजन की जांच
  • आपके द्वारा अनुभव किए जा रहे गर्भावस्था के असामान्य लक्षणों की जांच

और पढ़ें- Pregnancy 26th Week : प्रेग्नेंसी वीक 26, जानिए लक्षण, शारीरिक बदलाव और सावधानियां

प्रेग्नेंसी वीक 21 में स्वास्थ्य और सुरक्षा

प्रेग्नेंसी वीक 21 के दौरान मुझे स्वास्थ्य और सुरक्षा से जुड़ी किन बातों के बारे में पता होना चाहिए?

कैफीन और स्वीटनर्स

प्रेग्नेंसी वीक 21 के दौरान आप तबतक डाइट सोडा का सेवन कर सकते हैं, जबतक कि आपकी कैफीन की दैनिक जरूरत का स्तर पार नहीं होता। आपको प्रतिदिन 200एमजी कैफीन से ज्यादा का सेवन नहीं करना चाहिए। ड्रिंक्स में स्वीटनर्स का इस्तेमाल सुरक्षित नहीं है, इसलिए उससे दूरी बनाकर रखें। अगर आपको स्वीटनर्स वाली ड्रिंक्स का सेवन पसंद भी है, तो आपको दिन में सिर्फ एक या दो कैन से ज्यादा का सेवन नहीं करना चाहिए। लेकिन, इसके साथ ध्यान रखें कि आप पर्याप्त मात्रा में पानी, दूध और फलों का जूस का सेवन करें। क्योंकि, आपके और आपके शिशु के लिए पानी और पोषण का सेवन बहुत जरूरी है।

लिवर युक्त खाद्य पदार्थ

जानवरों के लिवर को हेल्दी माना जाता है, क्योंकि इसमें विटामिन, मिनरल और प्रोटीन उच्च मात्रा में होते हैं। इसमें विटामिन ए भी काफी उच्च मात्रा में होता है, जो कि अभी तक इंटेरोटिनॉल (intoretinol) में परिवर्तित नहीं हुआ होता। विटामिन ए का यह प्रकार अंडे के अंदर व दूध और लिवर में ही मिलता है। हालांकि, ध्यान रखें कि विटामिन ए की ज्यादा मात्रा का सेवन खासतौर से प्रेग्नेंसी के शुरुआती महीनों में शिशु में जन्मजात विकृतियों का कारण बन सकता है। इसलिए, हर दिन लिवर का सेवन करने से बचें और महीने में एक या दो बार ही इसका सेवन करें।

अगले आर्टिकल में हम प्रेग्नेंसी वीक 22 के बारे में बात करेंगे।

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Stages of pregnancy – https://www.womenshealth.gov/pregnancy/youre-pregnant-now-what/stages-pregnancy  – Accessed on 24/12/2019

What happens in the fourth month of pregnancy? – https://www.plannedparenthood.org/learn/pregnancy/pregnancy-month-by-month/what-happens-fourth-month-pregnancy – Accessed on 24/12/2019

What happens in the sixth month of pregnancy? – https://www.plannedparenthood.org/learn/pregnancy/pregnancy-month-by-month/what-happens-sixth-month-pregnancy – Accessed on 24/12/2019

Pregnancy and Fetal Development – https://www.emedicinehealth.com/image-gallery/second_trimester_16_weeks_picture/images.htm – Accessed on 24/12/2019

Pregnancy and Fetal Development – https://www.emedicinehealth.com/image-gallery/second_trimester_20_weeks_picture/images.htm – Accessed on 24/12/2019

Stages of pregnancy – https://www.bupa.co.uk/health-information/pregnancy/stages-of-pregnancy – Accessed on 24/12/2019

Pregnancy – week by week – https://www.betterhealth.vic.gov.au/health/healthyliving/pregnancy-week-by-week – Accessed on 24/12/2019

Fetal development – https://medlineplus.gov/ency/article/002398.htm – Accessed on 24/12/2019

लेखक की तस्वीर badge
Aamir Khan द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 10/07/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड