स्किन सिस्ट क्या है? जानिए इसके उपचार के बारे में यहां.....

    स्किन सिस्ट क्या है? जानिए इसके उपचार के बारे में यहां.....

    कई बार हमारी त्वचा में छोटी-छोटी गांठें पड़ जाती है, जिसे हम स्किन सिस्ट (Skin Cyst) कहते हैं। स्किन सिस्ट यानि कि त्वचा में होने वाली गांठ, जो शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकती हैं। इनमें से कुछ बाद में कैंसर का रूप ले सकती हैं। स्किन सिस्ट की समस्या होने पर त्वचा में मोटा और उभरापन महसूस होने लगता है। सिस्ट के बाहरी (कैप्सुलर) हिस्से को सिस्ट वॉल कहते हैं। कई बार इसमें मवाद भी भर जाता है और इसमें इंफेक्शन भी हो सकता है। यह लेख में जानिए त्वचा में होने वाले विभिन्न प्रकार के स्किन सिस्ट (Skin Cyst), उनके कारणों और लक्षणों के बारे में।

    और पढ़ें: महिलाओं में इंसुलिन रसिस्टेंस के लिए एक्सरसाइज के संबंध में क्या कहती है स्टडी?

    स्किन सिस्ट के क्या कारण हैं (What are the causes of cyst?)

    स्किन सिस्ट आम हैं और शरीर पर कहीं भी हो सकते हैं। वे अक्सर संक्रमण, बंद वसामय ग्रंथियों, या छेदन का परिणाम होते हैं। सिस्ट के कुछ अन्य सामान्य कारणों में शामिल हैं:

    और पढ़ें: प्रेग्नेंसी के दौरान ओवेरियन सिस्ट्स नहीं बनती परेशानी का कारण, इस ट्राइमेस्टर तक अपने आप हो सकती हैं ठीक

    स्किन सिस्ट के लक्षण (Symptoms of cysts)

    इसके लक्षण इस बात पर निर्भर करते हैं कि यह सिस्ट किस प्रकार का है। प्रकार के आधार पर इसके संकेत और लक्षण व्यापक रूप से भिन्न होंगे। कई मामलों में, एक व्यक्ति को पहले एक असामान्य गांठ के बारे में पता चलता है, खासकर जब सिस्ट त्वचा के ठीक नीचे होती है। इसके अलावा कई आंतरिक सिस्ट, जैसे कि गुर्दे या यकृत में होने वाले सिस्ट में कोई लक्षण नहीं होते हैं। इसके लिए कई बार इमेजिंग स्कैन – जैसे एमआरआई, सीटी, या अल्ट्रासाउंड स्कैन में इनका पता लगाता है। शरीर के जिस हिस्से में दर्द की समस्या होती है, वहां की त्वचा में कसाव और दर्द महसूस हो सकता है। जैसे कि मस्तिष्क में सिस्ट होने पर सिरदर्द और अन्य लक्षण पैदा कर सकते हैं। इसी तरह ब्रेस्ट सिस्ट होने पर भी उस हिस्से में दर्द हो सकता है।

    और पढ़ें: टाइप 2 डायबिटीज के ओबेस पेशेंट्स में एक्सरसाइज कैपेसिटी को लेकर क्या कहती है रिसर्च? जानें

    स्किन सिस्ट के प्रकार (Type of cyst)

    आपको किस प्रकार की स्किन सिस्ट की समस्या हुई है? इसका जवाब इस बात पर निर्भर करता है कि आपको शरीर के किस हिस्से में स्किन सिस्ट की समस्या हुई है। स्किन सिस्ट के कुछ सबसे आम प्रकार के सिस्ट में शामिल हैं:

    सिस्टिक एक्ने (Cystic acne)

    इसे सिस्टिक एक्ने या नोड्युलोसिस्टिक एक्ने भी कहते हैं, जोकि मुंहासे का एक गंभीर प्रकार है। जिसमें त्वचा के छिद्र अवरुद्ध हो जाते हैं, जिससे संक्रमण और सूजन हो जाती है।

    एरेकनॉइड सिस्ट (Arachnoid cyst)

    एरेकनॉइड सिस्ट नवजात शिशुओं को प्रभावित कर सकते हैं। एरेकनॉइड झिल्ली मस्तिष्क को कवर करती है। भ्रूण के विकास के दौरान, यह मस्तिष्कमेरु द्रव की असामान्य रूप से दोगुना या विभाजित हो जाता है। कुछ मामलों में, एक डॉक्टर को सिस्ट से पस को निकालने की आवश्यकता हो सकती है।

    और पढ़ें:Best Toner For Oily Skin: महिलाओं और पुरुषों के ऑयली स्किन के लिए बेस्ट टोनर!

    बार्थोलिन के सिस्ट (Bartholin’s cyst)

    बार्थोलिन के सिस्ट तब हो सकते हैं जब बार्थोलिन ग्रंथि की नलिकाएं, जो योनि के अंदर स्थित होती हैं, अवरुद्ध हो जाती हैं। इस प्रकार की सिस्ट में डॉक्टर उपचार के रूप में सर्जरी या प्रिस्क्रिप्शन एंटीबायोटिक दवाओं की सिफारिश हो सकती है।

    ब्रेस्ट सिस्ट (Breast cyst)

    स्तन के सिस्ट आम हैं और दर्दनाक हो सकते हैं, लेकिन उन्हें आमतौर पर किसी उपचार की आवश्यकता नहीं होती है। महिलाओं में, ये सिस्ट मासिक धर्म के दौरान विकसित या आकार में बदलाव ले सकते हैं और यह अक्सर अपने आप ही गायब हो जाते हैं। हालांकि, अगर डॉक्टर असुविधा और दर्द होने पर इसके अंदर के तरल पदार्थ निकाल सकते हैं। अमेरिकन कैंसर सोसाइटी के अनुसार, साधारण सिस्ट स्तन कैंसर के खतरे को नहीं बढ़ाते हैं।

    कोलाइड सिस्ट (Colloid cyst)

    कोलाइड सिस्ट मस्तिष्क में विकसित होते हैं और इनमें जिलेटिनस पदार्थ होते हैं। डॉक्टर अक्सर उपचार के रूप में शल्य चिकित्सा हटाने की सलाह देते हैं।

    और पढ़ें:ऑयली स्किन के लिए ढूढ़ रही हैं बेस्ट मॉश्चराइजर, तो यहां मिलेगी आपको जानकारी!

    डर्मोइड सिस्ट (Dermoid cyst)

    डर्मोइड सिस्ट में परिपक्व त्वचा, बालों के रोम, पसीने की ग्रंथियां और लंबे बालों के गुच्छे के की तरह होता है। इसी के साथ ही इसमें वसा और थायरॉयड ऊतक शामिल होते हैं।

    गैंग्लियन सिस्ट (Ganglion cyst)

    गैंग्लियन सिस्ट छोटे, हानिरहित सिस्ट होते हैं जो टेंडन के जोड़ या कवर पर या उसके पास बनते हैं। वे आमतौर पर कलाई पर विकसित होते हैं, लेकिन हाथ, पैर, टखने या घुटने पर भी दिखाई दे सकते हैं।

    किडनी सिस्ट (kidney cyst)

    किडनी सिस्ट या रीनल सिस्ट कई प्रकार के होते हैं। इन सिस्ट में तरल पदार्थ भर जाते हैं, जिनमें कभी-कभी रक्त भी शामिल होता है। कई बार गुर्दे के रोगों वाले लोगों में सिस्ट हो सकते हैं जो रक्त वाहिकाओं के फैलाव के कारण बनते हैं।

    और पढ़ें:डायबिटीज और कार्डियोवैस्कुलर सिस्टम कैसे हैं एक-दूसरे से जुड़े हुए? पढ़ें ये आर्टिकल और जानिए!

    पेरीएपिकल सिस्ट (Periapical cyst)

    पेरीएपिकल सिस्ट, जिसे रेडिकुलर सिस्ट के रूप में भी जाना जाता है, ओडोन्टोजेनिक सिस्ट का सबसे आम प्रकार है, जो दांतों के निर्माण और विकास से संबंधित हैं। ये सिस्ट आमतौर पर पल्प की सूजन, पल्प डेथ या दांतों की सड़न के कारण विकसित होते हैं।

    पिलर सिस्ट (Pillar cyst)

    पिलर सिस्ट को ट्राइचिलेम्मल सिस्ट के रूप में भी जाना जाता है। वे द्रव से भरे सिस्ट होते हैं जो बालों के रोम से बनते हैं, और वे आमतौर पर खोपड़ी में विकसित होते हैं।

    पिलोनाइडल सिस्ट (Pilonidal cyst)

    पिलोनाइडल सिस्ट टेलबोन या पीठ के निचले हिस्से के पास की त्वचा में बनते हैं और इनमें कभी-कभी अंतर्वर्धित बाल होते हैं। ये सिस्ट गुच्छों में विकसित हो सकते हैं, जो कभी-कभी त्वचा में एक छेद या गुहा बनाते हैं।

    और पढ़ें: डायबेटिक्स का स्किनकेयर: डायबिटीज से पीड़ित लोग इस तरह से करें अपनी त्वचा की देखभाल!

    स्किन सिस्ट का उपचार (Skin cyst treatment)

    स्किन सिस्ट का उपचार के विकल्प कई कारकों पर निर्भर करेंगे, जिसमें पुटी का प्रकार, यह कहां है, इसका आकार और इसके कारण होने वाली परेशानी की डिग्री शामिल है। बहुत बड़े सिस्ट के लिए जो लक्षण पैदा कर रहे हैं, डॉक्टर सर्जिकल हटाने की सिफारिश कर सकते हैं। कभी-कभी, वे गुहा में सुई या कैथेटर डालकर पुटी को बाहर निकाल सकते हैं। यदि पुटी आसानी से सुलभ नहीं है, तो वे सुई या कैथेटर को सटीक रूप से निर्देशित करने के लिए रेडियोलॉजिक इमेजिंग का उपयोग कर सकते हैं। कभी-कभी, एक डॉक्टर माइक्रोस्कोप के तहत निकाले गए तरल की जांच करवाने के लिए बोल सकते हैं ताकि यह निर्धारित किया जा सके कि कोई कैंसर कोशिकाएं मौजूद हैं या नहीं। यदि उन्हें संदेह है कि सिस्ट कैंसर वाले हैं, तो उसे चिकित्सा द्वारा हटाने का सुझाव दे सकते हैं।

    सिस्ट की बायोप्सी का आदेश दे सकते हैं। स्किन सिस्ट की कई बार पुरानी या अंतर्निहित चिकित्सा स्थिति के परिणामस्वरूप विकसित हो सकते हैं, जैसा कि फाइब्रोसिस्टिक स्तन रोग या पॉलीसिस्टिक अंडाशय सिंड्रोम के मामले में हो सकता है। ऐसे मामलों में, उपचार का ध्यान चिकित्सा स्थिति पर ही होगा, सिस्ट पर नहीं। स्किन स्किन के उपचारों के बारे में अधिक जानकारी के लिए डाॅक्टर से बात करें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    लेखक की तस्वीर badge
    Niharika Jaiswal द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 24/01/2022 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड