home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

मेटाबॉलिज्म क्या है और जानिए कौन से फैक्टर्स उसे करते हैं प्रभावित

मेटाबॉलिज्म क्या है और जानिए कौन से फैक्टर्स उसे करते हैं प्रभावित

मेटाबॉलिज्म यानी चयापचय, वह प्रक्रिया है जो शरीर के खानपान को ऊर्जा में बदलने का कार्य करता है। यह बॉडी में होने वाली एक रासायनिक प्रक्रिया होती है। मेटाबॉलिज्म शरीर की कोशिकाओं में होने वाली रासायनिक प्रतिक्रिया है जो भोजन को ऊर्जा में बदलता है। यहां तक ​​कि जब आप आराम कर रहे होते हैं या सो रहे हैं तो, तब भी यह हमारे शरीर को अपने सभी कार्यों के लिए ऊर्जा की आवश्यकता होती है, जैसे कि सांस लेना, रक्त संचार करना, हार्मोन के स्तर को बनाएं रखना और कोशिकाओं को बढ़ाना और मरम्मत करना। इन बुनियादी कार्यों को करने के लिए हमारे शरीर के जरिए इस्तेमाल की जाने वाली कैलोरी की संख्या को ही ‘चयापचय’ कहा जा सकता है। हालांकि, ऐसे कई फैक्टर्स हो सकते हैं, तो मेटाबॉलिज्म और उसके कार्य करने की क्षमता को प्रभावित कर सकते हैं।

और पढ़ें : जानें दौड़ने से सेहत को होने वाले फायदे और इस दौरान बरती जाने वाली सावधानियां

मेटाबॉलिज्म को प्रभावित करने वाले फैक्टर्स क्या हो सकते हैं?

मेटाबॉलिज्म को प्रभावित करने वाले फैक्टर्स निम्न हो सकते हैं, जिसमें शामिल हो सकते हैंः

शरीर की संरचना और आकार

जो लोग आकार में बड़े यानी जिनका शरीर सामान्य से अधिक चौड़ा होता है, उनके शरीर में मांसपेशियां भी अधिक होती है। ऐसे में उनका शरीर आराम करने की स्थिति में भी अधिक कैलोरी बर्न कर सकता है। जो मेटाबॉलिज्म को प्रभावित करने में मुख्य माने जा सकते हैं।

सेक्स (लिंग)

शारीरिक तौर पर महिला या पुरुष होना भी मेटाबॉलिज्म को प्रभावित कर सकता है। आमतौर पर महिलाओं की तुलना में पुरुषों के शरीर में चर्बी कम होती है, हालांकि उनमें महिलाओं की तुलना में मांसपेशियां अधिक होती हैं। जिसका सीधा मतलब है कि एक महिला के मुकाबले पुरुष अधिक कैलोरी बर्न कर सकते हैं।

उम्र

जैसे-जैसे आपकी उम्र बढ़ती हैं, आपकी मांसपेशियों का आकार घटने लगता है और आपके शरीर में ऊर्जा के रूप में इस्तेमाल होने वाली फैट जमा होने लगती है।

इसके अलावा, हमारे शरीर में ऐसी दो प्रक्रियाएं भी होती है, तो चयापचय की दर को निर्धारित करती है।

और पढ़ें : राइट ब्रीदिंग हैबिट्स तनाव दूर करने से लेकर दे सकती हैं लंबी उम्र तक

चयापचय की दो प्रक्रियाएं

हमारा मेटाबॉलिज्म (चयापचय) एक उलझी हुई प्रक्रिया मानी जा सकती है, जिसे आसानी से समझने के लिए हम इसे दो भागों में रख सकते हैं। इनमें से प्रत्येक हिस्सा शरीर द्वारा सावधानीपूर्वक चलाया जाता है, जो यह सुनिश्चित करने में मदद करते हैं कि यह संतुलन में बना रहे, जिसमें शामिल हैः

अपचय (Catabolism)

हम जो भी खाते हैं उसके घटकों (जैसे कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन और आहार वसा) का उनके सरल रूपों में टूटने की प्रक्रिया को हम अपचय कह सकते हैं। यह ऊर्जा, विकास और शरीर की मरम्मत के लिए आवश्यक बुनियादी अंगों के लिए होती है।

उपचय (Anabolism)

उपचय चयापचय का वह भाग होता है जिसमें हमारा शरीर नई कोशिकाएं निर्मित करता है या उनकी मरम्मत करता है। उपचय में ऊर्जा की आवश्यकता होती है जो सामान्य सी बात है हमारे द्वारा खाए गए भोजन से इसे मिलती है। जब हम दैनिक उपचय के लिए जरूरत से ज्यादा खाते हैं, तो बचा हुए अतिरिक्त पोषक तत्व हमारे शरीर में आमतौर पर वसा के रूप में जमा हो जाता है। जो ज्यादा होने पर मोटापे का भी कारण हो सकता है।

और पढ़ें : जानें क्यों झुककर लगाना चाहिए झाड़ू, पोछा लगाने के फायदे भी हैं कई फायदे

मेटाबॉलिज्म की दर को मेंटन करने में शरीर की भूमिका

अभी तक हमने जाना कि मेटाबॉलिज्म क्या है और शरीर के कौन से फैक्टर इसे प्रभावित कर सकते हैं। हालांकि, इसके अलावा भी ऐसी कई शारीरिक गतिविधियां हो सकती हैं, जो इसके दर को मेंटन करने या इसे घटाने-बढ़ाने में भी अहम भूमिका बढ़ा सकती हैं। जिसके बारे में हम आगे पढ़ेंगे।

फूड प्रोसेसिंग (थर्मोजेनेसिस)

आपके द्वारा खाए गए भोजन को पचाना, अवशोषित करना, परिवहन करना और संग्रहित करना इन जैसे कार्यों में भी शरीर की कैलोरी बर्न होती है। आपके द्वारा खाए जाने वाले कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन से लगभग 10 प्रतिशत कैलोरी, आपके शरीर के भोजन और पोषक तत्वों के पाचन और अवशोषण के लिए उपयोग की जाती है।

शारीरिक गतिविधि और व्यायाम

दैनिक तौर पर आप किस तरह की शारीरिक गतिविधि और व्यायाम करते हैं यह भी आपके मेटाबॉलिज्म के लिए काफी खास हो सकता है। टेनिस खेलना, चलना, दौड़ना जैसे कार्यों में शरीर के अन्य हिस्सों के साथ-साथ ब्रेन भी काफी एक्टिव रह सकता है। जो कैलोरी बर्न करने का कार्य कर सकती है।

और पढ़ें : मोटापा और ब्लड प्रेशर के बीच क्या रिश्ता होता है?

शारीरिक गतिविधि और चयापचय का संबंध

आपके मेटाबॉलिज्म की गति पर आपका बहुत अधिक नियंत्रण नहीं हो सकता है। हालांकि, आप अपने शारीरिक गतिविधि के माध्यम से कितनी कैलोरी बर्न कर सकते हैं आप इसका बस एक अनुमान ही लगा सकते हैं। आप जितने सक्रिय रहेंगे, उतनी ही अधिक कैलोरी बर्न कर सकते हैं। वास्तव में, कुछ लोग जिनके बारे में कहा जाता है कि उनमें तेज चयापचय होता है, वे शायद अधिक सक्रिय होते हैं।

और पढ़ें : थुलथुली बांहों को टोन करने के लिए करें ईजी आर्म्स एक्सरसाइज

मुझे मेटाबॉलिज्म की दर क्यों मेंटेन रखनी चाहिए?

अगर शरीर का मेटाबॉलिज्म ठीक नहीं रहेगा, तो आप बहुत जल्दी थकान महसूस कर सकते हैं, आपको हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या हो सकती है, आपकी मांसपेशियों में कमजोरी आ सकती है, ड्राय स्किन की समस्या हो सकती है, आपका तेजी से वजन बढ़ सकता है, जोड़ों में सूजन की समस्या हो सकती है यहां तक कि आपको डिप्रेशन से लेकर दिल से जुड़ी बीमारियां भी हो सकती है। जिससे बचाव करने के लिए यह जरूरी हो जाता है कि आपके मेटाबॉलिज्म की दर ठीक हो। आप अपने शरीर के मेटाबॉलिज्म को सही बनाए रखने के लिए कुछ बातों का भी ध्यान रख सकते हैं।

और पढ़ें : योगा या जिम शरीर के लिए कौन सी एक्सरसाइज थेरिपी है बेस्ट

अधिक कैलोरी बर्न करने के लिए क्या किया जा सकता है?

अधिक कैलोरी बर्न करने के लिए आप निम्न शारीरिक गतिविधियां फॉलो कर सकते हैं, जिसमें शामिल हो सकते हैंः

हर दिन एरोबिक एक्सरसाइज करना

एरोबिक व्यायाम कैलोरी को बर्न करने का सबसे प्रभावी तरीका माना जा सकता है। इस एक्सरसाइज में चलना, साइकिल, चलाना और तैराकी करने जैसी गतिविधियां हम शामिल कर सकते हैं। अपनी दिनचर्या में कम से कम 30 मिनट की शारीरिक गतिविधि शामिल करें।

स्ट्रेंथ ट्रेनिंग

विशेषज्ञ कम से कम सप्ताह में दो बार वेट लिफ्टिंग जैसे स्ट्रेंथ ट्रेनिंग की सलाह देते हैं। स्ट्रेंथ ट्रेनिंग महत्वपूर्ण है क्योंकि यह उम्र बढ़ने के साथ जुड़े मांसपेशियों के नुकसान से रोकने में मदद कर सकता है। चूंकि मांसपेशियों के ऊतकों में वसा ऊतक की तुलना में अधिक कैलोरी बर्न होती है, मांसपेशियों का वजन घटाने में एक महत्वपूर्ण फैक्टर होता है।

जीवनशैली की गतिविधियां

आपको हर दिन कुछ दूरी के लिए पैदल चलने की आदत शुरू करनी चाहिए। अपने पैदल चलने की दूरी को हर दिन थोड़ा-थोड़ा बढ़ा सकते हैं। इसके बाद आप अपनी इस शारीरिक गतिविधि से हो रहे बदलाव को अपने पहले के स्वास्थ्य से तुलना भी कर सकते हैं। हर दिन चलने के लिए आपके पास समय नहीं है, तो छोटी-मोटी बातों का भी ध्यान रख सकते हैं, जैसे लिफ्ट की जगह सीढ़ियों का इस्तेमाल करना, थोड़ी दूर के सफल के लिए पैदल चलना आदि।

डायट पर भी दें ध्यान

आप अपने मेटाबॉलिज्म को बेहतर बनाने के लिए अपनी डायट में भी जरूरी बदलाव ला सकते हैं। जिसमें आप निम्न चीजों को शामिल कर सकते हैंः

  • प्रोटीन से भरपूर खाद्य पदार्थ
  • चिली पेपर
  • फलियां और दालें
  • ऐपल साइडर विनिगर
  • कोकोनट ऑयल (नारियल तेल)
  • हरी सब्जियां
  • विटमिन सी
  • ग्रीन टी

इस बात का ध्यान रखें कि मेटाबॉलिज्म और इससे जुड़े फैक्टर्स आपके शारीरिक वजन और अच्छे स्वास्थ्य को काफी हद तक प्रभावित कर सकते हैं। शारीरिक तौर पर अपना खुद को जितना एक्टिव रखेंगे और जितनी हेल्दी डायट फॉलो करेंगे, इसका दर उतना ही संतुलित बना रह सकता है।

अगर इससे जुड़ा आपको कोई सवाल है, तो इस बारे में अधिक जानकारी के लिए आप अपने डॉक्टर से परामर्श कर सकते हैं।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
Metabolism. https://www.healthdirect.gov.au/metabolism. Accessed on 02 November, 2020.

FACTORS AFFECTING BASAL METABOLISM https://jamanetwork.com/journals/jama/article-abstract/1156611

Energy metabolism, fuel selection and body weight regulation. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2897177/. Accessed on 02 November, 2020.

Minding Your Metabolism. https://newsinhealth.nih.gov/2015/07/minding-your-metabolism. Accessed on 02 November, 2020.

Effects of Diet Changes on Metabolism. https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT00523627. Accessed on 02 November, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Shilpa Khopade द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 09/07/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x