home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

लॉकडाउन 4.0 : बंदी के चौथे चरण में दी गई है कुछ छूट,पाबंदियां नहीं हटा सकते हैं राज्य

लॉकडाउन 4.0 : बंदी के चौथे चरण में दी गई है कुछ छूट,पाबंदियां नहीं हटा सकते हैं राज्य

लॉकडाउन 4.0 की घोषणा आज की जा चुकी है। भारत में कोरोना से लड़ने के लिए चौथे लॉकडाउन की घोषणा की जा चुकी है। चौथा लॉकडाउन नए नियमों के साथ देशभर में लागू किया गया है। अबकी बार केंद्र ने राज्यों पर लॉकडाउन के नियमों को लेकर जिम्मेदारी सौंपी है। देश के उन क्षेत्रों को खासतौर पर छूट दी गई है, जहां कोरोना महामारी का संक्रमण कम है या न के बराबर है। जबकि कोरोना से अधिक संक्रमित राज्यों में अधिक कड़ाई के साथ लॉकडाउन 4.0 का पालन किया जाएगा। केंद्र सरकार की ओर से रविवार शाम को लॉकडाउन 4.0 के लिए गाइडलाइन्स जारी की गई। भारत में लॉकडाउन का चौथा चरण पहले चरणों से काफी अलग है। अबकि बार केंद्र सरकार ने राज्य सरकारों से कुछ फैसले लेने की अपील की है। साथ ही अबकि बार कुछ राज्यों को अधिक छूट दी गई है।

यह भी पढ़ें :कोरोना वैक्सीन को लेकर इन वैक्सीन की है दावेदारी, क्या आप जानते हैं इनके बारे में ?

लॉकडाउन 4.0 में दी गई है राहत

देश में अब ई-कॉर्मस को होम डिलीवरी के लिए छूट दी गई है, लेकिन कंटेनमेंट जोन को फिलहाल कोई राहत नहीं दी गई है। कंटेनमेंट जोन और बफर जोन के लिए क्या फैसला लेना है, फिलहाल ये निर्णय राज्य सरकार पर छोड़ा गया है। राज्य सरकार केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ मिलकर इस बारे में फैसला करेगी। देश में रेड जोन, ऑरेंज जोन और ग्रीन जोन के बारे में फैसला अब राज्य सरकारें ही तय करेंगी। फिलहाल खाना ऑनलाइन ऑर्डर किया जा सकता है। लॉकडाउन 4.0 को लेकर केंद्र स्पष्ट कर चुकी है कि गाइडलाइन में शामिल जो भी प्रतिबंध हैं, उनमे राज्य सरकारें ढील नहीं दे सकती हैं।

लॉकडाउन 4.0 : मुंबई में लॉकडाउन का चौथा चरण

महाराष्ट्र में कोरोना के पेशेंट तेजी से बढ़ें हैं। सोमवार (18 मई) को महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 33,053 के पार पहुंच गई। मुंबई में अभी 661 कंटेनमेंट जोन है। साथ ही 1110 सीलबंद इमारतें भी हैं। रेड जोन वाले जिलों में फिलहाल बाहरी व्यक्तियों को आने की इजाजत नहीं दी गई है। महाराष्ट्र सरकार की ओर से जारी निर्देश के अनुसार ग्रीन जोन में सभी सेवाओं को शुरू कर दिया गया है। साथ ही लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ख्याल रखने को कहा गया है। ग्रीन जोन में सभी ऑफिस खोल दिए गए हैं जबकि रेड जोन में सख्ती बरती गई है।

महाराष्ट्र में ग्रीन जोन में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ पब्लिक ट्रांसपोर्ट शुरू करने की बात कही गई है। वहीं केंद्र की ओर से जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार कोई भी व्यक्ति एक जोन से दूसरे जोन में नहीं जा सकेगा। वहीं जो लोग ऑवश्यक वस्तुओं को ले जाने से जुड़ें हैं, उन्हें रियायत दी जाएगी। फिलहाल 31 मई तक पूरे देश में लॉकडाउन की घोषणा हो चुकी है।

भारत में लॉकडाउन का चौथा चरण : लॉकडाउन में गुजरात का हाल

देश में महाराष्ट्र के बाद गुजरात ही है, जहां कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। अन्य राज्यों की तरह गुजरात में भी प्रवासी मजदूर घर जाने के लिए परेशान हैं। मजदूरों को जब रोका गया तो उन्होंने पुलिस में पथराव करना शुरू कर दिया। इस दौरान पुलिस ने मजदूरों पर लाठीचार्ज भी किया। गुजरात में अब तक कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 11 हजार के पार पहुंच चुकी है। वहीं 524 लोगों की संक्रमण से मौत हो चुकी है।

गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने लॉकडाउन में लोगों की सुविधाओं के लिए सिटी बस सेवा फिर से शुरू करने की घोषणा की है।अहमदाबाद से बस सेवाएं शुरू हो सकती हैं। गुजरात में लॉकडाउन के चौथा चरण में नॉन कंटेनमेंट जोन में परिवहन को चालू करने के संकेत दे दिए हैं। वहीं खुले में थूकने पर व बिना मास्क के घूमने पर 200 रुपए जुर्माना लगाया जाएगा। लॉकडाउन में गुजरात में अवश्यक वस्तुओं के साथ ही फर्नीचर, स्टेशनरी आदि दुकानों को खोलने की बात कही गई है।

यह भी पढ़ें :कोरोना महामारी में हर्बल उपचार करना कितना सुरक्षित है, जानिए यहां

फिलहाल लॉकडाउन ही है अंतिम रास्ता

महाराष्ट्र, गुजरात के बाद तमिलनाडू ऐसा राज्य है, जहां कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। तमिलनाडू की सरकार ने भी कल शाम 31 मई तक लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा कर दी। तमिलनाडु की पलनिसामी सरकार ने 31 मई तक लोगों को लॉकडाउन का पालन करने की सलाह दी है। तमिलनाडू ने कोविड-19 से कम संक्रमित करीब 25 जिलों में ढील दी है। तमिलनाडू में इस समय कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या 11224 है। कंटेनमेंट जोन को छोड़कर यहां पर भी बसों का परिचालन शुरू करने की बात की गई है। अब तक तमिलनाडू में कोरोना महामारी के कारण 78 लोगों की मौत हो चुकी है। सरकार ने एयर कंडिशन से जुड़ी दुकानों को खोलने की मंजुरी दे दी है। वहीं कपड़ों की दुकानों को भी कुछ स्थानों में खोलने की मंजूरी दी गई है। फिलहाल पूरे देश में स्कूल कॉलेज को बंद करने की घोषणा की गई है।

यह भी पढ़ें :रोग प्रतिरक्षा प्रणाली क्या है और यह कोरोना वायरस से आपकी सुरक्षा कैसे करती है?

देश की राजधानी में भी बढ़ रहे हैं केस

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई के साथ ही देश की राजधानी दिल्ली में कोरोना के केस में बढ़त देखने को मिल रही है। अब तक दिल्ली में कोरोना के 10054 केस सामने आ चुके हैं। फिलहाल दिल्ली की सरकार लॉकडाउन के चौथे चरण के लिए चर्चा कर रही है। ऐसा माना जा रहा है कि दिल्ली में केजरीवाल सरकार ऑड-ईवन के आधार पर मार्केट खोल सकती है। वहीं ऑटो-टैक्सी के संचालन की बात भी सामने आई है। सभी लोगों को मास्क लगाने के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल जरूरी होगा। वहीं रेस्तरां से होम डिलिवरी संभव हो सकेगी।

केंद्र सरकार के फैसले के बाद राज्य सरकारें भी कुछ छूट दे सकती हैं लेकिन केंद्र की ओर लगाई गई पाबंदियों को नहीं हटाया जाएगा। 31 मई के बाद लॉकडाउन जारी रहेगा या नहीं, ये फैसला केंद्र और राज्य सरकारें मिल कर लेंगी। कोरोना के लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और साथ ही कोरोना को लेकर सावधानी बहुत जरूरी है।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

(Accessed on 18/4/2020)

Coronavirus-https://www.who.int/health-topics/coronavirus-

Coronavirus disease (COVID-19) Pandemic –https://www.who.int/emergencies/diseases/novel-coronavirus-2019

India ramps up efforts to contain the spread of novel coronavirus-https://www.who.int/india/emergencies/novel-coronavirus-2019

IndiaFightsCorona COVID-19 –https://www.mygov.in/covid-19

India extends coronavirus lockdown by two weeks:https://www.bbc.com/news/world-asia-india-52698828

लेखक की तस्वीर badge
Bhawana Awasthi द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 25/05/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x