home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

इनफर्टिलिटी से बचने के लिए इन फूड्स से कर लें तौबा

इनफर्टिलिटी से बचने के लिए इन फूड्स से कर लें तौबा

खानपान हो या फिर वातावरण, इनफर्टिलिटी को बढ़ाने के लिए ये दोनों ही फैक्टर जिम्मेदार हो सकते हैं। खराब खानपान इनफर्टिलिटी को बढ़ावा देता है। कंसीव करने के लिए पीरियड्स साइकिल के साथ ही अपने खानपान पर भी गौर करने की जरूरत है। इनफर्टिलिटी बढ़ाने वाले फूड को अवॉयड करने के बाद कंसीव करने के चांसेज बढ़ जाते हैं। कुछ फूड ऐसे भी हैं जिनको संतुलित मात्रा में लेने से फर्टिलिटी पर फर्क नहीं पड़ता है, लेकिन अधिक मात्रा में लेने से इनफर्टिलिटी को बढ़ाने का काम कर सकते हैं।

इनफर्टिलिटी बढ़ाने वाले फूड:

मरकरी युक्त सीफूड्स

फिश

मरकरी शरीर में पहुंचने पर नर्वस सिस्टम को डैमेज कर देती है। मरकरी रिच सीफूड्स जैसे कि स्वोर्डफिश और टूना प्रेग्नेंसी के दौरान फीटस को प्रभावित कर सकते हैं। प्रेग्नेंसी के पहले अगर आप मरकरी रिच फूड खाते हैं तो होने वाले बच्चे के नर्वस सिस्टम के खराब होने का खतरा हो सकता है। मरकरी होने वाले बच्चे को नुकसान पहुंचाने के साथ ही इनफर्टिलिटी को भी बढ़ाने का काम करती है। कुछ सीफूड्स को इनफर्टिलिटी बढ़ाने वाले फूड में गिना जाता है। इनसे दूरी बनाकर रखना बेहतर होगा।

और पढे़ं : स्पर्म काउंट किस तरह फर्टिलिटी को करता है प्रभावित?

अधिक मात्रा में शराब का सेवन

सीडीसी ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा कि जो महिलाएं गर्भवती हैं, उन्हें शराब से दूरी बनानी चाहिए । साथ ही जो महिलाएं कंसीव करना चाहती हैं, वे भी इसका सेवन न करें। अधिक मात्रा में ली गई शराब बांझपन को बढ़ाने का काम करती है। शराब का सेवन शरीर में विटामिन बी की कमी कर देता है। विटामिन बी की कमी गर्भावस्था की संभावनाओं को कम करने का काम करती है। इनफर्टिलिटी बढ़ाने वाले फूड्स और ड्रिंक में शराब भी शामिल है। इसलिए आज ही शराब का सेवन करना बंद कर दें।

अधिक मात्रा में कैफीन का सेवन

घबराने की जरूरत नहीं है। आप सुबह एक कप चाय या कॉफी तो ले ही सकते हैं। आप जो भी चाय या फिर कॉफी ले रहे हैं, उसमे कैफीन की मात्रा आपको पता होनी चाहिए। एक दिन में 200 मिलीग्राम कैफीन की मात्रा आपकी फर्टिलिटी को प्रभावित नहीं करती है । कैफीन की 200 मिलीग्राम से अधिक की मात्रा इनफर्टिलिटी का कारण बन सकती है। प्रेग्नेंसी के दौरान भी अधिक कैफीन ब्लडप्रेशर को बढ़ाने का काम करती है। इस कारण से बच्चे की हार्टबीट भी बढ़ जाती है। कैफीन की ज्यादा मात्रा का सेवन करने से गर्भ में पल रहे बच्चे को इसकी आदत लग सकती है। इनफर्टिलिटी बढ़ाने वाले फूड में कैफीन को हमेशा से ही जगह दी जाती है।

और पढे़ं : प्रेग्नेंसी की पहली तिमाही में अपनाएं ये डायट प्लान

फर्टिलिटी के लिए हानिकारक फूड: फूड्स जिनमें होता है ट्रांस फैट

आपको कुछ खास तरह के फूड पसंद हैं, और आप उन्हें बहुत चाव से खाना पसंद करते हैं तो सावधान हो जाए, क्योंकि ट्रांस फैट वाले फूड इनफर्टिलिटी को बढ़ाने का काम करते हैं। कुछ फूड जैसे चिप्स, माइक्रोवेव पॉपकॉर्न, बेक्ड आइटम्स, फ्राइड फूड्स आदि इंफ्लामेशन बढ़ाने के साथ ही इंसुलिन रजिस्टेंस को भी बढ़ा देते हैं। इस कारण से इनफर्टिलिटी की संभावना बढ़ जाती है।

ट्रांस फैट वाले फूड अधिक मात्रा में लेने पर ब्लड वैसेल डैमेज होने के साथ ही रिप्रोडेक्टिव सिस्टम में न्यूट्रिएंट्स का फ्लो भी बिगड़ जाता है। इस बात का ख्याल महिला और पुरुष दोनों को ही रखना चाहिए। पुरुषों में अधिक ट्रांस फैट लेने से स्पर्म काउंट में कमी आ जाती है। इनफर्टिलिटी बढ़ाने वाले फूड में जिन खाने में शामिल हो उनमें ट्रांस फैट फूड सबसे ऊपर है। इनफर्टिलिटी बढ़ाने वाले फूड को अवॉयड करने के लिए ट्रांस फैट वाले फूड अवॉयड करना जरूरी है।

और पढे़ं : गर्भावस्था में मोबाइल फोन का इस्तेमाल सेफ है?

लो फैट डेयरी से बनाएं दूरी

लो फैट मिल्क, योगर्ट और दूसरे डेयरी प्रोडक्ट में एंड्रोजन हो सकता है। इसकी वजह से शरीर में एंड्रोजन प्रोड्यूस हो सकता है। एंड्रोजन प्रोड्यूस होने से पीरियड्स में अनियमितता हो सकती है। अगर आप कंसीव करने की सोच रही हैं तो लो फैट डेयरी को अवॉयड करें। इनफर्टिलिटी बढ़ाने वाले फूड में लो फैट डेयरी फूड्स भी शामिल है। डेयरी प्रोडक्ट्स से कई महिलाओं को वैसे भी एलर्जी होती है।

फर्टिलिटी के लिए हानिकारक फूड: फ्राइड फूड को न, पालक को हां

कुछ लोगों को हरी सब्जी खाना अच्छा नहीं लगता है। फ्राइड फूड खाने के शौकीन लोगों को ये बात ध्यान में रखनी चाहिए फ्राइड फूड में न्यूट्रिएंट्स ज्यादा नहीं होते हैं। आप इन्हें अवाॅयड करें और फॉलिक एसिड युक्त पदार्थों को अपने खाने में शामिल करें। पत्तियों वाली सब्जी जैसे पालक को डायट में शामिल करें। इनमें विटामिन बी के साथ ही फॉलिक एसिड भी होता है। इनफर्टिलिटी बढ़ाने वाले फूड में किसी भी तरह के फ्राइड फूड शामिल हैं।

[mc4wp_form id=”183492″]

डायरेक्ट अनफिल्टर्ड वॉटर

आपका घर उन लोगों में से एक हो सकता है जिनके पास शुद्ध पेयजल है जहां से आपको सीधे आपूर्ति की जाती है। हालांकि आपको पानी से कोई समस्या नहीं हुई होगी, लेकिन पानी में कई केमिकल का इस्तेमाल होता है जो इसके ट्रिटमेंट में इस्तेमाल किया जाता है जो इसे पीने के लायक बनाते हैं। लेकिन इन केमिकल्स के कुछ ट्रेस रोगाणुओं का कारण बन सकते हैं। बड़ी मात्रा में इस तरह के पानी या किसी भी पानी को पीने से आपके शरीर से कई सॉल्ट कम हो सकते हैं। कम से कम इस समय फिल्टर्ड पानी को पीने में इस्तेमाल करना बेहतर है। इनफर्टिलिटी बढ़ाने वाले फूड में आपके इस तरह का पानी पीने से बचना चाहिए। इस तरह का पानी इनफर्टिलिटी बढ़ाने वाले फूड्स और ड्रिंक्स में आते हैं।

और पढे़ं : आईवीएफ (IVF) के साइड इफेक्ट्स: जान लें इनके बारे में भी

मटर भी इनफर्टिलिटी बढ़ाने वाले फूड में शामिल है

इस सूची में एक और आश्चर्यजनक फूड शामिल है। हालांकि बहुत कम डॉक्टर या पोषण विशेषज्ञ इसके बारे में जानते होंगे, इस पहलू पर एक सदी पहले तक बहुत से शोध किए गया था, जहां नियमित रूप से मटर का सेवन करने वाली महिलाओं और इनफर्टिलिटी दर कम होने के बीच एक लिंक देखा गया था। सोयाबीन की तरह मटर में भी कुछ रसायन होते हैं जो शुक्राणुओं को बाधित कर सकते हैं और प्राकृतिक व्यवस्था के गर्भनिरोधक के रूप में कार्य कर सकते हैं।

और पढे़ं : IVF को सक्सेसफुल बनाने के लिए इन बातों का रखें ध्यान

लाइफस्टाइल चेंज है जरूरी

कुछ फूड अवाॅयड करके ही फर्टिलिटी को नहीं बढ़ाया जा सकता है। आपको बेबी प्लान करने से पहले कुछ खास स्टेप भी लेने पड़ेंगे। प्रीनेटल विटामिंस आपकी इसमें मदद करेंगे। प्रीनेटल विटामिन होने वाले बच्चे के न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट को कम करने का काम करते हैं। आप डॉक्टर की सलाह से रोजाना 400 ग्राम फोलिक एसिड सप्लिमेंट्स ले सकती हैं।

अगर आप कंसीव करने के बारे में सोच रही हैं तो कौन से फूड आपको लेने चाहिए या फिर कौन से फूड नहीं लेने चाहिए, इस बारे में डॉक्टर से जरूर परामर्श करें।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

11 Things Not to Do If You Want to Get Pregnant/ https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5826784/Acceseed on 14/11/2019

9 Foods to Avoid If You’re Trying to Get Pregnant/ https://www.health.harvard.edu/diseases-and-conditions/follow-fertility-diet Acceseed on 14/11/2019

10 Foods to Avoid when Trying to Conceive/ https://www.womenshealth.gov/healthy-weight/weight-fertility-and-pregnancyAcceseed on 14/11/2019

The Influence of Diet on Fertility and the Implications for Public Health Nutrition in the United States/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6079277/Accessed on 12/12/2019

 

लेखक की तस्वीर
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 02/08/2020 को
Dr Sharayu Maknikar के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड