home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

Tadalafil: टाडालाफिल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

परिचय|सावधानियां और चेतावनी|साइड इफेक्ट्स|इन जरूरी बातों को जानें|डोजेज
Tadalafil: टाडालाफिल क्या है? जानिए इसके उपयोग, साइड इफेक्ट्स और सावधानियां

परिचय

टाडालाफिल (Tadalafil) का इस्तेमाल किस लिए किया जाता है?

टाडालाफिल का उपयोग पुरुषों की यौन समस्याओं (नपुंसकता या स्तंभन दोष-ED) के इलाज के लिए किया जाता है। सेक्शुअल स्टिमुलेशन के साथ मिलकर टाडालाफिल पुरुषों के लिंग तक रक्त प्रवाह को बढ़ाने और इरेक्शन को बनाए रखने में मदद करती है।

टाडालाफिल का उपयोग बढ़े हुए प्रोस्टेट के लक्षणों (सौम्य प्रोस्टेटिक हाइपरप्लासिया-बीपीएच) के इलाज के लिए भी किया जाता है।

यह BPH के लक्षणों जैसे मूत्र प्रवाह में मुश्किल, कमजोर स्ट्रीम, और बार-बार या तुरंत पेशाब जाना (रात के बीच में भी) को दूर करने में भी मददगार है। टाडालाफिल प्रोस्टेट और मूत्राशय में मांसपेशियों को आराम पहुंचाता है।

और पढ़ें: Ma huang: मा हुआंग क्या है?

यह दवाई यौन संचारित रोगों (जैसे एचआईवी, हेपेटाइटिस बी, गोनोरिया, सिफलिस) से सुरक्षा नहीं करती है। इसलिए “सुरक्षित सेक्स” का ध्यान रखें, जैसे लेटेक्स कंडोम का इस्तेमाल करें । अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से संपर्क करें।

अन्य उपयोग: यहां इस दवाई के वो उपयोग भी शामिल हैं जो प्रोफेशनल लेवलिंग के लिए एप्रूव्ड नहीं हैं। लेकिन, आपके डॉक्टर द्वारा निर्धारित की गयी हो। इस दवाई का उसी स्थिति में यूज करें जो इस सेक्शन में बताई गई हों, जैसे इसकी सलाह आपके डॉक्टर ने दी हो।

टाडालाफिल फेफड़ों में हाई ब्लड प्रेशर के उपचार के लिए एक अन्य ब्रांड में भी उपलब्ध है।

और पढ़ें: यह तो हद ही हो गई चिकन टिक्का मसाला फ्लेवर में कॉन्डम?

टाडालाफिल (Tadalafil) का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए?

अगर उपलब्ध हो तो मेडिकल गाइड, पेशेंट अवश्य पढ़ें, जो आपको आपके डॉक्टर ने इस दवाई के प्रयोग से पहले दिया है। अगर कोई सवाल हो तो अपने डॉक्टर से अवश्य बात करें।

अपने डॉक्टर की सलाह के अनुसार इस दवाई को मुंह के माध्यम से रोजाना भोजन या बिना भोजन के साथ लें, हो सके दिन में इसे एक बार से अधिक न लें।

इस दवाई की डोज इन चीजों पर निर्भर करती है जैसे आपकी मेडिकल स्थिति, उपचार के रिस्पॉन्स और अन्य दवाइयों जिन्हें आप ले रहे हैं। इस दवाई के प्रयोग से पहले ही अपने डॉक्टर को उन सभी दवाइयों या उत्पादों के बारे में बता दें जिनका प्रयोग आप कर रहे हैं।

BPH के लक्षणों का उपचार करने के लिए इस दवाई को डॉक्टर के कहे अनुसार लें, सामान्यतया दिन में एक बार। अगर आप BPH के लक्षणों के उपचार के लिए इस दवाई के साथ फिनास्टेराइड ले रहे हैं तो डॉक्टर से बात करें कि इस दवाई का सेवन कितने समय तक करना चाहिए।

स्तंभन दोष (ED) का उपचार करने के लिए, टाडालाफिल को दो तरीकों से लेने की सलाह दी जा सकती है। आपके डॉक्टर इस बात का फैसला कर सकते हैं कि आपके लिए कौन सा तरीका बेहतर है। अपने डॉक्टर की सलाह का पालन करें, क्योंकि आपको दी जाने वाले डोज इस बात पर निर्भर करती है किआपको इसे कैसे लेना है।

पहला तरीका है इसका प्रयोग जरूरत के अनुसार करें, सामान्यतया सेक्शुअल एक्टिविटी के कम से कम 30 मिनट पहले इसे लें। यौन क्षमता पर टाडालाफिल का प्रभाव 36 घंटे तक रह सकता है।
दूसरा तरीका है कि इस दवाई को नियमित रूप से लें, यानी रोजाना दिन में एक बार। अगर आप इस तरीके से इस दवाई को लेते हैं तो आप अपनी डोज के बीच किसी भी समय सेक्शुअल एक्टिविटी कर सकते हैं।

अगर आप टाडालाफिल को ED और BPH दोनों के उपचार के लिए ले रहे हैं, तो डॉक्टर की सलाह के अनुसार लें यानी दिन में एक बार। अगर आप BPH याED, या दोनों के लिए टाडालाफिल को दिन में एक बार ले रहे हैं तो अधिक फायदों के लिए इसका नियमित रूप से सेवन करें। इस बात को याद रखने के लिए रोजाना एक ही समय इस दवाई को लें। अगर आपकी स्थिति सुधर नहीं रही या बिगड़ रही हैं तो तुरंत डॉक्टर को बताएं।

टाडालाफिल को कैसे स्टोर करूं?

टाडालाफिल को हमेशा रूम टेंपरेचर पर ही स्टोर करना चाहिए। इसे धूप के सीधे प्रकाश या नमी से दूर रखें। इसे डैमेज होने से बचाने के लिए कभी भी इसे फ्रीज में स्टोर करके न रखें। स्टोर से जुड़ी जानकारी जुटाने के लिए दवा के पैकेज पर लिखे हुए जरूरी निर्देशों को अच्छे से पढ़ें या फिर अपने डॉक्टर से इसके बारे में पूछे। सुरक्षा के लिए, आपको सभी दवाओं को बच्चों और पालतू जानवरों से दूर रखना चाहिए।

दवा का इस्तेमाल न करने पर या उसके एक्सपायर होने पर, डॉक्टर के निर्देश के बिना इसे न ही टॉयलेट में फ्लश करें और न ही नाली में फेकें। सुरक्षित रूप से दवा को नष्ट करने के बारे में अपने फार्मासिस्ट से पूछे।

और पढ़ें: Wheat Germ: गेहूं के अंकुर क्या है?

सावधानियां और चेतावनी

टाडालाफिल (Tadalafil) का उपयोग करने से पहले मुझे क्या पता होना चाहिए?

इस दवाई को लेने से इस बात को जान लें कि इस दवाई से आपको फायदे अधिक होने चाहिए। यह निर्णय आप और आपके डॉक्टर लेंगे। इस दवा के लिए, निम्नलिखित बातों पर विचार किया जाना चाहिए:

एलर्जी

अगर आपको इस दवाई या किसी अन्य दवाई से कोई एलर्जी है तो अपने डॉक्टर को अवश्य बताएं। यही नहीं, अगर आपको किन्ही अन्य चीजों से भी एलर्जी है जैसे भोजन, डाई, परिरक्षक या जानवरों से तो भी डॉक्टर की सलाह लें। जिन उत्पादों की सलाह न दी हो तो उस उत्पाद के लेबल या पैकेज को अच्छे से पढ़ें।

बच्चों के उपचार में

बच्चों के उपचार के लिए टाडालाफिल टेबलेट के उपयोग की सलाह नहीं दी जाती। इसकी सुरक्षा और प्रभाव के बारे में जानकारी उपलब्ध नहीं है। बच्चों के उपचार में ऐडसर का टेबलेट के प्रभावों के लिए उम्र के संबंध पर उचित अध्ययन नहीं किया गया है।

वृद्धावस्था

आज तक किए गए अध्ययनों में वृद्धावस्था में इस दवाई को लेने से क्या समस्याएं हो सकती हैं इसकी जानकारी उपलब्ध नहीं है। लेकिन, बुजुर्गों में इस दवाई के लाभ सीमित हो सकते हैं। बुजुर्ग रोगियों में उम्र के बढ़ने के साथ-साथ किडनी की समस्या होने की संभावना अधिक होती है, जिसके लिए मरीजों को टाडालाफिल की खुराक के एडजस्टमेंट सावधानी और सतर्कता से करने की आवश्यकता हो सकती है।

क्या प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान टाडालाफिल लेना सुरक्षित है?

प्रेग्नेंसी या ब्रेस्टफीडिंग के दौरान टाडालाफिल लेना सुरक्षित है या नहीं, इस बारे में पर्याप्त जानकारी उपलब्ध नहीं है। इस दवा को लेने से पहले संभावित लाभ और जोखिमों को जानने के लिए हमेशा अपने चिकित्सक से परामर्श करें।

और पढ़ें:स्ट्रेस कहीं सेक्स लाइफ खराब न करे दे, जानें किस वजह से 89 प्रतिशत भारतीय जूझ रहे हैं तनाव से

साइड इफेक्ट्स

टाडालाफिल (Tadalafil) के साइड इफेक्ट्स

अगर आप इन में से एलर्जी के कोई भी संकेत देखें तो तुरंत मेडिकल मदद लें जैसे: सांस लेने से समस्या, होंठ, चेहरे या गले में सूजन आदि

अगर आपको यौन गतिविधि के दौरान चक्कर आना या मतली हो जाती है या आपके सीने, हाथ, गर्दन, या जबड़े में दर्द, सुन्नता या झुनझुनी होती है, तो तुरंत अपने चिकित्सक को बताएं इसका अर्थ है कि आप टाडालाफिल का एक गंभीर दुष्प्रभाव से गुजर रहे हैं।

अगर आप इस दवाई के इन गंभीर साइड इफेक्ट्स महसूस करें तो टाडालाफिल का प्रयोग करना बंद कर दें और अपने डॉक्टर को बताएं। जैसे:

  • दृष्टि में बदलाव या अचानक आंख की रोशनी का कम होना
  • अचानक सुनने में समस्या
  • छाती में दर्द, बाज़ू या कंधें में दर्द का फैलना, मतली, पसीना, सामान्य बीमार ,महसूस करना;
  • हार्टबीट का असामान्य होना
  • सांस न आना, हाथ और पैरों में सूजन
  • सीजर
  • बेहोश होना; या
  • पेनिस इरेक्शन का दर्दनाक होना

कम गंभीर साइड इफेक्ट इस प्रकार हो सकते हैं :

  • चेहरे, गले या छाती में लालिमा या गर्म
  • सर्दी जुकाम जैसे लक्षण जैसे नाक बहना, छींके या गले में खराश, सिरदर्द
  • यादाश्त में समस्या
  • डायरिया, पेट खराब होना; या
  • मांसपेशियों में दर्द, पीठ दर्द

सभी इन साइड इफेक्ट्स को महसूस नहीं करते। कुछ ऐसे साइड इफेक्ट भी हो सकते हैं जिन्हे ऊपर न बताया गया हो। अगर आप कोई भी साइड इफेक्ट महसूस करते हैं तो अपने डॉक्टर से परामर्श करें।

और पढ़ें :बच्चों में डर्मेटाइटिस के क्या होते है कारण और जानें इसके लक्षण

इन जरूरी बातों को जानें

कौन-सी दवाएं टाडालाफिल के साथ इस्तेमाल नहीं की जा सकती हैं?

जिन दवाइयों को आप ले रहे हैं उनके साथ टाडालाफिल मिल कर प्रभाव डाल सकती है। इससे दवाई का प्रभाव बदल सकता है और साइड इफेक्ट्स का जोखिम भी बढ़ सकता है। ड्रग इंटरेक्शन से बचने के लिए आपको उन सब दवाइयों और उत्पादों की सूची बना लेनी चाहिए जिनका प्रयोग आप करते हैं। यह सूची अपने डॉक्टर के साथ शेयर करें। सुरक्षित रहने के लिए अपनी मर्जी से और बिना डॉक्टर की सलाह के किसी भी दवाई की डोज को लेना बंद शुरू या उसमे परिवर्तन न करें।

नीचे दी हुई किसी भी दवाई को टाडालाफिल के साथ लेने की सलाह नहीं दी जाती। आपके डॉक्टर इस बात का निर्णय ले सकते हैं कि इस दवाई एक साथ आपका इलाज करना है या किसी अन्य दवाई को इसके विकल्प के रूप में वो उपयोग करेंगे।

  • अमाइल नाइट्राइट
  • बोकेप्रिवीर
  • एरीथ्रिटील टेट्रानिट्रेट
  • इसोसॉर्बाइड डिनिट्रेट
  • इसोसॉर्बाइड मोनोनिट्रेट
  • नाइट्रोग्लिसरीन
  • पेन्टैरिथ्रिटोल टेट्रानिट्रेट
  • रिऑसिजुएट
  • टेलप्रवीर

इस दवाई को नीचे दी गयी अन्य दवाइयों के साथ लेने की सलाह नहीं दी जाती, लेकिन कुछ मामलों में इन्हे दिया जा सकता है। अगर दोनों दवाइयों को साथ में लेने की सलाह दी गयी है तो आपके डॉक्टर इसकी डोज में परिवर्तन कर सकते हैं ।

  • अल्फजोसिन
  • अतजानवीर
  • बुनाजोसिन
  • क्लॉरिथ्रोमैसीन
  • कोबिसिस्टेट
  • डारूनावीर
  • इरिथ्रोमाइसिन
  • फोसंप्रेणावीर
  • इंडीनावीर
  • इटराकोनाजोल
  • कटोकोनाजोल
  • लोपीनवीर
  • मोक्सीसीलाइट
  • नेफजोडोंन
  • फेनोक्सीबेंजामिन
  • फेंटोलेमीन
  • प्राजोसिन
  • रिटोनावीर
  • सक्विनवीर
  • सीमेपरवीर
  • सींवास्टैटिन
  • टेम्सुलोसिन
  • टेलीट्रोमैकिन
  • टेराजोसिन
  • टिपरणवीर
  • त्रिमाजोसिन

इस दवाई को निम्नलिखित किसी भी दवा के साथ लेने से साइड इफेक्ट्स की संभावना बढ़ जाती है लेकिन आपके उपचार के लिए दोनों दवाईयों का प्रयोग आवश्यक हो सकता है।

  • डोक्साजोसिन
  • रिफाम्पिन
  • सिलोदोसीन

क्या भोजन या एल्कोहॉल के साथ टाडालाफिल का इस्तेमाल किया जा सकता है?

टाडालाफिल को भोजन या एल्कोहॉल के साथ लेने से दवाई के काम करने के तरीके में प्रभाव पड़ सकता है। भोजन और अल्कोहल के साथ इस दवाई के इंटरेक्शन के बारे में कृपया अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से अवश्य पूछ लें खासतौर पर फ्रूट जूस या इथेनॉल के बारे में।

टाडालाफिल खाने से स्वास्थ्य पर किस तरह का प्रभाव पड़ सकता है?

टाडालाफिल हेल्थ कंडीशंस पर अपना प्रभाव डाल सकती है। इस इंटरेक्शन का स्वास्थ्य स्थितियों पर बुरा असर पड़ सकता है या दवाई के असर पर भी प्रभाव पड़ सकता है। यह बेहद आवश्यक है कि आपको अपनी हर एक हेल्थ कंडीशन के बारे में डॉक्टर को बताना चाहिए। खासतौर पर:

अगर आपको असामान्य लिंग जिसमें मुड़ा हुआ लिंग और लिंग के बर्थ डिफेक्ट शामिल हैं। इन रोगियों के लिए इस दवाई का प्रयोग करने के लिए सावधानी बरतनी चाहिए।

  • उम्र 50 साल से अधिक हो या
  • कोरोनरी आर्टरी की बीमारी या
  • मधुमेह
  • हाइपरलिपीडेमिया या
  • हाइपरटेंशन (हाई ब्लड प्रेशर)
  • लो कप टू डिस्क अनुपात (आंखों की स्थिति जिसे “क्राउडेड डिस्क” कहा जाता है) या
  • धूम्रपान- यह स्थितियां गंभीर आंखों की समस्यायों को बढ़ सकती हैं जिसेनॉन-आर्टेरिटिक इस्केमिक ऑप्टिक न्यूरोपैथी (NAION) कहा जाता है
  • एनजाइना (रॉकररिंग छाती में दर्द) या
  • अतालता (असमान्य हार्ट बीट), या
  • हार्ट अटैक (6 महीने के भीतर) या
  • हार्ट फेलियर (6 महीने के भीतर ) या
  • हाइपरटेंशन (हाई ब्लड प्रेशर) या
  • रेटिनल विकार (आंख में समस्या) या
  • रेटिनिटिस पिगमेंटोसा या
  • स्ट्रोक, रीसेंट हिस्ट्री -इन स्थितियों वाले रोगियों में उपयोग नहीं किया जाना चाहिए।
  • ब्लीडिंग विकार या

पेट का अलसर- हो रही समस्याओं की संभावना बढ़ सकती है; यह ज्ञात नहीं है कि दवा इन रोगियों के उपयोग के लिए सुरक्षित है या नहीं।

  • बॉन मेरो कैंसर या
  • लेकिमिया (ब्लड संबंधित कैंसर) या
  • मल्टीप्ल मायलोमा (ब्लड संबंधित कैंसर) या
  • सिकल-सेल एनीमिया (ब्लड डिसऑर्डर)— इन रोगियों पर टाडालाफिल का उपयोग पर सावधानी के साथ किया जाना चाहिए क्योंकि लिंग का प्रोलोंगड इरेक्शन हो सकता है।
  • हार्ट ब्लड फ्लो समस्याएं- ये स्थितियां आपको टाडालाफिल के प्रति अधिक संवेदनशील बना सकती हैं।
  • दिल से संबंधित रोग-लो रक्तचाप होने की संभावना अधिक होती है; इन रोगियों में टडालाफिल का उपयोग सावधानी से किया जाना चाहिए।
  • किडनी के रोग, और
  • लिवर के रोग- सावधानी से प्रयोग करें। अवांछित प्रभाव होने का खतरा बढ़ सकता है
  • शुरुआत में कम डोज का प्रयोग किया जा सकता है और आवश्यकतानुसार और सहन करने योग्य खुराक में वृद्धि की जा सकती है
  • NAION (गंभीर आंख की स्थिति) एक या दोनों आंखों में, आपमें फिर से NAION होने के खतरे को बढ़ा सकती है

डोजेज

यहां पर दी गई जानकारी को डॉक्टर की सलाह का विकल्प न मानें। किसी भी दवा या सप्लिमेंट का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

वयस्कों के लिए टाडालाफिल की क्या डोज है?

स्तंभन दोष (इरेक्टाइल डिसफंक्शन) के लिए सामान्य वयस्क खुराक –

स्तंभन दोष : 10 मिलीग्राम मात्रा मौखिक रूप से यौन गतिविधि से पहले ली जाती है। अधिकांश रोगियों में अधिकतम अनुशंसित खुराक आवृत्ति एक बार रोजाना है।

वैकल्पिक रूप से, रोजाना 2.5 मिलीग्राम मात्रा एक बार, यौन गतिविधि के समय के मौखिक रूप से ली जाती है । प्रभावकारिता और सहनशीलता के आधार पर प्रतिदिन एक बार मौखिक रूप से इसकी मात्रा 5 मिलीग्राम तक बढ़ाई जा सकती है।

स्तंभन दोष और बिनाइन प्रोस्टेटिक हाइपरप्लासिया एक साथ:

5 मिलीग्राम मात्रा मौखिक रूप से हर दिन लगभग एक ही समय पर ली जाती है।

पल्मोनरी हाइपरटेंशन में वयस्कों के लिए डोज:

40 मिलीग्राम मात्रा दिन में एक बार भोजन के साथ या बिना। कोर्स के दौरान खुराक (40 मिलीग्राम) को विभाजित करने की सलाह नहीं दी जाती।

बिनाइन प्रोस्टेटिक हाइपरप्लासिया के लिए सामान्य वयस्क खुराक:

बिनाइन प्रोस्टेटिक हाइपरप्लासिया और स्तंभन दोष के साथ बिनाइन प्रोस्टेटिक हाइपरप्लासिया:

5 मिलीग्राम मात्रा ओरली हर दिन लगभग एक ही समय पर ली जाती है।

टाडालाफिल की बच्चों के लिए क्या डोज है?

बच्चों को कितनी डोज देनी है इसकी जानकारी उपलब्ध नहीं है। यह आपके बच्चे के लिए असुरक्षित हो सकता है। उपयोग करने से पहले दवा की सुरक्षा को पूरी तरह से समझना हमेशा महत्वपूर्ण होता है। अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने चिकित्सक या दवा विक्रेता से परामर्श लें।

टाडालाफिल किस रूप में आती है?

टाडालाफिल निम्नलिखित रूप और स्ट्रेंथ में आती है?

टेबलेट (2.5 मिलीग्राम; 5 मिलीग्राम; 10 मिलीग्राम; 20 मिलीग्राम)

ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति में क्या करना चाहिए?

ओवरडोज या आपातकालीन स्थिति के लिए अपने स्थानीय डॉक्टर या हॉस्पिटल से संपर्क करें।

यदि मुझसे टाडालाफिल की डोज मिस हो जाए तो मुझे क्या करना चाहिए?

अगर आपसे टाडालाफिल की डोज मिस हो जाए, तो जितना जल्दी हो सके इसे ले लें। हालांकि, अगर दूसरी खुराक का समय हो गया है, तो डबल डोज लेने की बजाय एक डोज मिस कर दें।

[mc4wp_form id=”183492″]

हैलो हेल्थ ग्रुप मेडिकल सलाह,निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है।
संबंधित लेख:

स्ट्रेस कहीं सेक्स लाइफ खराब न करे दे, जानें किस वजह से 89 प्रतिशत भारतीय जूझ रहे हैं तनाव से

PMS Premenstrual Syndrome : पीएमएस (प्रीमेंस्ट्रुअल सिंड्रोम) क्या है? जानें लक्षण और उपचार

हर्पीस इंफेक्शन से होने वाली बीमारी है, आपनाएं ये सावधानियां

इस दिमागी बीमारी से बचने में मदद करता है नींद का ये चरण (रेम स्लीप)

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

लेखक की तस्वीर badge
Anu sharma द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 31/05/2020 को
डॉ. प्रणाली पाटील के द्वारा मेडिकली रिव्यूड