पॉलिएस्टर एलर्जी : कपड़े भी बन सकते हैं एलर्जी की वजह

    पॉलिएस्टर एलर्जी : कपड़े भी बन सकते हैं एलर्जी की वजह

    जरा सोचिए कि आप एक नयी शर्ट बाजार से लाते हैं लेकिन उसे पहनने के बाद आप यह महसूस करते हैं कि आपको खुजली और रैशेज हो रहे हैं। इससे ज्यादा निराशा की बात और क्या हो सकती है? ऐसा पॉलिएस्टर एलर्जी के कारण हो सकता है। पॉलिएस्टर एलर्जी (Polyester Allergy) से पहले एलर्जी के बारे में थोड़ा जान लेते हैं। एलर्जी हमारे इम्यून सिस्टम का कुछ ऐसी चीजों के प्रति रिएक्शन है, जिसे वो हानिकारक समझ लेता है। इन चीजों को एलर्जेंस माना जाता है। यह एलर्जेंस कोई भी हो सकते हैं जैसे घास, परागकण, धूल-मिट्टी, जानवरों की रुसी आदि।

    एलर्जी के लक्षण हल्के से लेकर गंभीर तक हो सकते हैं और कुछ मामलों में यह जानलेवा भी हो सकते हैं। कुछ लोगों को खास कपड़ों जैसे पॉलिएस्टर भी एलर्जी होती है। इस एलर्जी को पॉलिएस्टर एलर्जी (Polyester Allergy) कहा जाता है। आइए जानते पॉलिएस्टर एलर्जी के बारे में विस्तार से:

    पॉलिएस्टर एलर्जी क्या है? (What is Polyester Allergy)

    पॉलिएस्टर एक सिंथेटिक फाइबर है जो कई तरह के कपड़ों और अन्य फैब्रिक्स में पाया जाता है। कुछ लोगों को पॉलिएस्टर बेस्ड फैब्रिक के सीधे कांटेक्ट में आने पर स्किन रिएक्शन हो सकता है। पॉलिएस्टर एलर्जी (Polyester Allergy) से पीड़ित व्यक्ति जब ऐसे फैब्रिक के संपर्क में आते हैं जिसमें पॉलिएस्टर होता है तो उन्हें स्किन रिएक्शनअनुभव होता है, इसके कारण कई समस्याएं हो सकती हैं। पॉलिएस्टर एक ऐसा सिंथेटिक फाइबर है, जो इन चीजों में आम है:

    और पढ़ें : इस एलर्जी के लक्षणों को न करें सर्दी के लक्षण समझने की भूल!

    • कपड़े (Clothing)
    • होम फर्निशिंग जैसे कारपेट, बेडिंग और पर्दे (Home Furnishings such as Carpets, Bedding, and Curtains)
    • इंडस्ट्रियल फैब्रिक्स (Industrial Fabrics)

    पॉलिएस्टर एक तरह का कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस (Contact Dermatitis) है। कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस के भी दो मुख्य प्रकार हैं, जो इस तरह से हैं:

    Polyester Allergy

    इर्रिटेन्ट कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस (Irritant Contact Dermatitis) :

    यह सबसे सामान्य प्रकार है जो तब होता है जब कोई पदार्थ त्वचा को परेशान करता है या नुकसान पहुंचाता है। यह सूजन का कारण भी बनता है। जब व्यक्ति की त्वचा रिएक्शन वाली चीज के कॉन्टैक्ट में आता है तो यह रिएक्शन आमतौर पर एक मिनट या घंटों के अंदर ही हो जाता है।

    योग और स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी के लिए क्लिक करें

    एलर्जिक कांटेक्ट डर्मेटाइटिस (Allergic Contact Dermatitis) :

    यह समस्या तब होती है, जब हमारे शरीर का इम्यून सिस्टम गलती से किसी सब्सटांस को हानिकारक चीज समझ लेता है। जो स्किन रिएक्शन का कारण बनती है। यह रिस्पांस आमतौर पर एलर्जेन के संपर्क में आने के कई दिनों बाद होता है। पॉलिएस्टर एलर्जी (Polyester Allergy) इर्रिटेन्ट कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस के कारण होती है।

    और पढ़ें : नाक की एलर्जी में राहत प्रदान कर सकते हैं ये 8 एसेंशियल ऑयल

    पॉलिएस्टर एलर्जी के लक्षण (Symptoms of Polyester Allergy)

    पॉलिएस्टर एलर्जी (Polyester Allergy) आमतौर पर त्वचा के उस हिस्से को प्रभावित करता है, जो हिस्सा हानिकारक फैब्रिक के कांटेक्ट में आता है। इसके लक्षण इस प्रकार हैं:

    • त्वचा में परेशानी होनी (Skin Irritation)
    • लालिमा (Redness)
    • रूखापन (Dryness)
    • खुजली (Itching)
    • सूजन (Swelling)
    • फफोले पड़ना (Blistering)
    • त्वचा में खुजली या स्किन रैश (Itchy skin or Skin Rash)

    और पढ़ें : ओरल एलर्जी सिंड्रोम : खाने की चीजों से होने वाली इस एलर्जी के बारे में सुना है आपने?

    अगर पॉलिएस्टर एलर्जी के कारण किसी व्यक्ति को अस्थमा की समस्या होती है तो वह यह लक्षण भी महसूस कर सकता है:

    • सांस लेने में समस्या (Difficulty Breathing)
    • छाती में दर्द और टाइटनेस (Chest Tightness or Pain)
    • सांस लेते हुए व्हीजिंग की आवाज आना (Wheezing Sound When Breathing Out)
    • खांसी या व्हीजिंग के कारण सोने में परेशानी होना (Trouble Sleeping caused by Shortness of Breath, Coughing or Wheezing)

    यह लक्षण पॉलिएस्टर के संपर्क आने के कुछ मिनटों या घंटों में विकसित हो सकते हैं या कई बार इनमें एक से दो दिन भी लग सकते हैं। अमेरिकन कॉलेज ऑफ एलर्जी, अस्थमा एंड इम्यूनोलॉजी (American College of Allergy, Asthma & Immunology) के अनुसार एलर्जी कई तरह की होती है, लेकिन इसके लक्षणों को पहचानना जरूरी है। पहचानने के बाद इस एलर्जी के लक्षणों को दूर करना और उपचार जरूरी है। बच्चों में यह एलर्जी की समस्या अधिक होती है खासतौर पर स्किन एलर्जी। इसलिए छोटे बच्चों का खास ध्यान रखना चाहिए।

    और पढ़ें : खाने से एलर्जी और फूड इनटॉलरेंस में क्या है अंतर, जानिए इस आर्टिकल में

    किन लोगों को इस एलर्जी का जोखिम अधिक होता है?

    पॉलिएस्टर एलर्जी (Polyester Allergy) अन्य एलर्जीज की तरह जान के लिए जोखिम हो सकता है। हालांकि, यह समस्या किसी को भी हो सकती है, लेकिन कुछ लोगों को इसका जोखिम अधिक होता है। जानिए, किन स्थितियों में और किन लोगों को इसका रिस्क अधिक होता है:

    • जो लोग अक्सर कपड़े, बिस्तर आदि के माध्यम से विभिन्न पॉलिएस्टर टेक्सटाइल फैब्रिक्स के संपर्क में आते हैं।
    • जिन लोगों को कुछ केमिकल, खाद्य पदार्थ, पराग, आदि से अलग-अलग एलर्जी रिएक्शंस होते हैं।
    • जो लोग कम हायजीनिक होते हैं या जिन्हें कुछ स्किन कंडीशंस जैसे सोरायसिस (Psoriasis), एक्जिमा (Eczema) आदि होती हैं।
    • बच्चे इस एलर्जी का अधिक शिकार होते हैं, क्योंकि उनकी इम्मयूनिटी एलर्जिक रिएक्शन से लड़ने के लिए कमजोर होती है
    • मोटापे से पीड़ित लोग भी पॉलिएस्टर एलर्जी (Polyester Allergy) का अधिक शिकार होते हैं।

    और पढ़ें : सोया एलर्जी है, तो इन प्रोडक्ट्स का भूल कर भी न करें सेवन!

    पॉलिएस्टर एलर्जी का निदान कैसे किया जाता है? (Diagnosis of Polyester Allergy)

    तीन अलग अलग प्रकार के टेस्ट हैं जिनका उपयोग अनफेवरेबल सस्पेक्टिबल रिस्पांस (Unfavorable Susceptible Response) वाले पदार्थों को अलग करने के लिए किया जाता है। यह इस प्रकार हैं जैसे स्क्रैच टेस्ट (Scratch Test), फिक्स टेस्ट (Fix Test और इंट्राडर्मल टेस्ट (Intradermal Tests)। स्क्रैच टेस्ट (Scratch Test) और इंट्राडर्मल टेस्ट (Intradermal Tests) से किस एलर्जेंस से एलर्जी है, इस बात का पता लगाया जाता है।

