home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

स्टमक इंफेक्शन दूर करने के लिए आजमाएं ये घरेलू उपाय

स्टमक इंफेक्शन दूर करने के लिए आजमाएं ये घरेलू उपाय

ऐसे लोग जो खाने के मामले में लापरवाही बरतते हैं और बाहर का कुछ भी खा लेते हैं, उन्‍हें अक्सर स्टमक इंफेक्शन (Stomach Infection) होने की आशंका बपनी रहती है। इसके अलावा दूषित पानी पी लेने से, खाने को ठीक से न पकाने की वजह से, संक्रमित मीट का सेवन करने से या फिर खाने को ठीक से न ढककर रखने से बैक्‍टीरिया (Bacteria) पेट में चले जाते हैं। इसकी वजह से स्टमक इंफेक्शन होता है, जो काफी तकलीफ देता है। इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि पेट के इंफेक्शन के लक्षण, कारण और घरेलू उपाय।

और पढ़ेंः पेट का कैंसर क्या है ? इसके कारण और ट्रीटमेंट

स्टमक इंफेक्शन (Stomach Infection) क्या है?

स्टमक इंफेक्शन कई कारणों की वजह से हो सकता है। आमतौर पर इसका सबसे बड़ा कारण दूषित पानी पीना या दूषित खाना खाना हो सकता है। स्टमक इंफेक्शन पेट और आंतों का एक संक्रमण है, जिसे पेट का फ्लू भी कहते हैं। हालांकि यह इन्फ्लूएंजा (Influenza) के समान नहीं है। इन्फ्लुएंजा हमेशा सांस की नली को प्रभावित करता है। जबकि पेट का संक्रमण (Stomach Infection) पेट और आंतों को प्रभावित करता है। इसे प्रारंभिक चरण में व्यक्ति को ठंड लगना, हल्का बुखार (Fever) होना और मतली जैसे लक्षण दिखाई दे सकते हैं। जो गंभीर होने पर बार-बार उल्टी आना, दस्त लगना या पेट में तेज दर्द होना शामिल हो सकता है। आमतौर पर इसका कोई इलाज नहीं है। पेट के फ्लू (Stomach Flu) को उपचार करने के लिए डॉक्टर आपको विशेष सलाह दे सकते हैं। जिसमें आराम करना, खाने-पीने से परहेज शामिल हो सकता है।

और पढ़ें : Traveler’s diarrhea : ट्रैवेलर्स डायरिया क्या है? जानिए इसके कारण लक्षण और उपाय

स्टमक इंफेक्शन के लक्षण (Symptoms of Stomach Infection)

  • ऐंठन होना
  • मितली और उल्टियां आना
  • भूख समाप्‍त होना
  • शौच में रक्त आना
  • खट्टी डकारें आना

और पढ़ें : पेट दर्द के ये लक्षण जो सामान्य नहीं हैं

स्टमक इंफेक्शन का कारण (Cause of Stomach Infection)

  • दवाओं की वजह से
  • पेट खराब होना
  • भावनात्मक तनाव या किसी चीज का डर
  • ज्यादा भोजन कर लेना
  • एल्कोहॉल या धूम्रपान (Smoking) जैसी चीजें

और पढ़ें : Stomach cancer: पेट का कैंसर क्या है?

स्टमक इंफेक्शन के घरेलू इलाज (Home remedies for Stomach Infection)

लिक्विड डायट फॉलों करें

स्टमक इंफेक्शन होने पर आपको दिन भर में ढेर सारा पानी पीना चाहिए। आपको ताजे फलों का जूस, सूप, दाल का पानी पीना फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि स्टमक इंफेक्शन के दौरान आपको बहुत ज्यादा पसीना आता है, उल्टी होती है और दस्त होने लगते हैं। जिसके कारण आप शरीर से अधिक मात्रा में पानी खर्च करते हैं। अगर आपको तरल पदार्थ खाते ही तुरंत उल्टी या दस्त हो जाता है, तो नियमित अंतराल पर कुछ घूंट में इसे पी सकते हैं। या फिर आप आईस चिप्स भी मुंह में रख सकते हैं।

स्टमक इंफेक्शन में क्या पीएं?

  • साफ पानी और शरबत
  • ओवर-द-काउंटर (OTC) पर मिलने वाले घोल
  • स्पोर्ट्स ड्रिंक्स, जैसे इलेक्ट्रोलाइट
  • अदरक (Ginger) और पुदीना (Mint) की चाय
  • चाय पीने से आपकी उल्टी कम होगी और पेट दर्द में भी राहत मिलेगी।

स्टमक इंफेक्शन में क्या न पीएं?

  • कॉफी (Coffee)
  • स्ट्रांग ब्लैक टी
  • चॉकलेट

ये तीनों आपकी नींद को प्रभावित कर सकते हैं।

शराब (Alcohol)

शराब पीने से आपको बार-बार पेशाब जाने की समस्या हो सकती है। जिसके कारण आप शरीर से अधिक मात्रा में पानी खर्च कर सकते हैं।

खसखस के बीज

दिन में दो बार खसखस के दानों पीसकर खाएं। इससे पेट की गर्मी दूर होती है और पाचन तंत्र (Digestive System) सही होता है।

चना

चना या फिर चने की सब्‍जी बना कर खाएं। इससे भी पेट के संक्रमण में काफी लाभ होता है।

करें लहसुन का सेवन

पाचन क्रिया अच्‍छी तरीके से होती रहे, इसके लिए साबुत लहसुन (Garlic) या फिर लहसुन का रस बहुत लाभकारी है। इसमें एंटी-बैक्‍टीरियल (Anti-Bacterial) तत्‍व पाए जाते हैं, जो पेट के संक्रमण (Stomach Infection) से पेट का बचाव करते हैं।

स्टमक इंफेक्शन (Stomach Infection) के लिए शहद

एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच शहद (Honey) डालकर पिएं। इससे आपका पाचन तंत्र मजबूत होगा और स्टमक इंफेक्शन में भी राहत मिलेगी।

खाली पेट हींग का सेवन करें

सुबह खाली पेट पानी के साथ हींग (Asafoetida) का सेवन करने से पेट के कीडे़ मरते हैं। इसलिए इसे नियमित तौर पर खाना चाहिए।

केला खाएं

केला (Banana) खाने से भी आपको पेट दर्द से राहत मिलती है, क्‍योंकि इसमें पोटैशियम होता है और प्राकृतिक चीनी भी होती है। यह आसानी से हज्म हो जाता है और पेट को भी ठीक कर देता है। उल्टी और दस्त के कारण आपके शरीर से खोए हुए पोटेशियम की भरपाई करने में केला काफी लाभदायक होता है।

अदरक भी दूर करेगा स्टमक इंफेक्शन

पेट की समस्‍या से निजात पाने के लिए आपको अदरक (Ginger) का छोटा टुकड़ा, सेधा नमक और चुटकी भर काली मिर्च के साथ मिला लेना चाहिए। इसे मिलाकर खा लें और इसके बाद एक गिलास पानी पी लें।

चावल भी है स्टमक इंफेक्शन (Stomach Infection) का इलाज

सफेद चावल आपके शरीर को संसाधित करने के लिए आसान है और कार्ब्स से ऊर्जा प्रदान करता है। ब्राउन राइस (Brown Rice) में बहुत अधिक फाइबर (Fiber) होता है और अतिरिक्त गैस उत्पन्न कर सकता है। इसलिए सफेद चावल खाएं। स्टमक इंफेक्शन के दौरान ब्राउन राइस का सेवन न करें।

और पढ़ें : क्या बच्चों को ब्राउन राइस खिलाना चाहिए?

रोटी की जगह टोस्ट खाएं

स्टमक इंफेक्शन (Stomach Infection) होने पर आपको रोटी खाने से परहेज करना चाहिए। रोटी की जगह पर आप टोस्ट खा सकते हैं। गेहूं की रोटी में फाइबर की अधिक मात्रा होती है जो पाचन तंत्र (Diagestion) पर इस स्थिति में बुरा असर कर सकती है। इससे बचने के लिए आप टोस्ट खा सकते हैं। ये पचाने में अधिक आसान होते हैं।

क्या न खाएं?

  • डेयरी प्रोड्क्ट

पेट में फ्लू होने पर सभी को दूध से जुड़ी समस्या नहीं होती है। हालांकि दूध (Milk) या डेयरी प्रोडक्ट (Dairy product) को पचाने में पेट को समय लगता है। जिसके कारण गैस (Acidity) और दस्त (Diarrhea) की समस्या बढ़ सकती है।

  • फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ

फाइबर फूड्स भी आंत्र पर जोर डालते हैं।

  • तेल

तली-भुनी चीजें भी खाने से परहेज करना चाहिए।

  • मसाले

टमाटर, करी पत्त और मिर्च का सेवन न करें।

और पढ़ें : पालक से शिमला मिर्च तक 8 हरी सब्जियों के फायदों के साथ जानें किन-किन बीमारियों से बचाती हैं ये

स्टमक इंफेक्शन (Stomach Infection) होने पर इन बातों का भी ध्यान रखें

  • सीधा हाथ से बर्तन धोने के बजाय डिशवॉशर या हाथों में ग्लब्स का उपयोग करें।
  • हैंड सैनिटाइजर की जगह साबुन और पानी का इस्तेमाल करें।
  • अगर घर में कोई बीमार है, तो उस सदस्य से थोड़ी दूरी बनाकर रखें।

अगर आपको पेट दर्द की समस्या रहती है, तो ऊपर बताए गए घरेलू उपाय अपना सकते हैं। लेकिन, अगर आपको लगे कि पेट के इंफेक्शन के घरेलू उपाय अपनाकर भी समस्या ठीक नहीं हो रही है, तो डॉक्टर से संपर्क जरूर करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Bacterial Gastroenteritis/https://www.hopkinsmedicine.org/health/conditions-and-diseases/bacterial-gastroenteritis/Accessed on 15/03/2021

CONDITION
Stomach Flu (Gastroenteritis)/https://familydoctor.org/condition/stomach-virus-gastroenteritis/Accessed on 15/03/2021

Definition & Facts for Viral Gastroenteritis (“Stomach Flu”)/https://www.niddk.nih.gov/health-information/digestive-diseases/viral-gastroenteritis/definition-facts/Accessed on 15/03/2021

Bacterial Gastroenteritis/https://www.fairview.org/patient-education/89211/Accessed on 15/03/2021

Viral gastroenteritis (stomach flu). https://www.mayoclinic.org/diseases-conditions/viral-gastroenteritis/diagnosis-treatment/drc-20378852. Accessed on 19 February, 2020.

लेखक की तस्वीर badge
Sushmita Rajpurohit द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 04/05/2021 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x