फर्स्ट ट्राइमेस्टर वाली गर्भवती महिलाओं के लिए 4 पोष्टिक रेसिपीज

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट अगस्त 25, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

गर्भावस्था के दौरान आहार अच्छे स्वास्थ्य के लिए सबसे जरूरी होता है। इस दौरान महिलाओं को फलों, सब्जियों, डेयरी उत्पादों के 3-4 सर्विंग्स और कार्बोहाइड्रेट तथा प्रोटीन सहित सामान्य हेल्दी डायट को फॉलो करना चाहिए।  शिशु के विकास का सबसे महत्वपूर्ण चरण पहली तिमाही ही होता है। इस समय शिशु के विभिन्न अंग आकार लेते हैं, शिशु गर्भाशय में गति करना शुरू करता है और मांसपेशियों का निर्माण करता है।गर्भावस्था पहली तिमाही रेसिपी की जानकारी आपके लिए बहुत जरूरी है।

अपने शिशु के विकास के लिए आपको अतिरिक्त पोषक तत्वों की आवश्यकता हो सकती है। क्योंकि जब आप गर्भवती होती हैं तो आपका शरीर पोषक तत्वों को अवशोषित करने में अधिक कुशल हो जाता है। इसलिए शरीर महत्वपूर्ण खनिजों और विटामिनों का भंडार बनाना शुरू कर देता है। इसलिए महत्वपूर्ण यह है कि आहार की मात्रा के बजाए उनकी गुणवत्ता पर ध्यान दें।

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी की पहली तिमाही में अपनाएं ये डायट प्लान

पहली तिमाही के दौरान मॉर्निंग सिकनेस एक आम समस्या है । नाम से यह न समझें कि यह सुबह तक ही सीमित होती है। दरअसल मॉर्निंग सिकनेस को सबसे ज्यादा सुबह महसूस किया जाता है, लेकिन संभवतः यह पूरे दिन को भी प्रभावित कर सकती है। इन प्रभावों को कम करने के लिए इन तरीकों को अपना सकते हैं।

  1. कम अंतराल पर कम भोजन करें।
  2. रोटी, सादा बिस्किट, टोस्ट, पास्ता, चावल या आलू जैसे स्टार्चयुक्त खाद्य पदार्थों को नाश्ते में शामिल करें।
  3. वसायुक्त खाद्य पदार्थों का सेवन कम करें जो पचाने में कठिन होते हैं।
  4. त्वरित और आसान व्यंजनों का चयन करें जो पोषक तत्वों से भरपूर हों और तैयारी के लिए कम समय लें। यहां गर्भावस्था पहली तिमाही  रेसिपीज दी गई हैं जो मॉर्निंग सिकनेस से आराम पहुंचा सकते हैं।
  1. स्प्राउटेड वाल की उसल है खास गर्भावस्था पहली तिमाही रेसिपी में

यह एक महाराष्ट्रीयन व्यंजन है, जिसे अंकुरित वाल के साथ बनाया जाता है। यह डाइजेस्ट होने में आसान होता है। यह रेसिपी प्रेग्नेंसी में बहुत फायदेमंद हैं। क्योंकि इसमें आयरन के तत्व पाए जाते हैं। अगर इसमें विटामिन-सी युक्त धनिया के पत्ते को मिला दें तो यह आयरन को एब्सॉर्प करने में सहायक होते हैं। 

और पढ़ें: प्रेग्नेंसी में चाय या कॉफी का सेवन हो सकता है नुकसानदायक

मुझे क्या सामग्री चाहिए?

  • 2 कप उबले हुए अंकुरित वाल
  • 1 टी-स्पून ऑयल
  • 1 टी-स्पून जीरा
  • एक चुटकी हींग
  • 5-6 कड़ी पत्ता
  • 1 टी-स्पून बारीक कसे हुए अदरक
  • ½  कप कटा प्याज
  • ¼ टी-स्पून हल्दी पाउडर
  • 1 टी-स्पून लाल मिर्च पाउडर
  • 5 भिगोकर छाने हुए कोकम
  • 2 टी-स्पून गुड़
  • नमक टेस्ट के अनुसार
  • ¼ कप  बारीक कटा हुआ धनिया

और पढ़ें: जेस्टेशनल ट्रोफोब्लास्टिक डिजीज (GTD) क्या है और जानें इसका इलाज

बनाने की विधि:

  1. एक नॉन-स्टिक कढ़ाई में तेल गर्म करें और जीरा डालें।
  2. जब जीरा चटकने लगे तब हींग, कड़ी पत्ता और अदरक डालकर इसे मद्धम आंच पर थोड़ी देर भूनें।
  3. अब इसमें प्याज डालें और मद्धम आंच पर ही 2-3 मिनट तक भूनें।
  4. अब अंकुरित वाल, 1/2 कप पानी, हल्दी पाउडर, लाल मिर्च पाउडर, कोकम, गुड़ और नमक डालकर अच्छी तरह मिला लें और बीच-बीच में चलाते हुए मद्धम आंच पर 2-3 मिनट के लिए पका लें।
  5. धनिया डालकर अच्छी तरह मिला लें और मद्धम आंच पर और 1 मिनट के लिए अतिरिक्त पकाएं।

और अब ये रेसिपी बनकर तैयार है। गरमा गरम परोसें और गर्भावस्था के दौरान हेल्दी रहें।

और पढ़ें: स्पर्म डोनर कैसे बने? जाने इसके फायदे और नुकसान

पोषक तत्वों की मात्रा

  1. गर्भावस्था पहली तिमाही रेसिपी: पनीर और हरे चने का सलाद

और पढ़ें: गर्भवती होने के लिए फर्टिलिटी ड्रग के फायदे और नुकसान

यह शरीर को भरपूर मात्रा में पोषक तत्व प्रदान करता है। पनीर और हरे सलाद प्रोटीन से युक्त होता है। यह विटामिन-ए प्रदान करता है। अच्छे फायदे के लिए मौसम के अनुरूप ताजे और हरे चने का उपयोग करें।

प्रेग्नेंसी की तिमाही में डायट:  पनीर और हरे चने बनाने के तैयारी में कितना समय लगेगा?

सिर्फ 15 मिनट

पकाने में कितना समय लगेगा?

कुल समय: सिर्फ 15 मिनट

मुझे क्या सामग्री की जरूरत है?

  • 1-2 कप लो-फैट वाले पनीर के छोटे टुकड़े
  • 3-4 कप भिगोए और उबले हुए चने
  • 1-2 कप बारीक कटी हुई प्याज (पत्ते भी)
  • ¼ कप छोटे कटे हुए टमाटर
  • 1 टी-स्पून बारीक कटी हरी मिर्च
  • 1 टेबल-स्पून कटा हुआ धनिया का पत्ता
  • 2 टेबल-स्पून नींबू का रस
  • नमक स्वाद के अनुसार
  • काली मिर्च स्वाद के अनुसार
  • ½ टी-स्पून काला नमक

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

और पढ़ें: क्या टमाटर के भर्ते से बढ़ सकती है पुरुष की फर्टिलिटी?

बनाने की विधि:

  1. सभी सलाद की सामग्री को एक बाउल में रखकर लेमनी ड्रेसिंग डालकर हल्के हाथों से मिलाएं।
  2. कम-से-कम एक घंटे के लिए फ्रिज में रख दें।
  3. धनिया के पत्तों को ऊपर डालकर सजाएं। अब हेल्दी पहली तिमाही के रेसिपी का स्वाद लें। 

पोषक तत्वों की मात्रा:

  • ऊर्जा: 125 कैलोरी
  • प्रोटीन: 11.5 ग्राम
  • कार्बोहाइड्रेट: 18.4 ग्राम
  • वसा: 0.6 ग्राम
  • विटामिन-ए: 939.9 एमसीजी
  • आयरन: 0.8 मिलीग्राम
  1. प्रेग्नेंसी की तिमाही में डायट:  तिल चिक्की

तिल चिक्की गर्भवती महिलाओं के लिए पहली तिमाही रेसिपी के लिए उपयुक्त आहार है। यह पौष्टिक आहार तिल के बीज और गुड़ का बेहतर कॉम्बिनेशन है। यह आपके शरीर में आयरन की मात्रा को बढ़ाता है, जो आपको स्वस्थ रखने और हीमोग्लोबिन के स्तर के लिए आवश्यक है। चिक्की के टुकड़े को जब आप मिचली महसूस करें तब उपयोग करें। आप तुरंत बेहतर महसूस करेंगी। आप अपने स्वाद के अनुसार मूंगफली, काजू, या अखरोट के साथ तिल को रिप्लेस कर सकते हैं।

यह है बनाने की विधि:

  1. एक नॉन-स्टिक पैन को गरम करें, उसमे तिल डालें और मध्यम आंच पर 5-6 मिनट तक उसे भूनें। फिर भुने हुए बीज को अलग रख दें।
  2. उसी पैन में घी गरम करें और गुड़ डालें, अच्छी तरह मिलाएं और लगातार चलाते हुए 3 मिनट तक मध्यम आंच पर पकाएं।
  3. इसके बाद गैस बंद कर दें और भूने हुए तिल डालें और अच्छी तरह मिलाएं।
  4. पूरे मिश्रण को घी लगी थाली पर डालें और ऊपर से मिश्रण बनाकर रोल करें।
  5. उन्हें टुकड़ों में काट लें और एक बार पूरी तरह से ठंडा होने पर एयर-टाइट कंटेनर में स्टोर करें।

इस रेसिपी का इस्तेमाल आप मिचली या दस्त आने पर  कर सकती हैं। यह तुरंत राहत देगा।

  1. चना चाट

छोले यानी चना चाट, प्रोटीन, आयरन, कैल्शियम और ओमेगा -3 फैटी एसिड का एक समृद्ध स्रोत है। 

 



यह है बनाने की विधि:

उबले हुए चनों में प्याज, टमाटर, खीरा और शिमला मिर्च जैसी ताजी कटी हुई सब्जियां मिलाएं। स्वाद के लिए नमक, काली मिर्च, भूना हुआ जीरा पाउडर, हरी मिर्च आदि डालें और धनिया से गार्निश करें। आपका स्वादिष्ट, पौष्टिक और स्वस्थ्य स्नैक तैयार है।

गर्भावस्था पहली तिमाही रेसिपी को स्वादिष्ट बनाने के लिए आप उबले हुए छोले को ताजा लहसुन, तिल, जैतून का तेल और नींबू के रस के साथ मिला कर सकते हैं। इस गाढ़े और मलाईदार हम्मस को कुछ साबुत ब्रेड, गाजर या ककड़ी के स्टिक्स के साथ खाएं।

उपरोक्त दी गई जानकारी चिकित्सा सलाह का विकल्प नहीं है, अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से जानकारी लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

अपराजिता के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Aparajita (Butterfly Pea)

अपराजिता के फायदे, अपराजिता के फूल का उपयोग, इस्तेमाल कैसे करें, कैसे लें, कितना लें, aparajita के साइड इफेक्ट्स, और सावधानियां। Aparajita in hindi.

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
जड़ी-बूटी A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 8, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Zincovit: जिनकोविट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

जिनकोविट (zincovit) की जानकारी in hindi. जिनकोविट ( जिंकोविट ) टैबलेट मल्टीविटामिन टैबलेट होती हैं। इस टैबलेट में विटामिन, असेंशियल मिनिरल्स और जिंक होता है।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 1, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

कैसे बनाते हैं हेल्दी सूप? जानें यहां

हेल्दी सूप आपके शरीर के लिए काफी पौष्टिक होता है, जो कि कई बीमारियों से दूर रखने में भी मदद करता है। आइए, कुछ बेहतरीन और पौष्टिक सूप की विधि जानते हैं। Soup Recipes

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal

इम्यूनिटी बूस्टिंग ड्रिंक्स, जो फ्लू के साथ-साथ गर्मी से भी रखेंगी दूर

इम्यूनिटी बूस्टिंग ड्रिंक्स आपके शरीर के इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाती हैं। इसके साथ ही यह किसी भी संक्रमण या मौसमी बीमारी के प्रति सुरक्षा भी प्रदान करती हैं। Immunity Boosting Drinks

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal

Recommended for you

दलिया खिचड़ी रेसिपी

बढ़ते बच्चों को दें पूरा पोषण, दलिया से बनी इन स्वादिष्ट रेसिपीज के साथ

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Anu sharma
प्रकाशित हुआ जुलाई 24, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
दूर्वा (दूब) घास - Durva Grass, bermuda grass

दूर्वा (दूब) घास के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Durva Grass (Bermuda grass)

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ जून 22, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
कचनार - Kachnar (Mountain Ebony)

कचनार के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Kachnar (Mountain Ebony)

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ जून 9, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
लोहबान - Loban (Gum Benzoin)

लोहबान के फायदे एवं नुकसान – Health Benefits of Loban (Gum Benzoin)

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pooja Daphal
के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
प्रकाशित हुआ जून 9, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें