home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

स्मोकिंग ही नहीं बल्कि प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स भी है खतरनाक

स्मोकिंग ही नहीं बल्कि प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स भी है खतरनाक

प्रेग्नेंसी के दौरान एल्कोहॉल, धूम्रपान, कैफीन और कुछ विशेष तरह के फूड प्रोडक्ट्स का सेवन करना मना होता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स भी बच्चे को नुकसान पहुंचा सकता है। शायद आप नहीं जानते होंगे कि प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स से मेकअप करना भी नुकसानदायक साबित हो सकता है। इस बारे में दिल्ली के सर गंगा राम हॉस्पिटल के डर्मेटोलॉजिस्ट रोहित बत्रा ने हैलो स्वास्थ्य से बात करते हुए बताया कि, “स्किन पर लगाए जाने वाले कॉस्मेटिक्स में मौजूद इंग्रीडेंट्स ब्लड में अवशोषित हो सकते हैं। ये प्लेसेंटा (भ्रूण के लिए रक्षा कवच की तरह कार्य करता है) में पहुंचकर गर्भ में पल रहे शिशु को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए प्रेग्नेंसी के समय मेकअप करते समय कुछ सावधानी बरतनी चाहिए।”

दरअसल प्रेग्नेंसी का समय बच्चे और मां के लिए बेहद संवेदनशील होता है। किसी भी चीज का असर गर्भ में पल रहे शिशु पर तुरंत होता है। इसी वजह से डॉक्टर्स, फूड हैबिट से लेकर काम करने के तरीकों तक में बदलाव की सलाह देते हैं। उसी तरह प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल में ऐतिहात बरतने को कहा जाता है। इनमें मौजूद केमिकल्स शिशु के विकास के लिए बाधक हो सकते हैं। जानते हैं प्रेग्नेंसी में कौन-से ब्यूटी प्रोडक्ट्स के उपयोग में सावधानी बरतनी चाहिए।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान वाॅटर ब्रेक होने पर क्या करें?

लिपस्टिक को कहें टाटा-बाय-बाय

प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स जिनमें लिपस्टिक सबसे ऊपर है उसको भूल ही जाएं। लिपस्टिक, कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में सबसे टॉप पर आती है लेकिन, प्रेग्नेंट महिलाओं को इसके उपयोग से बचना चाहिए। दरअसल, लिप कलर को लंबे समय तक टिकाने के लिए लेड का उपयोग किया जाता है। लेड की कुछ मात्रा खाने-पीने के दौरान शरीर के अंदर जा सकती है और भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकती है। इसलिए, कोशिश करें कि लिपस्टिक लगाने से बचें या लिपस्टिक लगाना भी चाहती हैं तो लेड-फ्री लिपस्टिक लगाएं। प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में आप चाहें कितनी भी महंगी लिपस्टिक लगा ले इसमें लेड की मिलावट होती है जो बच्चे के लिए बेहद खतरनाक साबित हो सकता है।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी के दौरान सेक्स करना सही या गलत?

एंटी-रिंकल क्रीम भी हो सकती है हानिकारक

प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में महलाएं एंटी-रिंकल क्रीम का इस्तेमाल भी करती है। कुछ महिलाओं के दिमाग में एक बात होती है कि मां बनने का मतलब बढ़ती उम्र से है। इस सोच के साथ वह प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स का इस्तेाल करने लगती हैं। गर्भावस्था के दौरान महिलाएं एंटी-रिंकल क्रीम को भी ब्यूटी प्रोडक्ट्स में तवज्जो देती हैं। लेकिन, इन ब्यूटी क्रीमों को मार्केट से खरीदने से पहले इनमें मौजूद इंग्रीडेंट्स को जरूर देखें। कई रिंकल क्रीम में रेटिनॉल पाया जाता है, जिससे शिशु में जन्मदोष हो सकता है। गर्भावस्था के दौरान किसी तरह की एंटी-रिंकल क्रीम का उपयोग करना चाहती हैं तो उसे क्रीम में शामिल इंग्रीडेंट्स की चर्चा डॉक्टर से जरूर करें। प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स को इस्तेमाल करने को लेकर अगर आप किसी सवाल से परेशान हैं तो अपने डॉक्टर से बाते करें।

और पढ़ें : 35 की उम्र में कर रहीं हैं प्रेग्नेंसी प्लानिंग तो हो सकते हैं ये रिस्क

प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स जैसे कि सनस्क्रीन से बचें

त्वचा को धूप से बचाने के लिए अमूमन महिलाएं सनस्क्रीन का इस्तेमाल करती हैं। मगर, कुछ सनस्क्रीन लोशन में रेटिनल पाल्मिटेट और विटामिन ए पाल्मिटेट जैसे तत्व होते हैं, जिनसे भ्रूण के विकास में समस्या आ सकती है। हालांकि, प्रेग्नेंसी के समय में हार्मोनल चेंजेस के चलते स्किन धूप के प्रति काफी सेंसिटिव हो सकती है इसलिए, धूप में बाहर निकलें तो फेस को ढंक कर रखें। इसके अलावा, नॉन-केमिकल सनस्क्रीन का उपयोग करें। हो सके तो सुबह 10 बजे से दोपहर दो बजे के बीच घर से बाहर निकलना इग्नोर करें। ऐसे सनस्क्रीन का इस्तेमाल करें, जिनमें जिंक ऑक्साइड और टाइटेनियम डाइऑक्साइड मौजूद हों। ये तत्व त्वचा में अवशोषित नहीं होते हैं। प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में सनस्क्रीन का इस्तेमाल कम करें और हो सके तो प्रेग्नेंसी के दौरान इसका इस्तेमाल बिल्कुल न करें।

और पढ़ें : प्रेग्नेंसी टेस्ट किट से मिले नतीजे कितने सही या गलत?

नो हेयर कलर

गर्भवती महिलाओं पर हेयर डाई के प्रभावों पर अभी पर्याप्त रिसर्च नहीं हैं, इसलिए कुछ डॉक्टर इनसे बचने की सलाह देते हैं। कुछ डॉक्टर्स मानते हैं कि हेयर कलर की छोटी मात्रा ही स्किन में अवशोषित होती है, जिससे शिशु को कोई नुकसान नहीं पहुंचता है। वहीं, अगर हेयर हाइलाइट्स का उपयोग स्कैल्प पर न किया जाए, तो इसका प्रभाव शिशु पर नहीं पड़ता है। सामान्यतौर पर, अमोनियायुक्त हेयर डाई और अन्य उपचारों से बचना चाहिए क्योंकि उसकी गंध से मतली हो सकती है। प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स की कड़ी में हेयर कलर भी है, कई महिलाओं को इस दौरान खुद में कई बदलाव देखने का मन होता है। कुछ महिलाएं इसके लिए हेयर कलर का इस्तेमाल करती हैं। लेकिन प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स से बचना चाहिए खासकर हेयर कलर से।

और पढ़ें : तो इस वजह से पैदा होते हैं, जुड़वां बच्चे

ऐसे नेल पेंट्स का न करें उपयोग

प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स में आप नेल पेंट का उपयोग करती होंगी। लेकिन शायद आप नहीं जानती हैं कि प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल आपके साथ आपके होने वाले बच्चे को भी नुकसान पहुंचा सकता है। गर्भावस्था के दौरान थैलेट के संपर्क में आने से बचना चाहिए। दरअसल, हेयर स्प्रे और नेल पेंट्स में थैलेट नाम का केमिकल होता है जिससे शिशु में जन्मदोष की संभावना बढ़ सकती है। किसी भी तरह के बुरे प्रभाव से बचने के लिए थैलेट-फ्री पॉलिश का इस्तेमाल करें और हेयरस्प्रे के बजाय हेयर जेल या हेयर मूज का उपयोग करें।

प्रेग्नेंसी के दौरान बहुत ज्यादा खुशबू वाले परफ्यूम और डिओ जैसे प्रोडक्ट्स से बचना चाहिए। इनका इस्तेमाल कम से कम करें तो बेहतर होगा। ज्यादातर डिओ और परफ्यूम्स में नुकसानदेह केमिकल्स होते हैं। इनके इस्तेमाल से ये हानिकारक केमिकल्स त्वचा में प्रवेश करके होने वाले शिशु को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसका मतलब यह नहीं है कि गर्भावस्था के दौरान आपको खूबसूरत दिखने का हक नहीं है। बस गर्भवती महिलाएं किसी भी तरह के कॉस्मेटिक्स को इस्तेमाल में लाने से पहले, डॉक्टर से जरूर सलाह लें और ब्यूटी प्रोडक्ट्स खरीदते समय उसके इंग्रीडेंट्स को जरूर चेक करें। प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स को ज्यादा से ज्यादा अवॉयड करें और किसी भी तरह की कंफ्यूजन के लिए अपने डॉक्टर से बात करें।

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और प्रेग्नेंसी में कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

health-tool-icon

ड्यू डेट कैलक्युलेटर

अपनी नियत तारीख का पता लगाने के लिए इस कैलक्युलेटर का उपयोग करें। यह सिर्फ एक अनुमान है - इसकी गैरेंटी नहीं है! अधिकांश महिलाएं, लेकिन सभी नहीं, इस तिथि सीमा से पहले या बाद में एक सप्ताह के भीतर अपने शिशुओं को डिलीवर करेंगी।

सायकल लेंथ

28 दिन

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र
SAFE USE OF COSMETICS AND PERSONAL CARE PRODUCTS DURING PREGNANCY/https://www.ifwip.org/pregnancy-cosmetics/

Changes in Cosmetics Use during Pregnancy and Risk Perception by Women/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4847045/

Safety of skin care products during pregnancy/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3114665/
H.R.6903 – Safe Cosmetics and Personal Care Products Act of 2018/https://www.congress.gov/bill/115th-congress/house-bill/6903/text
लेखक की तस्वीर
Shikha Patel द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 04/08/2020 को
Mayank Khandelwal के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड
x