लॉकडाउन में डॉग ट्रेनिंग कैसे करें, जानें आसान टिप्स

Written by

Published on मई 25, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

यदि आपने लॉकडाउन शुरू होने से ठीक पहले एक कुत्ते का बच्चा यानी पिल्ला लिया है तो आप भाग्यशाली हैं। क्योंकि, डॉग ट्रेनिंग काफी समय लेने वाला काम है और शुरुआती महीने उसे सही व्यवहार सीखाने में काफी महत्वपूर्ण होते हैं और आप लॉकडाउन में डॉग ट्रेनिंग आसानी से कर सकते हैं। छोटा कुत्ता शुरुआत में अपने दांतों से कई चीजों को काटता है, इसलिए आप घर में अलग-अलग मैटेरियल से बने कुल 4-5 खिलौने रख सकते हैं। इसके अलावा, आप कुछ-कुछ दिनों में वह खिलौने बदल सकते हैं, जिससे वह उनसे बोर न हो। इसी तरह आइए, जानते हैं कि, कुत्ते की ट्रेनिंग के लिए हम और किन-किन बातों का ध्यान रख सकते हैं।

लॉकडाउन में डॉग ट्रेनिंग – कुत्ते से फर्नीचर काटना कैसे छुड़वाएं

कुत्ते की ट्रेनिंग करते हुए जब आप पपी को चीजें काटता हुआ देखें, तो उसे डांटें और उसका ध्यान उसके खिलौनों की तरफ दिलाएं और जब वह खिलौने काटे तो उसे पुचकारें। इस सकारात्मक बदलाव को पहचानकर वह अपने खिलौने काटना सीखेगा और आपका फर्नीचर या अन्य चीजें सुरक्षित रहेंगी। यदि आप खिलौने खरीदने में असमर्थ हैं, तो घर में ही पड़ी प्लास्टिक बोतल या बॉक्स जैसी कुछ चीजों का उपयोग करें। लेकिन, ध्यान रखें कि उसके रिंग या कैप जैसी चीजों को हटा लें। पुरानी टीशर्ट से भी आप कुछ बॉल जैसा बनाकर उसे खेलने के लिए दे सकते हैं।

यह भी पढ़ें :लॉकडाउन 4.0 : बंदी के चौथे चरण में दी गई है कुछ छूट,पाबंदियां नहीं हटा सकते हैं राज्य

लॉकडाउन में डॉग ट्रेनिंग के लिए आराम से निकलेगा समय

पपी को बेसिक ट्रेनिंग देने में कुछ महीने लग सकते हैं। इसके लिए आप लॉकडाउन में मिल रहे फ्री टाइम में दिन में 2 से 3 बार पपी को सेशन दें। आप शुरुआत में बेसिक ट्रेनिंग जैसे- उसे बुलाना, बैठाना, रुकना या चलना की कमांड समझना सीखा सकते हैं। अपने कुत्ते की ट्रेनिंग के लिए आप ऑनलाइन क्लास भी ले सकते हैं या फिर नेट पर वीडियोज भी देख सकते हैं। लेकिन, ध्यान रखें कि ट्रेनिंग देने के लिए प्यार और सकारात्मकता का प्रयोग करें और आप डांटना, पीटना, मारना आदि जैसे बुरे व्यवहार न करें। क्योंकि, इससे आपका और आपके कुत्ते के बीच का रिश्ता बिगड़ सकता है।

कुत्ते और खुद के बीच कैसे बनाएं एक मजबूत रिश्ता

लॉकडाउन के दौरान आप कुत्ते और अपने बीच रिश्ता मजबूत बना सकते हैं। रिश्ता बनाने का मतलब यह नहीं है कि, आप उसके साथ कितनी देर बिता रहे हैं। बल्कि, मात्रा से ज्यादा गुणवत्ता पर ध्यान दें। आप जितनी भी देर अपने कुत्ते के साथ रहें, उसे पूरा ध्यान दें। उसे घूमाते हुए अपने फोन या किसी और चीज पर ध्यान न दें, बल्कि अपने कान और आंख अपने कुत्ते पर रखें, कुत्ते की ट्रेनिंग के दौरान इससे काफी प्रभाव पड़ता है। उसके साथ फैच एंड टग जैसे गेम खेलें और उसे आपके साथ खेलने के लिए दांतों के बजाय खिलौने का प्रयोग करना सीखाएं।

यह भी पढ़ें : रेड लाइट एरिया को बंद करने से इतने प्रतिशत तक कम हो सकते हैं कोरोना के मामले, स्टडी में बात आई सामने

कुत्ते की ट्रेनिंग में लॉकडाउन का बुरा असर

इस लॉकडाउन का एक बुरा असर यह है कि, आप कुत्ते को सोशलाइज होना नहीं सीखा सकते। सोशलाइजेशन का मतलब है कि, लोगों के साथ अपने कुत्ते को व्यवहार करने का तरीका सीखाना। चूंकि, कुछ समय के लिए पार्टी और बाहर जाना बंद है, इसलिए आपको उसे बाहरी लोगों के साथ सहज बनाने के लिए लॉकडाउन के खुलने का इंतजार करना होगा। सोशलाइजेशन का मतलब यह भी है कि, आप अपने कुत्ते को विभिन्न आवाज और अनुभवों की आदत डालते हैं। आप घर में ही विभिन्न तरह की आवाज चला सकते हैं, जैसे- तेज ट्रैफिक की आवाज, एंबुलेंस साइरन, ट्रक और बस की आवाज, कंस्ट्रक्शन साइट की आवाज आदि। घर में हेयर ड्रायर और वैक्यूम क्लीनर को चालू करके अपने कुत्ते की प्रतिक्रिया देखें। शुरुआत में हो सकता है वह डर जाए, लेकिन धीरे-धीरे वह इस वातावरण का आदि हो जाएगा।

शुरुआती 6 महीने जरूरी

शुरुआती 6 महीने पपी की जिंदगी का काफी अहम समय होता है, अगर इस दौरान उसे इन अनुभवों से वाकिफ नहीं करवाया गया, तो आगे चलकर वह इन आवाजों से डर सकता है। उदाहरण के लिए, अगर आपके पपी ने कभी स्कार्फ पहने हुई महिला नहीं देखी, तो वह ऐसी महिला दिखने पर काफी असहज हो सकता है। इसलिए, थोड़ा क्रिएटिव रहें और विभिन्न कपड़े या अन्य सामान पहनें।

यह भी पढ़ें : पेपर टॉवेल (टिश्यू पेपर) या हैंड ड्रायर्स: कोरोना महामारी के समय हाथों को साफ करने का सबसे अच्छा तरीका क्या है?

इसके अलावा, शुरुआती कुछ महीने पपी की जिंदगी में सोशल होने में काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इस दौरान आप उसे एक अच्छे व्यवहार वाले बड़े कुत्ते के साथ समय बिताने का मौका दें। हालांकि, यह लॉकडाउन में संभव नहीं है, अगर आपके यहां पहले से कोई कुत्ता नहीं है। इसलिए, जल्दबाजी न करें और लॉकडाउन के खुलने का इंतजार करें।

कुत्ते की ट्रेनिंग में उसकी पसंद को पहचानें

चूंकि, लॉकडाउन में आपके पास काफी समय है, इसलिए एक्सपेरिमेंट से जानें कि आपके पपी को खाने में क्या पसंद और क्या नापसंद आ रहा है। इसके लिए आप उसे विभिन्न आहार दे सकते हैं। हालांकि, आहार देते हुए कुत्ते के शारीरिक स्वास्थ्य का भी ध्यान रखें, जिसके लिए आप जानवर विशेषज्ञ की मदद ले सकते हैं। उसे कुछ भी देते हुए एक बार में एक नयी चीज दें और वह भी बहुत थोड़ी मात्रा में। क्योंकि, उसका पाचन तंत्र अभी नया है और धीरे-धीरे कार्य करता है। उसे अपने हाथों या चम्मच से खाना खिलाने की आदत न डालें, इससे वह आत्मनिर्भर नहीं हो पाएगा।

यह भी पढ़ें: कोरोना से बचाव के लिए दस्ताने को लेकर क्या आप सही सोचते हैं?

कोविड-19 की ताजा जानकारी
देश: भारत
आंकड़े

820,916

कंफर्म केस

515,386

स्वस्थ हुए

22,123

मौत
मैप

अपने स्पर्श की डलवाएं आदत

अपने डॉगी को कम उम्र से ही उसके शरीर पर आपके स्पर्श की आदत पड़ने दें। वरना बाद में आपको उसे हैंडल और ग्रूम करने में काफी मुश्किल हो सकती है। इसके लिए उसे शरीर पर सिर से लेकर पूंछ तक हल्के हाथों से थपकी करना शुरू करें। उसके पेट पर भी हाथ फेरें, इससे वह आगे चलकर वेटेनरी डॉक्टर को भी खुद को छूने देगा। अपने कुत्ते की रोजाना ब्रशिंग करें, इससे आपका रिश्ता मजबूत होगा। इसके अलावा, डेली ब्रश करने से उसका ब्लड सर्कुलेशन भी सही रहेगा।

मतलब यही है कि, आपको अपने पपी के साथ एक रुटीन फॉलो करना चाहिए। उसके घूमने और खाने का समय आपके घर आने के समय के बाद का ही फिक्स करें, ताकि उसे लॉकडाउन के बाद समन्वय बैठाने में दिक्कत न हो। इसके अलावा, उसे थोड़ी-थोड़ी देर अकेला रहने की भी आदत डालें, जिससे वह लॉकडाउन के बाद एकदम पैनिक न करें और उसे अकेला रहने की आदत पहले से ही हो।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है। अगर आपको किसी भी तरह की समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

और पढ़ें 

इटली के वैज्ञानिकों ने कोविड-19 वैक्सीन बनाने का किया दावाः जानिए इस खबर की पूरी सच्चाई

लॉकडाउन में दोस्ती पर क्या पड़ा है असर? कोई रूठा तो कोई आया पास

कोरोना महामारी में कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग (Contact Tracing) कैसे कर रही है काम, जानिए

रमजान: कोविड-19 के खिलाफ वरदान साबित हो सकते हैं ये 7 ईटिंग हैक्स

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"
सूत्र

FROM EXPERT तान्या पटेल

लॉकडाउन में डॉग ट्रेनिंग कैसे करें, जानें आसान टिप्स

लॉकडाउन में डॉग ट्रेनिंग करने का सुनहरा मौका है, अगर आपने कुछ दिनों पहले ही कोई पपी खरीदा है तो। इस समय को आप अपने कुत्ते को अच्छी आदतें सीखाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

Written by तान्या पटेल
Dog Training in lockdown - लॉकडाउन में डॉग ट्रेनिंग

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

पीएम मोदी स्पीच : देश में अनलॉक 2.0 की हुई शुरुआत, लापरवाही पड़ सकती है भारी

पीएम मोदी स्पीच लाइव टूडे, पीएम मोदी लॉकडाउन स्पीच, क्या लॉकडाउन बढ़ेगा, PM Modi Speech Live Today PM Modi Speech covid-19

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
कोरोना वायरस, कोविड 19 और शासन खबरें जून 30, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

क्या मॉनसून और कोरोना में संबंध है? बारिश में कोविड-19 हो सकता है चरम पर

मॉनसून और कोरोना में क्या संबंध है, मॉनसून और कोरोना से खुद को कैसे रखें सुरक्षित, बारिश में कोरोना से कैसे बचें, Monsoon spread corona easily.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
कोरोना वायरस, कोविड-19 जून 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

क्या सूर्य ग्रहण से कोविड 19 खत्म हो जाएगा? जानें इस बात में कितनी है सच्चाई

सूर्य ग्रहण और कोविड 19 इन हिंदी, सूर्य ग्रहण और कोविड 19 के बीच क्या संबंध है, सूर्य ग्रहण और कोरोना वायरस से कैसे बचें, सूर्य ग्रहण 2020 का समय क्या है, सोलर इक्लिप्स टाइमिंग, Solar eclipse covid 19 corona virus.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
कोरोना वायरस, कोविड 19 और शासन खबरें जून 21, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

कोरोना वायरस की दवा : डेक्सामेथासोन (dexamethasone) साबित हुई जान बचाने वाली पहली दवा

कोरोना की दवा के रूप में डेक्सामेथासोन का इस्तेमाल और प्रभावशीलता काफी अच्छे रिजल्ट्स दे रही है। कोरोना संक्रमित लोगों की जान बचाने के लिए तुरंत इस्तेमाल की जा सकती है। corona virus first medicine Dexamethasone in hindi

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shikha Patel
कोरोना वायरस, कोविड 19 उपचार जून 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव

अमिताभ बच्चन कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट करके दी जानकारी और लोगों से की यह खास अपील, जरूर पढ़ें

Written by Shikha Patel
Published on जुलाई 12, 2020 . 3 मिनट में पढ़ें
कोरोना सर्वाइवर

कोरोना से तो जीत ली जंग, लेकिन समाज में फैले भेदभाव से कैसे लड़ें?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
Published on जुलाई 10, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
कोरोना वायरस एयरबॉर्न

कोरोना वायरस एयरबॉर्न : WHO कोविड-19 वायु जनित बीमारी होने पर कर रही विचार

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
Published on जुलाई 9, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
कोरोनावायरस लेटेस्ट अपडेट्स

कोरोना वायरस लेटेस्ट अपडेट्स : कोरोना संक्रमण के मामलों में तीसरे स्थान पर पहुंचा भारत

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
Published on जुलाई 6, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें