home

What are your concerns?

close
Inaccurate
Hard to understand
Other

लिंक कॉपी करें

ज्वार के फायदे: कब्ज और ह्रदय रोग वालों के लिए वरदान है ज्वार!

ज्वार के फायदे: कब्ज और ह्रदय रोग वालों के लिए वरदान है ज्वार!

क्या आप ​कब्ज की समस्या से परेशान हैं? इससे राहत पाना चाहते हैं। अगर हां, तो आप ज्वार का सेवन शुरू कर दें। ज्वार का सेवन आज भी कई भारतीय रसोई में किया जा सकता है। ​अधिकतर लोग ज्वार का सेवन रोटी के रूप में करते हैं। इसमें प्रोटीन की उच्च मात्रा पाई जाती है। इसके अलावा, इसमें फाइबर जैसे और भी कई पोषक तत्व उपलब्ध हैं। यह दिल और मधुमेह के रोगियों के लिए रामबाण है। इसका उपयोग कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से भी बचने के लिए किया जा सकता है। ऐसे ही कई और भी ज्वार के फायदे (Benefits of Jowar) हैं जो “हैलो स्वास्थ्य” के इस आर्टिकल में बताए जा रहे हैं-

और पढ़ें: विटामिन-सी कितना फायदेमंद, जानिए पूरा ज्ञान

आइए जानते हैं ज्वार के फायदे (Health Benefits of Jowar)

ज्वार में मौजूद पोषक तत्व से शरीर को कई फायदे पहुंचाते हैंज्वार के फायदे इस प्रकार हैं-

1. ज्वार के फायदे (Benefits of Jowar) : पाचन क्रिया के लि​ए लाभदायक है (Beneficial for digestion)

ज्वार (Sorghum) में फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो पाचन तंत्र की कार्यक्षमता में सुधार करता है। इसके एक बार सेवन से हमें पूरे दिन का करीब 48% फाइबर मिल जाता है जो 12 ग्राम से अधिक होता है। डाइट्री फाइबर एक एजेंट है, जो शरीर में पाचन क्रिया को बेहतर बनाने में अपना योगदान देता है। ज्वार के फायदे (Benefits of Jowar) के तौर पर इसमें डाइट्री फाइबर में उच्च होने के कारण पाचन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करता है। इसके अलावा गैस, दस्त, सूजन, कब्ज की समस्या और पेट दर्द जैसी स्थितियों के उपचार के तौर पर भी फायदेमंद है।

और पढ़ें: पेट के इंजन के लिए कितना फायदेमंद है फाइबर?

2. ज्वार के सेवन से लाभ : हृदय के लिए ज्वार के फायदे (Beneficial for Healthy heart)

जैसा कि हम ये जान चुके हैं कि ज्वार (Sorghum) उच्च मात्रा में फाइबर (fiber) से भरपूर होता है। ये फाइबर शरीर से एलडीएल (खराब) कोलेस्ट्रॉल को निंत्रित करने के साथ हार्ट अटैक, स्ट्रोक और ह्रदय रोग जैसी स्थितियों के जोखिम के खतरे को कम करता है।

3. ग्लूटेन फ्री ज्वार के फायदे अनमोल (Benefits of gluten free sorghum)

हेल्दी डाइट के लिए आजकल लोग ग्लूटेन फ्री डाइट (gluten free diet) फॉलो कर रहे हैं। इस डाइट के अंतर्गत आप ज्वार का भी सेवन कर सकते हैं। ग्लूटेन एक तरह का प्रोटीन है, जोकि कई बार बीमारियों के बढ़ने का कारण बन सकता है। सीलिएक रोग (Celiac disease) एक ऐसी ही बीमारी है, जिसमें ग्लूटेन (gluten) का सेवन करने वाले रोगी का जीवन और भी कठिन हो जाता है। ज्वार में ग्लूटेन की मात्रा लगभग न के बराबर होती है। तो यदि आप सीलिएक रोग (Celiac disease) से पीड़ित हैं तो ज्वार का सेवन आप बिना चिंता के कर सकते हैं।

और पढ़ें: रेड वाइन पीना क्या बना सकता है हेल्दी, जानिए इसके हेल्थ बेनीफिट्स

4. ज्वार के सेवन से लाभ: हड्डियों को मजबूत बनाता है ज्वार (Make bones stronger)

मैग्नीशियम ज्वार में पाए जाने वाले मुख्य पोषक तत्वों में से एक है, जो कि शरीर में कैल्शियम एब्जॉर्व करने का काम करता है। इससे हड्डियां मजबूत और सेहतमंद बनी रहती है। कैल्शियम और मैग्नीशियम (magnesium) हड्डियों के विकास में मुख्य भूमिका निभाते हैं। इसी के साथ बढ़ती उम्र के साथ कमोर हो रही ​हड्डियों की मजबूती बनाए रखने में मदद करते हैं।

5. भरपूर ऊर्जा का स्रोत है ज्वार (Source of energy)

ज्वार में नियासिन होता है, जिसे विटामिन बी3 के नाम से भी जाना जाता है। जो कि शरीर में भोजन और पोषक तत्वों को पचाकर ऊर्जा में बदलने का कार्य करता है। ये पूरे दिन शरीर में ऊर्जा के स्तर को बनाए रखने में मददगार है।

और पढ़ें : क्या आप जानते हैं दूध से एलर्जी (Milk Intolerance) का कारण सिर्फ लैक्टोज नहीं है?

6.ज्वार के सेवन से लाभ: कैंसर से बचाव में लाभदायक (Cancer Prevention)

ज्वार के फायदे (Benefits of Jowar) में कैंसर से बचाव शामिल है। 2018 में हुई एक रिसर्च से पता चलता है कि पॉलीफेनोल से भरपूर ज्वार (Sorghum) के चोकर में एंटी-कैंसर गुण होते हैं। ये प्रॉपर्टीज स्तन कैंसर (breast cancer) को रोकने में मददगार होते हैं। इसमें मौजूद तत्व शरीर में स्वस्थ कोशिकाओं को कैंसर कोशिकाओं में उत्परिवर्तित करते हैं।

7. ज्वार के फायदे (Benefits of Jowar) : मूड को बेहतर बनाने में मदद करता है (Improve mood)

ज्वार में विटामिन बी6 होता है। यह बॉडी में न्यूरोट्रांसमीटर को रिलीज करने के लिए जरूरी होता है, जिसे गाबा (गामा-अमीनोब्यूट्रिक एसिड) कहा जाता है। जीएबीए के बढ़ने से मूड में सुधार, एकाग्रता, तनाव में कमी और डिप्रेशन का खतरा कम हो सकता है।

8. ज्वार के सेवन से लाभ : प्रोटीन का है अच्छा सोर्स ( Rich source of protein)

ज्वार के सेवन से लाभ या ज्वार के फायदे (Benefits of Jowar) की बात की जाए तो इस अनाज में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन भी पाया जाता है। हम सभी जानते हैं कि हमारे शरीर के लिए प्रोटीन बहुत जरूरी होता है। ज्वार में (करीब एक कप ज्वार) 22 ग्राम तक प्रोटीन पाई जाती है। प्रोटीन मसल्स बनाने का काम करती है। साथ ही ये सेल्स यानी कोशिका के रिजनरेशन का भी काम करती है। एक समय के बाद सेल्स मृत हो जाती है और उसके स्थान में नई सेल्स का निर्माण होता है। नई सेल्स के निर्माण में प्रोटीन की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

इसी कारण से खाने में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन लेना जरूरी होता है। अगर आप खाने में ज्वार को शामिल करते हैं तो आप पेट भरने का पूर्ण एहसास भी होगा। ज्वार का सेवन दिन में एक बार करने से आपको जल्दी भूख का एहसास भी नहीं होगा। खाने में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन के लिए और साथ ही वेट को घटाने के लिए आपको ज्वार का सेवन जरूर करना चाहिए।

9. आयरन के लिए करें ज्वार का सेवन (Eat jowar for iron)

ज्वार के प्रत्येक कप में 8.45 मिलीग्राम आयरन होता है। ज्वार में पाया जाने वाला आयरन नॉन-हीन होता है। जिन लोगों को एनीमिया हो, उनके लिए ज्वार का सेवन करना लाभदायक हो सकता है। ज्वार में पाए जाने वाले नॉन-हीम आयरन अवशोषण कठिन हो सकता है। इसके लिए जरूरी है कि आप ज्वार का सेवन ऐसे फूड के साथ करें, जिसमे विटामिन सी हो। आप चाहे तो मीट के साथ ही ज्वार को खा सकते हैं। ऐसा करने से आयरन का अवशोषण सही तरह से हो जाएगा। आप चाहे तो इस बारे में अधिक जानकारी के लिए डॉक्टर से भी परामर्श कर सकते हैं। ज्वार के फायदे (Benefits of Jowar) एक नहीं बल्कि अनेक हैं।

10. ज्वार के सेवन से लाभ : बेहतर ब्लड सर्कुलेशन के लिए ज्वार का सेवन

ज्वार में कॉपर और आयरन, दो महत्वपूर्ण मिनिरल पाए जाते हैं। जब ये दोनों मिनरल एक साथ मिल जाते हैं तो ये शरीर में एक महत्वपूर्ण काम को अंजाम देते हैं। ये दोनों मिनरल बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर करने का काम करते हैं। आयरन रेड ब्लड सेल्स के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है जबकि कॉपर आयरन अवशोषण का काम करता है। इस प्रक्रिया की सहायता से रेड ब्लड सेल्स का डेवलपमेंट बेहतर होता है और साथ ही पूरी बॉडी ब्लड सर्कुलेशन की प्रक्रिया भी बेहतर हो जाती है और साथ ही एनिमिया की समस्या भी दूर होती है। ज्वार का सेवन शरीर में 58 परसेंट कॉपर की जरूरत को पूरा करता है।

और पढ़ें: पढ़ें मखाना खाने के फायदे, शायद नहीं होगा पता

ज्वार के नुकसान (Side effects of Jowar)

ज्वार के फायदे (Benefits of Jowar) हैं तो कुछ नुकसान भी हैं। वैसे तो ज्वार का सेवन करने के किसी भी प्रकार की समस्या नहीं होती है। लेकिन, इसमें कुछ खनिजों और विटामिन की उच्च मात्रा होती है इसलिए, इसका अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए। कुछ लोगों को एलर्जी के लक्षण जैसे खुजली, त्वचा का लाल होना या शरीर के कुछ हिस्सों में सूजन का अनुभव हो सकता है। यदि आप इन संकेतों को नोटिस करते हैं, तो ज्वार का सेवन बिल्कुल न करें। जो लोग डायबिटीज से ग्रस्त हैं उन्हें इसका इस्तेमाल मॉडरेशन में करना चाहिए क्योंकि ब्लड शुगर लेवल (blood sugar level) बहुत कम हो सकता है। ज्वार का प्रयोग कम ही करें। इसके कम उपयोग से आप सुरक्षित रहेंगे। ज्वार के फायदे (Benefits of Jowar) पाने के लिए आप इसे दलिया के रूप में भी खा सकते हैं। इसका बना हुआ शर्बत सिरप का भी इस्तेमाल किया जा सकता है। यदि आपको ज्वार का सेवन करने के बाद किसी भी तरह के साइड इफेक्ट्स नजर आते हैं तो इसका सेवन रोक दें और बिना देरी करें डॉक्टर से कंसल्ट करें।

और पढ़ेंः क्या ब्राउन शुगर से ज्यादा हेल्दी है स्टीविया? जानें स्टीविया के फायदे और नुकसान

ज्वार के मुख्य उपयोग

ज्वार के फायदे (Benefits of Jowar) आपको मिल सके इसके लिए ज्वार को निम्न तरीके से उपयोग किया जा सकता है-

ज्वार का आटा

सर्दियों में ज्वार के आटा का उपयोग करना सही रहता है। इसकी रोटी बनाकर खाई जा सकती हैं।

ज्वार का अनाज

ज्वार का इस्तेमाल साबुत अनाज के रूप में भी किया जा सकता है। इसे ब्रेकफास्ट में पूरे उबले हुए और चावल की तरह खाए जा सकते हैं। इसका उपयोग विभिन्न प्रकार के पारंपरिक खाद्य पदार्थों में किया जाता है, जिसमें पेय पदार्थ, ब्रेड (bread), उबले हुए उत्पाद और स्नैक फूड (पॉप्ड सोर्गम) शामिल हैं।

और पढ़ें: पालक से शिमला मिर्च तक 8 हरी सब्जियों के फायदों के साथ जानें किन-किन बीमारियों से बचाती हैं ये

ज्वार के फायदे (Benefits of Jowar) चाहिए, तो ट्राई करें रेसिपी!

वैसे तो आप ज्वार के आटे की कई रेसिपी बना सकती हैं लेकिन ज्यादातर लोग ज्वार की रोटी बनाते हैं। अगर आप रोटी के साथ ही ज्वार की अन्य रेसिपी बनाना चाहते हैं तो हम आपको यहां पर ज्वार की रेसिपी के बारे में बताने जा रहे हैं।

ज्वार पैनकेक (Jowar Pancake)

  • देढ़ कप ज्वार का आटा
  • आधा चम्मच जिंजर चिली पेस्ट
  • आधा चम्मच गार्लिक पेस्ट
  • एक प्यार
  • एक चमाटर
  • स्वादानुसार नमक
  • ऑयल
  • एक टमाटर

सबसे पहले उपरोक्त बताई गई सब्जियों को काट लें और एक तरफ रख लें। अब एक बाउल लें और उसमें ज्वार का आटा और कटे हुए प्याज मिला लें। अब उसमे बारीक कटे टमाटर, लहसुन का पेस्ट, अदरक और मिर्ची का पेस्ट, नमक को मिलाएं। अब सभी सामग्री को अच्छी तरह से मिक्स करें। जब सभी सामग्री ज्वार के आटे में अच्छी तरह से मिक्स हो जाए तो उसमे थोड़ा सा पानी डाले और आटे को माड़ लें। अब आटे की छोटी साइज की लोई काट लें और हाथ के बीच में रखकर दबा लें। अब आप सभी आटे की लोई बना कर उन्हें हाथों के बीच रखकर दबा लें। अगर आप चाहे तो रोलिंग बोर्ड का इस्तेमाल भी कर सकते हैं। अगर आप चाहे तो कई सारी लोई की जगह बड़ा डो भी तैयार कर सकते हैं। अब आप सभी पीस को फ्राई करने के लिए ऑयल को गर्म करें। करीब 2 मिनट के लिए मिडियम फ्लेम में अब पकाएं। हल्का सुनहरा होने तक सभी को फ्राई करें। अब आप गरमा गरम परोस सकते हैं।

और पढ़ें: शिमला मिर्ची के खाने से हो सकते हैं 9 फायदे

ज्वार की मिठाई करें ट्राई

आप ज्वार से केवल नमकीन ही नहीं बल्कि स्वीट रेसिपी भी तैयार कर सकते हैं। खजूर और कोकोनट के साथ ज्वार के आटे को मिलाकर मिठाई बनाई जा सकती है। आपको ज्वार की मिठाई बनाने के लिए निम्नलिखित सामग्री की जरूरत पड़ेगी।

  • एक कप ज्वार का आटा
  • आधा कप घिसा हुआ फ्रेश कोकोनट
  • आधा कप खजूर
  • दो टेबलस्पून सफेद तिल
  • एक टेबलस्पूल घी
  • एक चुटकी नमक

सफेद तिल के दानों को मिडियम फ्लेम में हल्का भूरा होने तक अच्छे से भून लें। अब उसे ठंडा करें और फिर उसका पाउडर बना लें। अब खजूर के भी बीज निकाल लें और उसका पेस्ट बना लें। अब एक बाउल में घिसा हुआ कोकोनट और खजूर का पेस्ट मिला लें। अच्छे से दोनों को मिक्स करने के बाद उनकी छोटी-छोटी गोलियां बना लें और फिर कुछ देर के लिए रख दें। अब ज्वार के आटे के एक बाउल में निकालें और फिर चुटकी भर नमक मिलाएं। अब हल्के गरम पानी की सहायता से आटे को गूंथ लें और सॉफ्ट डो तैयार कर लें। आप डो को पांच से दस मिनट का समय दें और फिर उसे गूंथ लें। ऐसा करने से डो बहुत सॉफ्ट हो जाएगा। अब इसकी लोई बनाएं और लोई के अंदर खजूर का मिक्चर डालें। अब इडली प्लेट को ऑयल से ग्रिस करें और उसे करीब 15 मिनट के लिए स्टीम करें। आपको ज्वार की बनी स्वीद बेहद पसंद आएगी। ये स्वादिष्ट होने के साथ ही पोषक तत्वों से भरपूर है।

ज्वार के फायदे (Benefits of Jowar) अनगिनत हैं, जिनमें से कुछ मुख्य को हमने यहां बताने का प्रयास किया है। इसके अलावा ज्वार का ग्लूटेन फ्री होना, ग्लूटेन फ्री डाइट(Gluten free diet) वालों के लिए फायदेमंद है। आशा करते हैं कि आपको हमारा यह लेख पसंद आया होगा और आपको इस आर्टिकल के माध्यम से ज्वार के सेवन से लाभ के बारे में जानकारी मिल गई होगी। इस आर्टिकल में ज्वार के स्वास्थ्य लाभ बताए गए हैं, जो आपके लिए लाभकारी हो सकते हैं। अगर आपको ज्वार का सेवन करने से कुछ समस्या हो रही है या फिर आपको एलर्जी का एहसास हो रहा हो तो बेहतर होगा कि आप इस बारे में डॉक्टर से एक बार जानकारी जरूर लें। इस से जुड़ी यदि आप अन्य जानकारी चाहते हैं तो आप हमसे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं।

health-tool-icon

बीएमआर कैलक्युलेटर

अपनी ऊंचाई, वजन, आयु और गतिविधि स्तर के आधार पर अपनी दैनिक कैलोरी आवश्यकताओं को निर्धारित करने के लिए हमारे कैलोरी-सेवन कैलक्युलेटर का उपयोग करें।

पुरुष

महिला

हैलो हेल्थ ग्रुप हेल्थ सलाह, निदान और इलाज इत्यादि सेवाएं नहीं देता।

सूत्र

Sorghum 3-deoxyanthocyanins possess strong phase II enzyme inducer activity and cancer cell growth inhibition properties: https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/19256554/ Accessed July 17, 2020

Celiac disease: in vitro and in vivo safety and palatability of wheat-free sorghum food products: https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/17719701/ Accessed July 17, 2020

Effects of wine phenolics and sorghum tannins on tyrosinase activity and growth of melanoma cells: https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/11312905/ Accessed July 17, 2020

Sorghum: http://www.omafra.gov.on.ca/english/crops/facts/98-043.htm Accessed July 17, 2020

लेखक की तस्वीर badge
Aamir Khan द्वारा लिखित आखिरी अपडेट 24/08/2021 को
और Hello Swasthya Medical Panel द्वारा फैक्ट चेक्ड