Cancer: कुछ आदतें जो बन सकती हैं कैंसर का कारण!

    Cancer: कुछ आदतें जो बन सकती हैं कैंसर का कारण!

    कैंसर का कारण आजकल ऐसी-ऐसी चीजें भी बनती जा रही हैं, जिन्हें जानकर आप हैरान रह जाएंगे। कैंसर मनुष्य को शारीरिक और मानसिक दोनों ही तरह से कष्ट देता है। इसलिए इस बीमारी से जितना हो उतना सतर्क रहें और ऐसी कोई लापरवाही न करें जिससे यह खतरनाक बीमारी आपको चपेट में ले ले। बहुत कम लोग जानते होंगे कि हम अपनी रोजमर्रा की जिंदगी में बहुत कुछ ऐसा करते हैं, जो आगे चलकर कैंसर का कारण (Cause of Cancer) बन सकता है। हमारी कई आदतें कैंसर (Cancer) जैसी घातक बीमारी को जन्म दे रही है। इस आर्टिकल के माध्यम से जानिए कि आखिर वो कौन-सी आदते हैं जो कैंसर की बीमारी को जन्म दे रही है।

    और पढ़ें : ALK positive lung cancer: एएलके पॉसिटिव लंग कैंसर क्या है? जानिए इसके लक्षण और इलाज!

    कौन-सी आदते हैं जो कैंसर का कारण हो सकती हैं? (Habits that can Cause of Cancer)

    कैंसर का कारण (Cause of Cancer)

    निम्नलिखित आदतें बन सकती हैं कैंसर का कारण। जैसे:

    ज्यादा नॉनवेज खाना हो सकता है कैंसर का कारण!

    कुछ लोगों को नॉनवेज खाना बहुत पसंद होता है लेकिन राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के मुताबिक जब नॉनवेज को हाई टेम्प्रेचर पर पकाया जाता है तो ऐसे केमिकल रिएक्शन होते हैं जो डीएनए के बदलने का कारण बन सकते हैं। यदि आप नॉनवेज खाते हैं, तो कम खाएं। एक अध्ययन के मुताबिक कैंसर की शिकायत शाकाहारियों की तुलना में मांसाहारियों में ज्यादा पाई जाती हैं।

    और पढ़ें: Endometrial Cancer: एंडोमेट्रियल कैंसर क्या है? जानिए एंडोमेट्रियल कैंसर के लक्षण, कारण और इलाज

    ज्यादा शराब पीना हो सकता है कैंसर का कारण!

    ज्यादा शराब पीना आपकी सेहत पर बहुत बुरा असर डालता है। अमेरिकन कैंसर सोसायटी ने ओवर ड्रिंकिंग को गले, लिवर और ब्रेस्ट कैंसर का बड़ा कारण माना है। ऐसे में आपको शराब का सेवन कम से कम करना चाहिए। हो सके तो शराब से दूरी बना लेनी चाहिए। सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन (Centers for Disease Control and Prevention) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार ज्यादा शराब पीने से छह तरह के कैंसर (Cancer) हो सकते हैं। इसलिए आप जितना कम शराब पिएंगे, कैंसर का खतरा उतना कम हो जाएगा। इस बारे में अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से परामर्श करें।

    प्लास्टिक बनता है कैंसर का कारण!

    प्लास्टिक के कंटेनर में गर्म खाना खतरनाक हो सकता है। अगर खाना 60 डिग्री सेल्सियस से अधिक है तो प्लास्टिक के कुछ कण खाने में मिल जाते हैं। लगातार ऐसे खाने का सेवन आपको कैंसर के मुंह में धकेल सकता है। कई रिसर्च में प्लास्टिक के कणों से खतरा नहीं बताया गया है पर लंबे समय तक ऐसा खानपान घातक रूप ले सकता है। बेहतर होगा कि प्लास्टिक का कम से कम उपयोग करें।

    और पढ़ें : क्या आपको भी है बोन कैंसर, जानें इसके बारे में सब कुछ

    फोन बन सकता है कैंसर का कारण!

    अगर आपको भी आदत है फोन को अपने पास रख कर सोने की तो यह आदत आज ही छोड़ दें । फोन से निकलने वाली रेडियोफ्रीक्वेन्सी ब्रेन कैंसर (Brain cancer) की बड़ी वजह बन सकती है। नेशनल कैंसर इंस्टीट्यूट की रिपोर्ट में दावा किया गया है सेलफोन की रेडिया वेव्स नाॅन आयोनाइजिंग रेडिएशन होती हैं। ऐसे में पास रखकर सोने से शरीर का सबसे करीबी अंग इस खतरनाक रेडिएशन को अवशोषित कर सकता है, जो कैंसर का कारण बन सकता है।

    मेकअप हो सकता है कैंसर का कारण!

    नैशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इन्फॉर्मेशन (National Center for Biotechnology Information) में पब्लिश्ड रिपोर्ट के अनुसार मेकअप और स्किन केयर प्रोडक्ट ज्यादातर पैराबेन्स युक्त होते हैं। पैराबेन्स स्किन के लिए बहुत हानिकारक होते हैं और स्किन में एब्सॉर्ब होकर उसे नुकसान पहुंचाते हैं। यह ब्रेस्ट कैंसर सेल्स के निर्माण में सहायक होते हैं। पैराबेन्स मुख्य रूप से प्रिजरवेटिव होते हैं, जो मॉइस्चराइजर, मेकअप, शेविंग जेल आदि में पाए जाते हैं। यानी जो ब्यूटी प्रोडक्ट हम लोग यूज करते हैं, उनमे से कई प्रोडक्ट कैंसर का कारण बन सकते हैं। हम सभी को सावधानी रखने की विशेष आवश्यकता है।

    और पढ़ें : Total Pancreatectomy: जानिए टोटल पैनक्रिएटेक्टॉमी सर्जरी की जरूरत कब पड़ती है!

    फैमिली हिस्ट्री के कारण कैंसर का खतरा!

    कैंसर होना या न होना इस बात पर भी निर्भर करता है कि आपने परिवार में ये बीमारी हो चुकी है? अगर आपके परिवार में किसी को कैंसर है, तो जेनेटिक्स की वजह से आपको भी कैंसर होने की संभावन बनी रहती है। ऐसे में कैंसर से बचाव करने के लिए ज्यादा ध्यान देने की आवश्यक्ता होती है। लेकिन ऐसा जरूरी भी नहीं होता है कि फैमिली हिस्ट्री के कारण आगे आने वाली पीढ़ी को कैंसर हो। बेहतर होगा कि ऐसे लोग (जिनकी फैमिली में कैंसर की हिस्ट्री हो या किसी को कैंसर हुआ हो) कैंसर के प्रति सजग रहे और शक होने पर तुरंत जांच कराएं। सही समय पर कैंसर का ट्रीटमेंट कराने पर बीमारी से छुटकारा मिल जाता है।

    कुछ वायरस बन सकते हैं कैंसर का कारण!

    स्टैंडफोर्ड की कैंसर रिसर्च में बताया गया है कि कैसे कुछ वायरस भी कैंसर की वजह बन सकते हैं। एपस्टीन-बार (Epstein-Barr) और एचआईवी वायरस (जो एड्स का कारक है) की वजह से भी कई तरह के कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। इसके अलावा कई तरह की रेडिएशन और रेडियोएक्टिव मटेरियल के असर से कैंसर होने की संभावना बन जाती है।

    और पढ़ें : पैंक्रिएटिक कैंसर सेल्स को 90 फीसदी तक खत्म कर सकता है यह मॉलिक्यूल

    कैंसर के कारण पर क्या कहती है रिसर्च? (Study on Cancer Cause)

    दुनियाभर के साइंटिस्ट्स कैंसर का कारण और उपचार के लिए लगातार रिसर्च कर रहे हैं। संयुक्त रूप से यह बात निकलकर सामने आती है कि कैंसर किसी एक वजह से नहीं होता है इसके पीछे कई तरह के अलग-अलग कारण होते हैं। ये जेनेटिक, वातावरण और हमारी लाइफ स्टाइल संबंधी भी हो सकते हैं। आज की लाइफस्टाइल फास्ट हो चुकी है। ऐसे में लोग न तो प्रॉपर खाते हैं और न ही शरीर की फिटनेस से लिए एक्सरसाइज कर पाते हैं। इन कारणों को भी कैंसर होने का मुख्य कारण माना जाता है। बेहतर होगा कि आप अपनी लाइफस्टाइल में सुधार करें।

    और पढ़ें: Lung cancer treatment: लंग कैंसर ट्रीटमेंट कैसे किया जाता है, जानिए इसके बारे में विस्तार से!

    हो जाएं सावधान!

    अब आप समझ ही गए होंगे कि कैसे आप जाने- अनजाने बहुत कुछ ऐसा करते हैं जो आपके लिए कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों के जोखिम को बढ़ाता है। इन बातों पर शायद ही अपने पहले कभी ध्यान दिया हो लेकिन, अब थोड़ी सावधानी जरूर बरतें।

    कैंसर की बीमारी को लाइफस्टाइल में सुधार कर रोका जा सकता है। जो लोग खानपान हेल्दी फूड शामिल नहीं करते हैं या फिर शरीर की फिटनेस के लिए एक्सरसाइज (Workout) नहीं करते हैं, उनके शरीर में विभिन्न प्रकार के रोग लगने का खतरा अधिक होता है। बेहतर होगा कि आप हेल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं और कैंसर के खतरे को कम करें।

    उम्मीद करते हैं कि आपको इस आर्टिकल की जानकारी पसंद आई होगी और आपको कैंसर के खतरे से जुड़ी सभी जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

    स्वस्थ रहने के लिए अपने डेली रूटीन में एक्सरसाइज या योगासन को शामिल करना चाहिए। नीचे दिए इस वीडियो लिंक पर क्लिक कर योगासन से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारियों को समझें।

    हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

    के द्वारा मेडिकली रिव्यूड

    डॉ. प्रणाली पाटील

    फार्मेसी · Hello Swasthya


    Nidhi Sinha द्वारा लिखित · अपडेटेड 25/04/2022

    advertisement
    advertisement
    advertisement
    advertisement