home

हम इसे कैसे बेहतर बना सकते हैं?

close
chevron
इस आर्टिकल में गलत जानकारी दी हुई है.
chevron

हमें बताएं, क्या गलती थी.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
इस आर्टिकल में जरूरी जानकारी नहीं है.
chevron

हमें बताएं, क्या उपलब्ध नहीं है.

wanring-icon
ध्यान रखें कि यदि ये आपके लिए असुविधाजनक है, तो आपको ये जानकारी देने की जरूरत नहीं। माय ओपिनियन पर क्लिक करें और वेबसाइट पर पढ़ना जारी रखें।
chevron
हम्म्म... मेरा एक सवाल है
chevron

हम निजी हेल्थ सलाह, निदान और इलाज नहीं दे सकते, पर हम आपकी सलाह जरूर जानना चाहेंगे। कृपया बॉक्स में लिखें।

wanring-icon
यदि आप कोई मेडिकल एमरजेंसी से जूझ रहे हैं, तो तुरंत लोकल एमरजेंसी सर्विस को कॉल करें या पास के एमरजेंसी रूम और केयर सेंटर जाएं।

लिंक कॉपी करें

Bifilac: बिफिलेक क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन|डोसेज|उपयोग|साइड इफेक्ट्स|सावधानियां और चेतावनी|रिएक्शन|स्टोरेज
Bifilac: बिफिलेक क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन

बिफिलेक (Bifilac) कैसे करता है काम?

बिफिलेक प्रोबायोटिक की श्रेणी में आने वाली दवा है। सामान्य तौर पर एक्सपर्ट इस दवा का इस्तेमाल कुछ खास बीमारियों को ठीक करने के लिए करते हैं। उन बीमारियों में डायरिया, इरीटेबल बाॅवेल सिंड्रोम और पेट में बैक्टीरियल इंफेक्शन (जो इंफेक्टेड खाना व पानी) के कारण हो सकता है आदि शामिल हैं।

बिफिलेक दवा में मौजूद तत्व

इस दवा में पाए जाने वाले तत्वों पर एक नजर

  • लेक्टोबेसिलस स्पोरोजीन्स (Lactobacillus sporogenes) : 50 मिलियन सेल्स
  • स्ट्रेपोटोकोकस फेइकेलिस (Streptococcus faecalis) : 30 मिलियन सेल्स
  • क्लोसट्रिडियम बटयेरिकम (Clostridium butyricum) : 2 मिलियन सेल्स
  • बेकिलूस मेसेंटिरिकस (Bacillus mesentericus ) : एक मिलियन सेल्स

और पढ़ें: परिवार की देखभाल के लिए मेडिसिन किट में रखें ये दवाएं

डोसेज

बिफिलेक (Bifilac ) का सामान्य डोज क्या है?

एक्सपर्ट बताते हैं कि इस दवा का डोज इस बार तक निर्भर करता है कि मरीज कितना बीमारी है, मरीज की स्थिति कैसी है, लक्षण क्या है, उम्र क्या है। इन तमाम मापदंड़ों को ध्यान में रखते हुए ही इलाज किया जाता है। इसलिए जरूरी है कि डॉक्टर के कहे अनुसार ही दवा का सेवन करना चाहिए, वहीं उचित मात्रा में ही सेवन करना चाहिए, न ज्यादा और न ही कम, वहीं समय पर दवा लेना चाहिए।

बिफिलेक ओवरडोज : डॉक्टर के सुझाव से ज्यादा मात्रा में बिफिलेक दवा का सेवन करने से हो सकता है कि नकारात्मक असर पड़े। ऐसे में यदि कोई गलती से भी ओवरडोज ले लेता है तो जरूरी है कि उसे डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए ताकि स्थिति और भी ज्यादा गंभीर होने के पहले ही उपचार किया जा सके।

क्या हो यदि आप डोज मिस कर दें : बिफिलेक के डोज यदि आप मिस कर दें तो जरूरी है कि इसकी जानकारी भी आप डॉक्टर से साझा करें। कई बार ऐसा होता है जब हम दवा सही समय पर लेना भूल जाते हैं। इस परिस्थिति में सही यही है कि हमें जितना जल्दी याद आए हमें दवा का सेवन करना चाहिए।

यदि समय ज्यादा हो गया है और दूसरे डोज का समय नजदीक आ गया और हमें याद आया कि मैंने यह दवा ली ही नहीं है तो उचित यही होगा कि दवा का सेवन न करें और आने वाले समय से नियमित रूप से दवा का सेवन करें। ऐसा करने से खतरे से आप बच सकते हैं, लेकिन यह भी जरूरी है कि यह आप लगातार दवा का डोज मिस करते जा रहे हैं तो संभावनाएं बनती है कि आपकी बीमारी ठीक ही न हो। इसलिए जरूरी हो जाता है कि समय से दवा का सेवन करें।

और पढ़ें : Povidone Iodine: पोविडोन आयोडीन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग

बिफिलेक (Bifilac) का उपयोग कैसे किया जाता है?

बिफिलेक में मौजूद तत्व शरीर में मौजूद पोषक तत्व माइक्रोफ्लोरा और आर्गेनिज्म को बढ़ाने में मदद करते हैं। डायरिया को भी ठीक करने के लिए इस दवा का इस्तेमाल किया जाता है। यह दवा बिफिलेक ड्राय सिरप के रूप में भी उपलब्ध है, ताकि इसका इस्तेमाल आसानी से बच्चे कर सकें। हेल्दी गट बैक्टीरिया में असंतुलन होने के कारण सामान्य तौर पर डायरिया या फिर अपच जैसी बीमारी या समस्या को ठीक करने के लिए भी इस दवा का इस्तेमाल किया जाता है।

दवा के दुष्परिणामों से बचने के लिए जरूरी है कि डॉक्टरी सलाह लेकर ही इसका सेवन करें, नहीं तो नुकसानदेह हो सकता है। यह दवा सिरप के रूप में भी उपलब्ध है।

ऐसे काम करती है यह दवा

बिफिलेक में प्रोबायोटिक्स होते हैं। दवा में मौजूद यह एक्टिव इंग्रीडिएंट्स हमारे डायजेस्टिव ट्रैक की इम्युनिटी को बढ़ाने में मदद करते हैं। प्रोबायोटिक में मौजूद तत्व डायजेस्टिव ट्रैक में हेल्दी बैक्टीरिया और यीस्ट के साथ गट में मौजूद हेल्दी माइक्रोफ्लोरा का बैलेंस बनाने में मददगार होते हैं। कुल मिलाकर कहा जाए तो यह बिफिलेक डायजेस्टिव ट्रैक में जाकर जो भी अनाज हम लेते हैं उनसे न्यूट्रिएंट्स हासिल कर खाने को पचाने में मदद करता है।

साइड इफेक्ट्स

बिफिलेक (Bifilac) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

बिफिलेक दवा का सेवन करने से कुछ खास प्रकार के साइड इफेक्ट का सामना करना पड़ सकता है। आइए जानने की कोशिश करते हैं दवा का सेवन करने से शरीर में क्या-क्या परेशानियां हो सकती हैं। यदि इस प्रकार की दिक्कतें आपको भी दवा का सेवन करने के बाद महसूस हो तो डॉक्टरी सलाह लें, दवा का सेवन करने के बाद होने वाले साइड इफेक्ट्स पर एक नजर :

  • जी मचलाना
  • उल्टी
  • सिर चकराना
  • कब्जियत
  • पेट खराब होना
  • सिर दर्द
  • असामान्य पेट (एब्डॉमिनल डिस्कंफर्ट)
  • पेट फूलना और सूजन
  • स्किन में रैशेज
  • एक्यूट टॉक्सिटी
  • योनि से इस्तेमाल के कारण वजायनल इरीटेशन

हालांकि ऐसा जरूरी नहीं है सभी में ये साइड- इफेक्ट्स दिखाई दें।

और पढ़ें : Mecobalamin : मेकाबालमिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

सावधानियां और चेतावनी

बिफिलेक (Bifilac) का इस्तेमाल करने के पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

गर्भवती महिलाओं के लिए बिफिलेक : गर्भवती महिलाओं को बिफिलेक का सेवन सिर्फ व सिर्फ तभी करना चाहिए जब गायनेकोलॉजिस्ट उन्हें इसका सेवन करने की सलाह दें। उससे पहले कतई इस दवा का सेवन नहीं करना चाहिए। यदि महिला गर्भवती है तो उस स्थिति में इस दवा को लिखने के पूर्व जनरल फिजिशियन भी गायनेकोलॉजिस्ट की सलाह लेते हैं कि मरीज को यह दवा देनी है या नहीं। इसलिए जरूरी यही रहेगा कि गर्भवती महिलाएं इस दवा का सेवन करने के पूर्व गायनेकोलॉजिस्ट की सलाह ले लें।

शिशु को दूध पिलाने वाली माताओं के लिए : शिशु को दूध पिलाने वाली माताओं के लिए दवा के सेवन की जहां तक बात है तो उन्हें भी इसे खाने के पूर्व गायनेकोलॉजिस्ट से सलाह ले लेना चाहिए। क्योंकि मां जो कुछ भी खाती है उससे जज्जा-बच्चा दोनों की सेहत पर असर पड़ता है। इसलिए नवजात को किसी प्रकार की कोई समस्या न हो इसलिए जरूरी है कि गायनोकोलॉजिस्ट से पहले सलाह ले लेनी चाहिए तभी इस दवा बिफिलेक का सेवन करना उचित होगा। शिशु को दूध पिलाने वाली महिलाओं में इस दवा के अच्छे असर की तुलना में नकारात्मक असर ज्यादा देखने को मिलते हैं, इसलिए जरूरी है कि सेवन करने के पूर्व डॉक्टरी सलाह ली जाए।

बिफिलेक का इस्तेमाल

वैसे तो इस दवा का सेवन बिना डॉक्टरी सलाह के कतई नहीं करना चाहिए। कुछ बीमारियों को ठीक करने के लिए इस दवा का इस्तेमाल किया जाता है, लेकिन उसके लिए जरूरी है कि पहले डॉक्टरी सलाह ली जाए, फिर उनके कहे अनुसार दवा का सेवन किया जाए। बीमारियां जिनमें इस दवा का होता है इस्तेमाल :

  • डायरिया
  • इरीटेबल बावेल सिंड्रोम
  • इंफ्लीमेटरी बाॅवेल डिजीज
  • बैक्टीरियल इंफेक्शन
  • रोटावायरल डायरिया
  • ट्रैवलर्स डायरिया
  • कब्जियत
  • गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल डिजीज, जैसे गेस्ट्रोइंट्राइटिस व कोलाइटिस
  • लेक्टोस इनटॉलरेंस
  • रिडयूस्ट सिरम कोलेस्ट्रोल लेवल
  • एक्ने
  • वजायनल इंफेक्शन
  • अल्सर

रिएक्शन

कौन-कौन सी दवाइयां बिफिलेक (Bifilac) के साथ रिएक्शन कर सकती हैं?

कई दवा हैं यदि बिफिलेक के साथ उनका भी सेवन किया जाए तो स्वास्थ्य पर उसका नकारात्मक असर पड़ सकता है। इसे ड्रग्स इंटरैक्शन भी कहा जाता है, सामान्य तौर पर ड्रग्स इंटरैक्शन उसे कहते हैं जब एक साथ एक समय पर दो दवाओं का सेवन किया जाए और बीमारी ठीक होने की बजाय अन्य समस्याएं जैसे अपच आदि उत्पन्न हो जाएं। ड्रग्स इंटरैक्शन के कारण विभिन्न प्रकार की बीमारियां हो सकती हैं।

ऐसे में यदि आप ड्रग्स इंटरैक्शन की समस्या से निजात पाना चाहते हैं और चाहते हैं कि इस समस्या से आपको दो चार न होना पड़े तो इसके लिए जरूरी है कि अपने डॉक्टर को पहले से ही बता देना उचित होगा कि आप किसी दूसरी बीमारी के लिए भी दवा का सेवन करते हैं। उस स्थिति में डॉक्टर आपको सही सलाह देगा कि कौन सी दवा का सेवन करना है और कौन सी दवा का सेवन नहीं। इतना ही नहीं दवाओं के साथ यदि आप कोई हर्बल प्रोडक्ट का सेवन करते हैं तो उसके बारे में भी डॉक्टर को बताना जरूरी हो जाता है, क्योंकि कई बार ऐसे प्रोडक्ट का सेवन करने के कारण भी शरीर पर दुष्प्रभाव देखने को मिलते हैं।

इतना ही नहीं यदि आप गर्भवती हैं, शिशु को दूध पिलाती हैं, हाल ही में आपका/आपकी सर्जरी हुई है तो ऐसे में भी जरूरी हो जाता है कि अपने डॉक्टर को हेल्थ कंडिशन के बारे में पूरी बात बताई जाए, तभी वे अच्छे से इलाज कर सकेंगे। वहीं आपको ड्रग्स इंटरैक्शन की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

कई बार कुछ लोग लगातार शराब या फिर तंबाकू जैसे पदार्थों का सेवन करने के आदी होते हैं। इसका सेवन करने के साथ-साथ दवा का सेवन करने से उनके शरीर पर नकारात्मक असर हो सकते हैं। इसलिए जरूरी है कि यदि आपको भी तंबाकू व शराब का सेवन करने की लत है तो डॉक्टर को इसके बारे में भी जरूर बताना चाहिए, तभी वो सही परामर्श दे सकते हैं।

बिफिलेक के साथ कुछ दवा का सेवन जिससे हो सकता है रिएक्शन

  • एंटीबायटिक ड्रग्स
  • इम्मुनोसप्रेसेंट्स

इन परिस्थितियों में नहीं लेनी चाहिए दवा

  • यदि मरीज एलर्जिक है या फिर इस दवा को पचा पाने को लेकर हायपरसेंसिटिव है तो उस स्थिति में इस दवा को मरीज को न ही देना उचित होता है।
  • यदि मरीज किसी प्रकार के किडनी संबंधित रोग से ग्रसित है तो उस स्थिति में इस दवा को नहीं देना ही उचित होता है।
  • यदि मरीज किसी प्रकार के लिवर संबंधित रोग से ग्रसित है तो उस स्थिति में भी मरीज को इस प्रकार की दवा नहीं देना ही उचित होता है।

और पढ़ें: Zincovit: जिनकोविट क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

स्टोरेज

बिफिलेक (Bifilac) को कैसे करूं स्टोर?

स्टोर करने का सबसे बेहतर तरीका है इसे कमरे के तापमान पर रखना चाहिए। इसे सूर्य की सीधी किरणों और नमी से दूर रखें। दवा को खराब होने से बचाने के लिए आपको बाथरूम या फ्रीजर में नहीं रखना है। इसे रखने से पहले सबसे बेहतर होगा कि आप दवा के पैकेज पर छपे निर्देशों को पढ़ लें या फार्मासिस्ट से पूछें। सुरक्षा की दृष्टि से सभी दवाइयों को अपने बच्चों और पेट्स से दूर रखें। जब तक कहा ना जाए तब तक सुरक्षा की दृष्टि से आपको इसको टॉयलेट या नाली में नहीं बहाना है। आवश्यकता ना रहने या एक्सपायरी की स्थिति में दवा का समुचित तरीके से निस्तारण जरूरी है। सुरक्षित तरीके से इसका निस्तारण करने के लिए अपने फार्मासिस्ट से सलाह लें।

बिफिलेक किस रूप में उपलब्ध है

बिफिलेक निम्न रूप में उपलब्ध है।

  • बिफिलेक कैप्सूल्स
  • बिफिलेक एचपी कैप्सूल्स
  • बिफिलेक ड्राय सिरप (बच्चों के लिए)
  • बिफिलेक लोजेनजीस (Bifilac Lozenges)
  • बिफिलेक सेशे (Bifilac Sachet)

इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए डाॅक्टरी सलाह लें।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

INFLUENCE OF COMMERCIAL PROBIOTIC (BIFILAC) ON GROWTH, FEED UTILIZATION EFFICIENCY AND BIOCHEMICAL COMPOSITION OF MURREL, CHANNA STRIATUS/ https://www.journalijar.com/article/30821/influence-of-commercial-probiotic-(bifilac)-on-growth,-feed-utilization-efficiency-and-biochemical-composition-of-murrel,-channa-striatus/ Accessed on 2nd June 2020

Efficacy of a Synbiotic BIFILAC: Questionable study/http://medind.nic.in/icb/t09/i6/icbt09i6p660.pdf/ Accessed on 2nd June 2020

Evaluation of efficacy of probiotic (BIFILAC) on Porphyromonas gingivalis: In vitro study/ https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC5074039/ Accessed on 2nd June 2020

Bifilac/ https://www.healthclues.net/blog/en/bifilac/ Accessed on 2nd June 2020

लेखक की तस्वीर badge
Satish singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड
x