जरूर जानें हेयर हाईलाइट के अलग-अलग तरीके और इससे जुड़े फैक्ट

Medically reviewed by | By

Update Date फ़रवरी 5, 2020 . 4 mins read
Share now

सभी 10 में आठ महिला और पुरुष हेयर हाईलाइट करवाना पसंद करते हैं। लेकिन, बालों को हाईलाइट कराने के लिए कई बातों का ख्याल रखना पड़ता है। आमतौर पर लोग बालों को हाईलाइट कराने के लिए पार्लर में जाते हैं और अपने पंसदीदा रंग में बालों को हाईलाइट करा लेते हैं, जो सरारस गलत है। ऐसी गलती करने से हर किसी को बचना चाहिए क्योंकि, हर किसी बालों का प्रकार अलग-अलग होता है, जिसके अनुसार ही बालों को हाईलाइट करवाना चाहिए।

इसके अलावा, जिन लोगों के बाल प्राकृतिक तौर पर काले रंग के होते हैं, इन्हें इसके लिए विशेष सावधानी बरतनी चाहिए। क्योंकि, उनकी एक गलती उनके बालों को काफी नुकसान पहुंचा सकती है।

यह भी पढ़ेंः Anxiety Attack VS Panic Attack: समझें एंग्जायटी अटैक और पैनिक अटैक में अंतर

ब्लैक हेयर हाईलाइट के दौरान किन बातों का रखें ख्याल

काले बाल पर किसी भी रंग का असर सबसे ज्यादा होता है। क्योंकि, काले बाल रंगों को अपना काम करने देते हैं। आज हम आपको ब्लैक हेयर हाईलाइट कराने के विभिन्न तरीकों को बताने वाले हैं। हालांकि, इसके लिए आपको अपने बालों के आकार-प्रकार और रूप-रंग के साथ अपनी त्वचा के रंग और आकार पर भी ध्यान देना होगा।

ब्लैक हेयर हाईलाइट के प्रकार

1.टील हाईलाइट

टील हेयर हाईलाइट हर मौसम में सबसे खूबसूरत लगते हैं। यह आपके काले बालों को सिल्की और शाइनी बनाता है।

2.ब्राउन हाईलाइट

अगर आपकी स्किन फेयर है, तो आप काले बालों को भूरे रंग से हाईलाइट करवा सकती हैं। इससे आपके बालों में प्राकृतिक रंग तौर पर चमक आ जाती है।

3.रेड हाईलाइट

रेड हेयर हाईलाइट अधिकत लोगों की पहली पसंद होती है, जो हर तरह के रंग की त्वचा पर अच्छे लगते हैं। लाल रंग न केवल पारंपरिक हाइलाइट्स की श्रेणी में आती है बल्कि, इसकी देखभाल करना भी सबसे आसान होता है। इसके अलावा, आप लाल रंग का कौन-सा शेड अपने बालों पर करवाना चाहते है, इसके लिए भी आपको कई तरह के विकल्प मिल सकते हैं।

4.हरा और बैंगनी हाईलाइट

इसमें आप अपने बालों को हरे और बैंगनी दोनों रंगों को मिले-जुले तरीके से रंगवा सकती हैं। यह रंग मीडियम लेंथ के बालों पर बहुत खूबसूरत लगता है। इस रंग में आपके बालों के एक थोड़े-से हिस्से को हंरे, फिर दूसरे बालों के थोड़े से हिस्से को बैंगनी में रंगा जाएगा। इसी तरह करके सारे बालों को दोनों रंगों में रंगा जाता है।

यह भी पढ़ें: टीनएजर्स टिप्सः कैसे हटाएं प्यूबिक और अंडरआर्म हेयर?

5.कारमेल हाईलाइट

कारमेल हाईलाइट बालों में चमक लाते हैं। इसे बालों के लंबाई के बीचे से लेकर सिरे तक रंगा जाता है।

6.प्लैटिनम हाईलाइट

प्लैटिनम ब्लॉन्ड हेयर हाईलाइट होती है। जिनका स्किन टोन गेंहूआं रंग का है, उनके बालों को यह काफी आकर्षक लुक दे सकता है। इसके लिए बालों को कुछ थोड़े-थोड़े हिस्से को बीच-बीच में से प्लैटिमन यानी सिल्वर रंग में हाईलाइट कराएं।

7.मल्टी हाईलाइट

अगर आपके बाल डार्क ब्लैक रंग में हैं, तो आप मल्टी हेयर हाईलाइट करवा सकती हैं। इसके लिए आपको निऑन रंगों का चुनाव करना होगा, जिसमें बालों के लेयर अलग-अलग रंगो से रंगे जाएंगे।

यह भी पढ़ें : लिक्विड और पेंसिल आईलाइनर में कौन-सा बेहतर है?

8.बैंगनी हाईलाइट

बैंगनी रंग आपके बालों को सबसे अलग लुक दे सकते हैं। लेकिन, इस रंग को पूरे बालों पर नहीं करवाना चाहिए। इसके लिए बालों के थोड़े बहुत ही हिस्से पर इस रंग से हाईलाइट करवाना सही रहता है। यह रंग सभी स्किन टोन पर अच्छा लगता है।

सिर्फ बालों को हाईलाइट करवाना ही काफी नहीं होता है, बल्कि हाईलाइट करवाने के बाद इनके रख-रखाव पर भी अधिक ध्यान देने की जरूरत होती है। हेयर हाईलाइट के बाद, आपके अपने शैंपू, कंडिश्नर और तेल का चुनाव भी इन्हीं के अनुसार करना होगा, जिसके लिए आप अपने पार्लर की मदद ले सकती हैं।

यह भी पढ़ें : कौन-से ब्यूटी प्रोडक्ट्स त्वचा को एलर्जी दे सकते हैं? जानें यहां

हेयर हाईलाइट और ब्रेस्ट कैंसर का कनेक्शन

हेयर हाईलाइट करवाने से पहले इन बातों का भी ध्यान रखना बेहद जरूरी है।

क्या हेयर हाईलाइट का ब्रेस्ट कैंसर के बीच कोई संबंध हो सकता है? इस सवाल को सुनकर आप जरूर एक बार चौंक गए होंगें। बता दें कि इन दोनों के बीच के संबंध का दावा हम नहीं बल्कि, खुद एक अध्ययन में किया गया है। नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ के वैज्ञानिकों ने पाया कि जो महिलाएं स्थायी हेयर डाई और रासायनिक हेयर स्ट्रेटनर का उपयोग करती हैं, उन महिलाओं में सामान्य महिलाओं की तुलना में स्तन कैंसर विकसित होने का खतरा अधिक हो सकता है। इंटरनेशनल जर्नल ऑफ कैंसर में 4 दिसंबर को ऑनलाइन प्रकाशित किए गए एक अध्ययन में दावा किया गया है कि अगर बालों पर इस रासायनिक उत्पादों का लगातार उपयोग किया जाए तो स्तन कैंसर का खतरा कई गुणा तक बढ़ सकता है।

इस सिस्टर स्टडी में 46,709 महिलाओं और उनसे जुड़ी जानकारी इक्ठ्ठी की गई। NIH के राष्ट्रीय पर्यावरणीय स्वास्थ्य विज्ञान संस्थान (NIEHS) के शोधकर्ताओं ने पाया कि जिन महिलाओं ने अध्ययन में हिस्सा लेने से पहले साल में नियमित रूप से स्थायी हेयर डाई का इस्तेमाल किया, उनमें ब्रेस्ट कैंसर होने की संभावना 9 फीसदी अधिक देखी गई। वहीं, अफ्रीकी अमेरिकी महिलाओं में, हर पांच से आठ सप्ताह या उससे अधिक समय के लिए परमानेंट हेयर हाइलाइट का उपयोग करने से स्तन कैंसर का खतरा 60 फीसदी बढ़ते हुए देखा गया है। इसके अलावा सांवली स्किन की महिलाओं की तुलना में गोरी स्किन की महिलाओं में हेयर हाईलाइट के कारण 8 फीसदी अधिक ब्रेस्ट कैंसर का जोखिम पाया गया है।

हालांकि, इस अध्ययन के परिणामों और दावों पर अभी भी बहस का मुद्दा बना हुआ है। जिसे लेकर अभी भी अध्ययन किए जा रहे हैं। हेयर हाईलाइट की तरह ही ऐसी महिलाएं जो बालों को सीधा करने के लिए केमिकल हेयर स्ट्रेटनर का अधिक इस्तेमाल करती हैं, उनमें भी स्तन कैंसर के जोखिम के लक्षण पाए गए हैं। शोधकर्ताओं ने पाया कि जिन महिलाओं ने हर पांच से आठ सप्ताह में कम से कम हेयर स्ट्रेटनर का इस्तेमाल किया, उनमें स्तन कैंसर होने की संभावना लगभग 30 फीसदी अधिक थी।

हैरान करने वाले आंकड़े

आपको जानकर हैरानी होगी कि संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोप में कई लोग हेयर डाई का उपयोग करते हैं। यह अनुमान लगाया गया है कि 18 साल से अधिक की एक तिहाई महिलाएं और 40 साल से अधिक उम्र के लगभग 10 फीसदी पुरुष किसी न किसी प्रकार की हेयर डाई का उपयोग करते हैं। जो उनके स्वास्थ्य के लिए जोखिम के तौर पर देखा जा रहा है।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको हेयर हाईलाइट से जुड़ी किसी भी तरह की समस्या हो रही है, तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

और पढ़ेंः-

हार्ट अटैकः जानिए इसके कारण, लक्षण और उपाय

फर्स्ट टाइम सेक्स से पहले जान लें ये 10 बातें, हर मुश्किल होगी आसान

कौन-से ब्यूटी प्रोडक्ट्स त्वचा को एलर्जी दे सकते हैं? जानें यहां

कुछ इस तरह करें अपनी पार्टनर को सेक्स के लिए एक्साइटेड

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

    क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
    happy unhappy"
    सूत्र

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    रूसी से छुटकारा पाना चाहते हैं तो ट्राई करें ये 8 घरेलू नुस्खे

    जानिए रूसी की समस्या से बचने के उपाय in hindi. किन-किन घरेलू उपाय से रूसी की समस्या से छुटकारा मिल सकता है? तनाव की वजह से भी Dandruff की समस्या हो सकती है।

    Medically reviewed by Dr. Pooja Bhardwaj
    Written by Nidhi Sinha

    Dandruff: डैंड्रफ क्या है? जानें बालो में रुसी के कारण, लक्षण और उपाय

    जानिए बालो में रुसी की परेशानी क्यों होती है in Hindi, निदान और उपचार, डैंड्रफ के क्या कारण हैं, Dandruff के लक्षण क्या हैं, घरेलू उपचार, जोखिम फैक्टर, जानिए जरूरी बातें।

    Medically reviewed by Dr. Pooja Bhardwaj
    Written by Priyanka Srivastava

    यूज्ड ग्रीन टी बैग से मिल सकते हैं ये 9 फायदे

    जानिए चेहरे के लिए ग्रीन टी बैग के फायदे in Hindi, ग्रीन टी बैग क्या है, Green Tea Bag के फायदे, आंखों और त्वचा के लिए टी बैग के फायदे, टी बैग का इस्तेमाल कैसे करें।

    Medically reviewed by Dr. Pooja Bhardwaj
    Written by Priyanka Srivastava

    जानें बालों के लिए विटामिन ई (Vitamin E) के 4 फायदे

    जानिए विटामिन ई in Hindi, विटामिन ई के फायदे, Vitamin E का इस्तेमाल, बालों के लिए विटामिन-ई के फायदे, त्वचा के लिए विटामिन-ई का इस्तेमाल, विटामिन-ई कैप्सूल।

    Medically reviewed by Dr. Pooja Bhardwaj
    Written by Priyanka Srivastava