home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Regestrone: रेजेस्ट्रोन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन|डोसेज|उपयोग|साइड इफेक्ट्स|सावधानी और चेतावनी|रिएक्शन|स्टोरेज
Regestrone: रेजेस्ट्रोन क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

फंक्शन

रेजेस्ट्रोन (Regestrone) कैसे काम करती है?

रेजेस्ट्रोन के टैबलेट में प्रोजेस्टीन तत्व होता है। यह दवा में सिंथेटिक फॉर्म में उपलब्ध होता है और महिलाओं के हार्मोन प्रोजेस्ट्रोन की भांति ही काम करता है। यह दवा महिलाओं को होने वाली मासिक संबंधी परेशानी को ठीक करने के लिए इस्तेमाल में लाई जाती है। वहीं ऐसी महिलाएं जो असामान्य वयाजनल ब्लीडिंग जैसी समस्या से ग्रसित होती हैं उन्हें यह दवा देकर इलाज किया जाता है।

यह तमाम बीमारी असामान्य हार्मोन के कारण होती है। ऐसे में यह दवा देकर हार्मोन को बैलेंस किया जाता है। अनचाहे गर्भ को रोकने से लिए भी इस दवा का इस्तेमाल किया जाता है। सामान्य तौर पर कहें तो इसका इस्तेमाल गर्भनिरोधक गोली के तौर पर भी किया जाता है। इस दवा की मदद से मासिक धर्म से जुड़ी बीमारी को ठीक किया जाता है, जैसे पीरियड्स के दौरान दर्द, हेवी ब्लीडिंग, अनियमित पीरियड, प्रीमेंस्ट्रअल सिंड्रोम (पीएमएस) और एंडोमेट्रोसिस आदि।

डोसेज

रेजेस्ट्रोन (Regestrone) का सामान्य डोज क्या है?

डॉक्टर ने जितना डोज कहा है उतनी मात्रा में ही उसका सेवन करना चाहिए, खुद से ज्यादा व कम मात्रा में दवा नहीं लेनी चाहिए। इस दवा के साथ डॉक्टर अन्य गर्भनिरोधक दवा का सेवन करने की भी सलाह देते हैं।

ओवरडोज या डोज मिस होने पर क्या करें?

आपात या ओवरडोज की स्थिति में तुरंत अपने नजदीकी डॉक्टर या आपातकालीन सेवा से संपर्क करें। यदि आप दवा का सेवन करना भूल जाते हैं तो उस स्थिति में सही यही होगा कि जितनी जल्दी संभव हो दवा का सेवन कर लें। हालांकि, यदि आपका अगली खुराक का समय नजदीक आ गया है तो भूले हुए डोज को ना खाएं। पहले से तय नियमित डोज को लें। एक बार में दो खुराक ना खाएं। साथ ही इसके बारे में डॉक्टर को जरूर बताएं।

[mc4wp_form id=”183492″]
और पढ़ें : Indocap SR: इंडोकेप एस आर क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

उपयोग

मुझे रेजेस्ट्रोन (Regestrone) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

इस टैबलेट को खाने के साथ और खाने के बिना सेवन किया जा सकता है, लेकिन यह बेहतर होगा कि दवा को तय समय पर लिया जाए। डोज संबंधी सभी निर्णय डॉक्टर ही लेते हैं। बीमारी की गंभीरता को देखते हुए डॉक्टर डोज बढ़ा और घटा सकते हैं। ऐसे में एक्सपर्ट कुछ बीमारी में दवा का सुझाव दे सकते हैं, जैसे:

  • ब्रेस्ट कैंसर (Breast cancer) : इस दवा का इस्तेमाल कुछ प्रकार के ब्रेस्ट कैंसर को ठीक करने के लिए भी एक्सपर्ट कर सकते हैं, वहीं हाई डोज देकर संबंधित बीमारी का इलाज किया जाता है।
  • एंडोमेट्रिओसिस (Endometriosis) : इस दवा का इस्तेमाल एंडोमेट्रिओसिस का इलाज करने के लिए किया जाता है। इस कंडिशन में यूट्रस के बाहरी हिस्से में एंडोमेट्रियल टिशू ग्रो होता है। इस कारण मरीज को पेल्विक पेन, दर्द भरे पीरियड, एक्सेसिव ब्लीडिंग, इंटरकोर्स करने के दौरान दर्द का एहसास हो सकता है।
  • एंडोमेट्रियल कैंसर (Endometrial cancer) : इस दवा का इस्तेमाल खास प्रकार के कैंसर के इस्तेमाल के लिए किया जाता है। इस केस में यूट्रस के बाहरी छोर पर एक लाइनिंग उभर जाती है जिसके कारण दर्द होता है।
  • एब्नॉर्मल यूट्रीन ब्लीडिंग (Abnormal uterine bleeding) : मासिक धर्म के दौरान होने वाले हैवी ब्लीडिंग को नियंत्रण में रखने के लिए इस दवा का इस्तेमाल किया जाता है।
  • कॉन्ट्रासेप्शन (Contraception) : गर्भ न ठहरे इसलिए भी इस दवा का सेवन किया जाता है।
  • प्रिमेंट्रअल सिंड्रोम (Premenstrual syndrom) : मासिक धर्म के साथ महिलाओं में ऑव्युलेशन के दौरान होने वाली किसी प्रकार की परेशानी को लेकर इस दवा का इस्तेमाल किया जाता है। इन परिस्थितियों में मरीज को सिर दर्द, मूड डिस्टर्बेंस, ब्रेस्ट पेन जैसे लक्षण दिखते हैं।
  • एमेनोरोइया (Amenorrhoea) : युवावस्था में ही यदि महिला को समय पर पीरियड्स न हो या पीरियड्स मिस होने की समस्या हो तो उसका उपचार करने के लिए इस दवा का इस्तेमाल किया जाता है।

और पढ़ें : Levocetirizine+Phenylephrine+Paracetamol/Acetaminophen: लिवोसिट्रीजिन+फिनायलएफरिन+पेरासिटामोल/असेटामिनोफेन क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

साइड इफेक्ट्स

रेजेस्ट्रोन (Regestrone) के क्या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं?

इस दवा के सेवन से होने वाले मेजर साइड इफेक्ट्स :

  • दिखाई देने में समस्या व धुंधला दिखाई देना
  • मुंहासे का फटना
  • सीने में तेज दर्द
  • बेहोश होना व सिर चकराना
  • उभरी हुई आंख
  • माइग्रेन की भांति सिर दर्द
  • चेहरे, होंठ, जीभ, हाथ व पैर और आंखों के ऊपर सूजन
  • आंख और स्किन का पीला पड़ना
  • सांस लेने में परेशानी
  • अनियमित मासिक धर्म
  • स्तन का बढ़ना
  • पेट दर्द करना और स्टमक डिस्कंफर्ट
  • वजन का घटना व बढ़ना
  • सोने में परेशानी
  • हाथ, पांव व तलवे में कमजोरी
  • तनावग्रसित रहना, मूड का ठीक न रहना

ओवरडोज लेते की स्थिति में : ओवरडोज के लक्षणों में जी मचलाना, उल्टी, वजायनल ब्लीडिंग जैसी समस्या हो सकती है। ऐसा हो तो डॉक्टरी सलाह लें। इसलिए जरूरी है कि डॉक्टर के कहे अनुसार दवा का सेवन करें वहीं कोशिश करें कि दवा नियमित लें।

सावधानी और चेतावनी

रेजेस्ट्रोन (Regestrone) का इस्तेमाल करने से पहले मुझे क्या जानना चाहिए?

सामान्य चेतावनी :

सर्जरी : सर्जरी कराने के करीब चार सप्ताह पहले तक यदि कोई इस दवा का सेवन करता है तो उसे ऐसा नहीं करना चाहिए।

बच्चों में इस्तेमाल : लड़कियों या फिर किशोरियों में जिनका हाल ही में पीरियड साइकिल शुरू हुआ है, उनको भी दवा का सेवन की सलाह नहीं दी जाती है। इस दवा का सेवन करने से अनियमित पीरियड्स की समस्या हो सकती है।

डायबिटीज : डायटबिटीज के मरीजों में देखा गया है कि दवा का सेवन करने से उनकी स्थिति और बिगड़ जाती है। ऐसे में यदि डॉक्टर दवा का सेवन की सलाह देते भी हैं तो उसकी मॉनिटरिंग करने की बात कहते हैं।

ब्लड क्लॉटिंग डिसऑर्डर : दवा का सेवन करने के कारण आर्टरी और नसों में ब्लड क्लॉट जैसी समस्या भी हो सकती है। जिसके कारण अन्य समस्याएं पैदा हो सकती हैं। यदि पता चल जाए कि दवा का सेवन करने से ऐसी दिक्कतें हो रही है तो उचित यही होगा कि जितना जल्दी संभव है दवा का सेवन न किया जाए।

रोशनी संबंधी परेशानी : हो सकता है कि दवा का सेवन करने के कारण मरीज को रोशनी संबंधी परेशानी हो। वहीं प्रोपटोसिस और डिप्लोपिया जैसी बीमारी हो सकती है। दवा का सेवन करने को लेकर कई एहतियात बरतनी पड़ती हैं। इतना ही नहीं इसके साइड इफेक्ट्स में ब्लर विजन भी आता है, वहीं सामान्य से ज्यादा आंखें ड्राय हो जाती हैं। यदि ऐसा हो तो डॉक्टरी सलाह लेना उचित होता है।

एबनॉर्मल वयानल ब्लीडिंग : वजायना से ब्लीडिंग के बारे में यदि डॉक्टर यह न पता कर पाएं कि यह क्यों हो रहा है तो ऐसे में उन्हें इस दवा के बारे में सलाह नहीं दी जाती है।

हार्ट से संबंधित ब्लड वेसल्स डिसऑर्डर : ऐसे मरीज जिन्हें हार्ट स्ट्रोक और हार्ट अटैक आ चुका होता है या फिर आने की संभावना रहती है, उन मरीजों को यह दवा नहीं दी जाती है।

एलर्जी : यदि किसी मरीज को पहले से ही एलर्जी की समस्या है तो उसे इस दवा के इस्तेमाल की सलाह नहीं दी जाती है। यदि वो इस दवा का सेवन करें तो उसके दुष्परिणाम सामने आ सकते हैं।

लिवर डिजीज : ऐसे मरीज जिन्हें सर्व लिवर इम्पेयरमेंट या लिवर ट्यूमर की बीमारी होती है उन्हें इस दवा का सेवन की सलाह नहीं दी जाती है।

शिशु को दूध पिलाने वाली महिलाएं : ऐसी महिलाएं जो नवजात को दूध पिलाती हैं उन्हें इस दवा के उपयोग की सलाह नहीं दी जाती है। जब तक एकदम जरूरी न हो जाए तब तक महिलाओं को यह दवा नहीं दी जाती है। ऐसे में डॉक्टर मरीज को दवा के फायदे और नुकसान की जानकारी देते हैं।

प्रेग्नेंसी : गर्भवती महिलाओं को इस दवा का उपयोग करने की सलाह नहीं दी जाती है।

अन्य बीमारियां : दिल से संबंधित बीमारी, हार्ट वेसल्स, थायराॅइड ग्लैंड, लिवर, किडनी सहित अन्य बीमारी यदि हो तो इस दवा का सेवन करने के पूर्व डॉक्टरी सलाह लेना जरूरी हो जाता है। वहीं कई बार एक्सपर्ट दवा देने के पूर्व कुछ टेस्ट भी लिख सकते हैं। ताकि यह पता कर सकें कि दवा का सेवन करना आपकी सेहत के लिए सेफ है या नहीं।

स्मोकिंग : यदि आपको स्मोकिंग की लत है और आप इस दवा का सेवन करते हैं तो उस स्थिति में मामला और गंभीर हो सकता है। इसलिए जरूरी है कि स्मोकिंग के साथ दवा का सेवन करने के लिए डॉक्टरी सलाह जरूर ली जाए।

और पढ़ें : Nebicard 2.5: नेबिकार्ड 2.5mg क्या है? जानिए इसके उपयोग, डोज और सावधानियां

रिएक्शन

रेजेस्ट्रोन (Regestrone) अन्य दवाओं के साथ इंटरैक्ट कर सकती है क्या?

इस दवा के साथ वैकल्पिक दवा का सेवन करने से उसके दुष्प्रभाव भी सामने आ सकते हैं।

रिएक्शन पर एक नजर

हर दवा अलग-अलग लोगों पर अलग-अलग तरह से असर कर सकती है। इससे जुड़ी जानकारी के लिए डॉक्टरी सलाह लेना ही उचित होगा। वहीं कुछ दवाइयां हैं जिनके साथ यदि इस दवा का सेवन करें को रिएक्शन हो सकता है, जैसे

  • इंसुलिन
  • एमिनोफाइलीन (Aminophylline)
  • फिनोबारबिटल (Phenobarbital)
  • ग्रीसिओफूलविन (Griseofulvin)
  • एसलिकारबाजीफिन (Eslicarbazepine)
  • कारबामाजीफिन (Carbamazepine)
  • मायकोफेनोलेट मोफेटिल (Mycophenolate Mofetil)
  • फिन्यटोइन (Phenytoin)
  • ट्रानइग्जेमिक एसिड (Tranexamic Acid)
  • क्लारिथ्रोमाइसीन (Clarithromycin)
  • डिवेलप्रोएक्स (Divalproex)

फ्लूएड रिटेंशन और एडीमा : इस बीमारी से ग्रसित व्यक्ति को यदि यह दवा दी जाए तो स्थिति और भी ज्यादा गंभीर हो सकती है।

हिपेटिक नियोप्लास्म्स : लिवर ट्यूमर और लिवर की बीमारी से ग्रसित लोगों को दवा का सेवन करने की सलाह नहीं दी जाती है।

डिप्रेशन : दवा देने के पूर्व डॉक्टर मरीज से उसके डिप्रेशन से संबंधी लक्षणों को जानते हैं, वहीं मरीज में पहले से ऐसे लक्षण रहते हैं तो डॉक्टर कुछ बातों को ध्यान में रखते हुए ही निर्णय लेते हैं।

वहीं रिटेल थ्रोम्बोसिस, थ्रोमबोइमबोलिस्म, हाइपरलीपीडिया जैसी बीमारी में भी डॉक्टर दवा लेने की सलाह नहीं देते हैं। इसलिए जरूरी है कि दवा लेने के पूर्व डॉक्टरी सलाह जरूर ली जाए।

स्टोरेज

रेजेस्ट्रोन (Regestrone) को कैसे करूं स्टोर?

स्टोर करने का सबसे बेहतर तरीका है इसे कमरे के तापमान पर रखना चाहिए। इसे सूर्य की सीधी किरणों और नमी से दूर रखें। दवा को खराब होने से बचाने के लिए आपको बाथरूम या फ्रीजर में नहीं रखना है। इसे स्टोर करने से पहले सबसे बेहतर होगा कि आप दवा के पैकेज पर छपे निर्देशों को पढ़ लें या फार्मासिस्ट से पूछें। सुरक्षा की दृष्टि से सभी दवाइयों को अपने बच्चों और पेट्स से दूर रखें। जब तक कहा ना जाए तब तक सुरक्षा की दृष्टि से आपको इसको टॉयलेट या नाली में नहीं बहाना है। आवश्यकता ना रहने या एक्सपायरी की स्थिति में दवा का समुचित तरीके से निस्तारण जरूरी है। सुरक्षित तरीके से इसका निस्तारण करने के लिए अपने फार्मासिस्ट से सलाह लें।

इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए डाक्टरी सलाह लें। ।

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

NORETHINDRONE ACETATE- norethindrone tablet/ https://dailymed.nlm.nih.gov/dailymed/drugInfo.cfm?setid=64cb920c-36e8-4d62-9d08-3ddf3989d313 / Accessed 2nd June 2020

Norethindrone/ https://pubchem.ncbi.nlm.nih.gov/compound/6230  / Accessed 2nd June 2020

Norethisterone 5mg Tablets/ https://www.medicines.org.uk/emc/product/1494 / Accessed 2nd June 2020

norethindrone acetate tablets/ https://www.accessdata.fda.gov/drugsatfda_docs/label/2007/018405s023lbl.pdf / Accessed 2nd June 2020

Norethindrone/ https://medlineplus.gov/druginfo/meds/a604034.html/ Accessed 2nd June 2020

 

लेखक की तस्वीर badge
Satish singh द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 28/06/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड