स्ट्रेस कहीं सेक्स लाइफ खराब न करे दे, जानें किस वजह से 89 प्रतिशत भारतीय जूझ रहे हैं तनाव से

चिकित्सक द्वारा समीक्षित | द्वारा

अपडेट डेट मार्च 14, 2020 . 3 मिनट में पढ़ें
अब शेयर करें

‘टेंशन मत ले यार’, ‘लोड मत ले दोस्त’, ‘तुम इतना स्ट्रेस क्यों लेते हों’, ‘टेंशन लेने का नहीं देने का’ जैसे कई वाक्य आए दिन सुने जा सकते हैं। हमारे बड़े-बुजुर्ग भी कहते हैं ‘चिंता, चिता के सामान है’। फिर भी 2017 में हुई एक स्टडी के अनुसार भारत में लगभग 89 प्रतिशत लोग स्ट्रेस की समस्या से जूझ रहे हैं। जिसका सबसे बड़ा कारण उनकी आर्थिक स्थिति और काम का प्रेशर है। वहीं, तनाव के मामले में विश्व में दिल्ली 142वें, बेंगलुरु 130वें और कोलकाता 131वें स्थान पर है। “हैलो स्वास्थ्य” के इस आर्टिकल में स्ट्रेस के बारे में ऐसे ही फैक्ट्स बताए गए हैं, जो आपको आश्चर्यचकित कर देंगे।

स्ट्रेस से जुड़े फैक्ट्स

यह भी पढ़ें : डायरी लिखने से स्ट्रेस कम होने के साथ बढ़ती है क्रिएटिविटी

स्ट्रेस पर क्या कहती है रिसर्च?

  • शोध से पता चला है कि डार्क चॉकलेट स्ट्रेस हॉर्मोन (stress hormone) जैसे कोर्टिसोल और दूसरे फाइट-फ्लाइट हॉर्मोन को कम करती है। इसके अतिरिक्त, कोकोआ में एंटीऑक्सिडेंट भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जिनको फ्लेवोनोइड्स (flavonoids) के नाम से जाना जाता है।
  • तनाव मानव शरीर में हॉर्मोनल परिवर्तन करता है जो सेक्स के प्रति इच्छा और सेक्स रिस्पॉन्स को कम कर सकता है। हालांकि, बीबीसी की रिपोर्ट के अनुसार पेनेट्रेटिव सेक्स (penetrative sex) से तनाव हार्मोन (stress hormone) में कमी आती है। 

यह भी पढ़ें : भावनात्मक असंतुलन क्या है और क्यों होता है?

यह भी जान लें

  • स्ट्रेस के बारे में एक और भ्रांति है। अक्सर स्मोकिंग करने वाले लोग सोचते है कि स्मोकिंग से तनाव कम हो जाता है, इसके उलट सिगरेट पीने से एंग्जायटी (anxiety) और तनाव बढ़ जाता है। रिसर्च की मानें तो निकोटीन (nicotine) से तुंरत रिलैक्स मिल तो जाता है जिसकी वजह से लोग तनाव को कम करने के लिए सिगरेट पीते हैं । लेकिन यह सिर्फ कुछ देर के लिए रहता है और इसका असर खत्म होते ही यह और बढ़ जाता है।
  • अगर स्ट्रेस फील कर रहे हैं तो किसी पालतू जानवर के साथ खेलने या पेटिंग बनाना आपके लिए अच्छा रहेगा। इससे तनाव कम करने वाले हॉर्मोन ऑक्सीटोसिन (Oxytocin) का स्तर बढ़ सकता है और स्ट्रेस हॉर्मोन कोर्टिसोल का स्तर कम हो सकता है। 

  • अंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन (ILO) की एक नई रिपोर्ट के अनुसार कार्यस्थलों पर ज्यादा तनाव और लंबे वर्किंग आवर्स की वजह से हर साल 28 लाख लोगों की मौत होती है। 
  • काम से संबंधित तनाव कई देशों में सबसे महत्वपूर्ण मुद्दों में से एक है। स्ट्रेस पेट संबंधी रोगों के साथ-साथ शारीरिक और मानसिक समस्याएं पैदा कर सकता है।
  • तनाव से कोर्टिसोल रिलीज ज्यादा होता है जिससे ब्लड शुगर का उत्पादन बढ़ सकता है। इससे टाइप 2 डायबिटीज की संभावना बढ़ जाती है।

यह भी पढ़ें : आखिर क्यों कुछ लोगों को अकेले रहने में मजा आता है?

  • स्ट्रेस के बारे में सबसे ज्यादा ध्यान देने वाली बात है कि अगर टेंशन लंबे समय तक बनी रहे तो यह इम्यून सिस्टम (immune system) और हार्ट को नुकसान पहुंचा सकती है। 
  • आधा घंटा पौधों की देखभाल करने से या बगीचे में लगे हरे-भरे पेड़-पौधों को देखते हैं तो मेंटल स्ट्रेस से छुटकारा मिलता है। अध्ययन के मुताबिक, प्रकृति के करीब रहने से चिंता, तनाव और डिप्रेशन दूर होता है।

  • योग करने से आपका तनाव कम हो सकता है। दरअसल, योगासन शरीर में आपके हीलिंग हॉर्मोन को बढ़ाते हैं और साथ ही कोर्टिसोल के स्तर को कम करने में मदद करते हैं।
  • तनाव में रहने से व्यक्ति अपना 65% समय केवल चिंता में गुजार देता है।

स्ट्रेस के बारे में और आर्टिकल्स पढ़ने के लिए हमारी वेबसाइट के सर्च ऑप्शन का इस्तेमाल करें।

और पढ़ें :

कैसे स्ट्रेस लेना बन सकता है इनफर्टिलिटी की वजह?

चिंता और निराशा दूर करने का अचूक तरीका है गार्डनिंग

मेंटल स्ट्रेस कम करना है तो करें ईवनिंग वॉक, और भी हैं कई हेल्थ बेनिफिट्स

आंखों के लिए बेस्ट हैं योगासन, फायदे जानकर हैरान रह जाएंगे

हैलो हेल्थ ग्रुप चिकित्सा सलाह, निदान या उपचार प्रदान नहीं करता है

क्या यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद था?
happy unhappy

संबंधित लेख:

    शायद आपको यह भी अच्छा लगे

    Librium 10: लिब्रियम 10 क्या है? जानिए इसके उपयोग और साइड इफेक्ट्स

    लिब्रियम 10 की जानकारी in hindi, लिब्रियम 10 के साइड इफेक्ट क्या है, क्लोरडाएजपॉक्साइड (Chlordiazepoxide) दवा किस काम में आती है, रिएक्शन, उपयोग, Librium 10.

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
    दवाइयां A-Z, ड्रग्स और हर्बल जून 17, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

    Stress : स्ट्रेस क्या है? जानें इसके कारण, लक्षण और उपाय

    स्ट्रेस एक मानसिक व शारीरिक प्रतिक्रिया है, जो कि किसी स्थिति या खतरे के कारण पैदा होती है। आइए, तनाव के कारण, लक्षण और उपचार के बारे में जानते हैं।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Surender Aggarwal
    हेल्थ कंडिशन्स, स्वास्थ्य ज्ञान A-Z जून 2, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें

    वॉकिंग मेडिटेशन से स्ट्रेस को कैसे कर सकते मैनेज

    वॉकिंग मेडिटेशन से स्ट्रेस को कैसे मैनेज कर सकते हैं? चलना ध्यान करने के पहले किन बातों का ध्यान रखना चाहिए? Walking Meditation in Hindi.

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
    हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन जून 1, 2020 . 6 मिनट में पढ़ें

    आखिर क्या-क्या हो सकते हैं तनाव के कारण, जानें!

    तनाव के कारण कई बीमारी हो सकतीहै, इससे उबर पाने के लिए खुद पर कंट्रोल होना जरूरी है, इसलिए अच्छे खानपान के साथ तनाव मुक्त जिंदगी के लिए अपनाएं यह टिप्स।

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Satish singh
    हेल्थ टिप्स, स्वस्थ जीवन मई 20, 2020 . 7 मिनट में पढ़ें

    Recommended for you

    पेट थेरेपी

    पेट्स पालना नहीं है कोई सिरदर्दी, बल्कि स्ट्रेस को दूर करने की है एक बढ़िया रेमेडी

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    प्रकाशित हुआ सितम्बर 7, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    भारत में महिला आत्महत्या women suicide prevention in india

    विश्व आत्महत्या रोकथाम दिवस: क्यों भारत में महिला आत्महत्या की दर है ज्यादा? क्या हो सकती है इसकी रोकथाम?

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Mousumi dutta
    प्रकाशित हुआ सितम्बर 2, 2020 . 4 मिनट में पढ़ें
    लॉकडाउन में टीचर्स का मानसिक स्वास्थ्य

    टीचर्स डे: ऑनलाइन क्लासेज से टीचर्स की बढ़ती टेंशन को दूर करेंगे ये आसान टिप्स

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shikha Patel
    प्रकाशित हुआ सितम्बर 2, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें
    मेंहदी और मानसिक स्वास्थ्य

    मेंहदी और मानसिक स्वास्थ्य का है सीधा संबंध, जानें इस पर एक्सपर्ट की राय

    चिकित्सक द्वारा समीक्षित Dr. Pranali Patil
    के द्वारा लिखा गया Shayali Rekha
    प्रकाशित हुआ अगस्त 14, 2020 . 5 मिनट में पढ़ें