    स्क्रैच टेस्ट (Scratch Test)

    स्किन प्रिक टेस्ट को स्क्रैच टेस्ट के नाम से भी जाना जाता है। इसमें एलर्जेंस को थोड़ी सी मात्रा में लेकर व्यक्ति की त्वचा पर रखा जाता है और स्क्रैच कर के इसकी थोड़ी की मात्रा स्किन के अंदर टच होने दी जाती है। इसके बाद कुछ देर तक इस को जांचा जाता है। अगर कुछ देर में इस स्थान की जगह सूज जाती है तो इसके अर्थ है कि वो एलर्जेन एलर्जी का कारण है। इसी तरह से इंट्राडर्मल स्किन टेस्ट (Intradermal Skin Test) होता है। जिसमे यह पता चल जाता है कि कौन सा एलर्जेन इस समस्या की वजह है। इंट्राडर्मल स्किन टेस्ट (Intradermal Skin Test) स्क्रैच टेस्ट से अधिक सटीक माना जाता है।

    फिक्स टेस्ट (Fix Test)

    फिक्स टेस्ट (Fix Test) में बेसिक हायपरसेंसिटिव ट्रिगर्स (Basic Hypersensitive Triggers) की छोटी मात्रा को टेप स्ट्रिप्स की सहायता से त्वचा पर लगाया जाता है। दो दिन तक इसकी निगरानी की जाती है और इसका रिस्पॉन्स जांचा जाता है। अगर त्वचा पर लालिमा, रैशेज या अन्य लक्षण नजर आते हैं, तो यह एलर्जी की निशानी होती हैं।

    और पढ़ें : क्या फिश खाने के बाद आपको होती है पेट से जुड़ी परेशानी? तो फिश एलर्जी हो सकता है कारण

    पॉलिएस्टर एलर्जी

    पॉलिएस्टर एलर्जी का उपचार कैसे संभव है? (Treatment of Polyester Allergy)

    पॉलिएस्टर एलर्जी की सही से पहचान करना चुनौतीपूर्ण हो सकता है। क्योंकि, पॉलिएस्टर बेस्ड मटेरियल में कई बार अन्य पोटेंशियल इरिटेंट्स शामिल होते हैं जैसे डिटर्जेंट, डाइस या फ्रेगरेंस आदि। यह सब भी एलर्जी या एलर्जी जैसे रिएक्शन को पैदा कर सकते हैं। किसी भी तरह के उपचार के तरीके को अपनाने के लिए डॉक्टर की मदद से एलर्जी के सोर्स को पहचानना बेहद जरूरी है।

    पॉलिएस्टर एलर्जी (Polyester Allergy) के उपचार का सबसे प्रभावी तरीका है पॉलिएस्टर के संपर्क में आने से बचना। इसके लिए हाउसहोल्ड प्रोडक्ट्स और कपड़ों को पॉलिएस्टर फ्री चीजों से बदलें। इससे आपको इस एलर्जी का जोखिम भी कम होगा।

    हालांकि पॉलिएस्टर को पूरी तरह से नजरअंदाज करना हमेशा आसान या मुमकिन नहीं होता, खासतौर पर काम करने वाले स्थान और पब्लिक जगहों पर। इसलिए इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए कई ओवर-द-काउंटर (Over-the-Counter) और डॉक्टर की सलाह के अनुसार दवाइयां ली जा सकती है। ताकि पॉलिएस्टर एलर्जी (Polyester Allergy) से छुटकारा पाने में मदद मिले। यह दवाइयां इस प्रकार हो सकती हैं, जैसे

    • मॉइस्चराइजरस (Moisturizers)
    • एंटीहिस्टामाइन (Antihistamine)
    • टोपिकल और ओरल स्टेरॉइड्स (Topical or Oral Steroids)
    • हायड्रोकोर्टिसोन क्रीम Hydrocortisone Cream)
    • कैलामाइन लोशन (Calamine lotion)

    Quiz: स्किन एलर्जी से जुड़े सवालों का जवाब मिलेगा क्विज से, खेलें और जानें

    हालांकि, रोगी को अपना उपचार खुद करने की सलाह नहीं दी जाती है। जब भी पॉलिएस्टर एलर्जी (Polyester Allergy) के लक्षण नजर आते हैं, प्राथमिक उपचार के लिए डॉक्टर से कांटेक्ट करें। अगर डॉक्टर आपको लक्षणों से छुटकारा पाने के लिए किन्हीं क्रीम और लोशन का प्रभावित स्थान पर प्रयोग करने के लिए कहते हैं तो उनका इस्तेमाल भी ध्यान से करना चाहिए। इसके लिए आप इन स्टेप्स को अवश्य फॉलो करें:

    • सबसे पहले त्वचा को हलके गर्म पानी से धोएं और किसी मृदु क्लींजर का इस पर प्रयोग करें। लेकिन, हानिकारक केमिकल का उपयोग करने से बचें। क्योंकि वे समस्या को बढ़ा सकते हैं।
    • त्वचा की लालिमा को कम करने और स्किन को शांत करने के लिए वेट पैक्स (Wet Packs) का प्रयोग करें।
    • डॉक्टर के द्वारा बताए गए किसी भी लोशन या क्रीम को लगाने से पहले अपने हाथों को अच्छे से साफ कर लें।

    अगर किसी व्यक्ति को इन उपचार से कोई लाभ न हो, तो डॉक्टर लाइट थेरेपी (Light Therapy) या फोटोथेरपी (Phototherapy) की सलाह दे सकते हैं। इस थेरेपी में त्वचा में सेल ग्रोथ और सूजन को धीमा करने के लिए एक विशेष प्रकार की रोशनी का उपयोग किया जाता है। पॉलिएस्टर एलर्जी (Polyester Allergy) के साथ अन्य कई त्वचा संबंधी समस्याओं का उपचार करने के लिए इस थेरेपी का प्रयोग किया जाता है।

    और पढ़ें : जानवर और कीड़ों से होने वाली ये एलर्जीस छीन सकती हैं आपका सुकून!

    पॉलिएस्टर एलर्जी

    पॉलिएस्टर एलर्जी से कैसे बच सकते हैं? (Polyester Allergy)

    अगर किसी व्यक्ति को पॉलिएस्टर से एलर्जी है तो इस समस्या से बचने का सबसे पहला तरीका है उन कपड़ों या फेब्रिक से बचना जिसमें पॉलिएस्टर है। इसके लिए आपको कपड़ों या अन्य चीजों के लिए पॉलिएस्टर की जगह अन्य विकल्पों का प्रयोग करना चाहिए। यह विकल्प इस प्रकार है :

    • कॉटन (Cotton)
    • लिनन (Linen)
    • ऊन (Wool)
    • सिल्क (Silk)

    फैब्रिक्स में आमतौर पर फाइबर का मिश्रण होता है। इसलिए, हमेशा इन्हें खरीदने के लिए पहले लेवल की जांच कर लें जैसे कॉटन बेस्ड मटेरियल में पॉलिएस्टर भी होता है। इसलिए, ऐसे कपड़ों को खरीदने से पहले लेवल की जांच जरूरी है।

    और पढ़ें : कीड़ों के काटने से हो सकती है इंसेक्ट स्टिंग एलर्जी, कुछ ऐसे संभव है इसका उपचार

    पॉलिएस्टर एक सामान्य सिंथेटिक फाइबर है जिसका प्रयोग कई तरह के कपड़ों में किया जाता है। कई लोग जब इनके डायरेक्ट कांटेक्ट में आते हैं तो स्किन रिएक्शन हो सकता है। पॉलिएस्टर एलर्जी (Polyester Allergy)को पहचानना बहुत मुश्किल है। कई बार स्किन रिएक्शन पॉलिएस्टर के कारण नहीं बल्कि इस कपड़े को बनाने में प्रयोग हुई डाई के कारन होते हैं। अगर आपको एलर्जिक रिएक्शन हैं और आपको लगता है कि यह पॉलिएस्टर के कारण है। तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं और टेस्ट से इसका निदान कराएं ताकि सही उपचार हो सके।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    सूत्र

    Textile contact dermatitis. https://dermnetnz.org/topics/textile-contact-dermatitis/ .Accessed on 14/5/21

    POLYESTER ALLERGIES. https://allergykb.org/polyester-allergies/ .Accessed on 14/5/21

    Occupational contact allergy to unsaturated polyester resin cements. https://allergykb.org/polyester-allergies/ .Accessed on 14/5/21

    CUTANEOUS ALLERGY TO COTTON. https://www.annallergy.org/article/S1081-1206(10)60096-8/abstract .Accessed on 14/5/21

    लेखक की तस्वीर badge
    AnuSharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 17/05/2021 को
    डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड