आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

झुर्रियों को कम करने के लिए आजमाएं एसेंशियल ऑयल!

    झुर्रियों को कम करने के लिए आजमाएं एसेंशियल ऑयल!

    जैसे-जैसे लोगों की उम्र बढ़ती है, त्वचा अपनी रौनक और कसावट खोने लगती है। एंटी एजिंग और रिंक्लस एक नैचुरल प्रॉसेज है, जिसके कारण माथे, मुंह और आंखों के आसपास चेहरे पर झुर्रियां और महीन रेखाएं दिखाई देने लगती हैं। ऐसे में झुर्रियों के लिए एसेंशियल ऑयल (Essential oil for wrinkles) काफी फायदेमंद माने जाते हैं। हालांकि एसेंशियल ऑयल झुर्रियों को पूरी तरह से खत्म नहीं करते हैं, लेकिन हां, वे ऐजिंग प्रॉसेज और फाइन लाइंस को कम करते हैं। ये ऑयल्स कैमिकल युक्त क्रीम और लोशन के लिए प्राकृतिक विकल्प भी हैं। जानिए यहां कि एसेंशियल ऑयल क्या है और झुर्रियों के लिए एसेंशियल ऑयल (Essential oil for wrinkles) कैसे प्रभावकारी है।

    और पढ़ें: एसेंशियल हायपरटेंशन : क्या आप जानते हैं हाय ब्लड प्रेशर के इस प्रकार के बारे में?

    एसेंशियल ऑयल (essential oil) क्या हैं?

    एसेंशियल ऑयल लाभकारी पौधों के लिक्विड एक्सट्रैक्ट होते हैं। जिन पौधों से ये बनाए जाते हैं उनकी तुलना में इनसे बने तेलों में ज्यादा स्ट्रांग स्मेल होती है। इसके साथ ही इनमें एक्टिव इंग्रेडिएंट्स (active ingredients) भी उच्च स्तर में मौजूद होते हैं। एसेंशियल ऑयल को निकालने के कई तरीके हैं जैसे- स्टीम या वाटर डिस्टिलेशन (distillation) या मैकेनिकल मेथड जैसे कोल्ड प्रेसिंग (cold pressing) से निकाला जाता है।

    और पढ़ें: 7 एंटी एजिंग फूड्स जो बढ़ती उम्र के प्रभाव को कर सकते हैं कम!

    झुर्रियों के लिए एसेंशियल ऑयल (Essential oil to reduce wrinkles)

    एंटी एजिंग प्रॉसेज को कम करने के लिए एसेंशियल ऑयल प्रभावकारी माना जाता है। झुर्रियों के लिए एसेंशियल ऑयल में कौन से ऑयल हैं, इनके बारे में जानिए यहां:

    झुर्रियों के लिए एसेंशियल ऑयल में लेमेनग्रास ऑयल (Lemongrass oil)

    एसेंशियल ऑयल में लेमनग्रास ऑयल भी काफी प्रभावी माना जाता है। लैमेन अपने विटामिन सी गुणों के लाभों के लिए जाना जाता है। हालांकि, उम्र बढ़ने के संकेतों को कम करने में मदद करने के लिए विभिन्न प्रकार के स्किन केयर प्रोडक्ट्स में नींबू के तेल का भी उपयोग किया जाता है, जैसे कि एंटी एजिंग प्रोडक्ट्स में जरूर। लैमेन ऑयल सन डैमेज को रोकने में भी मदद कर सकता है, जिससे झुर्रियां हो सकती हैं।

    और पढ़ें: एजिंग कम्युनिटी क्या है? एजिंग के चरणों के बारे में जानना न भूलें

    सैंडलवुड ऑयल (Sandalwood oil)

    झुर्रियों के लिए एसेंशियल ऑयल सैंडलवुड ऑयल भी अच्छा है। चंदन को त्वचा के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। इसमें कई इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। इन गुणों के अलावा, चंदन त्वचा को नमी मदद पहुंचाने में मदद करता है। इसके एंटी-इंफ्लेमेटरी के अलावा एंटी-माइक्रोबियल, एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-टैनिंग, एंटी-वायरल जैसे तमाम गुण पाए जाते हैं, जो स्किन हेल्थ के लिए फायदेमंद होते हैं। इसके अलावा, नींद न आने की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए इसका उपयोग मददगार हो सकता है। तंत्रिकाओं को शांत करने और ध्यान केंद्रित करने में भी यह फायदेमंद होता है।

    और पढ़ें: एजिंग को मात देने के लिए क्या आप इन न्यूट्रिएंट्स से कर चुके हैं दोस्ती?

    अनार का तेल (Pomegranate oil)

    अनार एक फल है, लेकिन इसके अनार के तेल के बारे में लोग बहुत कम जानते होंगे। लोग अक्सर पोषक तत्वों से भरपूर अनार खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों में उपयोग करते हैं। अनार का तेल ऑक्सिडेटिव तनाव को कम कर सकता है, जो नई झुर्रियों को उत्पन्न करने में रोकता है। इसके अलावा अनार के तेल के इस्तेमाल से त्वचा में सनस्पॉट की समस्या कम हाेती है और त्वचा में होने वाली सूजन को भी कम करता है।

    और पढ़ें: पालक से शिमला मिर्च तक 8 हरी सब्जियों के फायदों के साथ जानें किन-किन बीमारियों से बचाती हैं ये

    Peppermint oil

    लैवेंडर ऑयल (Lavender oil)

    लैवेंडर को थेराप्यूटिक और क्यूरेटिव गुणों की वजह से जाना जाता है। यह एक प्रभावकारी एसेंशियल ऑयल है, जोकि एंटी एजिंग को कम करता है। इसके अलावा यह त्वचा में टोनिंग और ग्लोंइंग का भी काम करता है। इसके अलावा लैवेंडर ऑयल मस्तिष्क में ऑक्सिडेटिव तनाव से बचाने में मदद करता है। जिससे त्वचा पर होने पर झुर्रियों और महीन रेखाओं को भी कम होने में मदद मिलती है। लेकिन, कुछ लोगों को लैवेंडर से एलर्जी होती है। त्वचा पर कोई भी नया पदार्थ लगाने से पहले पैच टेस्ट करने की सलाह दी जाती है।

    और पढ़ें: मेनोपॉज का आयुर्वेदिक उपचार: हाॅर्मोन और एजिंग के साथ मेनोपाॅज प्रॉसेज को करें धीमा!

    रोजमेरी ऑयल (Rosemary oil)

    रोजमेरी एक जड़ी बूटी है, जो अपने विशिष्ट स्वाद के साथ-साथ इसके एंटीऑक्सीडेंट और एंटीमाइक्रोबायल गुणों के लिए जानी जाती है। रोजमेरी के एंटीऑक्सिडेंट त्वचा से एजिंग प्रॉसेज को रोककर झुर्रियों को रोकने में मदद कर सकते हैं। रोजमेरी ऑयल के इस्तेमाल से त्वचा गलोइंग बनती हैं। इससे त्वचा में कसावट भी आती है।

    और पढ़ें: हेल्दी बने रहने के लिए जानें सर्दियों में कौन-कौन से फल व सब्जियों का करें सेवन

    लोबान से बना ऑयल (Frankincense oil)

    एक अध्ययन में पाया गया कि लोबान किसी व्यक्ति की त्वचा पर निशान और खिंचाव के निशान की उपस्थिति को कम करने में प्रभावी रहा है। झुर्रियों और महीन रेखाओं पर इसका समान प्रभाव हो सकता है। इसके अलावा, लोबान मदद कर सकता है, त्वचा को टोन करने में और नई त्वचा कोशिका वृद्धि करने में।

    रोज ऑयल (Rose Oil)

    अध्ययनों से पता चलता है कि रोज ऑयल में एंटीऑक्सिडेंट और एंटी इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। जिससे त्वचा में होने वाली सूजन और लाली को कम करने में मदद मिल सकती है। गुलाब का तेल त्वचा की नई कोशिकाओं के निमार्ण के लिए विशेष रूप से सहायक हो सकता है, जो त्वचा को लंबे समय तक जवां बनाए रखता है।

    और पढ़ें: Eczema On Black Skin: गहरी रंग की स्किन में एक्जिमा की समस्या का क्या होता है असर, जानिए यहां

    झुर्रियों के लिए एसेंशियल ऑयल के जोखिम (Risks of essential oil)

    झुर्रियों के लिए एसेंशियल ऑयल फायदेमंद माने जाते हैं। लेकिन आवश्यक तेलों से जुड़े जोखिम अक्सर एलर्जी से संबंधित होते हैं, जिसके परिणामस्वरूप दाने या खुजली होती है। एलर्जी की प्रतिक्रिया के अन्य लक्षणों में शामिल हैं:

    कुछ मामलों में, एलर्जी रिएक्शन गंभीर हो सकते हैं और एनाफिलेक्सिस का कारण बन सकते है। यदि कोई व्यक्ति गंभीर लक्षणों का अनुभव करता है या उसे सांस लेने में परेशानी हो रही है, तो उसे तत्काल चिकित्सा सहायता लेनी चाहिए।

    और पढ़ें:Coconut Oil Detox: बढ़ते वजन और इंफेक्शन से बचाने में सहायक है कोकोनट ऑयल डिटॉक्स प्रक्रिया!

    झुर्रियों को कम करने के अन्य उपाय (Other ways to reduce wrinkles)

    अन्य उत्पाद, जैसे मॉइस्चराइजर और क्रीम, झुर्रियों को कम करने में मदद कर सकते हैं। झुर्रियों की समस्या को कम करने में मदद के लिए कई ब्यूटी प्रोडक्ट भी उपलब्ध हैं। इन उत्पादों में शामिल हैं:

    • क्रीम
    • लोशन
    • माइल्ड सोप
    • फेस मास्क

    और पढ़ें: Stretch Marks Cream After Delivery : डिलिवरी के बाद है स्ट्रेच मार्क्स की समस्या, तो अपनाएं ये क्रीम!

    झुर्रियों के विकास को धीमा करने के लिए इन बातों का भी ध्यान रखना आवश्यक है:

    • धूम्रपान से परहेज
    • धूप में ज्यादा समय बिताने से बचना
    • खुद को हायड्रेटेड रखना
    • ऐसे खाद्य पदार्थ खाना जो एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर हों

    एसेंशियल ऑयल त्वचा से झुर्रियों को कम करने के साथ, एंटी एजिंग के अन्य लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते हैं। इनके अन्य लाभों में शामिल है:

    • सूजन कम करें
    • शुष्क हवा या धूप के संपर्क से त्वचा की रक्षा करें
    • कोलेजन बूस्ट करना
    • एक समान त्वचा का रंग

    और पढ़ें: Face Wash For Oily Skin: ऑयली स्किन के लिए कौन-से फेसवॉश का किया जा सकता है इस्तेमाल?

    हालांकि, आवश्यक तेलों के काम करने की गारंटी नहीं है, न ही वे पहले से मौजूद झुर्रियों को पूरी तरह से खत्म कर देंगे। आमतौर पर एसेंशिल ऑयल के इस्तेमाल के एजिंग प्रॉसेज धीमी और फाइन लाइंस कम होती है। लेकिन यह जरूरी नहीं है कि सभी प्रकार के एसेंशियल ऑयल सभी को सूट करे। इसके लिए इस्तेमाल से पहले इसे त्वचा के अलावा शरीर के अन्य हिस्से, जैसे कि हाथों में टेस्ट कर लें। किसी प्रकार की एलर्जी होने पर इसका इस्तेमाल न करें। झुर्रियों के लिए एसेंशियल ऑयल के इस्तेमाल के बारे में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से संपर्क करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Essential Oils

    https://www.niehs.nih.gov/health/topics/agents/essential-oils/index.cfm.  Accessed On 17 May 2022.

    a novel antioxidant from lemon oil capable of inhibiting oxidative damage to the skin
    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pubmed/10713866 Accessed On 17 May 2022.

     Evaluation of the antioxidant and antimicrobial activities of clary sage
    http://citeseerx.ist.psu.edu/viewdoc/download?doi=10.1.1.322.6512&rep=rep1&type=pdf Accessed On 17 May 2022.

    Essential Oils: New Perspectives in Human Health and Wellness.

    https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC4090492/. Accessed On 17 May 2022.

    Shutes, J. (n.d.). Methods of application
    https://naha.org/explore-aromatherapy/about-aromatherapy/methods-of-application/ Accessed On 17 May 2022.

     

    लेखक की तस्वीर badge
    Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 18/05/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
    Next article: