जानिए स्टमक कैंसर की चौथी स्टेज (Stage 4 stomach cancer) पर कैसे होता है मरीज का इलाज

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट February 24, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

हमारा पेट एक मस्क्युलर सैक की तरह है जो कि एब्डोमेन (abdomen) के अपर मिडिल एरिया और रिब्स से नीचे होता है। पेट का काम भोजन को ग्रहण करना, उसे अंदर रखना, तोड़ना और पचाना होता है। पेट के अंदर की कोशिकाओं की असामान्य वृद्धि होना स्टमक कैंसर (stomach cancer) कहलाता है। पेट के कैंसर को गैस्ट्रिक कैंसर (gastric cancer) भी कहा जाता है। यह पेट के किसी भी भाग को प्रभावित कर सकता है। दुनियाभर में पेट का कैंसर पेट के मुख्य हिस्से (stomach body) से शुरू होता है, लेकिन यह पेट के किसी भी हिस्से से शुरू हो सकता है और इसका ट्रीटमेंट कैंसर कहां से शुरू हो रहा है इस पर निर्भर करता है।

ज्यादातर पेट का कैंसर पेट के अंदर की लाइनिंग ग्लैंड से शुरू होता है। जिसे एडेनोकार्सिनोमा (adenocarcinomas) कहते हैं। कुछ कैंसर स्टमक वॉल से शुरू होते हैं उन्हें गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल स्ट्रोमल ट्यूमर (GIST) (gastrointestinal stromal tumors) (GIST) कहते हैं। वहीं कुछ कैंसर पेट के इम्यून सिस्टम सेल्स से शुरू होते हैं उन्हें हॉगकिंस लिंफोमा (Hodgkins lymphoma) कहा जाता है। इसके अलावा कैंसर पेट के हॉर्मोन सेल्स से शुरू हो सकता है जिसे न्यूरोएंडोक्राइन कैंसर (neuroendocrine cancers) कहा जाता है। चौथी स्टेज का पेट का कैंसर टिशूज, ब्लडस्ट्रीम और लिम्फ सिस्टम के माध्यम से बॉडी के दूर के हिस्सों में भी फैल जाता है। पेट के कैंसर की चौथी स्टेज को एडवांस स्टमक कैंसर (Advance stomach cancer) भी कहा जाता है।

पेट के कैंसर का शिकार ज्यादातर बुजुर्ग लोग होते हैं। 100 मरीजों में 50 प्रतिशत लोग 75 से ज्यादा उम्र के होते हैं। इससे महिलाओं के साथ ही पुरुष भी समान रूप से ग्रसित होते हैं। कई स्टमक कैंसर लाइफस्टाइल और एंवायरमेंटल फैक्टर्स से संबंधित होते हैं। जिसमें डायट भी शामिल है। पेट के कैंसर का कारण हैलीकोबैक्टर पायलोरी बैक्टीरिया (Helicobacter pylori) भी होते हैं, जो पेट के अंदर रहते हैं, लेकिन इस बैक्टीरिया के साथ हर किसी में पेट का कैंसर डेवलप नहीं होता। इसके साथ ही क्रोनिक गेस्ट्राइटिस, परनिसिया एनीमिया, ग्रेस्टिक पॉलीप्स और इंटेस्टाइनल मेटाप्लासिया भी स्टमक कैंसर के कारण बनते हैं।

स्टमक कैंसर के लक्षण

यहां कुछ लक्षण बताए जा रहे हैं जो गैस्ट्रिक कैंसर या दूसरी किसी पेट की कंडिशन के भी हो सकते हैं। अर्ली स्टेज में ये लक्षण दिखाई देते हैं।

और पढ़ें: स्टमक इंफेक्शन दूर करने के लिए आजमाएं ये घरेलू उपाय

एडवांस स्टेज या कहें कि पेट के कैंसर की चौथी स्टेज पर ये निम्न लक्षण दिखाई देते हैं

  • स्टूल में ब्लड आना (Blood in the stool)
  • उल्टी होना (Vomiting)
  • बिना किसी कारण के वजन का कम होना (Weight loss for no known reason)
  • पेट में दर्द (Stomach pain)
  • पीलिया Jaundice (yellowing of eyes and skin)
  • निगलने में परेशानी होना (Trouble swallowing)
  • एसाइटिस (Ascites )

हैलो स्वास्थ्य का न्यूजलेटर प्राप्त करें

मधुमेह, हृदय रोग, हाई ब्लड प्रेशर, मोटापा, कैंसर और भी बहुत कुछ...
सब्सक्राइब' पर क्लिक करके मैं सभी नियमों व शर्तों तथा गोपनीयता नीति को स्वीकार करता/करती हूं। मैं हैलो स्वास्थ्य से भविष्य में मिलने वाले ईमेल को भी स्वीकार करता/करती हूं और जानता/जानती हूं कि मैं हैलो स्वास्थ्य के सब्सक्रिप्शन को किसी भी समय बंद कर सकता/सकती हूं।

आपको बता दें कि इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR ) के अनुसार भारत में स्टमक कैंसर के मामले पश्चिमी देशों की तुलना बेहद कम हैं। पुरुषों में इस कैंसर के मामले ज्यादा पाए गए हैं। पेट के कैंसर के नए मामले लगभग 34 हजार के लगभग हैं ऐसा अनुमान लगाया गया है कि 2020 से भारत में हर साल 50 हजार से ज्यादा मामले गेस्ट्रिक कैंसर के सामने आएंगे। हाल ही में हुए नैशनल रिप्रेजेंटेटिव सर्वे के अनुसार गैस्ट्रिक कार्सिनोमा भारत में महिलाओं और पुरुषों के बीच कैंसर से होने वाली मौत का दूसरा कारण बना। स्टेज 4 स्टमक कैंसर का इलाज कई थेरिपीज और प्रॉसीजर से किया जाता है। जानते हैं उनके बारे में।

क्या स्टेज 4 स्टमक कैंसर का ट्रीटमेंट (Stomach Cancer Treatment) किया जाता है?

चौथी स्टेज के स्टमक कैंसर का इलाज शुरुआती स्टेज के इलाज से मुश्किल होता है क्योंकि यह सिर्फ पेट तक सीमित नहीं रह जाता यह इससे दूर के अंग भी प्रभावित हो सकते हैं। सामान्यत: इसको क्योर नहीं किया जा सकता, लेकिन इसका उपचार किया जा सकता है। स्टेज 4 स्टमक कैंसर के उपचार का उद्देश्य लक्षणों से राहत देने के साथ ही कैंसर की ग्रोथ को कम करना होता है। डॉक्टर उम्र और संपूर्ण स्वास्थ्य को देखते हुए थेरेपीज रिकमंड करते हैं। मरीज को किस प्रकार का कैंसर है या उस पर भी र्निभर करता है। स्टेज 4 स्टमक कैंसर (stage 4 stomach cancer) के कुछ ट्रीटमेंट्स निम्न हैं।

और पढ़ें: पुरुषों में कैंसर होते हैं इतने प्रकार के, जानकारी से ही किया जा सकता है बचाव

स्टेज 4 स्टमक कैंसर के लिए दी जाती है लेजर थेरिपी (Laser therapy for stomach cancer)

पेट के कैंसर की चौथी स्टेज

लेजर थेरिपी का उपयोग ट्यूमर्स को हटाने, ब्लीडिंग को रोकने और पेट में होने वाले ब्लॉकेज को कम करने के लिए किया जाता है। यह कभी-कभी बिना सर्जरी के किया जा सकता है। डॉक्टर लेजर बीम देने के लिए गले में एक लंबी और प्लेग्जिबल ट्यूब डालते हैं। इसे एंडोस्कोपिक ट्यूमर एब्लेशन (endoscopic tumor ablation) कहा जाता है।

होलो ट्यूब्स (Hollow tubes) जिन्हें स्टेंट्स (stents) कहा जाता है वे भी मदद कर सकते हैं। पेट और इसोफेगस और स्टमक और स्माल इंटेस्टाइन के बीच एक स्टेंट प्लेस करने से भोजन पेट के माध्यम से गुजरने में सक्षम होगा।

सर्जरी (Surgery for stomach cancer)

एक सबटोटल गैस्ट्रेक्टोमी (subtotal gastrectomy) एक प्रक्रिया है जिसमें सर्जन पेट के उस हिस्से को हटा देता है जिसमें ट्यूमर होता है। यह ब्लीडिंग और दर्द को कम करने में मदद कर सकता है।यदि पेट के निचले हिस्से में ट्यूमर फूड पास होने से रोक रहे हैं, तो गैस्ट्रिक बाईपास सर्जरी एक ।gastric bypass surgery द्विधकल्प हो सकता है।इस प्रक्रिया में, छोटी आंत का हिस्सा पेट के ऊपरी हिस्से से जुड़ा होता है, ट्यूमर को बायपास करता है, और भोजन को पेट से बाहर निकलने देता है। कभी-कभी, पेट के कैंसर के कारण खाने में मुश्किल होती है। यदि ऐसा होता है, तो एक फीडिंग ट्यूब को पेट में त्वचा के माध्यम से सर्जिकली इंसर्ट किया जा सकता है ताकि आपको आवश्यक पोषक तत्व मिल सकें।

और पढ़ें: Secondary Bone Cancer: सेकंडरी बोन कैंसर क्या है?

पेट के कैंसर की चौथी स्टेज के लिए रेडिएशन थेरिपी (Radiation therapy)

रेडिएशन थेरिपी का उपयोग टार्गेट ट्रीटमेंट के लिए किया जाता है। जो किसी स्पेसिफिक ट्यूमर्स से संबंधित है। यह ट्यूमर को शिरिंक (SHRINK) करने के साथ ही, ब्लीडिंग को कम करती है और दर्द से राहत दिलाती है।

टार्गेटेड ड्रग थेरिपी और इम्यूनोथेरिपी (Targeted drug therapy or immunotherapy)

टार्गेटेड ड्रग थेरिपी का यूज एडवांस कैंसर (स्टेज 4 स्टमक कैंसर)  के इलाज में होता है। ये दवाएं कैंसर की विशिष्ट विशेषताओं पर हमला करती हैं। इनमें से कुछ हैं:

  1. स्ट्रोमल ट्यूमर stromal tumors के लिए इमैटिनिब  (imatinib)
  2. स्ट्रोमल ट्यूमर stromal tumors के लिए रेगॉर्फेनिब (regorafenib)
  3. स्ट्रोमल ट्यूमर stromal tumors के लिए सुनीतिनिब  (sunitinib)
  4. HER2 पॉजिटिव ट्यूमर के लिए ट्रेस्टुज़ुमैब (trastuzumab)

इम्यूनोथेरेपी ड्रग्स कैंसर पर हमला करने में मदद करने के लिए आपके इम्यून सिस्टम (immune system) को स्ट्रॉन्ग करने में मदद करते हैं।

क्लिनिकल ट्रायल्स (Clinical trials)

क्लिनिकल ट्रायल्स वे स्टडीज हैं जो एक्सपेरिमेंटल थेरिपीज की सुरक्षा और प्रभाव की जांच के लिए की जाती हैं, जो कि अभी तक एफडीए के द्वारा अप्रूव नहीं की गई हैं। यह ट्रायल नए ट्रीटमेंट्स की पेशकश कर सकते हैं। इनके लिए एलिजिब्लिटी रूल्स काफी स्पेसिफिक होते हैं। इसके लिए मरीज चिकित्सक से उन परीक्षणों के बारे में पूछ सकते हैं जो उनके लिए एक फिट हो सकते हैं।

और पढ़ें: Bone Marrow Cancer: बोन मैरो कैंसर क्या है और कैसे किया जाता है इसका इलाज?

पेट के कैंसर की चौथी स्टेज के लिए सप्लिमेंट केयर

4 स्टेज स्टमक कैंसर (स्टेज 4 पेट का कैंसर) के लिए डॉक्टर सप्लिमेंट केयर भी मरीज को देते हैं क्योंकि स्टमक कैंसर ईटिंग और फूड डायजेस्टिव सिस्टम में कैसे फ्लो करता है उसको भी डिस्टर्ब कर देता है जो कि कुपोषण (malnutrition) का कारण बन सकता है। डॉक्टर न्यूट्रिशनिस्ट की मदद भी मरीज को लेने के लिए कह सकता है ताकि वह डायट से जरूरी पोषण प्राप्त कर सके। ऐसे में डॉक्टर डायट्री सप्लिमेंट्स प्रिस्क्राइब कर सकता है। इसके साथ पेन रिलीवर और दूसरी दवाएं जो कई तरह दूसरे लक्षणों से राहत दे सकती हैं डॉक्टर देते हैं। किसी भी नए लक्षण के बारे में डॉक्टर को जरूर बताएं ताकि उन्हें प्रभावी रूप से मैनेज किया जा सके।

पेट के कैंसर की चौथी स्टेज (स्टेज 4 पेट का कैंसर) पर सर्वाइवल के कितने चांसेज होते हैं?

स्टमक कैंसर की 4 स्टेज पर सर्वाइलवल चांजेस के लिए निम्न बातें जिम्मेदार होती हैं।

  • कई फैक्टर्स आपकी रोगनिरोगी क्षमता prognosis को प्रभावित करते हैं। जिसमें उम्र, स्वास्थ्य और आपके किस प्रकार के ट्रीटमेंट को चुना है आदि शामिल हैं।
  • इसके अलावा हर उपचार के प्रति हर मरीज अलग तरीके से रिस्पॉन्ड करता है और जानने का कोई तरीका नहीं है कि आपकी बॉडी ट्रीटमेंट के प्रति कैसे रिस्पॉन्ड करेगी।
  • सर्वाइवल रेट्स डायग्नोसिस के स्टेज पर आधारित होते हैं।
  • सामान्यत: कैंसर डायग्नोस होने के बाद मरीज 1 साल से लेकर 10 साल तक जीवित रह सकता है।

और पढ़ें: Throat cancer: गले (थ्रोट) का कैंसर क्या होता है? जानें इसके कारण, लक्षण व बचाव

उम्मीद करते हैं कि आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा और पेट के कैंसर की चौथी स्टेज से संबंधित जरूरी जानकारियां मिल गई होंगी। अधिक जानकारी के लिए एक्सपर्ट से सलाह जरूर लें। अगर आपके मन में अन्य कोई सवाल हैं तो आप हमारे फेसबुक पेज पर पूछ सकते हैं। हम आपके सभी सवालों के जवाब आपको कमेंट बॉक्स में देने की पूरी कोशिश करेंगे। अपने करीबियों को इस जानकारी से अवगत कराने के लिए आप ये आर्टिकल जरूर शेयर करें।

powered by Typeform

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

Was this article helpful for you ?
happy unhappy
सूत्र

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

स्वास्थ्य को जानें, स्वास्थ्य को पहचानें – क्योंकि स्वास्थ्य से ही सब कुछ है!

स्वास्थ्य (Health) किसे कहते हैं, जानिए इसके प्रकारों और इसको प्रभावित करने वाले फैक्टर्स के बारे में, हेल्दी रहने के तरीके

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
स्वास्थ्य February 22, 2021 . 8 मिनट में पढ़ें

जानिए टॉडलर्स और प्रीस्कूलर्स बच्चों के स्वास्थ्य और देखभाल के बारे में

जानिए बच्चों का स्वास्थ्य (1-3 साल) इस उम्र में कैसा होना चाहिए और कौन सी चीजें इसे प्रभावित कर सकती हैं जानिए, Kids Health in hindi

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma

सिगरेट पीने से रोकने वाली हेल्थ वॉर्निंग्स के बारे में इतना सब नहीं जानते होंगे आप

स्मोकिंग एक ऐसी बुरी आदत है जिससे इंसान अपने साथ ही दूसरों की भी लाइफ बर्बाद कर देता है। स्मोकिंग के दुष्प्रभाव के बारे में बताने के लिए सिगरेट के पैकेट पर चेतावनी दी जाती है। जिसे स्माेकिंग हेल्थ वाॅर्निंग कहते हैं।

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
धूम्रपान छोड़ना, अच्छी आदतें February 20, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें

पोषण का अर्थ सिर्फ ठोस आहार नहीं, दैनिक पोषण में पेय पदार्थों की भी है अहम् भूमिका

पेय पदार्थ कौन से होते हैं, क्या हैं इसके फ़ायदे और कैसे ये हमारे शरीर को पहुँचाते हैं लाभ, जानेंगे इस आर्टिकल में।

के द्वारा लिखा गया Toshini Rathod
आहार और पोषण, पोषण तथ्य February 19, 2021 . 7 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

क्लैमाइडिया वैक्सीन (Chlamydia Vaccine) 

क्लैमाइडिया के घरेलू उपचार क्या हैं, जानें इसके बारे में

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Niharika Jaiswal
प्रकाशित हुआ February 24, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
प्रेग्नेंसी के दौरान ऑर्गैज्म

प्रेग्नेंसी के दौरान ऑर्गैज्म से जुड़े सभी सवालों के जवाब मिलेंगे इस आर्टिकल में

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Manjari Khare
प्रकाशित हुआ February 24, 2021 . 5 मिनट में पढ़ें
कोल्ड सोर्स , Cold Sores

कोल्ड सोर्स या हर्पीज लेबियालिस ( Herpes labialis) का ट्रीटमेंट संभव है?

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया Bhawana Awasthi
प्रकाशित हुआ February 24, 2021 . 4 मिनट में पढ़ें
स्कूल के बच्चों का स्वास्थ्य

स्कूल के बच्चों का स्वास्थ्य कैसा होना चाहिए, जानिए उनके लिए सही आहार और देखभाल के तरीके के बारे में

चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
के द्वारा लिखा गया AnuSharma
प्रकाशित हुआ February 22, 2021 . 7 मिनट में पढ़ें