home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

IVF को सक्सेसफुल बनाने के लिए इन बातों का रखें ध्यान

IVF को सक्सेसफुल बनाने के लिए इन बातों का रखें ध्यान

आईवीएफ (IVF) जिसे इन विट्रो फर्टिलाइजेशन कहते हैं ,ऐसी तकनीक है जिसकी मदद से वे महिलाएं प्रेग्नेंट हो सकती हैं, जिन्हें गर्भधारण में परेशानी आती है। दरअसल इस प्रॉसेस की मदद से महिला में दवाओं की मदद से फर्टिलिटी बढ़ाई जाती है जिसके बाद ओवम (अंडाणु/अंडों) को सर्जरी की मदद से निकाला जाता है और इसे लैब भेजा जाता है। लैब में पुरुष के स्पर्म (शुक्राणु) और महिला के ओवम को एक साथ मिलाकर फर्टिलाइज किया जाता है। 3-4 दिनों तक लैब में रखने के बाद फर्टिलाइज्ड भ्रूण (Embryo) को जांच के बाद महिला के गर्भ में फिर से इम्प्लांट किया जाता है। एक्सपर्ट्स के अनुसार IVF के इस प्रॉसेस में 2 से 3 सप्ताह का वक्त लगता है। यूटरस (बच्चेदानी) में इम्ब्रियो इम्प्लांट होने के 2 सप्ताह बाद प्रेग्नेंसी टेस्ट से महिला के गर्भवती होने की जांच की जाती है। आईवीएफ को सफल बनाना आसान है अगर कुछ जरूरी बातों पर ध्यान दिया जाए।

और पढ़ें: जानें IVF प्रेग्नेंसी के लक्षण और उससे जुड़े फैक्ट्स

IVF कितना सक्सेसफुल होता है ?

रिसर्च के अनुसार भारत में 10 से 15 % मैरिड कपल्स इनफर्टिलिटी की समस्या से परेशान हैं। IVF (इन विट्रो फर्टिलाइजेशन) से जुड़े जानकार मानते हैं की 35 वर्ष से कम उम्र की महिलाओं में IVF 40 प्रतिशत तक सक्सेसफुल होता है। वहीं 35 वर्ष से ज्यादा उम्र की महिलाओं में IVF सक्सेस रेट कम हो सकती है।

आईवीएफ को सफल बनाना आसान है। इसे सफल बनाने के लिए सही वक्त का चयन करना जरूरी है। IVF एक्सपर्ट्स मानते हैं की जून, जुलाई और अगस्त महीना सबसे सही समय होता है। यही नहीं IVF (आईवीएफ) को सफल बनाने के लिए विटामिन-डी भी जरूरी है। इसलिए गर्मी का मौसम IVF को सफल बनाने के लिए यह समय सबसे सही माना जाता है। क्योंकि इस मौसम में धूप निकलती है जिससे नैचुरल तरीके से विटामिन डी बॉडी को मिलता है। अगर आप आईवीएफ (IVF) तकनीक का सहारा लेने की सोच रहे हैं तो IVF एक्सपर्ट से कुछ जरूरी सवाल अवश्य पूछें। इन सवालों में शामिल हैं-

आईवीएफ को सफल बनाना है, तो निम्नलिखित सवाल अपने IVF एक्सपर्ट से जरूर पूछें

  1. आपकी स्थिति में IVF सफल होने की उम्मीद कितनी है?
  2. IVF में कितना खर्च आएगा?
  3. किन कारणों से इनफर्टिलिटी की समस्या हुई है?
  4. IVF के साइडइफेक्ट क्या हैं?
  5. IVF से जन्म लिए बच्चे का भविष्य कैसा रहेगा?
  6. अगर IVF सक्सेसफुल नहीं हुआ फिर ऐसी परिस्थिति में क्या कोई और इलाज किया जा सकता है?
  7. IVF के दौरान किन-किन बातों को ध्यान रखना चाहिए?

और पढ़ें: आईवीएफ (IVF) के साइड इफेक्ट्स: जान लें इनके बारे में भी

IVF को सक्सेसफुल बनाने के लिए क्या करें ?

आईवीएफ को सफल बनाना है, तो अपनाएं निम्नलिखित टिप्स

  • आईवीएफ को सफल बनाना है तो सबसे पहले सही IVF सेंटर का चुनाव करें।
  • IVF एक्सपर्ट से बात करें और प्रॉसेस को समझें। इस दौरान आपको किन किन जटिल प्रक्रियाओं से निकलना होगा इसे समझें। आईवीएफ को एक चक्र को पूरा करने में दो सप्ताह लगते हैं।
  • स्पर्म काउंट पर ध्यान दें या डॉक्टर से स्पर्म काउंट बढ़ाने का उपाय पूछें।
  • 40 साल से ज्यादा उम्र है, तो डॉक्टर से जरूरी गाइडलाइन पूछें और उसे पूरी तरह फॉलो करें ।
  • इस पूरी प्रक्रिया के दौरान आपके हॉर्मोन किस तरह बदलेंगे इसकी पूरी जानकारी लें। क्योंकि पूरे प्रोसेस के दौरान आपके इमोशंस रोलर कोस्टर की सवारी से गुजरेंगे। आप कभी उदास तो कभी चिंता को महसूस कर सकती हैं।
  • इम्ब्रियो इम्प्लांट होने के बाद एक्टिव रहें।
  • आईवीएफ को सफल बनाना है, तो आपको अपनी डायट, नींद के पैटर्न और आईवीएफ उपचार के लिए नियमित रूप से डॉक्टर की सलाह का पालन करना होता है।
  • सर्दी-खांसी या किसी तरह का इंफेक्शन होने पर डॉक्टर को अवश्य बताएं।
  • IVF के प्रॉसेस में एक महीने तक का वक्त लग सकता है इसलिए धैर्य रखें।
  • IVF एक्सपर्ट द्वारा दी गई दवाओं का सेवन सही वक्त पर करें।
  • खाद्य पदार्थों का सेवन वैसे ही करें जैसे एक प्रेग्नेंट महिला करती हैं
  • हल्की-फुल्की एक्सरसाइज करें या वॉक पर अवश्य जाएं।
  • 7 से 8 घंटे नियमित रूप से सोएं

और पढ़ें: महिलाओं की प्रजनन क्षमता बढ़ाने में सहायक 5 योगासन

IVF को सक्सेसफुल बनाने के लिए किन-किन बातों का ध्यान रखें ?

आईवीएफ को सफल बनाना है, तो ये सब न करें-

  • किसी तरह का भारी सामान नहीं उठाएं।
  • ट्रीटमेंट के दौरान स्मोकिंग, एल्कोहॉल और किसी तरह की दवा लेने से बचें। आईवीएफ की सफलता के लिए इन सभी चीजों से खुद को कोसों दूर रखें।
  • IVF को सफल बनाने के लिए गर्मी का मौसम सबसे बेहतर समय माना जाता है लेकिन, इसका यह अर्थ नहीं की आप अत्यधिक हीट के संपर्क में रहें।
  • खुद का ध्यान रखना न भूलें। खुद को फिट रखने की कोशिश करें। हेल्दी फूड का सेवन करें। संतुलित आहार लें और आवश्यक विटामिन को लेना न भूलें। पैक्ड फूड और पैक्ड जूस या फ्रोजन खाद्य पदार्थों का सेवन न करें।
  • तनाव से बचें। बहुत महिलाएं आईवीएफ की प्रक्रिया से पहले इसका स्ट्रेस लेने लगती हैं। खुद को स्ट्रेस से दूर रखने के लिए मेडिटेशन करें, अपनी पसंद का म्युजिक सुनें या जो चीजें आपको पसंद उनमें खुद वयस्त रखें।
और पढ़ें: पुरुषों की स्मोकिंग की वजह से शिशु में होने वाली परेशानियां

आईवीएफ और सेरोगेसी

बहुत सारी महिलाओं को सरोगेसी और आईवीएफ में अंतर नहीं मालूम होता है। आपको बता दें, दोनों बहुत अलग हैं। आईवीएफ से किए जाने वाले बेबी को टेस्ट ट्यूब बेबी कहते हैं। सरोगेसी में बेबी को IVF के जरिए कोई दूसरी महिला गर्भवती होती है और बच्चे को जन्म देती है।आईवीएफ को सफल बनाना है तो इसके लिए हेल्दी डायट लेना बहुत जरूरी होता है। इसके लिए आहार में बहुत सारे अनाज शामिल करने की सलाह दी जाती है। जैसे क्विनोआ, होल व्हीट पास्ता, फलियां, दाल और छोले शामिल करना न भूलें। हेल्दी फैट्स खाने की सलाह दी जाती है। इसमें आप वर्जिन ऑलिव ऑयल, नट्स, एवोकैडो आदि को शामिल कर सकते हैं। इसके अलावा प्रोसेस्ड फूड और रेड मीट को खाने से मना किया जाता है।

और पढ़ें: स्मोकिंग ही नहीं बल्कि ये 5 कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स भी प्रेग्नेंसी के दौरान हो सकते हैं खतरनाक

अगर आप या आपके करीबी इन विट्रो फर्टिलाइजेशन (IVF) की मदद से परिवार को आगे बढ़ाने की सोच रहें हैं, तो सर्टिफाइड IVF सेंटर और एक्सपर्ट से मिलें। इस प्रॉसेस को समझने की कोशिश करें और फिर इसका चयन करें ताकि IVF को सफल बनाया जा सके। हम उम्मीद करते हैं आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा। हैलो हेल्थ के इस आर्टिकल में कैसे आईवीएफ को सफल बनाना है, इससे जुड़ी हर जानकारी देने की कोशिश की गई है। यदि आपका इस लेख से जुड़ा कोई प्रश्न है तो आप कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हैं। हम अपने एक्सपर्ट्स द्वारा आपके सवालों का उत्तर दिलाने का पूरा प्रयास करेंगे। यदि आप आईवीएफ को सफल बनाना से जुड़ी अन्य कोई जानकारी पाना चाहते हैं तो बेहतर होगा इसके लिए अपने विशेषज्ञ से कंसल्ट करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

What is IVF?: https://www.plannedparenthood.org/learn/pregnancy/fertility-treatments/what-ivf Accessed on 10/12/2019

In vitro fertilization (IVF): https://www.mayoclinic.org/tests-procedures/in-vitro-fertilization/about/pac-20384716 Accessed on 10/12/2019

Factors affecting success rates in two concurrent clinical IVF trials: https://www.fertstert.org/article/S0015-0282(09)03466-9/fulltext Accessed on 10/12/2019

IVF TIPS, CYCLE DO’S AND DON’TS: https://ivf.ca/tips.htm Accessed on 10/12/2019

 

लेखक की तस्वीर
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Nidhi Sinha द्वारा लिखित
अपडेटेड 10/10/2019
x