Buscogast: बस्कोगास्ट क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

Medically reviewed by | By

Update Date जुलाई 7, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Share now

फंक्शन

बस्कोगास्ट (Buscogast) कैसे काम करती है?

बस्कोगास्ट एंटीस्पास्मोडिक के रूप में वर्गीकृत किया जाता है। इसका इस्तेमाल पेट, यूरिनरी ब्लैडर और आंत की ऐंठन को दूर करने के लिए किया जाता है। इस दवा में ह्योसिन (hyoscine) एक्टिव इंग्रीडिएंट शामिल होता है। कई बार यह अकेले तो कई बार दूसरी दवाइयों के साथ रिकमेंड की जाती है। इसकी खुराक मरीज की स्वास्थ्य स्थिति पर निर्भर करती है। यह दवाई गैस्टोइंटेस्टाइनल और यूरिनरी सिस्टम में कुछ मांसपेशियों को राहत पहुंचाने का काम करती है। निम्नलिखित परिस्थितियों में इस दवा का इस्तेमाल किया जाता है:

मैं बस्कोगास्ट (Buscogast) को कैसे स्टोर करूं?

बस्कोगास्ट के रख-रखाव के लिए कमरे का तापमान सबसे बेहतर ऑप्शन है। इसे धूप के सीधे प्रकाश या नमी से दूर रखें। इसे डैमेज होने से बचाने के लिए कभी भी इसे फ्रीज में स्टोर करके न रखें। सुरक्षा के लिहाज से बस्कोगास्ट को बच्चों और जानवरों की पहुंच से दूर रखें। दवा को स्टोर करने को लेकर उसके  पैकेज पर लिखे जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़े या फिर अपने फार्मासिस्ट से इसके बारे में पूछें।

बिना निर्देश के इस दवा को किसी नाले या टॉयलेट में फ्लश न करें। अगर दवा इस्तेमाल नहीं करनी या एक्सपायर हो गई है तो इसे सुरक्षित रूप से दवा को नष्ट करें। दवा को नष्ट के बारे में अपने फार्मासिस्ट से परामर्श करें।

और पढ़ें: Acemiz Plus: एसमीज प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

डोसेज

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प न मानें। किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

बस्कोगास्ट (Buscogast) की व्यस्कों के लिए क्या डोज है?

  • दिन में इसकी दो टैबलेट चार बार रिकमेंड की जाती हैं।
  • इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम के मरीजों में डॉक्टर कम डोज (दिन में तीन बार) के साथ शुरुआत कर सकता है।

बस्कोगास्ट (Buscogast) की बच्चों के लिए क्या डोज है?

  • 6 से 12 साल के बच्चों को दिन में 10 मिलीग्राम एक टैबलेट तीन बार रिकमेंड की जाती है।

हालांकि इसकी खुराक हर मरीज के लिए अलग हो सकती है। आपके द्वारा ली जाने वाली खुराक आपकी उम्र, स्वास्थ्य और अन्य कई चीजों पर निर्भर करती है। इसलिए सही खुराक की जानकारी के लिए डॉक्टर से चर्चा करें।

बस्कोगास्ट (Buscogast) किस रूप में आती है? 

  • बस्कोगास्ट टैबलेट- 10 मिलीग्राम, 20 मिलीग्राम
  • बस्कोगास्ट इंजेक्शन

और पढ़ें: Mahacef Plus: महासेफ प्लस क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

इस्तेमाल

मैं बस्कोगास्ट (Buscogast) का कैसे इस्तेमाल करूं?

  • दवा का इस्तेमाल वैसे ही करें जैसे आपका चिकित्सक आपको रिकमेंड करे।
  • दवा को लेने से पहले इसके लेबल पर लिखे जरूरी निर्देशों को ध्यान से पढ़ें।
  • आमतौर पर इस दवा की एक या दो टैबलेट दिन में तीन बार रिकमेंड की जाती है।
  • दवा को चबाकर या पीसकर न लें। दवा को हमेशा एक गिलास पानी के साथ निगल कर लें।
  • दवा के बेहतर परिणामों के लिए बेहतर होगा इसे रोजाना एक ही समय पर लें।
  • बस्कोगास्ट का इस्तेमाल करते वक्त आपको किसी तरह की परेशानी होती है या स्थिति पहले से खराब होती है तो इसकी जानकारी डॉक्टर को दें।

ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति में क्या करना चाहिए?

ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति के लिए अपने स्थानीय डॉक्टर या हॉस्पिटल से संपर्क करें।

यदि बस्कोगास्ट (Buscogast) का एक डोज मिस हो जाए तो मुझे क्या करना चाहिए?

अगर आपसे बस्कोगास्ट की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें। डबल खुराक ना लें।

और पढ़ें : Indocap SR: इंडोकेप एस आर क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

साइड इफेक्ट्स

बस्कोगास्ट (Buscogast) से मुझे क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

बस्कोगास्ट से निम्नलिखित साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं:

हालांकि हर किसी को ये साइड इफेक्ट हो ऐसा जरूरी नहीं है, कुछ ऐसे भी साइड इफेक्ट हो सकते हैं, जो ऊपर बताए नहीं गए हैं। अगर आपको इनमें से कोई भी साइड इफेक्ट महसूस हो या आप इनके बारे में और जानना चाहते हैं तो नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें।

और पढ़ें: Rebamipide: रेबामिपाइड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स, डोज और सावधानियां

सावधानियां और चेतावनी

बस्कोगास्ट (Buscogast) का उपयोग करने से पहले मुझे क्या मालूम होना चाहिए?

  • अगर आपको बस्कोगास्ट या किसी अन्य दवा से एलर्जी है तो इसका प्रयोग न करें।
  • बस्कोगास्ट की डोज आपका डॉक्टर निर्धारित करेंगा। दवा को डॉक्टर की सलाह के अनुसार ही लेना चाहिए। इसकी डोज को अपनी मर्जी से अधिक और कम मात्रा में नहीं लेना चाहिए। अगर आपको कोई भी साइड इफेक्ट होता है तुरंत मेडिकल हेल्प लें।
  • डॉक्टर की सलाह के बिना खुराक में कोई बदलाव न करें। खुद से न तो खुराक को कम करें और न ही बढ़ाएं। भले ही आप ठीक महसूस कर रहे हो लेकिन डॉक्टर की सलाह के बिना इसे लेना बंद करें।

बस्कोगास्ट को लेने से पहले यह बात बहुत आवश्यक है कि आपके डॉक्टर को आपकी इन समस्याओं के बारे में मालूम हो:

क्या प्रेग्नेंसी और ब्रेस्टफीडिंग के दौरान बस्कोगास्ट (Buscogast) लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान बस्कोगास्ट का इस्तेमाल करने से महिलाओं को किस तरह की परेशानियां हो सकती हैं इसके बारे में अभी कोई खास जानकारी नहीं है। ऐसे में इसके इस्तेमाल से पहले हमेशा अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

और पढ़ें: Aldigesic P: एलडिजेसिक पी क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

ये जरूरी बातें जानें

कौन सी दवाएं बस्कोगास्ट (Buscogast) के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

निम्नलिखित दवाओं के साथ बस्कोगास्ट का इस्तेमाल नहीं किया जाता है:

  • एंटीहिस्टामिनेस (Antihistamines)
  • मेटोक्लोप्रामाइड (Metoclopramide)
  • ट्राईसाइक्लिक एंटीडिप्रेसेंटस (Tricyclic antidepressants)
  • इपराट्रोपियम (Ipratropium)

उपरोक्त दवाओं के अलावा और भी दवाएं हो सकती हैं जिसके साथ बस्कोगास्ट का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। यदि आप वर्तमान में किसी दवा का सेवन कर रहे हैं तो उसकी जानकारी अपने डॉक्टर संग जरूर साझा करें। सुरक्षा के लिहाज से आप बिना डॉक्टर के सहमति के ना तो कोई दवा अपने से शुरू करें, ना ही बंद करें और ना ही उसकी खुराक को बदलें।

क्या भोजन और एल्कोहॉल के साथ बस्कोगास्ट (Buscogast) का इस्तेमाल किया जा सकता है?

अगर किसी भी भोजन या एल्कोहॉल के साथ बस्कोगास्ट का सेवन किया जाए तो इसके परिणाम खतरनाक हो सकते हैं। इसलिए इसे किस तरह के खाद्य पदार्थों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है इसके बारे में अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बातचीत करें।

बस्कोगास्ट (Buscogast) खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

  • जिन लोगों को इंटेस्टिनल ऑब्स्ट्रक्शन की परेशानी है उन्हें बस्कोगास्ट दवा का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। इससे मरीज की स्थिति पहले से ज्यादा खराब हो सकती है।
  • हृदय रोग से ग्रसित लोगों को भी बस्कोगास्ट का प्रयोग करने से परहेज करना चाहिए।

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

संबंधित लेख:

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy"

शायद आपको यह भी अच्छा लगे

पुरुषों में होने वाली जानलेवा बीमारियां, जान लें इनके बारे में

पुरुषों में जानलेवा बीमारी क्या है, पुरुषों में जानलेवा बीमारी का इलाज क्या है, हर्ट डिजीज, सीओपीडी, कैंसर, पुरूषों की बीमारियां, deadly disease in men Hindi.

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
पुरुषों का स्वास्थ्य, स्वस्थ जीवन मार्च 17, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

12 प्रकार की दाल और उनके फायदे, खाते वक्त इनके बारे में सोचा भी नहीं होगा आपने

जानिए दाल के अलग-अलग प्रकार in hindi. दाल के फायदे, क्या आप जानते हैं दाल के सेवन से कैंसर जैसी कौन-कौन सी बीमारियों से बचा जा सकता है?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Nidhi Sinha

Quiz: पेशाब से जुड़ी बीमारियों के बारे में जानने के लिए खेलें क्विज

पेशाब से जुड़ी बीमारियां क्या हैं, पेशाब से जुड़ी बीमारियां कैसे ठीक करें, यूरिन इंफेक्शन के कारण क्या हैं, Urine disease in Hindi.

Written by Shayali Rekha
क्विज फ़रवरी 13, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

Quiz: यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन के घरेलू उपाय जानने के लिए खेलें क्विज

जानिए यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन के घरेलू उपाय in hindi, यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन के घरेलू उपाय के दौरान किन बातों का रखें ध्यान, UTI Home remmedies।

Written by Shayali Rekha
क्विज फ़रवरी 13, 2020 . 1 मिनट में पढ़ें

Recommended for you

गॉलब्लेडर स्टोन सर्जरी-Gallbladder Stone Surgery

Gallbladder Stone Surgery : गॉलब्लेडर स्टोन सर्जरी क्या है?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Bhawana Awasthi
Published on मई 17, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
मेल मेनोपॉज

जानें मेल मेनोपॉज क्या है? महिलाओं की तरह पुरुषों में भी होता है मेनोपॉज

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Shayali Rekha
Published on अप्रैल 27, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
Vesicoureteral Reflux- वेसिकोरेट्रल रिफ्लक्स

Vesicoureteral Reflux: वेसिकोरेट्रल रिफ्लक्स क्या है?

Medically reviewed by Dr. Pooja Daphal
Written by Kanchan Singh
Published on अप्रैल 13, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
एपिडिडीमाइटिस -Epididymitis

Epididymitis: एपिडिडीमाइटिस क्या है?

Medically reviewed by Dr. Pranali Patil
Written by Kanchan Singh
Published on मार्च 23, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें