Natural Ways To Increase Glutathione: जानिए ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका और इसके फायदे!

    Natural Ways To Increase Glutathione: जानिए ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका और इसके फायदे!

    त्वचा की देखभाल के लिए हमसभी कई तरह के विकल्पों को अपनाते हैं, जिससे त्वचा की रौनक बनी रहे। वहीं कुछ ऐसे भी तत्व होते हैं, जो नैचुरली त्वचा में मौजूद होते है, जिससे त्वचा आकर्षक दिखती है। इसलिए आज इस आर्टिकल में स्किन में नैचुरल तरीके से मौजूद ग्लूटाथियोन के बारे में समझेंगे। वहीं अगर ग्लूटाथियोन में कमी आ जाए तो क्या करना चाहिए इसे भी समझेंगे। तो चलिए जानते हैं ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका (Natural Ways To Increase Glutathione) क्या है, जिससे इसकी कमी को दूर करने में मदद मिले।

    • ग्लूटाथियोन क्या है?
    • ग्लूटाथियोन के कमी के कारण क्या हो सकते हैं?
    • ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका क्या है, जिससे इसे बढ़ाया जा सके?

    चलिए अब ग्लूटाथियोन से जुड़े इन सवालों का जवाब जानते हैं।

    और पढ़ें: Non Cancerous Skin Tags: जानिए नॉन कैंसरस स्किन टैग से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी!

    ग्लूटाथियोन (Glutathione) क्या है?

    ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका (Natural Ways To Increase Glutathione)

    ग्लूटाथियोन नैचुरल तरीके से सेल्स में मौजूद रहने वाला एंटीऑक्सिडेंट (Antioxidant) है, जो त्वचा को अंदर से निखारने में सहायक होता है। कभी-कभी ग्लूटाथियोन की कमी भी हो जाती है, जिससे त्वचा (Skin) बेजान दिखने लगती है। ऐसी स्थिति में ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका (Natural Ways To Increase Glutathione) अपनाया जा सकता है, जिससे स्किन में एकबार फिर से रौनक आ सकती है। ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका क्या है, इसके बारे में आगे समझेंगे, लेकिन सबसे पहले ग्लूटाथियोन के कमी का कारण क्या हो सकता है इसे समझने की कोशिश करते हैं।

    और पढ़ें : Home Remedies For Old Scar: जानिए पुराने से पुराने निशान के लिए घरेलू उपचार!

    ग्लूटाथियोन (Glutathione) कैसे काम करता है?

    ग्लूटाथियोन मेलेनिन को कम करने में मददगार होता है। दरअसल मेलेनिन की वजह से ही त्वचा का रंग निर्धारित होता है लेकिन, इसके सेवन से स्किन पर चमक आती है और आपका रंग गोरा हो जाता है। इसे शरीर का मास्टर एंटीऑक्सिडेंट भी कहा जाता है। ग्लूटाथियोन शरीर टॉक्सिन से फ्री रखने में मददगार होता है और रेडिकल्स से भी बचाता है। इसके सेवन से इम्यूनिटी पावर (Immune power) स्ट्रॉन्ग होती है। ग्लूटाथियोन टैबलेट के साथ-साथ इसके सीरम का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। इससे त्वचा पर चमक आती है और आपकी खूबसूरती और ज्यादा बढ़ जाती है।

    ग्लूटाथियोन के कमी के कारण क्या हो सकते हैं? (Cause of Low Glutathione)

    ग्लूटाथियोन के कमी के कारण निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

    • बॉडी में न्यूट्रिशन (Poor nutrition) की कमी होना।
    • तनाव (Stress) में रहना।
    • वातावरण में मौजूद टॉक्सिन (Environmental toxins)।
    • उम्र (Age) बढ़ना।

    ग्लूटाथियोन के कमी के कारण ये ऊपर बताई स्थितियां हो सकती हैं, लेकिन नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका (Natural Ways To Increase Glutathione) अपनाया जा सकता है, जिससे ग्लूटाथियोन लेवल को बढ़ाने में मदद मिल सकती है।

    ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका क्या है, जिससे इसे बढ़ाया जा सके? (Natural Ways To Increase Glutathione)

    ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका अपनाने के लिए निम्नलिखित टिप्स को फॉलो किये जा सकते हैं। जैसे:

    सल्फर युक्त खाद्य पदार्थों का सेवन (Eat sulfur rich foods)

    एनसीबीआई (NCBI) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार सल्फर युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से ग्लूटाथियोन लेवल को नैचुरली बढ़ाने (Natural Ways To Increase Glutathione) में मदद मिल सकती है। इसलिए अपने डायट में मशरूम (Mushroom), प्याज (Onion), लहसुन (Garlic), ब्रोकली (Broccoli), केल (Kale), पत्ता गोभी (Cabbage), चावल (Rice), ब्रेड (Bread) और पास्ता (Pasta) को शामिल कर सकते हैं। वहीं अगर आप मीट (Meat), अंडा (Eggs) या मछली (Fish) खाना पसंद करते हैं, तो इसका भी सेवन कर सकते हैं।

    और पढ़ें : Telangiectasia: स्किन से जुड़ी समस्या टेलंगीक्टेसिया क्या है?

    डेयरी प्रॉडक्ट्स (Dairy products)

    डेयरी प्रॉडक्ट्स में मौजूद प्रोटीन बीटा-कैसिइन (Protein beta-casein) में ग्लूटाथियोन लेवल बढ़ाने की क्षमता होती है। डेयरी प्रॉडक्ट्स में मौजूद प्रोटीन बीटा-कैसिइन की अलग-अलग वरायटी होती है, जिसे A1 और A2 कहते हैं। इन दोनों का शरीर पर अलग-अलग तरह से प्रभाव पड़ता है। रिसर्च रिपोर्ट्स के अनुसार A2 बीटा-कैसिइन (A2 beta-casein) ग्लूटाथियोन लेवल को ज्यादा बढ़ाने में सक्षम माना गया है। इसलिए अगर आप ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका (Natural Ways To Increase Glutathione) ढूंढ़ रहें हैं, तो डेयरी प्रॉडक्ट्स का सेवन कर सकते हैं।

    एक्सरसाइज (Exercise)

    ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका (Natural Ways To Increase Glutathione) अपना रहें हैं, तो इस लिस्ट में एक्सरसाइज (Exercise) को भी जरूर शामिल करें। साइंस डायरेक्ट (ScienceDirect) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार नियमित एक्सरसाइज से ग्लूटाथियोन लेवल को बढ़ाने में सहायत है। इसलिए रेगुलर फिजिकल एक्टिविटी (Regular physical activity) और एक्सरसाइज (Exercise) से ग्लूटाथियोन लेवल को बढ़ाया जा सकता है।

    व्हेय प्रोटीन (Whey protein)

    रिसर्च रिपोर्ट्स के अनुसार व्हेय प्रोटीन (Whey protein) में सिस्टीन (Cysteine) मौजूद होता है। इस प्रोटीन के सेवन से ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस (Oxidative stress) में कमी आती है और ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका भी है। इसलिए व्हेय प्रोटीन (Whey protein) का सेवन किया जा सकता है।

    और पढ़ें : हाइड्रोजन पेरोक्साइड और स्किन कंडिशन: क्यों स्किन के लिए हाइड्रोजन पेरोक्साइड का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए?

    ग्लूटाथियोन के फायदे क्या हैं? (Benefits of Glutathione)

    ग्लूटाथियोन के फायदे निम्नलिखित हो सकते हैं। जैसे:

    • त्वचा जवां-जवां दिखती है।
    • चेहरे पर हुए दाग-धब्बों (Spots) से छुटकारा मिलता है।
    • इससे त्वचा का रंग साफ होता है।
    • स्किन से झुर्रियां (Wrinkles) कम होती है और चेहरे पर सॉफ्टनेस बनी रहती है।

    ये हैं ग्लूटाथियोन लेवल (Glutathione level) बढ़ने से होने वाले फायदे।

    ग्लूटाथियोन लेवल की पूर्ति के लिए खाद्य पदार्थों के सेवन के साथ-साथ ग्लूटाथियोन सप्लिमेंट्स भी डॉक्टर प्रिस्क्राइब कर सकते हैं। कभी-कभी ग्लूटाथियोन सप्लिमेंट्स (Glutathione supplement) के सेवन से चेहरे पर रैश की भी समस्या हो सकती है।

    और पढ़ें : Skin Lesions: स्किन लीजन क्या है? जानिए स्किन लीजन का कारण, इलाज और घरेलू उपाय

    नोट: ग्लूटाथियोन सप्लिमेंट्स अगर इन्हेल करना चाहते हैं, लेकिन आप अस्थमा की समस्या से पीड़ित हैं, तो इसके सेवन पहले डॉक्टर को अपने हेल्थ कंडिशन के बारे में बताएं। वहीं अगर आप किसी भी तरह के दवा या सप्लिमेंट्स का सेवन कर रहें हैं, तो इसकी भी जानकारी डर्मेटोलॉजिस्ट को दें। ऐसा करने से आप किसी भी तरह से साइड इफेक्ट्स से बच सकती हैं।

    उम्मीद करते हैं कि ग्लूटाथियोन के लिए नैचुरल तरीका (Natural Ways To Increase Glutathione) एवं ग्लूटाथियोन से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में ग्लूटाथियोन (Glutathione) से जुड़े कोई सवाल हैं, तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें। इसके साथ ही आप स्किन केयर कैसे करती हैं यह भी जानकारी शेयर कर सकती हैं ।

    आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज के बारे में जानें संपूर्ण जानकारी नीचे दिए इस वीडियो लिंक को क्लिक कर। आयुर्वेदिक ब्यूटी एक्सपर्ट पूजा नागदेव खास जानकारी साझा कर रहीं हैं आयुर्वेदिक ब्यूटी रेमेडीज की, जिससे आप आसानी से अपना सकती हैं और चेहरे पर एक्ने के दाने या अन्य दाग-धब्बों को दूर करने के उपाय।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    The contribution of alliaceous and cruciferous vegetables to dietary sulphur intake/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5460521/Accessed on 25/03/2022

    Roles of sedentary aging and lifelong physical activity in exchange of glutathione across exercising human skeletal muscle/https://www.sciencedirect.com/science/article/abs/pii/S089158491400224X?via%3Dihub/Accessed on 25/03/2022

    A Review of Dietary (Phyto)Nutrients for Glutathione Support/https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6770193/Accessed on 25/03/2022

    Glutathione, Oxidative Stress and Mitochondrial Function in COVID-19/https://clinicaltrials.gov/ct2/show/NCT04703036/Accessed on 25/03/2022

    FDA highlights concerns with using dietary ingredient glutathione to compound sterile injectables/https://www.fda.gov/drugs/human-drug-compounding/fda-highlights-concerns-using-dietary-ingredient-glutathione-compound-sterile-injectables/Accessed on 25/03/2022

    लेखक की तस्वीर badge
    Nidhi Sinha द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 26/03/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड