कैफीन के फायदे : कैफीन के 7 गुण जो स्वास्थ्य परेशानियों करें दूर

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अक्टूबर 13, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

कैफीन (Caffeine) लोगो को एक्टिव रखने दुनिया में सबसे अधिक इस्तेमाल होने वाला पदार्थ है। हर दिन, लाखों लोग इसका सेवन थकान को कम करने और एकाग्रता को बढ़ाने के लिए करते हैं। हालांकि, इसका अधिक सेवन स्वास्थ्य के लिए हानिकारक हो सकता है। पर कैफीन आज के चलन में बहुत ही प्रचलित पेय बन चूका है, जिसके ढेरों स्वास्थ्य लाभ आपकी रोजमर्रा की परेशानियों को दूर कर सकते हैं। 

कैफीन (Caffeine) क्या है?

कैफीन एक प्राकृतिक उत्तेजक है जो आमतौर पर चाय, कॉफी और कोकोआ के पौधों में पाया जाता है। यह मस्तिष्क और केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को उत्तेजित करके काम करती है। इससे आपको सतर्क रहने और थकान को रोकने में मदद मिलती है। चाय को सबसे पहले 2737 बीसी में पीया गया था। वहीं कॉफी की खोज बहुत सालों के बाद एक इथियोपिया के एक चरवाहे न की थी। उसने देखा कि उसकी बकरियों को कॉफी दी जाने से वे अतिरिक्त एनर्जेटिक रहती हैं। आज के समय में 80% लोग कैफीन युक्त प्रोडक्ट्स का हर दिन सेवन करते हैं।

और पढ़ें : शरीर पर कैफीन का असर : जानें कब, कितना है फायदेमंद और नुकसानदायक

कैसे काम करती है कैफीन (Caffeine)?

कैफीन का एक बार सेवन करने के बाद वह सीधे आंत से रक्तप्रवाह में अवशोषित हो जाती है। वहां से यह कंपाउंड्स में टूट जाती है जो विभिन्न अंगों के कार्य को प्रभावित करती है। इसका सबसे ज्यादा असर दिमाग पर पड़ता है। यह एडेनोसिन के प्रभाव को अवरुद्ध करके कार्य करती है, जो एक न्यूरोट्रांसमीटर है। यह मस्तिष्क को आराम देता है और आपको थका हुआ महसूस कराता है। आमतौर पर एडेनोसिन का स्तर दिन भर में बढ़ता है, जिससे आप थकान महसूस करते हैं और आपका सोने का मन करता है। यह आपको सक्रिय किए बिना मस्तिष्क में एडेनोसिन रिसेप्टर्स से जुड़कर जगाते रहने में मदद करता है। यह एडेनोसिन के प्रभावों को रोकता है जिससे थकान कम होती है।

यह रक्त में एड्रेनालाईन के स्तर को बढ़ाता है और साथ ही न्यूरोट्रांसमीटर डोपामाइन और नॉरपेनेफ्रिन की मस्तिष्क गतिविधि को भी बढ़ा सकता है। जैसे अघर आप एक कप कॉफी पीते हैं तो ये ब्लडस्ट्रीम तक पहुंचने में 20 मिनट लेती है और असर करने में लगभग एक घंटा।

कैफीन के फायदे

कैफीन के फायदे कई हैं। हालांकि, विशेषज्ञों द्वारा अभी भी बहुत से लाभों पर शोध चल रहा है। यहाँ बताए गए लाभों का फायदा उठाने से पहले अपने डॉक्टर का परामर्श जरूर लें।

कैफीन के फायदे एकाग्रता और सतर्कता बढ़ाए (Increases concentration and alertness)

36प्रतिभागियों पर किए गए एक अध्ययन में यह पाया गया कि कैफीन की मात्रा के हिसाब से किसी के ध्यान और सतर्कता का स्तर बदल सकता है। इस अध्ययन में जब उन प्रतिभागियों को कैफीन प्रोडक्ट्स पिलाएं गए, जो पहले कभी कैफीन नहीं लेते थे तब उनके दिमाग के कार्यों में अधिक वृद्धि हुई। यह शोध इस बात को दर्शाता है कि, कैफीन के सेवन से एकाग्रता को बढ़ावा मिलता है। 

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी में सेक्स, कैफीन और चीज को लेकर महिलाएं रहती हैं कंफ्यूज

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

शरीर में बढ़ाए कैफीन के फायदे (Increases strength in the body)

रनिंग स्प्रिंट, स्विमिंग स्प्रिंट या जंपिंग जैसी एनारोबिक एक्सरसाइज करने वालों के लिए कैफीन बहुत ही मददगार होती है। 16 प्रशिक्षित युवा पुरुषों पर किए गए एक अध्ययन में यह बात पता चली कि इसका सही मात्रा में सेवन करने से उनके ऊपरी और निचले शरीर की मांसपेशियों की ताकत में सुधार आया। इसके उपयोग से शरीर में थकान-विरोधी तत्व घटते हैं और शारीरिक शक्ति बढ़ती है।

वजन संतुलित रखे कैफीन के फायदे (Prevents weight gain)

कैफीन को सही मात्रा में लिए जाने पर फैट बर्न के लिए बहुत मददगार साबित होता है। यह आपके शरीर की एनर्जी का उपयोग मेटाबॉलिज्म को सुधारने में लगा देता है, जिससे बढ़ते वजन को रोकने में मदद मिलती है

और पढ़ें : असामान्य तरीके से वजन का बढ़ना संकेत है कमजोर मेटाबॉलिज्म का

मूड में करता है सुधार (Improves mood)

आंकड़ों के अनुसार कुछ लोगों के लिए, 200से 250मिली ग्राम कैफीन उनके मूड में विशिष्ट समय तक सुधार ला सकता है। एक बड़े ही रोचक अध्ययन में, जिसमें 43,599पुरुष और 164,825 महिलाएं थी, यह बात सामने आयी कि कैफीनयुक्त कॉफी का सेवन करने वाले लोगों में आत्महत्या का दर कम था। 

 मेमोरी होती है शार्प (Improves memory)

कैफीन मस्तिष्क में एडेनोसाइन रिसेप्टर्स को प्रभावित करता है। कॉफी में पॉलीफेनोल एंटीऑक्सिडेंट भी होते हैं, और ये भी, विभिन्न मार्गों पर कार्य करते हैं, जिससे मेमोरी तेज होने में मदद मिलती है।

डिमेंशिया और अल्जाइमर रोग का खतरा कम होता है (Dementia and Alzheimer disease)

 1,400लोगों के लंबे रिसर्च में, मिडलाइफ में प्रति दिन 3से 5कप कॉफी पीने से उनके बुजुर्गों के जीवन दौरान डिमेंशिया या अल्जाइमर की परेशानी में 65%की कमी हो सकती है। एक एनालिसिस में पता चला है की, कॉफी का ब्रेन फंक्शन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। मध्यम कैफीनयुक्त कॉफी का उपभोग (लगभग 4कप) ने डिमेंशिया और अल्जाइमर के बाद के जीवन में परेशानी को कम कर दिया। हालांकि, कैफीनयुक्त चाय का डिमेंशिया या अल्जाइमर के जोखिम पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता।

और पढ़ें : Caffeine : कैफीन क्या है और क्या है कैफीन के फायदे ?

 डिप्रेशन से लड़ सकते हैं (Fights with depression)

अवसाद एक गंभीर मानसिक विकार है जो जीवन की गुणवत्ता को काफी कम कर देता है। यह बहुत आम है, क्योंकि अमेरिका में लगभग 4:1%लोग वर्तमान में क्लिनिकल डिप्रेशन के नॉर्म्स को पूरा करते हैं। 2011 में प्रकाशित हार्वर्ड के एक अध्ययन में, जो महिलाएं प्रति दिन4 या अधिक कप कॉफी पीती थीं, उनके डिप्रेशन ग्रस्त होने का 20% कम जोखिम था।

एक्सरसाइज करने के लिए एक्टिव बनाता है (Enhance Exercise Performance)

जब बात एक्सरसाइज की हो तो कैफीन को ईंधन की तरह इस्तेमाल किया जाता है। यह मांसपेशियों में संग्रहित ग्लूकोज को लंबे समय तक बनाए रखने में मदद करता है, जिससे मांसपेशियों को थकावट तक पहुंचने में लगने वाले समय में देरी होती है। कैफीन मांसपेशियों के संकुचन में सुधार भी करने में मददगार है।

किन चीजों में होता है कैफीन?

कैफीन कुछ पौधों के बीज, नट और पत्तियों में पाया जाता है। इन प्राकृतिक स्त्रोतों को कैफीनयुक्त खाद्य पदार्थ में प्रोसेस्ट करने के लिए काटा जाता है। निम्नलिखित पेय पदार्थों में कैफीन पाया जाता है:
एस्प्रेसो (Espresso): 240-720 मिलीग्राम
कॉफी (Coffee): 102-200 मिलीग्राम
एनर्जी ड्रिंक(Energy drinks): 50-160 मिलीग्राम
डिकैफिनेटेड कॉफी (Decaffeinated coffee): 3–12 मिलीग्राम
कोको पेय (Cocoa Beverage): 2-7 मिलीग्राम
चॉकलेट मिल्क(Chocolate milk): 2-7 मिलीग्राम
टी (Brewed Tea): 40–120 मिलीग्राम
सॉफ्ट ड्रिंक(Soft drink): 20–40 मिलीग्राम

कैफीन के फायदे जानने और उसका उपयोग करने से जुड़ा अगर आपका कोई सवाल है, को इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से जानकारी ले सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

लॉकडाउन में आप भी तो नहीं पी रहे ज्यादा चाय और कॉफी, कितने बड़े हैं नुकसान?

लॉकडाउन में लोग चाय और कॉफी का इनटेक अत्यधिक मात्रा में कर रहे हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं चाय और कॉफी की लत आपकी सेहत पर कितना बुरा असर कर रही है।

के द्वारा लिखा गया Mona narang
आहार और पोषण, स्वस्थ जीवन मई 15, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

क्या सच में कैफीन ब्लड प्रेशर बढ़ाने में सहायक होती है?

कैफीन और ब्लड प्रेशर में क्या संबंध है? क्या कैफीन ब्लड प्रेशर को प्रभावित करता है? कैफीन और ब्लड प्रेशर से बचाव के लिए क्या किया जा सकता है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Hema Dhoulakhandi
हाइपरटेंशन, हेल्थ सेंटर्स अप्रैल 24, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

लो बीपी कंट्रोल के उपाय अपनाकर देखें, मिलेगी राहत

लो बीपी कंट्रोल करने के उपाय अपनाकर लो बीपी की समस्या से बचा जा सकता है। लो बीपी की समस्या के कारण शरीर को गंभीर नुकसान भी हो सकते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन अप्रैल 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Esophageal Stricture : एसोफेगल स्ट्रिक्चर क्या है?

जानिए एसोफेगल स्ट्रिक्चर क्या है in hindi, एसोफेगल स्ट्रिक्चर के कारण, जोखिम और उपचार क्या है, Esophageal Stricture को ठीक करने के लिए आप इस तरह के घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Anoop Singh
हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z अप्रैल 10, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

D Cold Total, डी कोल्ड टोटल

D Cold Total: डी कोल्ड टोटल क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ जून 30, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
रीठा - Reetha

रीठा के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Reetha (Indian Soapberry)

के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ जून 5, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
फालसा - Phalsa

फालसा के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Phalsa (Grewia Asiatica)

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ जून 5, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
प्रेग्नेंसी में चाय या कॉफी का सेवन करना चाहिए या नहीं

प्रेगनेंसी में कॉफी पीना फायदेमंद या नुकसानदेह?

के द्वारा लिखा गया Shivam Rohatgi
प्रकाशित हुआ मई 19, 2020 . 3 मिनट में पढ़ें