Surprising things for new moms: न्यू मॉम्स के लिए यह जानकारी है आवश्यक!

    Surprising things for new moms: न्यू मॉम्स के लिए यह जानकारी है आवश्यक!

    गर्भावस्था का अनुभव हर किसी का अलग-अलग होता है। अगर आप पहली बार मां बनने वाली हैं, तो आपके मन में कहीं न कहीं थोड़ा डर होना स्वभाविक है। प्रेग्नेंसी का समय थोड़ा मुश्किल हो सकता है लेकिन, याद रखें कि पेरेंटिंग भी कोई आसान काम नहीं है। खासतौर, पर अगर आप पहली बार मां बनने वाली हैं, तो आपके लिए कई चीजों के बारे में जानना आवश्यक है। यह चीजें शिशु या आपसे भी जुड़ी हो सकती हैं। आज हम नयी मां के लिए सरप्राइजिंग थिंग्स (Surprising things for new moms) के बारे में आपको जानकारी देने वाले हैं। आइए जानें नयी मां के लिए सरप्राइजिंग थिंग्स (Surprising things for new moms) के बारे में विस्तार से।

    नयी मां के लिए सरप्राइजिंग थिंग्स : इन चीजों के बारे में जानकारी है जरूरी

    आप मां बनने वाली हैं, तो सबसे पहले किसी भी तरह की चिंता छोड़कर रिलैक्स हो जाएं। क्योंकि आपका शारीरिक और मानसिक रूप से रिलैक्स और शांत रहना आपके और आपके शिशु दोनों के लिए लाभदायक है। शिशु के दुनिया में आने के बाद आप इस दौरान होने वाली अपनी हर समस्या को भूल जाएंगे। हम नयी मां के लिए सरप्राइजिंग थिंग्स (Surprising things for new moms) में कुछ ऐसी चीजों के बारे में आपको बताने वाले हैं जिनके बारे में जान कर आपको अपने इस सफर को तय करने में आसानी होगी।

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी और हेल्दी रिलेशनशिप (Pregnancy and Healthy relationships): जानिए प्रेग्नेंसी के दौरान रिलेशनशिप को हेल्दी बनाने के लिए 5 बातें!

    पैरेंट बनने के लिए किसी तैयारी की जरूरत नहीं होती

    नयी मां के लिए सरप्राइजिंग थिंग्स (Surprising things for new moms) में इस बात के बारे में जानना बेहद जरूरी है। क्योंकि, अगर आपको लगता है कि शिशु के जन्म से पहले पेरेंटिंग क्लासेज और पेरेंटिंग बुक्स को पढ़ने से आप पेरेंट्स बनने के लिए पूरी तरह से तैयार हो जाएंगे, तो आप बिलकुल गलत हैं। क्योंकि, इन सब से आप अपने शिशु की परवरिश के लिए तैयार नहीं होंगे। हर बच्चा अलग होता है। ऐसे में आप पहले ही अपने शिशु और उसकी जरूरतों को नहीं जान पाएंगे। हर बच्चा अपनी क्षमता के अनुसार माइलस्टोन्स तक पहुंचता है। ऐसे में आप आप पैनिक न हों और याद रखें कि शिशु के दुनिया में आने से पहले आप इसकी तैयारी नहीं कर सकते। शिशु के आने के बाद आपका अनुभव आपको परफेक्ट बनेगा।

    और पढ़ें: Twin pregnancy timetable: जानिए ट्विन प्रेग्नेंसी एवं ट्विन प्रेग्नेंसी टाइमटेबल से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें!

    पहली नजर में प्यार हो, ऐसा जरूरी नहीं

    आपने यह कई लोगों से सुना होगा कि उन्हें अपने बच्चे से उसे देखते ही प्यार हो गया था। लेकिन, अगर ऐसा न हो तो यह कोई क्राइम नहीं है। अगर आप पहली ही नजर में अपने बेबी को प्यार न करें, तो ऐसा होना भी सामान्य है। कुछ महिलाओं की डिलीवरी मुश्किल होती है। जिसमें वो दर्द और कई अन्य समस्याओं का सामना करती है। यही नहीं, इस दौरान महिलाएं एंग्जायटी और डिप्रेशन का भी सामना करती हैं। यही कारण है कि उन्हें अपने शिशु के साथ अटैच होने में समय लगता है। लेकिन, इसका अर्थ यह बिलकुल भी नहीं है कि आप एक बुरी मां हैं। इसलिए अगर ऐसा होता है तो आप हैरान या परेशान न हों।

    नयी मां के लिए सरप्राइजिंग थिंग्स ,Surprising things for new moms

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में ब्रेस्ट पेन और टेंडरनेस को दूर करने के लिए क्या हैं आसान तरीके, जानिए!

    नयी मां के लिए सरप्राइजिंग थिंग्स (Surprising things for new moms): प्रसव ही नहीं रिकवरी में भी हो सकती है परेशानियां

    हर कोई प्रसव के दौरान होने वाले दर्द और परेशानियों के बारे में बात करता है। लेकिन, कोई भी इसके बाद हीलिंग प्रोसेस के बारे में बात नहीं करता। इस दौरान भी आप कई समस्याओं का सामना कर सकती हैं जैसे हॉर्मोन्स में बदलाव, नाईट स्वेट, वजन में चेंज आदि। इसलिए प्रसव के बारे में सोच-सोच कर परेशान होने से अच्छा है रिकवरी के बारे में विचार करें और उसके बारे में अधिक जानकारी लें।

    शिशु के पी (Pee) और पू (Poo) के लिए तैयार हो जाएं

    डिलीवरी के बाद आप यह जान कर हैरान हो सकती हैं कि शिशु थोड़ी-थोड़ी देर के बाद मूत्र और मल त्याग करता है। लेकिन, इसके लिए आप तैयार रहें। क्योंकि, आपको इस स्थिति से गुजरने के लिए कई डायपर्स, कपडे, बर्प क्लॉथ और ब्लेंकेट्स की जरूरत हो सकती है। अगर आप चाहें, तो आप इसके लिए किसी को हायर भी कर सकते हैं। क्योंकि, इसके आपका अधिक समय व्यतीत होगा और आप अपने और अपने शिशु के लिए समय नहीं निकाल पाएंगे।

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में रहना है हेल्दी, तो आहार में जरूर शामिल करें इन प्रोटीन सोर्सेज को!

    नयी मां के लिए सरप्राइजिंग थिंग्स (Surprising things for new moms): शिशु की स्माइल सब कुछ भुला सकती है

    शिशु के साथ काम, जिम्मेदारियां और परेशानियां तो आती हैं, लेकिन उसकी एक स्माइल देख कर आप सब कुछ भूल सकते हैं। अब भूल सकते हैं शिशु के गंदे डायपर्स, कम नींद, शिशु का लगातार रोना आदि। आप यह समझ जाएंगी कि यह आपके लिए दुनिया की सबसे बड़ी खुशी है। इसलिए इस खुशी के लिए हमेशा तैयार रहें।

    आपकी दुनिया बदल जाएगी

    एक बार जब आप पेरेंट्स बन जाते हैं, तो समझ जाए कि आपकी दुनिया बदलने वाली है। अब आप पहले वाली अपनी जिंदगी को भूल जाएं। क्योंकि, शिशु को लगातार आपकी जरूरत होगी। खासतौर पर पहले के कुछ दिनों में। शिशु की जिम्मेदारी लेना एक अमेजिंग फीलिंग है। शुरुआत में हो सकता है कि आपको यह अजीब लगे लेकिन धीरे-धीरे यह अपनी नयी रूटीन बन जाएगा।

    और पढ़ें: Urine Tests During Pregnancy: प्रेग्नेंसी में यूरिन टेस्ट से घबराएं नहीं, क्योंकि यह गर्भवती महिला एवं गर्भ में पल रहे शिशु दोनों के लिए है जरूरी!

    नयी मां के लिए सरप्राइजिंग थिंग्स (Surprising things for new moms): ब्रेस्टफीडिंग के लिए प्रैक्टिस है जरूरी

    बेबी बर्थ के बाद ब्रेस्टफीडिंग बेहद जरूरी है। लेकिन, यह काम इतना आसान नहीं है। बेबी को शुरू में यह सीखने की जरूरत होती है कि दूध कैसे पीना है? ऐसे ही आपके लिए भी यह सीखना जरूरी है कि शिशु को ब्रेस्टफीडिंग कराने की सही तकनीक क्या है। इससे ब्रेस्टफीडिंग के पहले कुछ हफ्तों को मुश्किल और असहज हो सकते हैं, लेकिन समय के साथ यह आसान हो जाता है। हालांकि, शिशु का पेट छोटा होता है लेकिन उन्हें बार-बार फीड करने की जरूरत होती है। इसलिए, अगर आप ब्रेस्टफीडिंग करा रहे हैं तो आपको अधिकतर समय अपने शिशु के साथ बिताना होगा। इसके लिए भी तैयार रहें।

    और पढ़ें: Uterus Pain in Early Pregnancy: जानिए प्रेग्नेंसी की शुरुआत में यूट्रस में दर्द के 4 सामान्य एवं 2 गंभीर कारणों को!

    नयी मां के लिए सरप्राइजिंग थिंग्स (Surprising things for new moms): नार्मल बेबी स्लीप जैसी कोई चीज नहीं होती

    नवजात शिशु बहुत अधिक सोता है। यही नहीं, वो दिन के अठारह से लेकर चौबीस घंटे सोने में व्यतीत करता है। लेकिन, वो सामान्य बेबी स्लीप नहीं होती। इसका अर्थ है कि शिशु किसी भी समय सो सकता है या नैप ले सकता है। हो सकता है कि आपका शिशु दिन में सोता रहे और रात को जागे। जब शिशु रात और दिन में अंतर करना सीख जाता है तो वो अंधेरे और शांत माहौल में अधिक सोता है। हालांकि, शिशु की स्लीपिंग और फीडिंग रूटीन तब तक काम नहीं करती है, जब तक वो तीन महीने का नहीं हो जाता।

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में हेयरी बेली से ना घबराएं, हॉर्मोनल चेंजेंस की वजह से होती है ये समस्या

    यह तो थी जानकारी नयी मां के लिए सरप्राइजिंग थिंग्स (Surprising things for new moms) के बारे में। प्रसव के बाद आप ऐसा महसूस कर सकती हैं जैसे आप एक नयी दुनिया में आ गए हैं। ऐसा होना बेहद स्वाभाविक भी है। लेकिन, इस दौरान आप खुद का भी ख्याल रखें। शिशु की देखभाल भी आप तभी कर सकती हैं जब आप स्वस्थ रहेंगी। प्रेग्नेंसी के बाद कई चीजों के बारे में आप शिशु के साथ अधिक समय बिताने के बाद और अनुभव से सीख जाएंगी। अगर आपके मन में इस बारे में कोई भी सवाल है या समस्या है तो डॉक्टर से इसे जानना न भूलें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    What Really Helps You Bounce Back After Pregnancy. https://www.hopkinsmedicine.org/health/wellness-and-prevention/what-really-helps-you-bounce-back-after-pregnancy .Accessed on 26/5/22

    Surprising Things About Being a New Mom. https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/postpartum-depression/symptoms-causes/syc-20376617 .Accessed on 26/5/22

    Safe, Healthy Birth: What Every Pregnant Woman Needs to Know. https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC2730905/ .Accessed on 26/5/22

    The Benefits of Breastfeeding for Baby & for Mom. https://my.clevelandclinic.org/health/articles/15274-the-benefits-of-breastfeeding-for-baby–for-mom .Accessed on 26/5/22

    Fetal development. https://medlineplus.gov/ency/article/002398.htm .Accessed on 26/5/22

     

    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 27/05/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड