प्रेग्नेंसी में सावधानी बरतना है जरूरी, शिशु को हो सकता है नुकसान

By Medically reviewed by Mayank Khandelwal

प्रेग्नेंट होने की खबर सुनते ही घर के बड़े-बुजुर्ग से लेकर आस-पड़ोस के लोग सलाह देने लगते हैं कि अब तुम ये काम नहीं करना वह नहीं खाना। खासकर तब जब आप पहली बार गर्भवती हुईं हों। प्रेग्नेंसी में सावधानी रखना ना केवल मां के लिए बल्कि बच्चे की सेहत के लिए भी सही होता है।हालांकि, शराब और ड्रग्स से परहेज करने के अलावा, प्रेग्नेंसी में क्या न करें, इसके लिए कोई कठोर नियम नहीं हैं। सबकी हेल्थ कंडिशन अलग-अलग होती हैं, डॉक्टर उसी के अनुसार चीजें करने की सलाह देते हैं। लेकिन, यह आपके और शिशु की सेहत का सवाल है, इसलिए प्रेग्नेंसी में सावधानी बरतें और कौन से कार्य बिल्कुल नहीं करने चाहिए इसपर ध्यान दें। प्रेग्नेंसी में सावधानी बरतनी चाहिए , इस बारे में पूरी जानकारी “हैलो स्वास्थ्य” के इस आर्टिकल में मिलेगी।

प्रेग्नेंसी में सावधानी बरतें रखें इन बातों का ध्यान

1.

प्रेग्नेंसी में सावधानी

से उठाए वजन

अमेरिकन प्रेग्नेंसी एसोसिएशन के अनुसार गर्भवती महिलाओं को भारी सामान (जैसे-भरा हुआ सिलेंडर,पानी की बाल्टी) उठाने से बचना चाहिए। गर्भ में बढ़ते भ्रूण की वजह से कमर पर पहले से ही काफी भार होता है। ऐसे में वजन उठाने से मांसपेशियों में खिंचाव, जन्म के समय शिशु के वजन मे कमी या प्री-मैच्योर डिलिवरी जैसे खतरे की संभावना बढ़ सकती है। भारी वजन उठाने की वजह से हर्निया जैसी गंभीर समस्या भी हो सकती है। इसलिए प्रेग्नेंसी में सावधानी बरतें और भारी वजन उठाने से बचें। 

2. ज्यादा देर तक खड़े या बैठे रहना 

लंबे समय तक खड़े रहना या एक ही स्थिति में बैठे रहना (मुख्य रूप से एक ही स्थान पर), गर्भावस्था के लक्षणों को बिगाड़ सकता है। इसकी वजह से प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाली पैरों की सूजन या पीठ दर्द बढ़ सकता है। यदि आप वर्किंग वीमेन हैं, तो काम के दौरान अक्सर छोटे-छोटे ब्रेक लेने का प्रयास करें। प्रेग्नेंसी में सावधानी बरतें और अपने खान-पान के साथ अपने उठने बैठने का रूटिन भी सही रखें।

ये भी पढ़ें- स्मोकिंग ही नहीं बल्कि ये 5 कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स भी प्रेग्नेंसी के दौरान हो सकते हैं खतरनाक

3. प्रेग्नेंसी में सावधानी बरतें और बिल्ली से रहें दूर 

प्रेग्नेंसी के दौरान पालतू बिल्ली से दूर रहें क्योंकि उससे आपको संक्रमण हो सकता है। टोक्सोप्लाज्मोसिस, बिल्लियों में पाया जाने वाला एक सामान्य संक्रमण है, जो पैरासाइट टोक्सोप्लाज्मा गोंडी के कारण होता है। यह बिल्ली के मल में पाया जाता है, जिसके संपर्क में आना गर्भवती महिला के लिए नुकसानदेह हो सकता है। कुछ लोगों को जानवर पसंद होते हैं औj वे अफने घर में जानवर पालते हैं लेकिन प्रेग्नेंसी में सावधानी बरतें और घर की पालतू बिल्ली से दूर रहें। बिल्ली के मल से होने वाले इंफेक्शन से आपके साथ-साथ आपके बच्चे को भी खतरा हो सकता है।

4. प्रेग्नेंसी में सावधानी से करें घर की सफाई 

सफाई के लिए उपयोग किए जाने वाले पदार्थ पॉइजनस हो सकते हैं। इसलिए इनका प्रयोग करने से पहले सफाई उत्पादों के लेबल की जांच करें। सुनिश्चित करें कि कमरे की सफाई करते समय खिड़की/दरवाजे खुले रखें और दस्ताने पहनकर ही इनका इस्तेमाल करें। घर में सफाई तो जरूरी है लेकिन प्रेग्नेंसी में सावधानी से करें घर की सफाई और इसके लिए केमिकल फ्री डिसइंफेक्टेंट का इस्तेमाल करें।

ये भी पढ़ें- प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स करना सही या गलत?

5. प्रेग्नेंसी में सावधानी से नहाएं हॉट बाथ ना लें

हालांकि, आपको लगता होगा की गर्भावस्था के दौरान दर्द को कम करने के लिए सोना बाथ या हॉट बाथ लेना एक प्रभावी तरीका साबित हो सकता है लेकिन, ऐसा नहीं है। प्रेग्नेंसी में सावधानी बरतें क्योंकि विशेषज्ञ सोना बाथ या हॉट बाथ प्रेग्नेंसी में न करने की सलाह देते हैं। अमेरिकन प्रेग्नेंसी एसोसिएशन के अनुसार, प्रेग्नेंट महिला को हॉट बाथ के उपयोग से हायपरथर्मिया या असामान्य रूप से शरीर का तापमान बढ़ सकता है, जिससे शिशु को कुछ जन्मजात असामान्यताएं हो सकती हैं। इसके अलावा निम्न गतिविधियों को भी अवॉयड करें: 

  • हॉट योगा या पिलाटे (Pilates)
  • बहुत देर तक धूप सेंकना,
  • ज्यादा गर्मी के संपर्क में रहना
  • हाई इंटेंसिटी वर्कआउट 

ये भी पढ़ें- Hyperthyroidism: हायपरथायरॉइडिज्म क्या है? जानें इसके कारण लक्षण और उपाय

6. प्रेग्नेंसी में सावधानी से खाएं कुछ चीजें

गर्भावस्था के दौरान कुछ खाद्य पदार्थों को खाने की मनाही होती है। जैसे-हाई मरकरी फिशेस (स्पेनिश मैकेरल, सैल्मन, मार्लिन या शार्क, किंग मैकेरल, स्मोक्ड ट्यूना, स्मोक्ड ट्राउट आदि), कच्चा मीट, कच्चा अंडा, पैक्ड सलाद, सीफूड आदि। इसके साथ ही एल्कोहॉल और स्मोकिंग भी प्रेग्नेंसी में न करें। हालांकि प्रेग्नेंसी में कुछ स्पेशल खाने की सलाह डॉक्टर भी नहीं देते लेकिन प्रेग्नेंसी में सावधानी बरतें और गलत चीजें खाने से बचें।

7. प्रेग्नेंसी में सावधानी बढ़ाएं और कैफीन को कहें बाय-बाय 

चाय, कॉफी और चॉकलेट जैसी चीजों में कैफीन होता है। गर्भावस्था के दौरान ज्यादा मात्रा में कैफीन लेने से मिसकैरेज का खतरा बढ़ सकता है। हालांकि, गर्भावस्था के दौरान रोजाना 200 मिलिग्राम तक कैफीन के सेवन को सुरक्षित माना गया है। अगर आप कॉफी लवर हैं तो आपको प्रेग्नेंसी में सावधानी बरतनी पड़ेगी और कैफीन का सेवन कम करना पड़ेगा क्योंकि अधिक कॉफी गर्भ में पल रहे बच्चे के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

8. प्रेग्नेंसी में सावधानी से खेलें स्पोर्ट्स 

अमेरिकन कॉलेज ऑफ ऑबस्टेट्रीशियन एंड गायनेकोलॉजिस्ट के अनुसार गर्भवती महिलाएं फुटबॉल या मुक्केबाजी जैसे खेलों से दूर रहें। इस तरह के स्पोर्ट्स से प्लेसेंटल अब्रप्शन का खतरा बढ़ सकता है, जिसमें जो गर्भाशय से नाल समय से पहले अलग हो जाती है। कोई भी ऐसे स्पोर्टस जिनसे आपके बेबी बंप को खतरा हो सकता है उन र्स्पोटस को खेलने से बचें और अपने बेबी को सुरक्षित रखें।

ये भी पढ़ें- प्रेग्नेंसी में न करें ये 9 एक्‍सरसाइज, गर्भवती और शिशु को पहुंचा सकती हैं नुकसान

प्रेग्नेंसी के दौरान आपको अपने खाने-पीने से लेकर लाइफस्टाइल तक में बदलाव लाना पड़ता है। प्रेग्नेंसी में सावधानी बरतना हर एक महिला के लिए जरूरी है। दरअसल, प्रेग्नेंसी के दौरान महिला के शरीर में कई परिवर्तन आते हैं, जिनकी वजह से होने वाली मां को भी अपने खाने-पीने से लेकर चलने-फिरने तक के तरीकों में बदलाव करना पड़ता है। मां और शिशु की अच्छी सेहत के लिए कुछ गतिविधियां (जैसे-भारी सामान उठाना, देर तक एक ही स्थिति में खड़े/बैठे रहना आदि) प्रेग्नेंसी में न करने की सलाह डॉक्टर देते हैं।

और पढ़ें:–

जानिए किस तरह हमारी ये 9 आदतें कर रही हैं सेहत के साथ खिलवाड़

साइनस (Sinus) को हमेशा के लिए दूर कर सकते हैं ये योगासन, जरूर करें ट्राई

हैंगओवर के कारण होती हैं उल्टियां और सिर दर्द? जानिए इसके घरेलू उपाय

7 तरीकों से संवारे अपने और सौतेले बच्चे के बीच के संबंध को

Share now :

रिव्यू की तारीख सितम्बर 7, 2019 | आखिरी बार संशोधित किया गया दिसम्बर 31, 2019

शायद आपको यह भी अच्छा लगे