home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

जानें क्या है डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्ट किट से टेस्ट करने का सही समय?

जानें क्या है डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्ट किट से टेस्ट करने का सही समय?

जब बेबी प्लान कर रही हों और पीरियड मिस हो जाएं तो मन में सबसे पहला ख्‍याल प्रेग्नेंसी टेस्ट किट टेस्ट करने का ही आता है। महिलाएं प्रेग्नेंसी को कंफर्म करने के लिए प्रेग्नेंसी डिटेक्शन किट (pregnancy detection kit) का सहारा लेती हैं लेकिन, किट के इस्तेमाल से पहले उनके मन में कई सवाल आते हैं। जैसे-डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट का उपयोग कैसे करें? क्या किट से जांच करने का क्या कोई सही समय भी होता है? डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट के नतीजे कितने सही होते हैं आदि। इस आर्टिकल में दिल्ली स्थित सृष्टि हेल्थ केयर की गायनेकोलॉजिस्ट डॉ. सीमा गुप्ता ने डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट से जुड़े कुछ सामान्य सवालों के जवाब दिए।

और पढ़ें- प्रेग्नेंसी टेस्ट किट से मिले नतीजे कितने सही या गलत?

डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट (Digital Pregnancy Test Kit) कैसे काम करती है?

डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट से शरीर में एचसीजी हार्मोन ( ह्ययूमन कोरियोनिक गोनाडोट्रोपिन) की मौजूदगी का पता लगाया जा सकता है। इस हार्मोन का होना या न होना ही तय करता है कि महिला प्रेग्नेंट है या नहीं। दरअसल, एचसीजी हार्मोन भ्रूण के गर्भाशय के अंदरूनी परत से जुड़ने पर प्लेसेंटा से रिलीज होता है।

और पढ़ें- ऑव्युलेशन टेस्ट किट से जाने कंसीव करने का सही समय

कब करें प्रेग्नेंसी टेस्ट?

पीरियड के मिस होने पर जितनी जल्दी आप प्रेग्नेंसी-टेस्ट करती हैं, एचसीजी का पता लगाना उतना ही कठिन हो जाता है क्योंकि शुरुआती दिनों में यूरिन में ‘एचसीजी हार्मोन’ का स्तर थोड़ा कम होता है। सबसे सटीक परिणामों के लिए, पीरियड्स के मिस होने के एक सप्ताह बाद यह टेस्ट करना सही रहेगा।

और पढ़ें- ऑव्युलेशन टेस्‍ट किट के नतीजे कितने सही होते हैं?

डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट (Digital Pregnancy Test Kit) से नतीजा मिलने में कितना समय लगता है?

डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्ट किट से जांच करने पर कम से कम एक से तीन या ज्यादा से ज्यादा पांच मिनट लग सकते हैं।

और पढ़ें- शीघ्र गर्भधारण के लिए अपनाएं ये 5 टिप्स

घर में डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट से कैसे जांच करें?

डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट का उपयोग करने से पहले किट के साथ दिए गए निर्देशों को ध्यानपूर्वक पढ़ें क्योंकि अलग-अलग ब्रांड की प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट के लिए निर्देश भी अलग होते हैं। जैसे-किसी किट में खांचे (block) पर यूरिन की कुछ बूंदें डालकर या किसी में किट की अब्सॉर्बेंट टिप (absorbent tip) को यूरिन स्ट्रीम पर रखकर चेक करते हैं। फिर टेस्ट किट पर ‘यस’ (गर्भवती) और ‘नो’ (गर्भवती नहीं) लिखा हुआ आता है।

डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्ट किट (Digital Pregnancy Test Kit) के इस्तेमाल का सबसे सही समय क्या है?

प्रेग्नेंसी डिटेक्शन किट का उपयोग किसी भी समय किया जा सकता है लेकिन, सुबह के समय गर्भावस्था की जांच करना अच्छा रहता है। दरअसल सुबह के वक्त ‘एचसीजी हार्मोन’ का लेवल बढ़ा हुआ होता है, जिससे परिणामों के गलत होने की संभावना काफी कम हो जाती है।

डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट के नतीजे कितने सटीक होते हैं?

डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट से किया गया टेस्ट कुछ मामलों में 99 प्रतिशत तक सटीक हो सकता है। अगर आपका मेंस्ट्रुअल साइकल नियमित नहीं रहता है, तो रिजल्ट के सही आने की संभावना कम हो सकती है। परिणाम नेगेटिव दिखाने के बाद भी अगर आपको लगे कि आप प्रेग्नेंट हो सकती हैं, तो इस बारे में डॉक्टर से बात करें।

क्या दवाएं डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट के परिणामों को प्रभावित कर सकती हैं?

फर्टिलिटी ड्रग्स या अन्य कुछ दवाएं जिनमें ‘एचसीजी‘ होता है वे प्रेग्नेंसी डिटेक्शन किट के परिणामों को प्रभावित कर सकती हैं। हालांकि, एंटीबायोटिक्स, बर्थ कंट्रोल पिल्स सहित ज्यादातर दवाएं प्रेग्नेंसी किट की सटीकता को प्रभावित नहीं करती हैं।

डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट से निगेटिव रिजल्ट क्यों आता है?

जब आप वास्तव में गर्भवती होती हैं तो प्रेग्नेंसी टेस्ट से निगेटिव परिणाम प्राप्त करना संभव है। इसे फॉल्स-निगेटिव रिजल्ट के रूप में जाना जाता है। अगर आपको फॉल्स-निगेटिव रिजल्ट मिलता है तो इसके अलग-अलग कारण हो सकते है। जैसे

  • टेस्ट समस ये पहले होः अगर आपके पीरियड्स मिस हो गए हैं और उसके तुरंत बाद आप डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट से टेस्ट करते हैं तो एचसीजी का पता लगाना कठिन हो सकता है। सबसे सटीक परिणामों के लिए, मिस्ड पीरियड्स के एक सप्ताह बाद परीक्षण दोहराएं। अगर आप लंबे समय तक इंतजार नहीं कर सकते हैं, तो अपने डॉक्टर से ब्लड टेस्ट के लिए कहें।
  • डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट जल्दी देखनाः टेस्ट को ठीक तरह से काम करने के लिए थोड़ा समय दें। पैकेज पह दिए निर्देशों के अनुसार टाइमर सेट करने पर विचार करें।
  • डाईल्यूट टेस्ट का उपयोग करेंः सबसे सटीक परिणामों के लिए, सुबह सबसे पहले परीक्षण करें – जब आपका यूरिन सबसे अधिक कॉन्सन्ट्रेटेड होता है।

अगर आपको डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट का रिजल्ट बार-बार निगेटिव मिल रहा है, लेकिन आपके पीरियड्स शुरू नहीं होते है या आपको अभी भी लगता है कि आप गर्भवती हो सकती हैं तो अपने डॉक्टर से बात करें। आपके पीरियड्स ना होने के कई कारण हो सकते हैं जैसे थायराइड विकार, कम वजन, आप के अंडाशय के साथ समस्याएं, अत्यधिक व्यायाम और तनाव सहित कोई और समस्या हो सकती है। अगर आप गर्भवती नहीं हैं तो आपका अपने डॉक्टर से बात करके अपने पीरियड्स में होने वाली परेशानी को ठीक कराने में मदद मिल सकती है।

प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट से चेक करते समय क्या सावधानियां रखनी चाहिए?

  • जांच से सही रिजल्ट प्राप्त करने के लिए सुबह की पहली यूरिन का नमूना लें।
  • जांच के दौरान उपयोग होने वाली सभी चीजें साफ होनी चाहिए।
  • टेस्ट से पहले पेय पदार्थों का सेवन न करें। इससे शरीर में ‘एचसीजी हार्मोन’ की सघनता (concentration) घट सकती है और टेस्ट का परिणाम प्रभावित हो सकता है।
  • प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट का उपयोग करने से पहले उसकी एक्सपायरी डेट (प्रयोग की आखिरी तिथि) देखना न भूलें।
  • पैकेट पर लिखें निर्देशों को ही फॉलो करें।

डिजिटल प्रेग्नेंसी टेस्‍ट किट से महिलाएं घर पर ही प्रेग्नेंसी की जांच कर सकती हैं लेकिन, गर्भावस्था को सुनिश्चित करने के लिए महिलाओं को डॉक्टर के पास जरूर जाना चाहिए। इससे यह फायदा होगा कि डॉक्टर जांच करके यह भी बता देंगे कि आपका शरीर बच्चे को जन्म देने के लिए तैयार है या नहीं या कोई अन्य समस्या तो नहीं है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Getting pregnant. https://www.mayoclinic.org/healthy-lifestyle/getting-pregnant/in-depth/home-pregnancy-tests/art-20047940. Accessed on 7 September, 2020.

Home pregnancy tests: Can you trust the results?. https://www.drugs.com/mca/home-pregnancy-tests-can-you-trust-the-results. Accessed on 7 September, 2020.

How accurate are home pregnancy tests?. https://www.nhs.uk/common-health-questions/pregnancy/how-accurate-are-home-pregnancy-tests/. Accessed on 7 September, 2020.

Pregnancy Test. https://medlineplus.gov/lab-tests/pregnancy-test/. Accessed on 7 September, 2020.

Pregnancy tests. https://www.womenshealth.gov/a-z-topics/pregnancy-tests. Accessed on 7 September, 2020.

लेखक की तस्वीर
Mayank Khandelwal के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Shikha Patel द्वारा लिखित
अपडेटेड 08/08/2019
x