home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

अब इन कामों के लिए भी मिलेगी लॉकडाउन में छूट, लेकिन जान लें ये शर्त

अब इन कामों के लिए भी मिलेगी लॉकडाउन में छूट, लेकिन जान लें ये शर्त

कोरोना वायरस के इंफेक्शन कोविड- 19 की वजह से पूरे भारत में 14 अप्रैल के बाद भी लॉकडाउन बढ़ा कर 3 मई तक कर दिया गया था। लॉकडाउन के अंदर लोगों को काफी परेशानी हो रही है, जिससे जनजीवन काफी प्रभावित हो रहा है। लेकिन, सरकार ने नई गाइडलाइन जारी करते हुए कुछ सेवाओं के लिए लॉकडाउन में छूट दे दी है, मगर इसके साथ ही एक शर्त भी जोड़ी गई है। आपको बता दें कि, 20 अप्रैल से पहले ही कुछ सेवाओं के लिए 3 मई तक चलने वाले लॉकडाउन में छूट दे दी गई थी। आइए, जानते हैं कि किन अतिरिक्त सेवाओं को लॉकडाउन में छूट दी गई है और उसके साथ क्या शर्त रखी गई है।

यह भी पढ़ें: कोविड-19: दिन रात इलाज में लगे एक तिहाई मेडिकल स्टाफ को हुई इंसोम्निया की बीमारी

किन सेवाओं पर मिली है लॉकडाउन में छूट

लॉकडाउन 2.0 में पहले ही 20 अप्रैल से कुछ सेवाओं में छूट दे दी गई थी। लेकिन, सरकार ने एक बार फिर लॉकडाउन में छूट को कुछ सेवाओं के लिए बढ़ा दिया है। पीआईबी के ट्विटर हैंडल से मिली जानकारी के मुताबिक पहले से छूट के दायरे में मौजूद कैटेगरी में शहद, मधुमक्खी पालन, कॉलेज व स्कूल की किताबों की दुकानें, इलेक्ट्रिक फैन्स की दुकानें, बेड साइड अटेंडेंट और सीनियर सिटीजन के केयरगिवर्स, प्रीपेड मोबाइल कनेक्शन की रिचार्च की फैसिलिटी, आटा मील, दाल मील, मिल्क प्रोसेसिंग प्लांट, ब्रेड फैक्टरी आदि को लॉकडाउन से राहत प्रदान की है।

यह भी पढ़ें: चेहरे के जरिए हो सकता है इंफेक्शन, कोरोना से बचने के लिए चेहरा न छूना

20 अप्रैल से मिली कोरोना लॉकडाउन में छूट

20 अप्रैल से मिली लॉकडाउन में छूट के दायरे में खेती, हॉर्टीकल्चर, कृषि से जुड़ी गतिविधियों, मनरेगा वर्करों, खेती से जुड़े सामान, कल-पुर्जे, दवा और मेडिकल उपकरण बनाने वाली कंपनी, चाय-कॉफी-रबर प्लांटेशन को अधिकतम 50 फीसदी कर्मचारी, तेल और गैस सेक्टर से जुड़ी सभी गतिविधि, पोस्टल सर्विस, पोस्ट ऑफिस, गौशाला व जानवरों के शेल्टर होम, हाइवे के ढाबे, ट्रक रिपेयर करने वाले दुकान, सरकारी काम से जुड़े कॉल सेंटर, इलेक्ट्रिशियन, आईटी रिपेयरिंग, पलंबर, मोटर मैकेनिक, कार्पेंटर व अन्य स्वरोजगार वाले लोगों को राहत रहेगी।

यह भी पढ़ें: सोशल डिस्टेंसिंग को नजरअंदाज करने से भुगतना पड़ेगा खतरनाक अंजाम

लॉकडाउन में राहत के साथ है ये शर्त

  • लॉकडाउन में राहत देने के साथ ही सरकार ने यह शर्त रखी है कि, यह सभी सेवाएं सिर्फ और सिर्फ ग्रीन जोन में जारी रहेंगी।
  • वहीं रेड और ऑरेंज जोन में इन सेवाओं पर पाबंदी पहले की तरह ही लागू रहेगी।
  • इसके साथ ही यदि किसी ग्रीन जोन में कोरोना वायरस संक्रमण का मामला दर्ज किया जाता है, तो वहां पर जारी सभी सेवाओं को तत्काल प्रभाव से बंद कर दिया जाएगी।
  • इसके अलावा, सरकार ने सख्त निर्देश दिए हैं कि, इन सेवाओं के दौरान साफ-सफाई, कर्मचारियों की पर्सनल हाइजीन, काम के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क का उपयोग आदि कोरोना वायरस से बचाव के तमाम नियमों का सख्ती से पालन किया जाएगा ।
  • यदि किसी भी कर्मचारी को खांसी, बुखार, सांस संबंधी समस्या होती है, तो तुरंत ही उसे सेल्फ क्वारेंटाइन करवाया जाएगा। इसके साथ ही किसी भी राज्य सरकार व केंद्र शासित प्रदेश को इन गाइडलाइन को नजरअंदाज करने की इजाजत नहीं होगी। हालांकि, राज्य व केंद्र शासित प्रदेश अपनी स्थानीय हालातों और जरूरतों के अनुसार इस लॉकडाउन को और ज्यादा सख्त बना सकते हैं।

यह भी पढ़ें: क्या हवा से भी फैल सकता है कोरोना वायरस, क्या कहता है WHO

3 मई तक इन चीजों में बिल्कुल लॉकडाउन से छूट नहीं

सरकार द्वारा 3 मई तक घोषित लॉकडाउन 2.0 में रेड जोन या कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित इलाकों में किसी भी तरह की सेवा को जारी रखने की छूट नहीं है। इसके अलावा, ऑरेंज या ग्रीन जोन में भी इन सेवाओं को जारी रखने की अनुमति नहीं दी है। जैसे- रेल, मेट्रो, सड़क और हवाई यात्रा का परिचालन, शॉपिंग मॉल, सिनेमाघर, ऑडिटोरियम, खेल परिसर, स्वीमिंग पूल, बार, रेस्टॉरेंट, एंटरटेंमेंट पार्क, जिम, स्कूल, कॉलेज समेत सभी शिक्षण संस्थान, मंदिर, मस्जिद, गुरुद्वारे, गिरजाघर आदि किसी भी धार्मिक स्थान व धार्मिक आयोजन, सार्वजनिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, राजनीतिक कार्यक्रम आदि।

यह भी पढ़ें: UV LED लाइट सतहों को कर सकती है साफ, कोरोना हो सकता है खत्म

कोरोना वायरस से सावधानी

कोरोना वायरस इंफेक्शन से बचने के लिए भारत सरकार ने लोगों के लिए कुछ सलाह दी है। इन एहतियात रूपी सलाह को फॉलो करने से आप कोरोना वायरस संक्रमण से काफी हद तक बच सकते हैं।ध्यान रहे कि जान बचाने के लिए लॉकडाउन का पाले गंभीरता के साथ करें

  1. हाथों को हमेशा अच्छे से साफ करें। हाथों को साबुन और पानी से 20 सेकेंड तक रगड़कर साफ करना चाहिए। कोरोना वायरस से बचाव के लिए हाइजीन का ख्याल रखना बेहद जरूरी है।
  2. घर से बाहर कदम तभी रखें जब कुछ जरूरी काम हो। बेवजह न तो घर से बाहर जाएं और न ही लोगों से मिलें।
  3. आंखों, नाक और मुंह को छूने से यह वायरस आपके शरीर में प्रवेश कर सकता है। इसलिए चेहरे को टच करने की गलती बिल्कुल न करें।
  4. छींकते या खांसते समय अपने मुंह और नाक को किसी टिश्यू पेपर या फिर कोहनी को मोड़कर ढकें।
  5. कोरोना लॉकडाउन में छूट की जानकारी के साथ अपने हेल्थ केयर प्रोवाइडर की हर सलाह मानें और पूरी जानकारी प्राप्त करते रहें।
  6. भारत सरकार का कहना है कि अगर आप मास्क लगा रहे हैं तो उससे पहले अपने हाथों को एल्कोहॉल बेस्ड हैंड रब या फिर साबुन और पानी से अच्छी तरह धोएं। मास्क को इस्तेमाल करने से जुड़ी जानकारी आपको अच्छे से होनी चाहिए। जैसे मास्क को लगाते समय ध्यान रखें कि किसी तरह का गैप न हो। इसके अलावा मास्क को एक बार इस्तेमाल करने के बाद दोबारा प्रयोग नहीं करना चाहए।

कोरोना वायरस महामारी को देश से खत्म करने के लिए आपको लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के साथ ही मास्क व पर्सनल हाइजीन जैसी सावधानियों का पालन करना होगा। इसके अलावा, सिर्फ सरकार या हेल्थ एक्सपर्ट द्वारा दी गई जानकारी पर ही विश्वास करें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Coronavirus – https://www.who.int/health-topics/coronavirus – Accessed on 22/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.cdc.gov/coronavirus/2019-ncov/index.html – Accessed on 22/4/2020

Coronavirus (COVID-19) – https://www.nhs.uk/conditions/coronavirus-covid-19/ – Accessed on 22/4/2020

Coronavirus disease 2019 (COVID-19) – Situation Report – 92 – https://www.who.int/docs/default-source/coronaviruse/situation-reports/20200421-sitrep-92-covid-19.pdf?sfvrsn=38e6b06d_4 – Accessed on 22/4/2020

Novel Corona Virus – https://www.mohfw.gov.in/ – Accessed on 22/4/2020

लेखक की तस्वीर
Dr. Pranali Patil के द्वारा मेडिकल समीक्षा
Surender aggarwal द्वारा लिखित
अपडेटेड 23/04/2020
x