home

आपकी क्या चिंताएं हैं?

close
गलत
समझना मुश्किल है
अन्य

लिंक कॉपी करें

Ivermectin: आइवरमेक्टिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए मूल बातें |सावधानियां एवं चेतावनी |जानिए इसके साइड इफेक्ट |इन जरूरी बातों को जानें |डॉक्टर की सलाह
Ivermectin: आइवरमेक्टिन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए मूल बातें

आइवरमेक्टिन का उपयोग किसके लिए किया जाता है?

इस दवा का इस्तेमाल कुछ प्रकार के पैरासाइटिक राउंडवॉर्म इंफेक्शन के इलाज के लिए किया जाता है। पैरासाइटिक इंफेक्शन को ठीक करके जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने में मदद मिलती है। कमजोर इम्यूनिटी वाले लोगों में, राउंडवॉर्म संक्रमण का इलाज करने से गंभीर या जानलेवा संक्रमण होने का खतरा कम हो सकता है। आइवरमेक्टिन दवा के वर्गीकरण में आता है जिसे एंटीपैरासिटिक कहते हैं। यह परजीवियों को मारने का काम करता है।

मैं आइवरमेक्टिन को कैसे इस्तेमाल करूं?

इस दवा को खाने के एक घंटा पहले खाली पेट एक ग्लास भरकर पानी के साथ लिया जाता है। आइवरमेक्टिन को एक अकेली खुराक के रूप में लिया जाता है या कई तरीके से भी लिया जा सकता है, या फिर डॉक्टर द्वारा दी गयी सलाह से भी ले सकते हैं। खुराक आपके वजन, चिकित्सीय स्थिति और इलाज के प्रति प्रतिक्रिया पर निर्भर करती है। अगर आपकी स्थिति बनी रहती है या और बदतर हो जाती है तो अपने डॉक्टर को बताएं।

और पढ़ें : Diclofenac sodium : डिक्लोफिनेक सोडियम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

मैं आइवरमेक्टिन को कैसे स्टोर करूं?

आइवरमेक्टिन को अच्छा होगा अगर आप घर के तापमान पर ही रखें और सीधी रोशनी व नमी से दूर रखें। दवा को खराब होने से बचाने के लिए, आपको आइवरमेक्टिन को बाथरूम या फ्रीजर में नहीं रखना चाहिए। आइवरमेक्टिन के अलग-अलग ब्रांड हो सकते हैं जिनको स्टोर करने की जरूरतें अलग हो सकती हैं। इसलिए आवश्यक है कि आप उसे खरीदने से पहले उत्पाद पर लिखी संग्रह करने की जानकारियों को ध्यानपूर्वक पढ़ लें या फिर फार्मासिस्ट से इसकी जानकारी ले लें। सुरक्षा के लिए, आपको सभी दवाइयां बच्चों और जानवरों से अलग रखनी चाहिए.

आपको आइवरमेक्टिन टॉयलेट या किसी सीवर में नहीं डालनी चाहिए तब तक जब तक डॉक्टर आपको सलाह न दे। आवश्यक है कि आप पूरी तरह से दवाई को खत्म कर दें अगर वो एक्सपायर हो गयी है या किसी काम के लायक नहीं रही है। इसे सुरक्षित व सही तरह से खत्म करने के लिए एक बार अपने फार्मासिस्ट से बात जरूर करें।

और पढ़ें : Clavulanic Acid : क्लैवुलेनिक एसिड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

सावधानियां एवं चेतावनी

आइवरमेक्टिन का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

अगर आपको एलर्जी है तो आपको आइवरमेक्टिन का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। सुनिश्चित करने के लिए आइवरमेक्टिन आपके लिए सुरक्षित है या नहीं, तो अपने डॉक्टर को बताएं अगर आपको :

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान आइवरमेक्टिन का इस्तेमाल करना सुरक्षित है?

ये अभी पता नहीं चल पाया है कि आइवरमेक्टिन अजन्मे बच्चे के लिए नुकसानदायक है या नहीं। इस दवा को इस्तेमाल करने के दौरान अगर आप प्रेग्नेंट हैं या प्रेग्नेंट होने का प्लान कर रही हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह लें।

आइवरमेक्टिन की कुछ मात्रा ब्रेस्ट मिल्क में मिल सकती है और ये नवजात शिशु को हानि पहुंचा सकता है। अगर आप स्तनपान करा रही हैं तो अपने डॉक्टर को बताएं। आइवरमेक्टिन उन बच्चों को नहीं दी जाती जिनका वजन 15 किलो से कम है।

और पढ़ें : Glimepiride : ग्लिमेपिराइड क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

जानिए इसके साइड इफेक्ट

आइवरमेक्टिन के क्या साइड इफेक्ट हो सकते हैं?

इस दवा से सिरदर्द, सुस्ती, मांसपेशियों में दर्द, मतली, या डायरिया हो सकता है। यदि आपका “रिवर ब्लाइंडनेस” (ओंकोकोर्सियासिस) के लिए इलाज किया जा रहा है, तो आप उपचार के पहले 4 दिनों के दौरान जोड़ों का दर्द, सूजन/सूजन लिम्फ नोड्स में, आंखों की सूजन/लालिमा/दर्द, कमजोरी, आंखों की रोशनी में बदलाव, खुजली, चकत्ते और बुखार का अनुभव कर सकते हैं। अगर इनमें से कोई भी प्रभाव बने रहते हैं या और बदतर हो जाते हैं, तो अपने डॉक्टर या फार्मसिस्ट से सलाह लें।

हर कोई इन साइड इफेक्ट्स को अनुभव नहीं करता। कुछ ऐसे साइड इफेक्ट्स भी है जो ऊपर नहीं दिए गए हैं। अगर आपको किसी भी तरह का साइड इफेक्ट नजर आता है तो डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात जरूर करें।

और पढ़ें : एम्पीसिलिन और सलबैक्टम क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

इन जरूरी बातों को जानें

कौन सी दवाएं आइवरमेक्टिन के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

अभी आप जो भी दवाइयां ले रहे हैं उसे आइवरमेक्टिन के साथ इस्तेमाल नहीं करना चाहिए, इससे दवाई के कार्य करने के प्रभाव पर असर पड़ सकता है और गंभीर साइड इफेक्ट्स का जोखिम बढ़ सकता है। किसी भी दवा के गलत प्रभाव को रोकने के लिए, आपको इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं की एक सूची बनाकर रख लेनी चाहिए (जिनमें डॉक्टर के पर्चे की दवाएं, बिना सलाह वाली दवाएं और हर्बल उत्पाद शामिल हैं) और फिर उसे डॉक्टर या फार्मासिस्ट के साथ साझा करें। आपकी सुरक्षा के लिए, बिना डॉक्टर की सलाह लिए कोई भी दवा अपने आप शुरू, बंद या खुराक में बदलाव न करें।

कुछ उत्पाद जो इस दवा के साथ लेने इस्तेमाल नहीं किए जा सकते : बार्बिटुरेट्स (जैसे फिनोबार्बिटल, बुटलबीटल), बेंजोडायजेंपींस (जैसे क्लोनाजेपम, लोरजेपाम), सोडियम ऑक्सीबेट (जीएचबी), वालपोरिक एसिड।

यह भी पढ़ें : Sildenafil : सिल्डेनाफिल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ आइवरमेक्टिन का इस्तेमाल किया जा सकता है?

आइवरमेक्टिन के साथ इथनोल का इस्तेमाल करने से पहले अपने डॉक्टर से बात करें। आइवरमेक्टिन के साथ इथनोल इस्तेमाल करने से ब्लड स्तर बढ़ जाता है या फिर आइवरमेक्टिन से होने वाले साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं। इससे त्वचा पर चकत्ते, सूजन, सिरदर्द, सुस्ती, कमजोरी, मतली, उल्टी, डायरिया, पेट दर्द, मिर्गी, सांस लेने में दिक्कत और सूजन या झनझनाहट हो सकती है। अच्छा होगा अगर आप अपने डॉक्टर को इस्तेमाल की जाने वाली दवाइयों के बारे में भी बताएं, जैसे विटामिन और हर्ब।

आइवरमेक्टिन खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

आइवरमेक्टिन आपकी स्वास्थ्य स्थिति पर गलत प्रभाव डाल सकती है। यह प्रभाव आपकी स्वास्थ्य स्थिति को बिगाड़ सकता है या फिर दवाई के कार्य करने के तरीके को कम कर सकता है। जरूरी है कि आप अपनी स्वास्थ्य स्थिति को डॉक्टर और फार्मासिस्ट को बताएं

डॉक्टर की सलाह

नीचे दी गई जानकारी किसी चिकित्सक की सलाह नहीं है। इसका इस्तेमाल करने से पहले अपने चिकित्सक या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

आइवरमेक्टिन की खुराक :

ओंकोसेरसिएसिस के लिए :

हैवी ओक्युलर इंफेक्शन के मरीजों को प्रत्येक 6 महीने के बाद इस दवा की जरूरत पड़ सकती है। शरीर के वजन के हिसाब से ऐसे करें सेवन :

15 से 25 kg : 3 एमजी एक बार

26 से 44 kg : 6 एमजी एक बार

44 से 64 kg : 9 एमजी एक बार

65 से 84kg : 12 एमजी एक बार

फाइलेरिसिस के लिए :

0.2 mg/kg : एक बार

स्केबीज के लिए :

0.2 mg/kg दिन में एक बार, प्रत्येक 2 हफ्तों के बाद दोहराएं

आइवरमेक्टिन कैसे उपलब्ध है?

आइवरमेक्टिन खुराक के रूप में और उसके प्रभाव के रूप में उपलब्ध है :

  • टेबलेट – 3 मिलीग्राम, 6 मिलीग्राम

और पढ़ें : Benidipine : बेनिडिपाइन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में क्या करना चाहिए?

इमरजेंसी या ओवरडोज होने की स्थिति में अपने स्थानीय आपातकालीन सेवाओं को कॉल करें या अपने नजदीकी इमरजेंसी वॉर्ड में जाएं।

अगर एक खुराक लेना भूल जाएं तो क्या करना चाहिए?

अगर आइवरमेक्टिन की खुराक लेना भूल जाते हैं तो याद आने पर जल्द से जल्द अपनी खुराक लें। हालांकि, अगर इसके कुछ ही समय बाद आपको अपनी अगली खुराक लेनी हो तो इसे न लें और अपनी नियमित खुराक के अनुसार ही इसका सेवन करते रहें।

हैलो स्वास्थ्य किसी भी तरह की कोई भी मेडिकल सलाह नहीं दे रहा है, अधिक जानकारी के लिए आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Ivermectin/https://www.drugs.com/mtm/ivermectin.html

(Accessed on 3rd March,2020)

Ivermectin/https://www.webmd.com/drugs/2/drug-1122/ivermectin-oral/details

(Accessed on 3rd March,2020)

Ivermectin/https://medlineplus.gov/druginfo/meds/a607069.html

(Accessed on 3rd March,2020)

Ivermectin, Oral Tablet/https://www.healthline.com/health/ivermectin-oral-tablet

(Accessed on 3rd March,2020)

 

 

 

लेखक की तस्वीर badge
Anoop Singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 06/07/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड