home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Nipple Stimulation: निप्पल की उत्तेजना क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

परिचय|क्या डिलिवरी के समय निप्पल उत्तेजना की कोशिश करनी चाहिए |क्या घर पर डिलिवरी के लिए लेबर पेन के लिए प्रेरित करना सुरक्षित है?|निप्पल उत्तेजना को कैसे बरतें ?|निप्पल उत्तेजना प्रक्रिया को कैसे अंजाम दिया जाएं?|निप्पल उत्तेजना करने की विधि
Nipple Stimulation: निप्पल की उत्तेजना क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

परिचय

निप्पल की उत्तेजना (Nipple Stimulation) क्या है?

निप्पल की उत्तेजना (Nipple Stimulation) सिर्फ शारीरिक संबंध बनाते समय ही महत्वपूर्ण नही है बल्कि निप्पल की उत्तेजना का संबंध ब्रेस्ट फीडिंग और डिलिवरी में भी महत्वपूर्ण है। दरअसल निप्पल की उत्तेजना के जरिये डिलिवरी के समय होने वाले लेबर पेन को कम किया जा सकता है। निप्पल की उत्तेजना जांच कर कई रोगों का परिक्षण भी किया जाता है। शारीरिक संबंध बनाते समय निप्पल की एक अहम भूमिका होती है। निप्पल की प्रतिक्रिया बेहतर स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। यदि निप्पल में किसी प्रकार की कोई उत्तेजना न हो तो शारीरिक संबंधों और कंसीव करने में भी दिक्कत आती है। आजकल डॉक्टर्स निप्पल की उत्तेजना का एक अलग ही तरह से उपयोग कर रहे है। वे डिलिवरी में होने वाले लेबर पेन को कम करने के लिए इसका इस्तेमाल कर रहे है। जानिए कैसे डिलिवरी में निप्पल की उत्तेजना का इस्तेमाल किया जाता है।

क्या डिलिवरी के समय निप्पल उत्तेजना की कोशिश करनी चाहिए

क्या डिलिवरी के समय निप्पल उत्तेजना (Nipple Stimulation) की कोशिश करनी चाहिए

यदि डॉक्टर ने आपकी डिलिवरी की तारीख निश्चित कर दी है या आपको 40 हफ्ते पुरे हो चुके है या पुरे होने वाले है, तो लेबर पेन को प्रेरित करने के लिए प्राकृतिक तरीकों का इस्तेमाल करना चाहिए। किसी भी तरह के प्राकृतिक तरीके का इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से जरूर पूछ लेना चाहिए। डॉक्टर से जानकारी लेने के बाद आप जरूरी सामान घर ले जा सकते है, जिससे इन प्राकृतिक तरीकों का इस्तेमाल कर लेबर पेन को प्रेरित किया जा सकें। इन प्राकृतिक तरीकों में निप्पल उत्तेजना (Nipple Stimulation) भी शामिल है। यदि आपकी प्रेग्नेंसी नॉर्मल है तो आप इन प्राकृतिक तरीकों का इस्तेमाल करें। यदि आपकी प्रेग्नेंसी में जरा भी जोखिम है तो निप्पल उत्तेजना का इस्तेमाल करना खतरनाक हो सकता है। किसी भी तरह के इंडक्शन तकनीकों को आजमाने से पहले डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

और पढ़ें- क्या नॉर्मल डिलिवरी के समय अच्छे बैक्टीरिया पहुंचते हैं बच्चे में?

क्या घर पर डिलिवरी के लिए लेबर पेन के लिए प्रेरित करना सुरक्षित है?

क्या घर पर डिलिवरी (Delivery) के लिए लेबर पेन के लिए प्रेरित करना सुरक्षित है?

एक रिसर्च के अनुसार, जब 201 महिलाओं से पूछा गया कि वे घर में किस तरह खुद को लेबर पेन के लिए तैयार करती है या प्रेरित करती है। तो इस समूह में लगभग आधी महिलाओं ने कहा कि उन्होंने लेबर पेन को कम करने के लिए कुछ तरीके अपनाएं जैसे कि मसालेदार खाना खाया या शारीरिक संबंध बनाएं। किसी भी तरह के इंडक्शन तकनीक को इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर से इस बारे में विस्तृत चर्चा करनी चाहिए। निप्पल उत्तेजना (Nipple Stimulation) का लेबर पेन को प्रेरित करने के लिए इस्तेमाल करने के लिए ठोस वैज्ञानिक प्रमाण तो है, लेकिन चिकित्सीय इतिहास के आधार पर ही इसका इस्तेमाल करें, डॉक्टर से जरूर बात करें कि यह आपके लिए सुरक्षित होगा या नहीं।

और पढ़ें- आसान डिलिवरी के लिए अपनाएं ये 10 उपाय

निप्पल उत्तेजना को कैसे बरतें ?

निप्पल उत्तेजना (Nipple Stimulation) को कैसे बरतें ?

निप्पल को रगड़ने से निप्पल में उत्तेजना (Nipple Stimulation) होती है। इससे शरीर को ऑक्सीटोसिन छोड़ने में मदद मिलेगी। ऑक्सीटोसिन उत्तेजना, लेबर पेन की शुरुआत और मां और बच्चे के बीच संबंध बनाने में एक भूमिका निभाता है। यह हार्मोन डिलिवरी के बाद गर्भाशय (Uterus) को संकुचित करता है, जिससे यह अपने पहले के आकार में वापस आने में मदद करता है। स्तनों को उत्तेजित करने से लंबे समय तक लेबर पेन में मदद मिल सकती है। असल में डॉक्टर इसके लिए पिटोकिन (दवाई) का इस्तेमाल करते है, जो ऑक्सीटोसिन का सिंथेटिक रूप है। तुर्की में गर्भवती महिलाओं पर एक रिसर्च की गई, जिसके अनुसार वहां पर लेबर पेन को प्रेरित करने में तीन तरीके इस्तेमाल किये जाते है, निप्पल उत्तेजना, गर्भाशय उत्तेजना और नियंत्रण। इसके नतीजे अच्छे निकलें इस वजह से लेबर पेन के बाद डिलिवरी में कम समय लगा। निप्पल उत्तेजना के जरिये किसी महिला को सिजेरियन डिलिवरी की जरूरत नहीं पड़ती।

निप्पल उत्तेजना प्रक्रिया को कैसे अंजाम दिया जाएं?

निप्पल उत्तेजना प्रक्रिया को कैसे अंजाम दिया जाएं?

शुरू करने से पहले इस बात पर ध्यान दें कि आपकी प्रेग्नेंसी नॉर्मल तो है या नही। ये भी बता दे कि कभी-कभी स्तनों पर हाथ फेरने या अन्य सेक्सुअल गतिविधि के जरिये लेबर पेन होने की संभावना नहीं होती। निप्पल की उत्तेजना को प्रेरित करने के लिए ये प्रक्रिया अपनाएं-

1.कोई टूल खरीदें:-

बेहतर नतीजे के लिए कोई अच्छा टूल खरीदें, निप्पल को उत्तेजित करने के लिए ब्रेस्ट पंप खरीदें। निप्पल को उत्तेजित करने के लिए उंगलियों की मदद भी ले सकती है।

2.स्तनों के घेराव पर ध्यान दें:-

स्तनों का घेराव वह जगह है जो असल में निप्पल को घेरे हुए है। डिलिवरी के दौरान नर्स सिर्फ निप्पल ही नहीं, बल्कि घेराव की भी मालिश करती है। आप चाहें तो उंगलियों या हथेली का इस्तेमाल करके पतले कपड़ो के माध्यम से या सीधे स्किन पर धीरे से रगड़ सकती है।

3.देखभाल करें:-

प्रक्रिया को देखभाल से पूरा करें, ओवरस्टीमुलेशन को रोकने के लिए इन निर्देशों का पालन करें। एक समय पर एक ही स्तन पर प्रक्रिया करें। सिर्फ पांच मिनट ही उत्तेजना के लिए कोशिश करें, फिर से कोशिश करने के लिए 15 मिनट का इंतजार करें। यदि संकुचन (Smaller) हो रहा है तो थोड़ी देर के लिए ब्रेक लें।

और पढ़ें- पोस्टपार्टम आइब्रो लॉस क्या है? क्यों होती है डिलिवरी के बाद ये समस्या?

निप्पल उत्तेजना करने की विधि

निप्पल उत्तेजना करने की विधि

अगर आप निप्पल उत्तेजना के जरिए लेबर पेन करके डिलिवरी करना चाहते है तो सबसे पहले ये जानना जरूरी है कि आपकी गर्भावस्था सामान्य है या नही। निप्पल की उत्तेजना के लिए नॉर्मल डिलिवरी होना जरूरी है, अगर डिलिवरी में किसी तरह की परेशानी है तो निप्पल की उत्तेजना करने से बचना चाहिए। निप्पल की उत्तेजना के लिए डॉक्टर से उचित सलाह लेना जरूरी है। निप्पल उत्तेजना की विधि इस प्रकार है-

1.निप्पल उत्तेजना की शुरूआत सिर्फ एक ही निप्पल से करें।

2.उंगली और अंगूठे की मदद से निप्पल को रोल करने के लिए इस्तेमाल करें, इस दौरान जेंटल प्रेशर रखें।

3.इसोला के पास की जगह को उत्तेजित करने की कोशिश करें।

4.निप्पल के सीधा होने के बाद भी थोड़ी देर तक उत्तेजना जारी रखें।

5.अब थोड़ी देर के लिए ये प्रक्रिया रोक दें और दूसरे निप्पल पर जाकर यही प्रक्रिया दोहराएं।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

अपने पीरियड सायकल को ट्रैक करना, अपने सबसे फर्टाइल डे के बारे में पता लगाना और कंसीव करने के चांस को बढ़ाना या बर्थ कंट्रोल के लिए अप्लाय करना।

ओव्यूलेशन कैलक्युलेटर

सायकल की लेंथ

(दिन)

28

ऑब्जेक्टिव्स

(दिन)

7

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

How Nipple Stimulation Works to Induce Labor https://www.healthline.com/health/pregnancy/nipple-stimulation-to-induce-labor (18/01/2020)

Can You Use a Breast Pump to Induce Labor? https://www.healthline.com/health/breast-pump-to-induce-labor (18/01/2020)

Breastfeeding or nipple stimulation for reducing postpartum haemorrhage in the third stage of labour https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC6718231/ (18/01/2020)

Does Nipple Stimulation Induce Labor? https://www.health.com/mind-body/does-nipple-stimulation-induce-labor (18/01/2020)

 

लेखक की तस्वीर badge
sudhir Ginnore द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 03/03/2021 को
डॉ. पूजा दाफळ के द्वारा एक्स्पर्टली रिव्यूड